सौतेले भाई संग चूत चुदाई


incest sex kahani, desi porn stories

मेरा नाम शबाना बानो है ( बदला हुआ नाम ) और मैं पाकिस्तान की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 26 साल है और घर के ही काम करती रहती हूँ ज्यादातर | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा बदन बहुत सेक्सी है | मेरे दूध परफेक्ट साइज़ के हैं और मेरे चूतड बड़े और गोल हैं | मैं एक दिन घर में बैठ कर कुछ सर्च कर रही थी तभी एक ऐड में मुझे इस साईट के बारे में वही से पता चला | मुझे थोड़ी थोड़ी हिंदी आती थी इसलिए मुझे थोडा सा और टाइम लगा अच्छे से हिंदी सीखने में ताकि मैं कहानी लिख सकूँ | जब मैंने इस साईट पर पहली बार कहानी पढ़ी तो मैंने सोचा कि अब मैं रोज ही कहानी पढने लगी और जब मुझे हिंदी अच्छे से बनने लगी तो मैंने सोचा कि अब मैं अभी अपनी एक कहानी जरुर लिखूंगी | आज जो मैं अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी एक दम पहली कहानी और मेरे साथ बीती सच्ची घटना है | मैं यहाँ कोई मजे के लिए कहानी नही लिख रही हूँ बल्कि मैं इसिलये लिख रही हूँ ताकि कहीं मर ना जाऊं | मैं अपने दिल की बात किसी को नहीं बता सकती इसलिए मैं कहानी के माध्यम से अपनी बात बता रही हूँ | ये मेरी पहली कहानी है तो हो सकता है इसमें कुछ गलती हो सकती है | अगर इस कहानी में कुछ गलत नजर आये तो मुझे माफ़ करना | अब मैं आप सभी के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ |

ये घटना आज से ठीक दो साल पहले की है जब मैं 24 साल की  थी | मेरे घर में, मेरे अब्बू, मेरे अब्बू की बेगम जो कि मेरी दूसरी अम्मी थी उनसे जन्मा मेरा सौतेला भाई | आप सभी तो बहुत अच्छे से जानते हैं कि पकिस्तान एक मुस्लिम देश है | मुस्लिम देशा तो ठीक पर यहाँ लडकियो और औरतो को ज्यादा पढाई लिखाई करने नहीं दिया जाता | यहाँ पर सिर्फ वही लड़की आगे बढ़ सकती है जिसके अब्बू या तो कोई नेता हो या किसी संघ के नेता हो या कोई आर्मी के उच्च दर्जे का अफसर हो | वरना यहाँ तो आम लडकियो जिन्दगी बहुत बुरी है | मैंने खुद सिर्फ 12वी कक्षा तक पढ़ाई की है | मेरे अब्बू तो चाहते थे कि दसवी तक पढ़ाने के बाद इसकी शादी कर देनी चाहिए | पर मेरी सौतेली अम्मी थोड़ा समझदार थी तो उसने कहा कि नहीं इसे थोडा और पढने दो | पर मुझसे किसी ने पुछा कि मैं आखिर करना क्या चाहती हूँ |

loading...

सिर्फ मैं ही नहीं यहाँ हर आम लड़की की जिनगी ऐसी ही है | हमे छोटे से ही खूब खिलाया पिलाया जाता है ताकि हमारे शरीर की बनवट ऐसी हो जाये जैसे कोई भैंस | यहाँ पर मर्दों की सोच ये है कि लड़की के दूध बड़े होने चाहिए और उसकी गांड किसी हांथी की गांड जितनी बड़ी होनी चाहिए | यहाँ औरतो और लडकियो को बोलने की इजाजत नहीं है अगर कोई उनके खिलाफ जाता है तो उसका सिर कलम कर दिया जाता है | अब आप लोग समझ रहे होंगे कि मैं इस कहानी को क्यूँ लिख रही हूँ | स्कूल खत्म होने के बाद मैं मैं घर में रहती थी और बहुत ही कम घर से निकला करती थी जब भी निकलती तो किसी न किसी के साथ निकलती और वो भी हिजाब में | मैं अपनी जिन्दगी से न तो खुश थी और न ही दुखी थी | क्यूंकि मैं जानती थी कि ऐसा सिर्फ मेरे साथ ही नहीं न जाने कितनो के साथ ऐसा होता होगा | मेरे अब्बू की एक किराने की दूकान है और वो अच्छी खासी चलती है | मेरा भाई सलीम जो की बहुत बिगड़ा हुआ है | जब वो छोटा था तब मैं उसकी देखभाल किया करती थी लेकिन जब वो बड़ा हो गया तो वो मुझे हैवानो की तरह घूरने लगा | वो अक्सर मुझे छूने के बहाने ढूंढता और जब मैं अकेले रहती तो वो कभी मुझे अपनी गोद में बैठा लेटा तो कभी मेरे दूध दबा देता | मैं किसी से ये चीज़ बोल भी नहीं सकती थी और न ही बता सकती थी | क्यूंकि गलत मुझे ही समझा जाता | अब तो मैं भी उसका साथ देने लगी | मैं एक लड़की हूँ मेरी भी कुछ इच्छाए हैं | एक बार मेरे अम्मी और अब्बू किसी के यहाँ गए हुए थे और वो जगह यहाँ से काफी दूर है | आने जाने में एक दिन का सफ़र करना पड़ता है | अब मैं और मेरा भाई एक दम अकेले थे | वो रात में शराब पी कर आया और उस समय मैं किचिन में खाना बना रही थी | तभी वो मेरे पास  आ कर मुझे अपनी तरफ घुमा लिया और मेरे होंठ में अपने होंठ रख कर मुझे किस करने लगा | मुझे भी अच्छा लगा तो मैं भी उसका साथ किस्सिंग में देने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे चूतड़ को मसलने लगा और मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके लंड को सहलाने लगी |

कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरे सलवार सूट को उतार दिया और अब मैं उसके सामने बस ब्रा और पेंटी में खड़ी थी | फिर उसने देर न करते हुए मेरे ब्रा को उतार कर मेरे दूध को अपने मुंह में लेकर पीने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी | वो मेरे दूध को जोर जोर से मसलते हुए पी रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोश हो रही थी | फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और मेरी चूत को चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिसकियाँ भरने लगी | वो मेरे चूत को बहुत ही प्यार से चाट रहा था और उसकी जीभ को मैं चूत के अन्दर तक महसूस करते हुए मजे ले रही थी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे चूत के दाने को भी चूस रहा था अपने होंठ में दबा कर और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | उसके बाद वो भी मेरे सामने पूरे कपड़े उतार कर नंगा हो गया और फिर अपने लम्बे और मोटे लंड को मेरे सामने कर के हिलाने लगा तो मैंने झट से उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो उसके मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आन्हे निकलने लगी | मैं उसके लंड को चाट चाट कर गीला कर रही  थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था |

फिर मैंने उसके लंड के सुपाडे को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए  सिस्कारियां ले रहा था | मैं उसके लंड को अपने गले तक ले के चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मम्मों को मसल रहा था | उसके बाद उसने मुझे लेटा कर मेरी टांगो को चौड़ा कर के मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए बस अल्लाह को याद कर रही थी | हाय अल्लाह कितना मजा आते है चुदाई में | वो जोर जोर से धक्के लगाते हुए मेरी चूत को चोद रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | उसके बाद उसने मेरी चूत को फिर से चाटा और मैंने उसके लंड को और फिर उसने मुझे घुमा कर झुका दिया | फिर उसने मेरी चूत में अपने लंड को जोर से धक्का लगा कर अन्दर डाल दिया तो मेरे मुंह से अल्लाह मैं मर गई निकल गया | वो फिर से मुझे अच्छे से धक्के मारते हुए चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई में चूर चूर हो गई | काफी देर के बाद उसने अपना माल मेरे दूध के ऊपर निकाल दिया |

अब आप लोग बताये क्या मैंने अपने भाई से चुदवा कर गलत किया क्या ?