नर्गिस को चोदा


Nargis ko choda:

desi sex kahani

हाय दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम अफाक है और मैं जबलपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैं अभी पढाई कर रहा हूँ कंप्यूटर की | मैं दिखने में सावला हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मेरा बदन गठीला है | दोस्तों मैं इस साईट का दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट पर कहानियां पढना बहुत अच्छा लगता है | मैं रोज रात में एक कहानी तो जरुर पढता हूँ | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आएगी और आप लोगो को मेरी कहानी पढ़ कर बहुत मजा भी आएगा | तो अब मैं आप लोगो के कीमती समय को व्यर्थ न करते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

loading...

ये घटना कुछ समय पहले की है | मेरे घर में मैं हूँ और मेरी एक छोटी बहन हम दोनों अपने अम्मी अब्बू के साथ ख़ुशी ख़ुशी रहते हैं | मेरी बहन अभी छोटी है और अभी स्कूल की पढाई कर रही है | मैंने अपना ग्रेजुएशन करने के बाद सोचा कि खाली बैठने से अच्छा है कि कुछ कोर्स ही कर लिया जाये | तो मैंने कंप्यूटर कोर्स ज्वाइन कर लिया | वहां पर मेरे पापा की दोस्त की बेटी भी आती है जिसका नाम नर्गिस है | वो दिखने में काफी गोरी है और उसका फिगर हाय | इतना सेक्सी फिगर है उसका कि जो भी उसे देखे तो बस चोदने का मन ही चाहे | वो मेरे पापा के दोस्त की बेटी है इसलिए हमारी बात भी शुरू हो गई थी | हम दोनों साथ में क्लास जाने लगे और साथ में वापस भी आते थे | कभी कभी मैं उसके घर भी चला जाया करता था क्यूंकि उसके पापा और मेरे पापा दोनों ही बहुत अच्छे दोस्त हैं | कभी कभी उसके पापा नर्गिस साथ में आते थे तो कभी हम उनके घर जाते थे | पहली बार नर्गिस से मेरी बात कोचिंग सेंटर में ही हुई थी | इससे पहले हम जब भी मिले बस हाय हेल्लो के अलावा कुछ बात नहीं हुई | लेकिन अब हमारी बात ही नहीं बल्कि अच्छी खासी दोस्ती भी हो गई थी | हम दोनों बिना किसी डर के कहीं भी घुमने निकल जाते तो कभी किसी भी रेस्तौरेंट में बैठ जाते | क्यूंकि हमारे घर में सब पता था |

एक दिन की बात है मैंने उससे कहा कि मेरे साथ मूवी देखने चलोगी तो उसने भी तुरंत हाँ कर दिया | फिर एक दिन हम दोनों ने क्लास का गोल मार कर मूवी देखने गए और वहां पर मैंने उसे प्रोपोस कर दिया तो उसने कहा कि यार दोस्ती ही रहने दो | प्यार में पड़ गए तो दिल बहुत दुखता है | मैंने उससे पूछा कि क्या तुम्हे किसी से प्यार है ? तो उसने कहा नहीं अब कुछ नहीं है पहले मेरा एक बॉयफ्रेंड था पर उसने मुझे धोखा दिया | इसलिए मैंने भी ब्रेकअप कर लिया उससे | मैंने नर्गिस को बहुत समझाया कि हर लड़का एक जैसा नहीं होता | देखो तुम मुझे आजमा कर देखो | अगर मैं तुम्हे पसंद आया तो हम आगे भी कंटिन्यू रहेंगे नहीं तो तुम जब बोल दोगी मैं तुम्हारी लाइफ से दूर हो जाऊंगा लेकिन अपनी दोस्ती नहीं तोडूंगा | हम जैसे आज दोस्त हैं वैसे ही हमेशा दोस्त बने रहेंगे | ये बात सुन कर उसने भी सहमती जाता दी | उसके बाद हम दोनों रिलेशन में आ गए और हमारे बीच प्यार भरी बाते भी होने लगी | हम दोनों का प्यार धीरे धीरे बढ़ रहा था और केयर भी करने लगे थे हम दोनों एक दूसरे की | फिर कुछ समय बाद हमारी गन्दी गन्दी बात भी होने लगी | और फिर एक दिन जब उसका घर खाली था तो मैं उसके पास गया और उसके पीछे चिपक गया और दोनों हाँथ को आगे कर के उसके दूध को मसलने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह अहा ऊंह ऊम्ह आआ ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कहने लगी इतना जोर से मत करो न दर्द होता है | तो मैं दूध दबाते हुए बोल पड़ा कि जान दर्द ही में तो असली मजा है | फिर मैंने उसके चेहरे को अपनी तरफ कर दिया और उसको अपनी बांहों में भर कर उसके होंठ से अपने होंठ लगा कर किस करने लगा तो वो भी गरमजोशी में मेरा साथ देते हुए मुझे किस करने लगी |

मैं उसके होंठ को किस करते हुए उसके दोनों दूध को भी दबा रहा था और वो मुझे किस करते हुए मेरे लंड को जीन्स के ऊपर से ही टटोल रही थी | हम दोनों ने 15 मिनट किस करने के बाद एक दूसरे के प्यार में खोने लगे | उसके बाद उसने मेरी शर्ट को उतार कर हाँथ मेरे सीने में चलाने लगी | मुझे तो ऐसा लग रहा था जैसे चीटियाँ रेंग रही हो | फिर वो अपने घुटने पर जमीन पर बैठ गई और मेरे बेल्ट को खोल कर जीन्स को उतार दिया और फिर मेरी अंडरवियर को उतार कर मेरे लौड़े को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगी और जब मेरा लौड़ा तन गया तो वो अपनी जीभ से सहलाने लगी तो मेरे मुंह से अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ की आवाज़ निकलने लगी | वो मेरे लंड पर अपनी जीभ से गोलाई में चाट रही थी और मैं अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ की सिस्कारियां भर रहा था | मेरे लौड़े को चाटने के बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अन्दर डाल लिया और चूसने लगी तो मैं अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए मजे लेने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूसने लगी तो मैं भी अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए अपने लंड को उसके मुंह में ठोकने लगा | मेरे लंड को चूसने के बाद वो मेरे अन्टोलो को मुंह में भर कर चूसने लगी तो मैं अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए अपने लौड़े को हिलाने लगा | उसने मेरे लौड़े को 10 मिनट तक चूसा |

उसके बाद मैंने उसे उठाया और उसके गले को चाटते हुए उसके टॉप को निकाल दिया और उसके दोनों मम्मों को मसलने लगा तो वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए मेरे बाल को सहलाने लगी | मैं उसके दोनों मम्मों को जोर जोर से बारी बारी से चूस रहा था और वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | उसके मम्मो को पीने के बाद मैंने उसकी जीन्स को उतार दिया और लेटा कर उसकी पेंटी को अपने दांत से पकड़ कर उतार दिया और पूरा नंगा कर दिया | उसके बाद मैंने उसकी चिकनी गुलाबी चूत पर हाँथ फेरा और दोनों टांगो को फैला दिया और अपनी जीभ उसकी चूत पर चलाने लगा तो वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए उचकने लगी |

मैं उसकी चूत को चाटते हुए उसके चूत के दाने को भी चूसने लगा तो वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर मैं अपने मूसंड लौड़े को उसकी चूत में रख कर सहलाने लगा और फिर एक ही धक्के के साथ अपना लौड़ा उसकी चूत के अन्दर घुसेड कर चोदने लगा तो वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा तो वो भी अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए अपने मम्मों को मसलने लगी | फिर मैंने उसकी टांगे उठाई और दोनों हाँथ से फैला कर चोदने लगा तो वो अह्ह्ह अहह ह्ह्ह अह्ह्ह अह्हह हहह अह्ह्ह अहह आआ आआ अहह अह्ह्ह आआ आआ करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | पूरे कमरे में फचफच की आवाज़ आ रही थी और पूरा कमरा चुदाई की खुशबु से महक उठा था | कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में झड़ा दिया | कुछ दिनों बाद हमरा ऐसा झगड़ा हुआ कि हम दोनों ब्रेकअप करने के लिए राज़ी हो गए | अब हम एक दूसरे को देखते तक नहीं हैं |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी और मजा भी आया होगा |