प्यार पुराना चूत का नजराना


sex stories in hindi, hindi sex stories

मेरा नाम अंजली है और मैं दिल्ली की रहने वाली 25 वर्ष की लड़की हूं। मेरी सगाई हो चुकी है और मेरी सगाई कुछ समय पहले ही हुई थी। यह रिश्ता मेरे मामा जी ने देखा था और मेरे पिताजी को वह लड़का बहुत ही पसंद आया। जब मेरी सगाई हुई तो मेरी सगाई में हमारे सब रिश्तेदार आए हुए थे। उन्होंने बहुत ही मस्ती की और सब लोग काफी समय बाद मिले थे इसलिए सब लोग बहुत ज्यादा बात कर रहे थे। मेरे पिताजी बहुत ही अच्छे व्यक्ति हैं। उन्होंने सगाई में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं रखी। जिससे हमारे रिश्तेदार बहुत ही खुश हुए और कहने लगे कि आप लोगों ने सगाई बहुत ही अच्छे से की है क्योंकि मैं घर में बड़ी हूं और मेरे पिताजी मुझसे बहुत प्यार करते हैं। इसलिए उन्होंने किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं की। लड़के वाले भी बहुत खुश थे। जिससे मेरी सगाई हुई उसका नाम आकाश है और वह एक बहुत ही बड़े पद पर है। मेरी आकाश से ज्यादा बात नहीं होती क्योंकि हम दोनों अभी अच्छे से मिले नहीं है। इसलिए हम दोनों की ज्यादा बात नहीं होती है।

मेरी सगाई को कुछ दिन ही हुए हैं। वह कभी कबार मुझे मैसेज कर दिया करता है और मैं भी उसे कभी मैसेज कर देती हूंम इससे ज्यादा हमारे बीच में कुछ भी बात नहीं होती है। मैंने सगाई सिर्फ अपने पिताजी की खुशी के लिए की क्योंकि मेरा मन अभी शादी करने का नहीं था। मैं थोड़ा और समय चाहती थी और मैं अपने जीवन में कुछ अच्छा करना चाहती थी। परंतु मेरे पिताजी ने जब लड़का देखा तो उन्हें वह बहुत पसंद आ गया और उसके बाद उन्होंने मेरे लिए उस रिश्ते में हामी भर दी। मैंने यह बात अपनी मां से भी कही थी तो वह कहने लगी कि लड़का बहुत अच्छा है। बार बार ऐसे रिश्ते नहीं आया करते है और अब तुम्हारी उम्र भी धीरे-धीरे निकलती जा रही है। जल्दी शादी कर लोगी तो तुम्हारे लिए आगे चलकर बहुत ही अच्छा होगा। इसलिए मैं उनकी बात मान गई और मेरे छोटे भाई ने भी कहा कि वह बहुत ही अच्छा लड़का है तुम सगाई कर लो। सब लोगों के दबाव के बीच में मुझे सगाई करनी पड़ी। परंतु ना जाने अभी भी मेरे दिल में क्या चल रहा था।

एक दिन मेरी सहेली मेरे घर पर आई और कहने लगी कि मेरे पापा ने घर में एक छोटी सी पार्टी रख वाई है। यदि समय निकाल कर तुम आ सको तो अच्छा होगा। क्योंकि मेरे पिताजी रिटायर हो चुके हैं इसलिए उन्होंने यह पार्टी रखी है। मैंने उसे कहा ठीक है मैं आ जाऊंगी। जब मैं उस पार्टी में गई तो वहां पर सब लोग बहुत ही इंजॉय कर रहे थे और सब लोग मस्तियां कर रहे थे। मैं अपने दोस्त से मिली तो मुझे बहुत ही अच्छा लगा। मैं काफी समय बाद घर से बाहर निकली थी। इस वजह से मुझे बहुत ही अच्छा लगा। मुझे वहां पर एक लड़का दिखाई दिया उसे देखते ही मुझे अच्छा लगने लगा और मुझे वह पसन्द आ गया। मैं जब जा रही थी तो मेरी टक्कर उससे बड़ी तेजी से हो गई। जिससे मैं गिरने वाली थी और उसने मुझे गिरने से बचाया। मेरा ध्यान कहीं और था लेकिन मेरे दिमाग में उसी लड़की का ख्याल चल रहा था। जब मैं उसकी बाहों में थी तो मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं कोई सपना देख रही हूं। उस लड़की की कद काठी बहुत ही अच्छी थी और जब उसने मुझे अपने हाथों से गिरने से बचाया तो मुझे बहुत अच्छा लगा। अब उसने मुझे बोला कि तुम देखकर नहीं चल सकती।

मैंने उसे कहा कि मेरा ध्यान कहीं और था इसलिए मेरी टक्कर तुमसे हो गई। तब तक मेरी दोस्त भी आ गई और वह कहने लगी कि यह मेरे मामा के लड़के हैं। मैंने अब उनसे हाथ मिलाते हुए उनका नाम पूछा। उनका नाम राज था और उन्होंने भी जब मुझसे हाथ मिलाया तो मुझे बहुत ही अच्छा लगा। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं कोई सपना देख रही हूं लेकिन मैं राज की तरफ़ बहुत ज्यादा आकर्षित हो गई थी और मुझे यह भी ध्यान नहीं था कि मेरी सगाई हो चुकी है। सब लोग डांस कर रहे थे तभी राज ने मेरा हाथ पकड़ते हुए मुझे भी डांस करने के लिए बुलाया। मैं उसके साथ डांस कर रही थी। उसने अपने हाथों से मेरे हाथों को पकड़ा हुआ था और मेरी कमर पर उसका हाथ था। मैं उसके साथ बहुत ही कंफर्टेबल हो कर डांस कर रही थी। मुझे ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगा जैसे मेरी उनसे पहली मुलाकात है। हम दोनों ने काफी देर तक डांस किया और मुझे ऐसा लग रहा था कि हम दोनों डांस करते ही रहे। क्योंकि मुझे उसके साथ डांस करना बहुत ही अच्छा लग रहा था। जब हम लोग टेबल में बैठ कर खाना खा रहे थे तभी राज भी हमारे पास आकर बैठ गया और मुझसे बात करने लगा। राज ने भी मेरा नंबर ले लिया था और मैंने भी उसका नंबर ले लिया। अब मैं पार्टी से अपने घर चली गई और उसके बाद राज और मेरी बातें हो जाए करती थी। हम दोनों फोन पर बहुत बातें किया करते थे। जब उसे मेरी सगाई का पता चला तो वह कहने लगा कि तुमने बहुत ही जल्दी सगाई कर ली लेकिन उसके बावजूद भी हम दोनों के बीच बातें होती रही। अब हम लोग मिल भी लिया करते थे और हम दोनों बहुत ही अच्छे से टाइम स्पेंड किया करते थे।

हम दोनों के बीच में सेक्सी बात हो जाया करती थी। राज मुझसे कहता था कि तुम्हारा फिगर बहुत ही अच्छा लगता है। राज मुझे अपने साथ घुमाने ले गया जब हम लोंग ड्राइव पर जा रहे थे तो उसने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया और वह उसे सहलाने लगा। वह बहुत ही अच्छे से मेरी जांघों को सहला रहा था और मुझे बहुत आनंद आ रहा था। अब मुझसे भी नहीं रहा गया और मैंने भी उसके लंड को हिलाना शुरू कर दिया और उसके लंड को मुंह में ले लिया। अब हम दोनों से ही कंट्रोल नहीं हुआ तो वह मुझे एक होटल में ले गया वहां उसने कमरा ले लिया। उसके बाद हम दोनों उस कमरे में चले गए। उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मुझे नंगा कर दिया। मैंने भी उसके कपड़े उतारते हुए उसके लंड को अपने मुंह के अंदर ले लिया और उसे चूसने लगी। मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था जब मैं उसके लंड को अपने मुंह में लेकर चूस रही थी। वह अब पूरी उत्तेजना में आ चुका था वह मेरे मुंह के अंदर लंड को डाले जा रहा था। उसे भी बहुत आनंद आ रहा था जब वह मेरे मुंह के अंदर अपने लंड को डालता जाता। अब उसकी उत्तेजना चरम सीमा पर पहुंच गई थी और मेरी उत्तेजना भी चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी। उसने मुझे बेड पर लेटाते हुए मेरे होठों को चूसना शुरू किया और काफी देर तक उसने मेरे होठों का रसपान किया। उसके बाद उसने मेरे स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया। जब वह मेरे स्तनों का रसपान कर रहा था तो उसे बहुत ही अच्छा लग रहा था। वह मुझे कहता कि तुम्हारे स्तनों का रसपान करने में मुझे बड़ा ही आनंद आ रहा है।

मुझे ऐसा लग रहा है जैसे मैं किसी मुलायम चीज को अपने मुंह के अंदर ले रहा हूं। वह मेरे निप्पल को भी बहुत अच्छे से चूस था जिससे मेरे निप्पल खड़े हो चुके थे। अब उसने मेरा पूरा शरीर चाटना शुरू किया उसने कुछ देर तक तो मेरी गांड को दबाया और उसके बाद उसने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया। उसने जब मेरी चूत को चाटा तो उस से पानी निकलने लगा मेरी उत्तेजना चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी। वह बहुत ही अच्छे से मेरी योनि को चाट कर उस से पानी निकाल रहा था। उसने जब मेरी चूत के अंदर अपने लंड को डाला तो मैं बहुत तेज चिल्लाने लगी। मुझसे उसका मोटा लंड झेला नहीं जा रहा था जैसे ही उसका लंड मेरी योनि में गया था तो मेरी चूत से खून निकल गया। वह मुझे बड़ी तेजी से झटके दिए जा रहा था। वह मुझे इतनी तेजी से धक्के मार रहा था कि मेरा पूरा शरीर हिलता जा था मेरी योनि से खून निकल रहा था। वह मेरे स्तनों को भी अपने मुंह में लेकर बहुत ही अच्छे से चूस रहा था और मुझे उतनी ही तेजी से चोदे जा रहा था। मेरे मुंह से भी बड़ी तेज सिसकियां निकल जाती और मुझे भी बहुत मजा आ रहा था। जब वह इस प्रकार से मेरे साथ सेक्स कर रहा था मुझे बड़ा आनंद आ रहा था। कुछ देर बाद हम दोनों एक दूसरे से संतुष्ट हो गए और उसका वीर्य मेरी योनि के अंदर ही गिर गया। उसके कुछ समय बाद मेरी शादी हो चुकी थी।

 


error: