नौकरानी की कातिलाना चुदाई


hindi sex stories दोस्तों आप सभी को मेरा सादर प्रणाम मेरा नाम है टपलू चौकसे मैं न्यू कंचनपुर में पट्टी के खेत के पास रहता हूँ और मुझे अपने एक दोस्त से इन कहानियों के बारे में पता चला | वैसे पहले भी मैं कहानियाँ पढता था और वो सारी मस्त सेक्सी कहानियाँ होती थी पर वो सब किताबों में होती थी | अब आप सब जानते हो पुराना समय कितना किफायती था | जी हाँ मैंने दो दो रुपये में किताबें खरीदी हैं चुदाई वाली और उन्ही से अपना मनोरंजन करता था | पर आज का समय कुछ ज्यादा ही तेज़ व खुला हुआ हो गया है | पहले हमारे ज़माने में लडकियां शर्माती थी और उनकी ये शर्म उनका सबसे बड़ा गहना होता था क्यूंकि जब उनके कपड़े उतारते थे तब वो हया कुछ अलग ही जादू कर जाती थी | पर आज के समय में सब कुछ खुल गया है साला चुदाई के समय अपन भडवे हैं या वो रंडी समझ में ही नहीं आता | इसलिए मैंने रंडियों को चोदना बंद कर दिया है पर क्या करें साहब लंड है कि मानता नहीं | मेरी शादी नहीं हुयी है क्यूंकि सब जानते हैं मेरी हवस के बारे में | इसलिए मुझे कोई अपनी लड़की नहीं देता मेरी माँ परेशान हो गयी मेरे लिए लड़की ढूंढते ढूँढ़ते | सबसे बड़ी बात ये भी है कि मेरी माँ लालची है और उसे ढेर सारी धन दौलत चाहिए | और मुझे शादी भी समाज में ही करनी है तो और भी ज्यादा दिक्कत हो रही है | मुझे एक लड़की मिल भी गयी थी और उसके बाप के पास ढेर सारी दौलत थी पर उसके बाप ने मेरे बारे में जब पता लगाया तब उसने मन कर दिया शादी करने से | इस चीज़ से मेरी हवस और ज्यादा बढती चली गयी और मैं और ज्यादा बिगड़ गया |

मेरी किस्मत तो ऐसी हो गयी है जैसे तू झुक और मैं मारू | पर सच सच बता रहा हूँ आपको आज एक बात और वो ये है कि माँ चुदाओ मादरचोद जब देखो मुह उठा के चाले आते हो सुनने | तुमाहरी माँ का चूत और कोई काम नहीं है बहनचोद | साला इसकी माँ की चूत जब देखो तब कोई न कोई बनना पड़ता है कहानी सुनाने के लिए मदर चोद इतनी चुदाई तो जिंदगी में कभी की नहीं होगी जितनी कहानियाँ लिख दी है | अपनी अम्मा चुदवा रहे हो मादरचोद भागो यहाँ से कोई कहानी नहीं सुनाएगा | सुन लो बे लैंड के बालों अगर कहानी रोज़ चाहिए तो मेरी कहानी को लाइक करो और साथ साथ अपने एक्सपीरियंस भी बताओ जिससे मैं नयी नेति कहानी लिखूं | ठीक है बहुत अम्मा चोद ली तुमाहरी अब कहानी सुनाने में थोडा मज़ा आएगा | देखो क्या है भाई लोग थोड़ी बहुत गाली देनी चाहिए और साथ में थोडा सा रोल देते रहना चाहिए इससे क्या है बजन्दारी बनी रहती है | तो अब मैं कहाँ था हाँ मेरी शादी पर अब मैया चुदाने जाए शादी अब चुदाई का किसा सुनो तुमारी अम्मा का भोसड़ा | तो ये किस्सा है मेरी सलोनी का जो कि मेरे घर में काम करने आती है और मैं उसको मस्त चोदता हूँ और आज भी उसकी मोटी काली चूत पे अपना साफ़ गाढ़ा और गोरा मुट्ठ गिराता हूँ | वो कभी मुझे मन नहीं करती क्यूंकि उसकी शादी ही नहीं हुयी है और वो मादरचोद मुझसे शादी करने के सपने देखती है | पर लौड़ी को पता नहीं कि मुझ जैसा लड़का उससे शादी करेगा ही नहीं | पर मादरचोद कोई भरोसा भी नहीं है बहनचोद कहीं ऐसा हो गया कि मुझे किसी काली लड़की से शादी करनी पड़ी तो | क्यूंकि आसार कुछ ऐसे ही लग रहे हैं और मुझे लगता भी ऐसा ही है कि मेरी माँ के पाप मुझे धोने पड़ेंगे |
तो सलोनी तीन महीने पहले से मेरे घर में काम कर रही है और वो बहुत ही अच्छी लड़की है | मतलब है काली पर उसके चेरे की बनावट और उसका बदन बड़ा कातिलाना है | यही चीज़ देख के मेरा लंड खड़ा हो जाता और मैं उसको चोदने की अस लगाये बैठ जाता पर इससे कुछ काम नहीं बन रहा था इसलिए मैंने सोचा चलो मुट्ठ ही मार लिया जाए | कुछ दिन तो मैंने ऐसे ही मुट्ठ मारके काम चलाया पर अब बहनचोद पारा बढ़ने लगा दिमाग का और मैंने सोचा अब तो बाबा इसको चोदके ही दम लूँगा | एक दिन की बात है मैंने उससे कहा सलोनी तुझे पैसा कितना मिलता है तो उसने कहा ३०० रुपये मिलता है भैया | मैंने कहा मादरचोद बोल दे पर भैया ना बोलना आज के बाद | उसने क्यों ऐसा क्यों बोल रहे हो मैंने कहा मैं तुझे ३०० और दूंगा पर क्या तू मेरा लंड लेगी अपने मुह में | उसने कहा ये क्या बोल रहे हो मैं अभी मालकिन को बता के आती हूँ | मैंने कहा मैय्या चोद दूंगा अगर ऐसा किया तो | उसने कहा टीक है नहीं बतौंगी पर आज के बाद मुझसे ऐसी बात नहीं करना | मैंने सोचा मादरचोद कितना ख़राब ज़माना आ गया है ऐसे छोटे मोटे लोग अपन से मुह लग के बात करते हैं | पर कोई बात नहीं मुझे तो बस उसकी चूत से मतलब था | मैंने एक तरकीब निकाली मैं जब भी उसके सामने जाता तो उसके सामने अपना बड़ा लंड निकाल के मुट्ठ मारने लगता | वो साली अपना मुह घुमा लेती और मुझे गालियाँ देने लगती | एक दिन पता नहीं उसको क्या हुआ वो मुझे मुट्ठ मारते हुए देखती रही और मेरे पास आ गयी | जैसे ही मेरा माल निकला तो सारा का सारा उसके मुह पे गिर गया |
वो एक दूँ से चौंक गयी और कहने लगी ये क्या है ???????
मैंने कहा ये मेरे लंड से निकला हुआ पवित्र अमृत है इसे चख के देख | उसने थोडा सा चाटा और थूक दिया और कहा इससे क्या होता है ये कितना गन्दा है | मैंने उसके मुह पे अपना लंड रगडा और कहा इसी से तो बच्चे पैदा होते हैं | वो मेरे लंड को हटाने लगी पर धीरे धीरे मैंने अपने लंड को ज़बरदस्ती उसके मुह के अन्दर डाल दिया | वो मेरी तरफ देखने लगी गुस्से से पर मैंने प्यार से कहा अरे चूस के तो देख मज़ा आ जाएगा | वो मेरे लंड को चूसने लगी तो मैंने पुछा क्यों अच्छा लग रहा है न ????? उसने हाँ कहा और चूसती रही | फिर मेरा लंड खड़ा होने लगा और मैं उसके कपड़ों के ऊपर से ही उसके दूध दबाने लगा | वो मन लगाके मेरा लंड चूस रही थी और धीरे धीरे 20 मिनट बीत गए अब मेरा लंड फनफना गया और उससे मुट्ठ बाहर आने को था | जैसे ही मेरा मुठ बाहर आने को हुआ मैंने आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए उसके मुह के अन्दर झड़ गया | उतने में मम्मी ने आवाज़ लगाई और मेरी गांड फट गयी | मैंने तुरंत उसको अलग किया और उससे कहा कल करेंगे | अब वो भी मेरे साथ हर चीज़ में तैयार थी |
अब जब भी मैं उसे देखता था उसके चेहरे पे मुस्कान रहती थी | मुझे और क्या चाहिए बस मेरे लंड से किसी को दो पल की ख़ुशी मिल जाए और अपने को क्या चाहिए |

एक दिन मुझे मौका मिल गया और मैंने उसको दबोच लिया | उसके बाद क्या था मैंने उसको कहा चल मेरे कपड़े उतार दे | और उसने एक एक करके मेरे कपड़े उतार दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिया | फिर मैंने कहा मेरे लंड को चूस तो कमीनी ने पहले मुझे ऊपर ऊपर चूमके गरम कर दिया और फिर अपने कपड़े उतार दिए | जैसे ही मैंने उसके दूध और गांड को देखा मेरा लंड तड़पने लगा और उसकी गांड की चुदाई करने के लिए बेताब सा हो गया | उसने फिर मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और चूसने लगी और आधे घंटे में मुझे दो बार झड़ा दिया | अब मैंने उसको अलग किया और उसके दूध पे टूट पड़ा और कस कस के उसके दूध के निप्पल चूसने लगा और वो सिस्कारियां भरने लगी | मुझे उसकी चोट चाटने का मन नहीं कर रहा था पर मुझे इतना सेक्स चढ़ गया कि मैंने उसकी काली चूत को चाट लिया | उसकी चूत से पानी निकल आया और मैंने उसका रसपान कर लिया |

loading...

मैंने देर न लागते हुए उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | मैंने उसको करीब एक घंटा चोदा और कुतिया बना के उसकी गांड भी मारी और वो चीखती रही पर मैं चोदता रहा |
अब ये सिलसिला रोज़ चलता है और वो रोज़ मेरा लंड लेती है |