पड़ोस की लड़की के साथ रात में लिए मजे


hindi se stories, kamukta, antarvasna sex stories

दोस्तों, मेरा नाम ललित है और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ | मेरी हाइट 5 फुट और 8 इंच है और रंग गोरा, बॉडी फिट है | दोस्तों मैं भी आप लोगों की तरह इस वेबसाइट का पाठक हूँ और आज अपनी दूसरी कहानी लेकर हाजिर हूँ | मेरी पहली कहानी को आप लोगों से बहुत प्यार मिला | आशा है की इस कहानी को भी आप लोगों का भरपूर प्यार मिलेगा | खैर, अब आप लोगों को और ज्यादा समय न लेते हुए कहानी पर आता हूँ |

एक बार की बात है, मैं अपने ननिहाल गया हुआ था | वो घर शहर में है | उस घर के सामने एक घर है जिसमे एक मस्त माल रहती है | उसका नाम नेहा है और वो गोरी है काफी | उसको उम्र लगभग 19 है और उसका फिगर मस्त है | बूब्स उसके बहुत बड़े तो नही हैं लेकिन उसके पतले शरीर के हिसाब से सही हैं | उसकी गांड भी बहुत उठी नही है लेकिन अच्छी लगती है | नेहा एक हॉट तो नही लेकिन एक क्यूट माल है | पहले भी मैंने कई बार उस पर लाइन मारी है लेकिन वो थोडा भाव खाने लगी तो मैंने भी ज्यादा कोशिश नही की | इस बार जब मैं गया तो मामा के घर में भी ऊपर वाली मंजिल पर एक कमरा बन चूका था और उसकी छत पर भी कमरे बन चुके थे | मैंने लैपटॉप लिया और मामा के ऊपर वाले कमरे में चला गया और दरवाजा अन्दर से बंद करके फिल्म देखने लगा | मैं फिल्म देख ही रहा था की अचानक से मैंने सामने देखा तो नेहा मुझे देख रही थी | मैंने अब फिल्म बंद की और उसे लाइन देना शुरू कर दिया | इशारों इशारों में थोड़ी बातें हुईं लेकिन तभी उसकी मम्मी आ गयीं इसीलिए वो चली गयी | वो गयी तो मेरा मन नही लग रहा था | मैंने फ़ोन में हॉटस्पॉट ओन किया और लैपटॉप पर पोर्न विडियो चला कर ईरफ़ोन लगा आकर देखने लगा | मेरा लंड खड़ा हो चूका था |

अभी मैं पोर्न देख ही रहा था की वो अचानक से फिर दिखी | उसे देखकर मुझे मजा आ गया | मैंने चादर ओढ़ी और उसे चोदने की कल्पना करके लंड हिलाने लगा | जब मैंने देखा की वो मेरी तरफ ही देख रही है तो मैंने लंड हिलाना बंद कर दिया ताकि उसे बुरा न लग जाये और इशारे इशारे में फ़ोन नंबर माँगा | उसने एक कागज पर अपना नंबर लिखा और मेरी बिल्डिंग की तरफ फेंक दिया | अब मैंने बालकनी से वो कागज उठाया और उसका नंबर सेव करके उसे व्हात्सप्प पर मेसेज कर दिया | इशारों में मैंने उससे मोबाइल चेक करने को बोला | उसने मुझे रिप्लाई किया और अब हम दोनों व्हात्सप्प पर चैट करने लगे | बातों ही बातों में मैंने उसको बताया की मैं उसे पसदं करता हूँ | वो बोली की वो भी करती है | अब मैंने उसको बिना देर किये आई लव यू बोल दिया | उसने भी तुरंत आई लव यू टू बोल दिया | मैं खुश हो गया | अब उससे सीधा चुदाई के लिए तो नही बोल सकता था | इसीलिए मैंने उससे बोला की तुम्हे किस करने का बहुत मन कर रहा है | वो बोलने लगी की कण्ट्रोल करो | मैंने बोला इतने दिनों से किया तो है लेकिन अब नही हो रहा | वो बोली चलो मैं देखती हूँ क्या हो सकता है | मैं खुश हो गया |

शाम को उसका मेसेज आया की वो रात में ऊपर वाले कमरे में अकेले सोएगी | अब मैंने भी मामा से बोला की मामा, मुझे रात में लैपटॉप पर कुछ काम करना है इसीलिए मैं ऊपर वाले कमरे में ही सोऊंगा | फिर मैं कहाँ वगैरह खा कर ऊपर आ गया और दरवाजा बंद कर लिया | अब मैं उसका इंतजार करने लगा | लगभग आधे घंटे के बाद वो भी खाना खा कर आ गयी | मैंने उससे बोला की बताओ अब कैसे करना है | वो बोली थोडा रुको, सबको सो जाने दो | लगभग 10 बजे जब लगभग सारे लोग सो गये तो उसने बोला की एक उपाय है लेकिन रिस्क है उसमे | मैंने बोला तुम बताओ तो, मैं रिस्क लेने के लिए तैयार हूँ | वो बोली की फिल्मी स्टाइल | असल में दोनों घरों की बालकनी में लगभग 4 फुट का फर्क है | अब जो उसने बताया वो सच में रिस्की था | वो बोल रही थी लकड़ी के पटरे लगा कर मैं उसके घर में आ जाऊं और उसके कमरे में जाकर उसको किस कर लूं | मैंने हिसाब लगाया और 3 पटरे ले आया और अपनी बालकनी से उसकी बालकनी के बीच लगा दिए | अब रास्ता चौड़ा हो चूका था और कोई भी आराम से इन लकड़ी के पटरों पर से आराम से आ जा सकता था | मैंने इधर उधर देखा | अँधेरी रात थी इसीलिए डर कम था किसी के देखने का | जब कोई नही दिखा तो मैं उन पटरों पर चढ़ा और उसकी साइड जाकर फिर से पटरे उतार कर उसकी ही छत पर साइड में रख दिए | अब मैं और वो उसके कमरे में चले गये |

मैंने जाते ही उसके कमरे का दरवाजा बंद किया और उसे दीवार के सहारे टिकाकर जोरदार किस करने लगा | वो भी गर्म थी, मेरा पूरा साथ देने लगी | मैंने अब उसके होठों को चुसना शुरू कर दिया | धीरे धीरे मैं उसकी गर्दन और उसके आस पास किस करने लगा | वो मस्त हो कर सिसकियाँ लेने लगी | मैंने अब उसको बिस्तर पर लिटाया और अपनी टीशर्ट उतार कर के उसके ऊपर आ गया | वो मेरे इरादे समझ गयी और बोलने लगी शराफत से बस किस करो और जाओ.. बाकी फिर कभी | मैंने कहा अच्छा किस तो करने दो अच्छे से | वो बोली ठीक है, लेकिन सिर्फ किस | मैंने बोला ओके | अब मैं उसके होठों पर किस करने लगा | किस करते करते मैंने उसकी गर्दन पर किस करना शुरू कर दिया | किस करते करते मैं अपना एक हाथ उसके बूब्स पर ले गया | उसने मेरा हाथ वहीँ झटक दिया | अब मैंने उसको फिर से किस करना शुरू कर दिया और अपना हाथ उसके बूब्स पर ले जाने लगा | उसने मेरा हाथ अपने बूब्स से हटाया और अपने हाथों से पकड़ लिया | अब मैंने उसके कान के पास किस करना शुरू कर दिया | उसको मजा आने लगा और उसने मेरे हाथ की पकड़ ढीली कर दी | अब मैंने थोडा सा जोर लगाया और उसके बूब्स पर हाथ ले गया | अब मैं उसके बूब्स दबाने लगा | वो मजे से आह्ह्ह ह ह हह हह ह ह ऊऊ ऊ ऊ उ उमम उम्म्म उम् करने लगी |

अब मैंने उसके कपडे के ऊपर से उसके बूब्स पर किस करने लगा | वो मस्ती में सिसकियाँ लेने लगी | अब मैंने उसका टॉप ऊपर कर दिया और ब्रा को साइड करके उसके बूब्स चूसने लगा | उसके छोटे छोटे निप्पल चूस रहा था | दोस्तों उसके छोटे बूब्स में जो मजा था वो आज तक मुझे बड़े बूब्स चूस कर भी नही आया | उसके बूब्स मुझे मीठे से लग रहे थे | मैंने अबी उसका दूसरा दूध अपने हाथ में लिया और चुसना शुरू कर दिया | मुझे मजा आ रहा था | अब मुझसे रहा नही गया और मैंने एक हाथ सीधा उसकी लोअर के अन्दर घुसेड कर उसकी चूत को सहलाना शुरु कर दिया | वो गुस्सा दिखाने लगी | मैंने उसको थोडा सा किस किया और उसके बूब्स को जोर जोर से किस करने लगा | अब वो भी गर्म हो चुकी थी थोड़ी सी | मैंने अब उसकी चूत में अपनी ऊँगली घुसेड दी और अन्दर बाहर करने लगा | उसकी चूत कसी थी और हलकी सी गीली भी | वो सिसकियाँ लेने लगी और आह हह हह हह ह हह ह्ह्ह ह्ह्ह हह ह्ह्ह ह ह्ह्ह्हह ह ह्ह्ह ह ह्ह्ह हह उम् मम मम म्मम्मम्म म मम मम उम् मम उम् म उम् अह अहह करने लगी |

मैंने अब उसका लोवर उतार दिया और उसकी पैंटी भी | अब मैंने ज्यादा देर करना सही नही समझा | मैंने अब सीधा लंड उसकी चूत पर टिकाया और एक ही झटके में घुसेड दिया | वो चिल्ला पड़ी | मैंने तुरंत ही उसका मुंह बंद किया की कहीं कोई सुन न ले | अब मैंने झटके देने शुरू कर दिए | वो भी मजे लेने लगी | थोड़ी देर बाद वो झड गयी | मैंने भी अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर बेड पर झाड दिया और उसको बाँहों में लेकर सो गया | सुबह लगभग 4 बजे हमने फिर से चुदाई की और उसके बाद मैं वापस अपने मकान में उसी रस्ते आ गया | अब जब भी मैं वहां जाता हूँ, हम चुदाई के मजे लेते हैं |

दोस्तों ये थी मेरी कहानी |


error: