ट्रक चलाते चलाते जन्नत मिल गयी


हैल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम अभिषेक झा हैं | मैं केरला का रहने वाला हूँ और मैं एक ट्रक ड्राईवर हूँ | मेरी उम्र 27 साल हैं और तुम लोग जैसा गन्दी सोच वाला नहीं हूँ | जो रोज रोज बैठ जाते हैं ये सेक्स स्टोरी की साईट खोल के और मजे लेते हैं सेक्स स्टोरी पढ़ के | चलो मै अपनी स्टोरी मै आता हूँ , हां तो मेरा तो रोज का काम ड्राइविंग करना है एक शहर से दुसरे शहर तक , इसी दौरान कुछ महीने पहले मेरे साथ एक बड़ी दिलचस्प कहानी हुई जो मैं इस स्टोरी में बताने जा रहा हूँ |

कुछ महीने पहले की बात है मैं रोज की तरह उस दिन भी ट्रैक चला रहा था उत्तर प्रदेश से मध्यप्रदेश  की तरफ और ट्रक मै कुछ सामान भी लोड था और समय तो लगभग रात के 10 बज के 30 मिनट हो रहा था | ट्रक में मेरे साथ दो लोग और थे एक का नाम अमन और एक का विवेक था | हम लोग अपने साथ हथियार रखते थे और उस वक़्त नशे में थे |

रास्ते में चलते चलते हम लोग एक जगह रुके, अमन ने ट्रक का दरवाजा खोल दिया और मजाक मजाक में कहा कि मै चलते ट्रक से उतर जाऊंगा, हम लोग ने भी कहा कि हां उतर जा, नशा था थोडा बहुत तो सब मुचोदी कर रहे थे | फिर मैंने कहा कि अबे मुचोदी मत कर नहीं तो फ्री में लोडे लग जायेंगे जिंदगी के, तब जा के वो माना और दरवाजा बंद करने को किया और उतने में बंद करते करते उसकी चप्पल उसके एक पैर से निकल के नीचे गिर गई और न चाहते हुए भी हम लोगो को उस सुनसान रास्ते में ट्रक रोकना पड़ा | हम लोगो ने ट्रक रोका और अमन गया चप्पल लेने | हम लोग तब तक नीचे उतर के बीडी पीने लगे | फिर अमन भागते हुए आया और कहा की यार वहा से कुछ मार पीट की आवाज आ रही है | फिर विवेक ने अमन को कहा मेरी तरफ देखते हुए की अबे इसको नशा हो गया है, ये ऐसे ही बोल रहा हैं | अमन ने कहा नहीं यारो मैं सच कह रहा हूँ, तो हम लोग एक बार दिल की तसल्ली करने के लिए देखने गए | तो पता चला की सही में वहाँ रोड के किनारे थोड़े दूर से किसी को मारने की आवाज आ रही थी | तो मैंने अमन और विवेक से कहा कि अबे छोड़ो तो यार,,, और हस्ते हुए बोला की वहाँ कोई किसी को लगा रहा होगा | पर विवेक बोला तो फिर चलो चलते हैं मजा लेते हैं | थोड़ी देर अपन भी वेसे भी बहुत दिन से मैंने ब्लू फिल्म नहीं देखी है, मैंने कहा कि नहीं यार हटा तो | फिर अमन बोलता की चल तो, फिर मैंने कहा की अगर लड़की नहीं हुई कोई और हुआ तो फ्री मै फस जायेंगे जा के, पर दोनों नहीं माने और बोले कि तू रुक हम लोग जाते हैं | अब मैं अकेले क्यों रुकता , मेरे को भी जाना पड़ा उन लोगों के पीछे पीछे |

loading...

फिर हम लोग बहुत पहले ही वहाँ पहुच गए थे | अभी तक चुदाई होना शुरू नहीं हुई थी बस तीन चार लोग एक लड़की को कहीं से किडनैप कर के उसको मार रहे थे और उसके साथ जबरदस्ती करना चाहते थे | मेरे साथ जो लोग थे उनको हीरो बनने की ज्यादा पड़ी थी तो उन्होंने चिला दिया उनपर | तो उन लोग बोले मादरचोद निकलो यहाँ से, कैसे आए यहाँ पे, तो अमन ने कहा की चले जायेंगे पहले तुम लोग उस लड़की को छोड़ दो | बस फिर क्या था इतना बोलने की देरी थी , उन लोगों में से एक आया और बोला की मतलब तुम लोग पीट के ही जाओगे और इतना बोल के अमन को एक चांटा मार दिया | फिर हम लोग की हाथापाई हुए और फिर वो लोग भाग खड़े हुए | फिर मैं उस लड़की के पास गया | वो तो पूरी सहम सी गई थी | तो मैंने कहा डरो मत हम लोग तुम्हे कुछ नहीं करेंगे, अब तुम सेफ हो | फिर मैंने उसका नाम पूछा तो उसने बोला – मेरा नाम अंजलि हैं |

फिर हम लोग उसको अपने ट्रक के पास ले आए | हम लोग ट्रक में बैठे और लड़की को जब ला रहे थे तभी मैंने सबसे कह दिया कि भाइयों मुझे ये लड़की पसंद आ गई है | तुम लोग पीछे बैठना ट्रक की ट्राली में | मैं और वो लड़की अंजलि आगे बैठेंगे | वो लोग बोले पर ट्रक में तो पीछे सामान लोड है , मैंने कहा वो तुम लोग जानो पर मैं और अंजलि तो आगे बैठेंगे |

फिर मैंने अंजलि को आगे बैठाया उन लोग पीछे बैठे कर फिर मैंने अंजलि से पूछा कि तुम कहा रहती हो यह लोग तुम्हारे साथ जबरदस्ती क्यों कर रहे थे ? वो बोली कि मैं अपने घर से भागी हूँ मेरे घर वाले मेरी शादी मेरी मर्ज़ी के बिना करवा रहे थे तो मैंने वहां से भाग गई | मेरा घर दिल्ली में हैं, और जब मेरे घर वालो को पता चला तो उन्होंने मुझे ढूँढने के लिए कुछ लोग भेज दिए | ये वही लोग थे उनमे से एक वो भी था जिससे मेरी शादी होने वाली थी | उसी ने मेरे साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की और तुम लोग बिलकुल सही समय पे आ गए नहीं तो पता नहीं मेरे साथ क्या होता | मैंने कहा अच्छा तो ये बात हैं फिर हम लोग एक पुलिस स्टेशन गए और रिपोर्ट लिखवाई |

सब कुछ सही होने में कुछ दिन लग गए और मेरा अंजलि को पटाने का काम भी पूरा हो गया क्यूंकि वो मेरे ही घर में रुकी हुई थी | मेरे मम्मी पापा और मेरी बहन के साथ उसे मेरे घर वालो का भी नेचर बड़ा अच्छा लगा और कुछ दिन के बाद वो भी मुझसे प्यार करने लगी | उसके बाद कुछ और दिन उसको मेरे साथ घुलने मिलने में लग गए और हम काफी करीब आ चुके थे एक दुसरे के | उसके बाद आखिर वो रात आ ही गई जिसका मुझे इन्तजार था | मैं तो यही सोचता था की कैसे रात मै उसके कमरे में जाऊ पर उस दिन तो वो खुद मेरे कमरे में आ गई और मुझसे बोली मैं यहाँ सो जाऊ | मुझे वहाँ सोने में डर लग रहा है आज | मैंने कहा बिलकुल तो वो मेरे बेड पर आके लेट गई और मैं उसके बगल मै फिर क्या बात थी लड़की मेरे बगल में थी और कहानी पूरी सेट थी |

मैंने उसका हाथ पकड़ा और उससे पूछा कि तुम्हे एक किस कर लूँ उसने मुस्कुराते हुए बोला कि तुम्हे बिना किस किये नींद नहीं आयगी क्या ? मैंने कहा नहीं  फिर वो खुद हल्का सा उठी मुझे किस करने के लिए फिर हम लोगों ने किस की पहले गाल पर फिर लिप्स पर और करीब १५ मिनट तक की | उसे भी बहुत मजा आया और फिर मैं उसके एक हाथ से दूध दवाने लगा वो काफी अच्छा फील कर रही थी | फिर में किस करते करते उसके गले तक आया और अपने हाथ उसके नाइटी के अंदर डाल दिया फिर उसने मेरे शर्ट के बटनों को खोला और शर्ट उतार दी | मैंने भी उसकी नाइटी उतर दी वो अंदर से वाईट रंग की ब्रा और पैंटी पहनी हुयी थी | फिर में उसको अपने ऊपर लिटाया और उसकी ब्रा को उतार दिया और उसके दूध को चूसने लगा और दबा भी रहा था | वो भी गरम होने लगी और उसके बाद मैंने उसे किस किया होठो पर और अपने हाथ से उसकी कमर पे सहलाते हुए उसे अपने नीचे लिटाया और उसके पैंटी उतारी और दूध को चूमा | फिर उसकी कमर में किस की और फिर उसके पैरों पर किस करते हुए उसकी दोनों टांगो को फल दिया और चूत में अपनी दोनों ऊँगली डाल कर उसे अन्दर बहार करने लगा | फिर मैंने किस की और अपनी जीभ से उसे मस्त चोदने लगा और अब उससे रहा नहीं जा रहा था |

वो काफी गरम हो गई थी और अब उसे चुदवाना था फिर उसने उठ कर मेरी पेंट और मेरी अंडर वियर उतार दी और मेरे लंड को चूसने लगी जोर जोर से | मैंने उसे करीब २० से २५ मिनट अपना लंड चुसाया होगा फिर मैंने उसको सीधा लिटाया और अपना लंड उसकी चूत में डाला और उसके ऊपर लेटा | उसे आराम आराम से चोदना शुरू कर दिया और उसके दूध भी पी रहा था | पहले खूब देर तक उसको ऐसे चोदा फिर मै पलंग मै बैठा और उसे अपनी जांघो पर सीधा बैठाया और अपना लंड उसकी चूत में डाला और अपने हाथो से उसके दूध दबाते हुए और उसे किस करते हुए चोदना शुरू कर दिया |

वो बी मुह से आह्ह्ह्हह् अह्ह्ह्ह कर के आवाज़ निकालने लगी उसकी ये आवाज सुन के मेरा जोश और बढ़ गया | मैंने उसको जोर जोर चोदना शुरू कर दिया और करीब ४० ४२ मिनिटे तक उसे चोदा होगा और वू ऊम्म्मम्म्म्म आआआह्ह्ह्ह ऊऊह्हह्हह कर रही थी | मैं भी खूब जोर जोर से आवाज निकाल रहा था अहह अहह अहह अहह अहह  अहह और फिर झड़ने के बाद हम लोगो ने किस की बिस्तर में | फिर एक दुसरे के ऊपर लेटे रहे ,,,,, और तब जा के मुझे याद आया की यार मैं तो कंडोम पहनना भूल ही गया और उसी के अंदर झड़ गया …..तो दोस्तों मैं तो भूल गया पर आप लोग जरुर ध्यान रखना इस बात का | मिलते हैं फिर अगली कहानी के साथ |