सुन्दर लड़की को चोदा और लंड को शांति मिली


जो भी मेरी कहानी पढ़ रहा है उन सब को मेरा हैल्लो | मेरेदोस्त मुझेबिलुआ बुलाते है और मैं मध्य प्रदेश के एक छोटे से जिले का रहने वाला हूँ | मैं अभी इंदौर में इंजीनियरिंग कर रहा हूँ और मैं अभी आखिरी सेमेस्टर में हूँ | मैं वैसे तो दिखने में अच्छा हूँ और दो लड़कियां भी पटाई हैं लेकिन कभी उन्हें चोद नहीं पाया | लेकिन कुछ समय पहले मुझ पर ऊपर वाले की कृपा हुई और मुझे चूत मारने का सौभाग्य प्राप्त हुआ | चलिए अब मैं आपको पूरी कहानी बताता हूँ कि कैसे मैंने उसकी चूत मारी |

ये बात है कुछ महीने पहले की जब हमारी ट्रेनिंग चल रही थी और मैं और मेरे दोस्त एक जगह ट्रेनिंग के लिए जाते थे | ट्रेनिंग दो हफ्ते की थी और हमारे साथ और भी कॉलेज के बच्चे आते थे | मैं जब पहले दिन गया था तो मुझे कोई ख़ास माहौल नहीं समझ में आया लेकिन जैसे ही मैं दुसरे दिन वहां पहुंचा तब क्लास में बहुत से लोग थे और बहुत सी लड़कियां | वहां पर गोल टेबल थी और कंप्यूटर रखे थे तो मैं जाके एक कंप्यूटर पर बैठ गया |

मेरे सामने एक लड़की बैठी थी वो बहुत सुन्दर लग रही थी मतलब की वो इनती अच्छी लग रही थी कि उसको देखकर मैंने खुद को रिजेक्ट कर दिया | अब मैं अपना काम कर रहा था तभी मेरी नज़र उसपर पड़ी तो मैंने देखा कि वो मुझे देख रही है | मैंने उसको देखा और वो भी मुझे देख रही थी और मुझे डर सा लगा तो मैंने नज़रें घुमा ली | उस दिन मैंने कई बार उसको मुझे देखते हुए पाया | फिर घर जाते समय मैंने अपने दोस्त को सारी बात बताई और उसने कहा पहले बताता चल कोई बात नहीं कल अगर देखे तो बताना |

loading...

अब कल मैं वहां पर बैठा था और मैंने फिर से देखा तो वो मुझे देख रही थी | तो मैंने दोस्त को बताया और उसने भी देखा और कहा हाँ बे देख तो रही है तू भी देख और देखते देखते स्माइल कर | मुझे डर सा लगा लेकिन मैंने ऐसा किया और उसको देखने लगा और फिर हलके से स्माइल करने लगा | वो भी मुझे देख रही थी और उसने भी मुझे स्माइल दी और शर्मा कर नीचे देखने लगी | मेरा दोस्त ये सब देख रहा था और उसने कहा भाई ये तो पट गई| मैंने पूछा किससे ? तो उसने कहा तेरे से बे चूतिये |

अब हमारा ब्रेक हुआ और वो अकेले बैठी और मुझे ही देख रही थी तो मेरे दोस्त ने मुझसे कहा उसको देखना और हाय करना | तो मैंने ऐसा ही किया और उसने भी हाय किया और उसने मुझे बुलाया और मैं उसके पास गया और बैठ गया और बात करने लगा | उसका नाम जिया था और वो वहीँ के एक कॉलेज में थी | मैंने वहीँ पर बैठकरउससे बहुत बात की और उसका नंबर भी मांग लिया | उसने कहा इतनी जल्दी क्या है दे दूंगी और उठकर जाने लगी तो मैंने कहा लेकिन जल्दी |

उसने अगले दिन मुझे अपना नंबर दे दिया और मैं दोस्तों का बैठना छोड़ उसके साथ बैठने लगा | एक दिन मैन उसके साथ बैठा था और सर पढ़ा रहे थे तभी मैंने उसका हाँथ पकड़ लिया और उसने कहा छोडो कोई देख लेगा | तो मैंने कहा देख ले | उसी दिन ब्रेक में मैं उसके साथ घूम रहा था और हम दोनों ऊपर वाले फ्लोर पर गए जहाँ कोई आता जाता नहीं था | मैंने उसको पकड़ कर किस करने लगा तो उसने मुझे रोक दिया और कहा कुछ जल्दी नहीं हो रहा ? तो मैंने कहा नहीं तो और उसको किस करने लगा |

वो भी मेरा साथ दे रही थी और खुल कर किस कर रही थी | अभी हमारी ट्रेनिंग ख़त्म होने में एक हफ्ता बाकी था और हम दोनों रोज़ वहां जाकर किस करते थे | वो जगह काफी बड़ी थी और वहां काम करने वाले ज्यादा लोग नहीं थी सरकारी जगह थी ना | इसलिए अहन अगर कोई लड़की लाकर चोद भी ले तो किसी को पता भी नहीं चलेगा | हमें किस करते और दूध दबाते दो तीन दिन हो गए थे और मैं इसके आगे बढ़ना चाहता था इसलिए मैंने सोच की इसको चोदूं कहाँ ? तो मैंने अपने दोस्त से बोला कोई जगह ढूंढ वहीँ कहीं | तो उसने कहा भाई ऐसा नहीं है किसी भी जगह पर कोई आ नहीं सकता |

तो मैंने कहा ये बात तो सही है लेकिन चोदना तो ज़रूरी है ना तो कैसा करें ? तो उसने कहा टॉयलेट लेजा औरचोद ले और मैं बहार खड़ा रहूँगा कुछ भी हुआ तो बता दूंगा | फिर मैंने जिया से बात की और उससे कहा देखो अब ट्रेनिंग में सिर्फ दो दिन बाकी हैं और पता नहीं अब हम कब मिलेंगे | फिर उसने कहा हाँ तो और मैंने उससे कहा अच्छा तुम मुझसे प्यार करती हो ? तो उसने कहा हाँ और मैंने कहा भरोसा तो उसने हाँ बाबा | तो मैंने कहा तो फिर क्या तुम खुद को मेरे हवाले करोगी ? तो उसने कहा मैं कुछ समझी नहीं |

तो मैंने कहा हम अपने रिश्ते को और आगे ले जा सकते है और भी कुछ कुछ कर सकते हैं | वो मना करने लगी और कहने लगी सच में अब ये सब बहुत जल्दी हो रहा है | तो मैंने कहा कोई बात नहीं जानेमन मैं कभी तुम्हें धोका नहीं दूंगा | वो मान गई और अगले दिन मैं उसको लड़कों के टॉयलेट में लेकर गया और बहार अपने दोस्त को खड़े रहने को कहा | हम दोनों अन्दर गए और वो मुझसे कहने लगी कोई और जगह नहीं मिली ? अगर यहाँ कोई आ गया तो ? तो मैंने कहा कोई नहीं आएगा सब इंतज़ाम हो गया है |

फिर मैंने उसका हाँथ पकड़ा और उससे कहा तुम्हें मुझ पर भरोसा नहीं है क्या ? उसने कहा अगर नहीं होता तो तुम्हारे साथ यहाँ आती क्या | तो मैंने कहा तुम तैयार हो ? उसने कहा हाँ | बस जैसे ही मैंने हाँ सुना और मैंने उसको जकड़ लिया और दबा के उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया | मैं उसके होंठों का रस चूस रहा था और थोड़ी बाद हम अपनी जीभ लड़ाने लगे | फिर मैं रुका और घुमा दिया और उसके बाल हटा के उसकी गर्दन चूमने लगा | उसकी गर्दन पर एक तिल था और मैं उसी तिल को बार बार चूम रहा था |

फिर मैंने उसके दूध पर हाँथ रखा और दबाने लगा | हमारे सामने एक बड़ा सा आईना था और मैंने उसका टॉप नीचे किया और उसके दूध देखने लगा और निप्पल दबाने लगा | उसके दूध बहुत गोर थे और निप्पल ब्राउन | फिर मैंने उसको घुमाया और उसके दूध चूसने लगा | मैंने उसके दूध चूसते हुए उसकी जीन्स में हाँथ डाला और उसकी पैंटी के अन्दर करके उसकी चूत सहलाने लगा | वो धीरे धीरे आह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह ऊम्म्मम्म्म्म ऊम्म्म्मम्म ऊउह्ह्ह्ह की आवाजें निकल रही थी |

फिर मैंने उसकी जीन्स खोली और पैंटी सहित उतार दी | अब वो सिर्फ टॉप में थी और नीचे से बिलकुल नंगी और उसका फिगर बहुत मस्त लग रहा था | उसकीछुट उसने साफ़ कर राखी थी इसलिए उसमें बिलकुल भी बाल नहीं थे और गांड भी थोड़ी चौड़ी थी | उसकीचूत भी सफ़ेद थी और ऐसा लग रहा था जैसे पहले भी मर चुकी है | फिर मैंने उसको बेसिन पर बैठाया और उसकी चूत में ऊँगली डालने लगा और वो आह्ह्हह्ह्ह्ह अहह्ह्ह्हा अह्ह्ह्हह्ह ऊउह्ह्ह्ह करने लगी | फिर मैंने उसकी चूत चाटना शुरू कर दिया और थोड़ी देर तक चाटता रहा |

फिर मैंने अपनी पेंट खोली और उसको नीचे उतारा और वो मेरा लंड हिला कर चूसने लगी | वो बहुत अच्छे से मेरा लंड चूस रही थी मैं समझ गया लड़की अनुभवी है | फिर उसने मेरा लंड चूसा और मैंने फिर से उसको ऊपर बैठाया  और उसकी चूत में लंड डाल दिया| उसकी आह्ह्ह्हह्ह्ह्हह निकल गई और मैंने उसको चोदना शुरू कर दिया | मैं उसको लगातार जोर के झटके मारे जा रहा था और वो आह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह ऊउह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह करे जा रही थी |

फिर मैंने उसको उतारा और उसको झुकाके खड़ा कर दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड डाल के जोर जोर के झटके मारने लगा | वो अब और थोड़ी जोर से अह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह आअह्ह्ह्ह करने लगी तो मैंने उससे कहा ज्यादा आवाज़ मत करो कोई सुन लेगा | फिर मैं उसको चोदता रहा और हमारी चुदाई 20 मिनिट तक चली | फिर मेरा मुट्ठ निकलने को हुआ तो मैंने अपना लंड बहार निकाला और उसने मेरा लंड पकड़ के हिलाना शुरू कर दिया | फिर मेरा मुट्ठ निकाला और उसने वहीँ पर गिरा दिया | फिर हमने कपडे पहने और चले गए |

फिर हमने अगले दिन भी चुदाई की थी और हम दोनों अभी तक साथ हैं और जब भी मौका मिलता है चुदाई ज़रूर करते हैं | तो दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी मुझे बताना ज़रूर और आशा करता हूँ कि आपको मेरी कहानी पसंद आई होगी |