पड़ोसन आंटी को लंड लेने की चाहत


desi aunty sex stories, antarvasna

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम कपिल है और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 24 साल है | मेरा रंग गोरा और देखने में काफी हैण्डसैम लगता हूँ | मैंने जिम जाकर अपनी बॉडी एकदम फिट बनायीं है जिसके कारण मुझसे लड़कियां बहुत जल्दी आकर्षित होती है | आज जो कहानी मैं आप लोगो के लिए लेकर आया हूँ वो मेरी जिन्दगी की सच्ची कहानी है | मुझे आशा है की ये कहानी आप लोगो को पसंद आएगी | अब आप लोगो को ज्यादा बोर ना करते हुए मैं सीधे अपनी कहानी पर ले चलता हूँ |

ये कहानी मेरे पड़ोस की एक आंटी की है जो बहुत ही खूब्सुरत और सेक्सी है | उनका फिगर 34-30-36 है | उनके बूब्स बहुत ही मस्त है | उनके की उठी हुई गांड देखकर तो किसी का भी लंड खड़ा हो जाए | मैं हमेशा से ही उनकी चुदाई करना चाहता था | उनके घर में सिर्फ वो और उनके पति रहते थे | उनके पति जॉब करते थे तो वो अक्सर घर से बाहर ही रहते थे | और कभी-कभी ही घर आते थे | आंटी और मेरी मम्मी की काफी अच्छी बनती थी | जिसके कारण मेरा उनके घर आना-जाना लगा रहता था | उनको कोई बजी काम होता था तो वो मुझसे ही कहती थी |

loading...

वो जब भी मुझे बुलाती थी तो उनके मस्त मम्मो के दर्शन करने के लिए मैं भी पहुँच जाया करता था | एक दिन की बात है आंटी ने मुझे बुलाया | मैं उनके घर पहुंचा तो मैं उनको देखता ही रह गया क्या मस्त लग रही थी वो | उन्होंने गुलाबी कलर की मैक्सी पहन राखी थी और उस मैक्सी में से उनके मम्मो के बीच की नाली साफ़ चमक रही थी | मैं उनको देखता ही रह गया उनको देखकर मेरा मन कह रहा था की बस मैं उनको पकड़ कर मसल दूं | मैंने खुद को कंट्रोल किया और आंटी से कहा की आंटी आपने मुझे क्यूँ बुलाया था | उन्होंने मुझसे कहा कपिल वो आज मेरी गैस ख़तम हो गयी है और तुम्हातरे अंकल घर पर नहीं है तो तुम प्लीज मेरी गैस ला दो | मैंने उनका सिलेंडर लिया और गैस लाने चला गया | मैं गैस लेकर आया तो मैंने देखा की घर में कोई नहीं था | मुझे लगा की आंटी बेडरूम में होंगी तो मैं बेडरूम के पास पहुंचा तो उनके रूम से अजीब आवाजे आ रही थी | मैंने उनके की-होल से देखा तो आंटी अपनी चूत में बैंगन डाल कर उसे अन्दर बाहर कर रही थी | आंटी एकदम नंगी बैठी थी वो अपने बूब्स को भी मसल रही थी | उनको इस हालत में देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया |

मैंने सोचा की आंटी को आवाज दूं | मैंने थोडा उनके रूम से दूर जाकर उनको आवाज दी मेरी आवाज सुनकर आंटी ने मुझसे कहा की कपिल तुम बैठो मैं अभी आई | मैं सोफे पर बैठ गया मेरा लंड खड़ा था | आंटी थोड़ी देर बाद बाहर निकली उन्होंने वही मैक्सी फिर पहन ली थी | वो मेरे पास आई और कहने लगी की ले आये सिलेंडर | मैंने कहा हाँ आंटी और मैं उनके बूब्स को घूरे जा रहा था | उन्होंने शायद अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी जिसके कारण निपल्स साफ़ चमक रहे थे | उन्होंने मुझसे कहा की इस सिलेंडर को तुम लगा दो मैं तुम्हारे लिए चाय बना देती हूँ मैंने जाकर सिलेंडर लगाया | मेरा लंड अब भी ताना हुआ था उसका उभार मेरी पैंट पर साफ़ चमक रहा था | आंटी ने भी मेरे खड़े लंड को देख लिया था | वो मेरे लंड को ही देखे जा रही थी | मैंने उनका ध्यान भटकाते हुए उनसे कहा की आंटी लग गया आपका सिलेंडर अब मैं चलता हूँ | तो उन्होंने मुझसे कहा की मैं चाय बना देती हूँ पी लो फिर जाना | मैंने कहा नहीं आंटी अब मैं जा रहा हूँ चाय नहीं पियूँगा | पर वो नहीं मानी और कहने लगी नहीं चाय तो पीनी ही पड़ेगी | फिर मैं सोफे पे जाकर बैठ गया और अपने लंड को सही किया |

थोड़ी देर बाद वो मेरे लिए चाय बनाकर लायी | जब वो मुझे ची देने के लिए झुकी तो मैंने देखा की उन्होंने अन्दर कुछ नहीं पहना था उनके बूब्स स्सफ दिखायी दे रहे थे | उन्होंने मेरी तरफ चाय बढाई और मेरे ऊपर जान बूझकर गिरा दी | चाय मेरी पैंट पर गिर गयी वो मेरी पैंट को साफ़ करने के बहाने से मेरे लंड को सहलाने लगी | मैंने कहा कोई बात नहीं आंटी मैं ठीक हूँ | पर वो नहीं मानी और मुझसे कहा की तुम पैंट निकाल दो मैं अभी इसे धुल देती हूँ | मेरे मना करने पर भी उन्होंने मेरी पैंट को खोल दिया और मुझसे निकालने को कहा | मैंने पैंट निकाल दी जिसके कारण मेरा ताना हुआ लंड अंडरवियर से और साफ़ दिखने लगा | आंटी ने मेरे लंड पे अपना हांथ रख दिया | मेरे पूरे शरीर में करंट दौड़ गया | उन्होंने मुझसे कहा कपिल ये तेरा लंड क्यूँ तना हुआ है | उनके मुहँ से ऐसी बातें सुनकर मेरी हिम्मत बढ़ने लगी | आंटी ने मेरे लंड को सहलाते हुए मेरे लंड को बाहर निकाल लिया | वो मेरे लंड को देखकर आश्चर्यचकित हो गयी उन्होंने मुझसे कह की कपिल तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है | फिर वो मेरे लंड को ऊपर-नीचे करके उसमे मुठ मारने लगी | मुझे मज़ा आ रहा था मैं तो उनकी हमेशा से चुदाई करना चाहता था |

मैं जोश में आ गया मैं आंटी के बूब्स मसलने लगा | मैंने आंटी से कहा आंटी आप मुझे बहुत अच्छी लगती है | आंटी ने मुझसे कहा की तू भी मुझे बहुत पसंद है | मैं हमेशा से तुझसे चुदवाना चाहती थी | फिर मैंने आंटी को पकड़ा और उनके होंठो पर किस करने लगा और उनकी चूत को ऊपर से ही सहलाने लगा | आंटी ने कहा की कपिल चलो रूम में चलते है | फिर मैंने आंटी को अपनी गोद में उठाया औ उनको बेड पे लिटा दिया | मैंने उनकी मैक्सी को टांगो से ऊपर की ओर सरकाते हुए उनको चूमने लगा मैंने उनके पैरों पर किस किया और फिर उनकी जाँघों पे किस करते हुए उनकी चूत पर पहुंचा | मैंने उनकी मैक्सी ऊपर की तो उन्होंने पैंटी नहीं पहनी थी मैं तो ये पहले से ही जानता था | फिर मैंने उनके गुलाबी चूत को सहलाया उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था | मैंने कहा की आंटी आज ही शेव की है क्या | आंटी ने मुझसे कहा की हाँ मेरे राजा तेरे लिए ही तो शेव की थी | फिर मैंने उनकी चूत में अपनी जबान डाल दी और उनकी चूत को चाटने लगा | आंटी मदहोश होने लगी मैंने आंटी की चूत में अपनी जीभ डाल दी और उनकी चूत अपनी जीभ से चोदने लगा | आंटी मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा रही थी | आंटी ने मुझसे कहा की अब मुझे मत तडपाओ कपिल मुझसे बर्दास्त नहीं होता | मैंने अपना लंड आंटी को चूसने को कहा आंटी ने मेरे लंड को अपने मुहँ में ले लिया और उसको चूसने लगी | आंटी मेरे लंड को आइसक्रीम की तरह चाट रही थी |

मेरा लंड एक दम लोहे की रॉड की तरह सख्त हो चुका था | मैंने अब अपना लंड आंटी की चूत पर रखा और उनकी चूत पर रगड़ने लगा आंटी मचल उठी और मुझे गाली देने लगी उन्होंने कहा मादरचोद अब डाल भी कितना तड्पाएगा मैं उतनी देर से डालने को कह रही हूँ भोसड़ी के सुन ही नहीं रहा | मैंने कहा रंडी साली बहुत गर्मी है तेरी चूत में बैंगन डालकर ये नहीं शांत होगी आज मैं तेरी चूत का भोसडा बना दूंगा  | मैंने एक झटका लगाया और अपना लंड उनकी चूत में डाल दिया | उनके मुहँ से आह की आवाज निकली पर मैं रुका नहीं और धक्के लगाने लगा | उनके मुहँ से अह्ह्ह ओह्ह्ह जोर से चोदो मेरे राजा फाड़ दे अपनी आंटी की चूत को | बहुत दिनों से प्यासी है ये लंड की आज इसकी प्यास बुझा दे जैसी मादक आवाजे निकलने लगी उनकी आवाजे सुनकर मुझे और जोश आ रहा था | मैंने लगभग 20 मिनट तक बिना रुके चूत मारी फिर उनका पूरा शरीर अकड़ने लगा मैं समझ गया की वो झड़ने वाली है | मैं और तेजी से धक्के लगाने लगा आंटी थोड़ी देर बाद झड गयी | पर मैं उनको चोदता रहा और फिर 10 मिनट बाद मैं भी झड़ने वाला था मैंने उनसे कहा की आंटी मैं झड़ने वाला हूँ | तो उन्होंने कहा की तू चूत में ही झड जा | मैंने उनकी पूरी चूत को अपने वीर्य से भर दिया | मेरा मन उनकी मस्त गांड मारने को कह रहा था | मैंने उनको अपना लंड चुसाय और मेरा लंड जब खड़ा हो गया तो मैंने आंटी से कहा की मुझे आपकी गांड मारनी है | आंटी ने कहा मार ले मेरे राजा आज से मैं पूरी तुम्हारी | आज तूने जो मेरी चूत चुदाई की है वैसी आज तक तेरे अंकल भी नहीं कर पाए | वो मुझसे बहुत खुश और संतुष्ट थी उसके बाद मैंने उनकी गांड भी मारी | अब जब भी मुझे उनको चोदने का मन होता है मैं उनकी चुदाई करने पहुँच जाता हूँ |