रास्ते में मिली दोस्त की चुदाई


xxx kahani हेल्लो फ्रेंड्स, मेरा नाम सूरज है और मैं जबलपुर का रहने वाला हूँ | मैं अभी इंजीनियरिग की पढाई कर रहा हूँ | मेरी उम्र 21 साल है और मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी बॉडी एथलीट टाइप है | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के समक्ष अपनी कहानी प्रस्तुत करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | वैसे तो मैं चुदाई की कहानी का फैन हूँ और मुझे चुदाई की कहानियां पढना बहुत पसंद है | आज की कहानी में मैं आप लोगो को बताऊंगा की कैसे मुझे मेरे स्कूल की दोस्त रास्ते में मिली और कैसे हम दोनों के बीच कैसे चुदाई का समां बंधा | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय बर्बाद नहीं करूँगा और सीधा अपनी कहानी शुरू करता हूँ |
ये घटना कुछ दिनों पहले की है | जब मैं स्कूल में पढाई करता था तब हमारी क्लास में एक न्यू लड़की का एडमिशन हुआ जिसका नाम ज़ुबी पटेल है | ज़ुबी दो धर्मो को मानती है एक हिन्दू और दूसरा मुस्लिम | दरसल उसके पापा ने एक मुस्लिम के साथ लव मैरिज की थी | उस समय ज़ुबी दिखने में कुछ खास नहीं दिखती थी | हम एक ही क्लास में थे तो लाज़मी है कि दोस्त ही होंगे पर जैसे जैसे हम क्लास में आगे बढ़ते गये उसकी दोस्ती में मुझे कुछ बदलाव आने लगा | मैं एक लड़की से प्यार करने लगा था जिसका नाम पूर्वी है और वो दिखने में बहुत ही ज्यादा सुन्दर लगती थी | उसका फेस कट बॉडी लैंग्वेज बहुत ही सेक्सी लगता था | ज़ुबी और पूर्वी दोनों दोस्त थे तब | मैंने कई बार नोटिस किया कि ज़ुबी मुझे अब प्यार भरी नजरो से देखने लगी है पर मुझे ये चीज़ बिलकुल पसंद नहीं थी | मैं जब भी उसकी तरफ देखता तो वो मुझे ही प्यार भरी नजरो से देखती और मेरे दोस्त भी ये चीज़ देख कर मेरा मजाक बानाते | मेरी बहुत खिल्ली उड़ाते तो मुझे बहुत बुरा लगता | कुछ ही समय में मेरी और ज़ुबी की दोस्ती में पूर्णविराम लग गया | दसवी कक्षा पास करने के बाद मैंने स्कूल चेंज कर के दूसरे स्कूल में एडमिशन ले लिया और मेरे पुराने दोस्तों से मिलना जुलना काफी बंद हो गया था |
फिर बारहवी कक्षा पास करने के बाद सब अपने अपने कॉलेज के दोस्तों के साथ मग्न हो गये और फिर एक दिन मुझे ज़ुबी काफी समय बाद रास्ते में मिली | उसने मुझे देख कर रुकने का इशारा किया तो मैं भी रुक गया | उस समय मैं अपने दोस्त के घर जा रहा था | अब काफी समय बाद मिल रहे थे तो मैं भी पुरानी बातो को भूल गया था | फिर हम दोनों ने 5 मिनट तक ऐसे ही हाल चाल पूछा और उसने बताया की वो अभी दिल्ली में रह कर पढाई कर रही है और वहां पर उसने फ्लैट लिया हुआ है किराये से | फिर उसने मेरा नंबर माँगा तो मैंने दे दिया | फिर दो दिन तक तो उसका मेसेज नहीं आया और ना ही कॉल आया | सन्डे का दिन था और मैं कहीं नहीं गया था घर पर ही बोर हो रहा था कि तभी ज़ुबी का कॉल आया | फिर हम दोनों ने कुछ देर यहाँ वहां की बात की और मैंने उससे पूछा कि तुम अभी कहाँ हो ? तो उसने बताया कि मैं दिल्ली में हूँ और आज कॉलेज की छुट्टी थी और मैं बोर भी हो रही थी तो सोचा कि तुझसे बात कर लूं | मैंने कहा अच्छा और पूछा कि क्या तेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है ? तो उसने कहा नहीं मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है और पूछा कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या ? तो मैंने भी मना कर दिया | धीरे धीरे हम दोनों की बाते बढ़ने लगी और कम बाते अब ज्यादा होने लगी | कभी वो मुझे कॉल कर लेती तो कभी मैं कॉल कर लेता | फिर न्यू इयर में मैंने उसे कॉल किया और उसे बताया कि मैं अभी दिल्ली में हूँ तो वो ये बात सुन कर खुश हो गई और मुझसे मिलने की इच्छा ज़ाहिर की | मैंने भी उससे कहा कि ठीक है अगले दिन मिलते हैं तो उसने कहा नहीं यार कल नहीं हो पायगा | अभी मैं अकेली हूँ तू आ जा मेरे फ्लैट में रात में यहीं रुक जाना फिर सुबह होते ही चले जाना | मैंने ये नहीं सोचा था कि हमारे बीच चुदाई भी होगी | मैं बस मिलने के इरादे से उससे मिलने चला गया | वो जहाँगीरपुरी में रहती है | मैंने वहां के मेट्रो स्टेशन पंहुच कर उसे कॉल किया तो वो मुझे लेने आ गई और फिर हम दोनों साथ में उसके फ्लैट पर गए |

जब हम वहां पंहुचे तो एक दम ख़ामोशी सा माहौल था तो मैंने उससे पूछा कि तू न्यू इयर सेलिब्रेट नहीं कर रही है ? तो उसने कहा कि चल अपन दोनों ही साथ में सेलिब्रेट करते हैं | तो मैंने कहा चल ठीक है | मुझे नहीं पता था कि वो बियर और शराब की बोतल रखे हुए है | उसने तुरंत ही सब खाने पीने का इन्तेजाम किया | अब हम दोनों बैठ कर साथ में ड्रिंक करने लगे | जब उसे नशा होने लगा तो उसने कहा कि सूरज मैं तुझसे एक बात कहूं तू बुरा तो नहीं मानेगा ? तो मैंने कहा देख नया साल है नहीं मानूंगा बुरा बोल क्या बोलना है ? तो उसने कहा कि मैं तेरे साथ सेक्स करना चाहती हूँ | ये बात सुन कर तो मेरा दिल जोर जोर से धड़कने लगा और आँखे चमक गई | अब वो जैसे भी दिखती है ये सब मैं भूल गया और सीधा उसे अपनी बांहों में भर लिया | उसने भी अपना सिर मेरी छाती में रख कर आई लव यू कहा | अब मुझे तो उसकी चूत चाहिए थी तो मैंने भी आई लव यू टू कह दिया | फिर उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और किस करने लगी | मैं भी उसका साथ देते हुए उसे किस करने लगा और साथ में उसके दूध को भी अपने हाँथ से मसलने लगा | कुछ देर किस करने के बाद मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और उसके दूध का साइज़ देख कर मैंने कहा कि यार तेरे दूध तो बहुत बड़े हैं | फिर मैंने ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को दबाना चालू कर दिया तो उसके मुंह से अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर मैंने ब्रा को भी उतार दिया और उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर जोर जोर से दबाते हुए चूसने लगा तो वो अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए मेरे सर पर हाँथ फेरने लगी | फिर मैंने उसके पूरे कपडे उतार कर उसे पूरा नंगा कर दिया और खुद के भी कपडे उतार कर पूरा नंगा हो गया | उसने मेरे लंड की तरफ देख कर कहा कि तेरा लौड़ा तो बहुत मस्त है तो मैंने कहा तू चखले न मेरी जान तेरे लिए ही तो है ये लंड | फिर वो झट से मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो मैं अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए उसके निप्पलस को दबाने लगा |

मेरे लंड को चाटने के बाद उसने अपने मुंह में मेरे लंड को भर लिया और चूसने लगी तो मैंने भी अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए उसके मुंह की चुदाई करने लगा | वो बहुत ही अच्छे से और बड़े ही प्यार से लंड को लोलीपोप की तरह चूस रही थी और मैं अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए सिस्कारिया ले रहा था | फिर मैंने उसे बिस्तर पर लेटाया और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख कर चटाने लगा तो वो अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत में दबाने लगी और मैं भी उसकी चूत को अन्दर तक चाट रहा था | कुछ देर उसकी चूत चाटने के बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत में रगड़ते हुए अन्दर डाल दिया और धीरे धीरे शॉट लगाते हुए चोदने लगा तो वो भी अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए चुदाई का लुत्फ़ उठाने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से शॉट लगाते हुए उसके दूध को मसलने लगा तो चोदने लगा और वो अआहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत के ऊपर ही अपना माल निकाल दिया | उसके बाद हम नंगे ही बियर और शराब का मजा लेने लगे और फिर एक बार और चुदाई कर के सो गए | फिर सुबह मैं एक बार और चुदाई कर के वापस आ गया |
तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी ये कहानी पसंद आई होगी |

loading...