सगी बहन की पीरियड वाली चूत को चोदा


दोस्तों कैसे हैं आप सभी आज मैं हुकुम आपके सामने आया हूँ क्यूंकि मुझे आप सब से कुछ कहना है | मुझे बहुत अच्छा लगा जब किसीने अपनी चुदाई की कहानी लिखी और उसको मैंने पढ़ा | मुझे लग रहा था मैंने कोई गलती कर दी है और इससे मैं किसी के साथ साझा नहीं कर सकता | मुझे तो पता भी नाघी है कि आप सब मेरे बारे में क्या सोचेंगे पर ये बहुत ज़रूरी है की मैं आपको ये बात बताऊँ | मुझे तो बहुत डर लगता था पहले ये बताने में कि मैंने अपनी बहन के साथ सेक्स किया
| चूँकि मैं एक अच्छा लड़का तो मुझे ये सब शोभा नहीं देता पर क्या करे इसके बिना चलता भी नहीं हैं | मेरे बारे में एक चीज़ समझ लीजिये की अगर मैं कसीस से प्यार करने लगा तो बस उसका ही होक रह जाता हूँ और मेरी बहन से मैं बहुत प्यार करता हूँ | मुझे ये समझ नहीं पता कि रिश्तों में चुदाई को इतना गन्दा क्यूँ कहा जाता है जबकि ये भी जिंदगी का एक एहम हिस्सा है | तो दोस्तों आप लोग अब समझ ही गये होंगे कि मेरी कहानी क्या है और मुझे किस चीज़ की तलाश थी और मुझे वो किसने दी | अब मैं आपको ये बतात हूँ ये सब क्या हुआ और हुआ तो हुआ कैसे | मैं उस समय अपने कॉलेज में था और वो भी कॉलेज में ही थी हम दोनों एक दिन एक ही समय पर पैदा हुए थे | तो मुझे वो बहुत अच्छे से जानत थी और मुझे समझती भी थी | मेरे मम्मी पापा से ज्यादा बनती नहीं थी मेरी [पर वो ही एक लौटी थी घर में जो मेरा ख्याल रखती थी | बिलकुल जैसे एक माँ अपने बचे का रखती है | मुझे जब भी अच्छा नहीं लगता मैं उसकी गोद में सर रखके लेट जाता था और वो मेरे सर के बाल सहलाते हुए कहती थी क्या हुआ ? तो मैं उसे हर बात बता देता था | वो मुझे अच्छे से समझाती थी कि देख तेरे साथ मैं हूँ न तेरे साथ तुझे कुछ भी चाहिए तू मुझसे कहना | मैंने कहा कुछ भी तो उसने कहा हाँ | वो मुझसे बड़ा खुली हुयी थी तो उसने कहा बस मेरी इज्ज़त मत माँगना फिर कहा खेर तेरे लिए वो भी दे दूंगी |

 

मैंने कहा नहीं मुझे नहीं चाहिए बस तू हमेशा मेरे साथ रहना | तब वो प्यार से कहा करती थी तू मेरा प्यारा भाई है तुझे छोड़ के कैसे जाउंगी कहीं | मैं भी उसे गले लगा लेता था और मेरे माथे पर किस कर देती थी | फिर वो मुझे गले लगाकर सुला देती थी | मैं जब 10 साल का था तब से मुझसे बहुत प्यार करती थी और हमेशा मेरे लिए खड़ी रहती थी | मैं भी भाई होने का फ़र्ज़ निभाता था जो भी उसे व्चैये होता था मैं उसे लाकर देता था | हम दोनों का कोलेगे ख़तम हुआ और हम दोनों ने ही सोचा कि चलो अपना काम शुरू किया जाए | उसने भी कहा तेरा आईडिया बिलकुल सही है और उसने कहा पर इतने पैसे लाएंगे कहाँ से | मैंने कहा चल पापा से बात करके देखते हैं | पापा उस दिन बहुत खुश थे क्यूंकि मेरा सिलेक्शन एक बड़ी कंपनी में मेनेजर की पोस्ट पर हो गया था और ये बहुत ही गर्व की बात थी | पर जिया ने कहा पापा हम दोनों अपना काम करना चाहते हैं | उसके बाद तो पापा का दिमाग ऐसा खराब हुआ की उन्होंने हमसे एक महीने तक बात नहीं की | फिर एक उन्होंने कहा तुमलोगों को जो करना है करो बस मुझसे कोई उम्मीद मत रखना | इस बार मैं टूट गया था पर मुझसे ज्यादा टूटी थी जिया पर मैंने उसे संभाला और कहा कि हमलोग कोई न कोई तरीका निकाल लेंगे | तब मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया भाई ऑनलाइन काम कर सकता बस इसके लिए कंप्यूटर और इन्टरनेट चाहिए | मैंने ये बात किया को बताई तो उसने कहा चल एक बार शुरुवात तो करके देखते हैं | मैंने भी कहा चल क्यूंकि ये दोनों चीज़ें हमारे पास थी और हमे बस इनका पूरा इस्तमाल करना था | हमने ऑनलाइन ऑर्डर्स पे अपने टैग्स दिए और हमे एक साथ चार प्रोजेक्ट्स मिल गये पैसा कम था पर शुरुवात करने के लिए उतना बुरा भी नहीं था | फिर हम दोनों ने काम चालू किया और हमारे क्लाइंट्स को हमारा काम पसंद आने लगा और तीन महीने बाद हुमदोनो ५०००० रू महिना कमाने लगे थे |

loading...

 

फिर क्या था पापा ये सब देखते रहते थे और धीरे धीरे हमलोग और बढ़ गये | फिर पापा ने कहा तुम लोग ये घर में करते क्या रहते हो | तो जिया ने बताया पापा हमलोगों ने बस अपने कंप्यूटर और इन्टरनेट से कुछ चालु किया और आज देखिये हम खुद इतना कम लेते हैं जितना ये मेनेजर की पोस्ट से कमाता | पापा को सुनकर अच्छा लगा तो उन्होंने कहा शाबाश आगे क्या करना है | तब जिया ने कहा पापा अब आप रहने दीजिये वो हम देख लेंगे की हमे आगे क्या करना है ? अब पापा को समझ आ गया था कि उन्होंने अपने बच्चो को पहचानने में गलती की | पर अब कोई मतलब नहीं था पछताने का क्यूंकि अब हम उनका सहारा नहीं लेना चाहते थे | अब हमे एक ऑफिस ले लिया था जहाँ हमारा केबिन अलग था और वर्कर्स काम करते थे | हमारी लाइफ मस्त कट रही थी क्यूंकि अब हम लाख लाख रूपये महिना निकाल लेते थे सारे खर्चे काटने के बाद | उसके बाद क्या था मैंने भी जिया से आहा देख चार साल हो गये हैं हमे काम करते हुए और अब एक महीने बाद पांचवां साल होगा तो जशन तो बनता है | उसने भी कहा हाँ अगर तू बोल रहा है तो ज़रूर करुँगी फिर उसने मुझे गले लगाया और कहा मेरा भाई खुश रहना चाहिए बस | मैंने कहा जिया कई दिन हो गये मैंने तेरी गोद में सर नहीं रखा | उसने कहा आजा पागल द्बोलना चैये न | इस बार जब मैं लेता था तो उसकी चूत से कुछ अजीब सी महक आ रही थी तो मैंने पुछा टॉयलेट करके आई क्या अभी ? तब उसने कहा नहीं पीरियड चल रहे है | मैंने बोला ये क्या होता है ? तो उसने कहा इस टीम पर लड़की की चूत से ख्हों निकलता है | मैंने कहा दिखा तो उसने अपना जीन्स नीचे किया और पेंटी हटा के मुझे दिखाया | मैंने कहा यार इसे देख कर मेरा तो खड़ा हो गया उसने कहा काबू में रख नहीं तो अपनी बहन के साथ ही सेक्स करना पड़ेगा \ फिर उसने कहा चलो अब कल की तैयारी करनी है पार्टी भी देनी है सबको | फिर मैंने कहा हाँ ठीक है और हम दोनों सारा सामन लेने चले गये और रातभर ऑफिस को सजाया |

 

उसके बाद हमने साड़ी तयारी कर ली थी और फिर सब आ गए थे | फिर हमने पार्टी शुरू कि और हमने दारु भी रखी थी क्यूंकि जिया ने कभी पी नहीं थी तो उसको एक बार पीना था | मैं अपनी बहन के लिए कुछ नही कर सकता था | फिर पार्टी रात तक चली और हम नशे में चूर हो चुके थे | पर जिया ने उतनी नहीं पे थी तो वो मुझे संभाल रही थी | सब चले गए और वो मुझे अन्दर केबिन में ले गयी | मैंने कहा जिया मुझे वो चूत अभी टक याद आ रही है और मेरा लंड भी खड़ा है | तो उसने कहा चुप बहन हूँ में तेरी मैंने कहा जिया प्लीज न एक बार | तब उसने कहा अच्छा ठीक है चोद ले मुझे मैं तुझे मन भी तो नहीं कर सकती | फिर उसने अपने कपडे उआरे और क्या चिकना बदन था उसका |

मैं तो नशे में था इसलिए उसने मेरे भी कपडे उतारे और फिर कहा सुन मेरे दूध को चूस | मैंने नशे में उसके दूध चूसे और वो उम्म्म्मम्म्म्मम्म्म्म आअह्ह्ह्ह उम्म्मम्म्म्मम्म्म्म ऊऊऊह्हह्हह्हह्हह्ह आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् उम्म्म्मम्म्म्मम्म्म्म आअह्ह्ह्ह उम्म्मम्म्म्मम्म्म्म ऊऊऊह्हह्हह्हह्हह्ह आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् कर रही थी | फिर मैंने उसके चिकने पेट पर अपनी जीभ लगाके चाटा | उसने कहा अपनी बहन को इतना प्यार करते हो | मैंने कहा जिया मुझे नहीं पता क्या हो रहा है पर अच्छा हो रहा है | उसके पीरियड चालु थे तो मैंने उसकी चूत नहीं चाटी पर मन तो मेरा बहुत था क्यूंकि क्या चूत थी उसकी |

फिर मैंने उसकी चूत पे लंड रखा और अन्दर कर दिया और वो आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् करके चीख पड़ी | उसकी चूत पैक थी तो उसे बहुत दर्द हुआ था | उससे खून भी निकला था पर उसे पता नहीं चला क्यूंकि पीरियड का भी खून था | फिर मैंने जोर जोर से उसको चोदना चालु किया और वो उम्म्म्मम्म्म्मम्म्म्म आअह्ह्ह्ह उम्म्मम्म्म्मम्म्म्म ऊऊऊह्हह्हह्हह्हह्ह आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् उम्म्म्मम्म्म्मम्म्म्म आअह्ह्ह्ह उम्म्मम्म्म्मम्म्म्म ऊऊऊह्हह्हह्हह्हह्ह आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह कर रही थी | फिर आधे घंटे बाद हम दोनों झड़ गए और लेट गए | फिर मेरा लंड खड़ा हुआ और मैंने उसे फिर से चोदा और ये सुबह तक चलता रहा | हम अक्सर चुदाई करते पर उसकी शादी होने वाली है तो थोडा कम कर दिया है |  दोस्तों आप लोगों को मेरी ये कहानी कैसी लगी कमेंट में जरुर बताइयेगा | मुझे इंतजार रहेगा |