पिज़्ज़ा खिला कर भाभी को चोदा


bhabhi sex stories, chudai ki kahani

नमस्कार दोस्तो, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई के भरपूर मजे ले रहे होंगे | मेरा नाम शशांक है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 19 साल है और मैं अभी कॉलेज की पढाई कर रहा हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरी कदकाठी भी अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है और मेरी हेल्थ भी अच्छी है | दोस्तों, मैं चुदाई की कहानियों का बहुत बड़ा फैन हूँ और मुझे इस साईट में चुदाई की कहनियाँ पढना बहुत पसंद है | मुझे आज मौका मिल रहा है कि मैं कुछ लिखूं क्यूंकि मेरे साथ ऐसा कुछ हुआ ही नहीं था जिसे मैं शब्दों में उजागर कर सकता | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी और मेरी कहानी पढ़ कर आप लोग उत्तेजित भी हो जाओगे | तो अब मैं आप लोगो का समय बर्बाद नहीं करता हूँ और अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

दोस्तों मेरे घर में मैं हूँ और मेरे मम्मी पापा हैं | मेरा एक छोटा भाई भी है जो कि स्कूल में पढ़ता है | जब मैं स्कूल में पढाई करता था तब मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नहीं थी और जब कॉलेज आया तब एक गर्लफ्रेंड बनी लेकिन किसी वजह से हमारा ब्रेकअप हो गया | स्कूल के टाइम से मुझे बहुत शौक था कि मैं चुदाई करूँ पर साला किस्मत में किसी की चूत ही नहीं लिखी थी ऐसा मुझे लगता था | मैं रोज रात में या जब भी घर में अकेला रहता तो अपने कमरे का रूम बंद कर के अपने कंप्यूटर पर ब्लू फ्लिम लगा कर मुट्ठ मारता | मैं एक दिन में दो से तीन बार मुट्ठ मरता था | अब क्या करता चूत का जुगाड़ तो था नहीं मेरे पास | एक दिन मैं कॉलेज नहीं गया था | मम्मी पापा को किसी काम से दूसरे शहर जाना था और वो कह कर गए थे कि जब हम आये तो पानी टंकी साफ़ कर के रखना | तो मैं छत पर गया और बस हाफ पेंट पहना हुआ था | उस समय मेरा भाई अंकु स्कूल गया था | मैं टंकी के पानी को बाल्टी में भर भर के बाहर कंटेनर में भर रहा था | तभी मुझे किसी ने आवाज़ दी अरे शशांक क्या कर रहे हो ? मैं यहाँ वहां से देखने लगा कि किसने आवाज़ दिया | फिर से आवाज़ आई अरे मैं हूँ शशांक यहाँ देख | मैंने ऊपर देखा तो मेरे घर के बाजू वाली भाभी थी | निशा भाभी | जिनके पति आर्मी है और वो यहाँ बस अपनी सास के साथ रहती हैं | शादी को कुछ ही समय हुआ हैं और अभी कोई भी बच्चा नहीं है | निशा भाभी दिखने में गोरी हैं और उनका भरा बदन बहुत ही ज्यादा सेक्सी है | मैं और भाभी काफी बात करते थे लेकिन मैंने कभी भी भाभी को चोदने के बारे में नहीं सोचा था | लेकिन जब मैं टंकी साफ़ कर रहा था तब भाभी अपने बाल सुखा रही थी और मुझे झाँक कर देख रही थी और बात कर रही थी | भाभी के बात करते समय उनके दूध मुझे दिख रहे थे क्यूंकि उनके दूध बड़े हैं और उन्होंने बस ढीला सा एक गाउन पहना हुआ था | भाभी मुझसे पूछ रही थी कि भैया भाभी कहाँ गए हैं ? तो मैंने बताया कि मम्मी और पापा दोनों किसी काम से दूसरे शहर गए हैं | मैं टंकी साफ़ करते करते गीला हो गया था और अंडरवियर में से मेरा फूला हुआ लंड साफ़ नजर आ रहा था | मैं टंकी से बाहर आया और वहीँ बैठ कर नहाने लगा तो भाभी ने कहा कि आज अन्दर नहीं नहायेगा क्या ? तो मैंने कहा भाभी अभी टंकी में पानी नहीं है जितना था मैंने निकाल कर इस कंटेनर में भर लिया है | जब मैंने नहा लिया तब मैंने पानी की मोटर चलाई और तभी अंकु भी आ गया | वो भी आ कर फ्रेश होने चला गया | मेरे पास 500 रूपए थे तो मैंने अंकु से पूछ कर पिज़्ज़ा के लिए आर्डर दे दिया | फिर उसके बाद भाभी भी आ गई और कहा कि चलो तुम दोनों खाना खा लो | मैंने कहा अरे भाभी आप लेट हो गए हमने तो पिज़्ज़ा का आर्डर दे दिया है | तो भाभी ने कहा अरे तो क्या होता है पिज़्ज़ा अभी खा लो बाद में खाना खा लेना | हमने कहा ठीक है और फिर कुछ ही समय में पिज़्ज़ा वाला भी आ गया | अंकु ने कहा भैया मेरे लिए बचा देना मैं अभी सोने जा रहा हूँ बहुत तेज नींद आ रही है मुझे | मैंने कहा ठीक है और फिर वो ऊपर जा कर सो गया | मैं और भाभी दोनों पिज़्ज़ा का मजा लेने लगे | फिर भाभी ने अचानक से पूछा कि तू नंगा नहीं नहाता क्या ? तो मैंने कहा नंगा ही नहाता हूँ पर ऊपर था आज तो नंगा नहीं नहा सकता न | उन्होंने कहा हम्म वैसे जब तू नहा रहा था तब मैं तेरा फूला हुआ अंडरवियर देख रही थी तो मैंने पूछा क्यूँ ? तो भाभी ने कहा बस ऐसे ही मन था कि इसे नंगा देखूं पर | तू नंगा ही नहीं हुआ | तो मैंने कहा कोई बात नहीं डिअर अभी हो जाऊं क्या नंगा ? तो उसने कहा पहले खा तो ले | तो मैंने कहा मेरा तो हो गया | फिर उसने भी अपना पिज़्ज़ा नीचे रख दिया | उसके बाद मैंने ऊपर जा कर रूम का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया | फिर मैं नीचे आया और भाभी को अपनी बांहों में ले लिया तो भाभी ने मुझे अपने से दूर किया और कहा कि अरे अंकु आ गया तो | मैंने कहा भाभी अब कोई नहीं आयगा | तुम्हारी अन्तर्वासना मैंने भांप ली है और गरम मैं भी हूँ | तो उसने कहा आजा तो टूट जा मेरे राजा | मैं तुरंत ही उसके ऊपर चढ़ गया और उसके होंठ को अपने होंठ से दबा कर किस करने लगा तो वो भी मेरे होंठ को चूसते हुए किस्सिंग में साथ देने लगी |

loading...

मैं उसके होंठ को चूसने के साथ साथ मैं उसकी जीभ को भी चूस रहा था और वो भी मेरे साथ ऐसा ही कर रही थी | फिर मैंने उसके गाउन को उतार दिया और अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी | ब्रा पेंटी में भाभी एक दम हूर जैसी लग रही थी | फिर मैं भाभी के दूध को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा तो उसके मुँह से आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर मैंने ब्रा को भी उतार दिया और उसके दोनों दूध को अपने मुँह से लगा कर बारी बारी से चूसने लगा तो वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए मेरे चेहरे को सहलाने लगी | मैं जोर जोर से उसके दूध मसल मसल कर चूस रहा था और वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए सिस्कारियां भर रही थी | उसके बाद मैंने अपने कपड़े उतार कर पूरा नंगा हो गया | भाभी ने मेरे लंड की ओर देखा और उनके मुँह से लार टपकने लगी मेरा लंड देख कर | उसने मेरे लंड को अपने हाँथ में लिया और अपनी जीभ से मेरे लंड को चाटने लगी तो मेरे मुँह से भी आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | मेरे लंड को चाटने के बाद उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले कर चूसने लगी तो मैंने आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए उसके मुँह की चुदाई करने लगा | फिर मैंने उसकी पेंटी भी उतार दी और उए लेटा कर उसके पैरो को फैला अपनी जुबान से सहलाने लगा चूत | तो वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को जीभ रगड़ रगड़ कर चाट रहा था और चूत के दाने को भी चूस रहा था और वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत में पेला और चोदने लगा तो वो आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए चुदाई में साथ देने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से चोदने लगा तो वो भी आहा ऊनंह ऊम्म्ह ऊउंह ऊउम्ह आहा ऊउंह ऊउम्म्ह आअह ऊउन्न्ह ऊउम्ह करते हुए अपनी कमर उठा कर साथ दे रही थी | करीब 45 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य भाभी के चूत के अन्दर ही छोड़ दिया |