मेरी नौकरानी और मेरी अन्तर्वासना -2


kamukta

हेल्लो दोस्तों, मैं दीपक हाजिर हूँ कहानी का दूसरा भाग लेकर | आशा है आप लोगों को कहानी का पहला भाग पसंद आया होगा | जिन दोस्तों ने पहला भाग नही पढा उनको बताना चाहूँगा की ये कहानी मेरी नौकरानी फातिमा की चुदाई की है | पहले भाग में मैंने बताया था की कैसे मैंने उसको उत्तेजित किया और किस करते करते उसके बूब्स पर पहुँच गया | इस भाग में मैं आप लोगों को आगे की कहानी बताऊंगा |

दोस्तों मैं और फातिमा दोनों बेड पर थे और मैं उसके निप्पल चूस रहा था | निप्पल चूसते चूसते मैंने उसकी चूत में अपनी एक ऊँगली डाल दी | उसकी चूत झांटों भरी थी और पूरी तरह गीली थी | मेरी ऊँगली आराम से उसकी चूत में घुस गयी | वो सिसकियाँ लेने लगी | अब मैंने उसकी चूत में ऊँगली को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया | वो मदहोश होकर आःह्ह्ह हह ह हह ह हह ह ह ह्ह्ह्हह हह ह ह्ह्ह्ह ह ह्ह्ह ह्ह्ह्ह ह ह हह ह ऊऊ उ उ ऊ उ ऊ ऊऊ उई इ इ इ ई इ इ इ ईई इ ई इ इ ई ईई इ इ ई इ इ ई इ ई इ ई इ ई इ इ इ इ ईईइ ईईईइ ईईई करने लगी | मैंने अब उसकी चूत में दो उँगलियाँ डाल दी | अब वो और जोर जोर से सिसकियाँ लेने लगी | मैंने उसको किस भी किये जा रहा था |

loading...

थोड़ी देर तक ऐसे ही करने के बाद मैंने उसके हाथ में अपना लंड पकड़ा दिया और लेट गया | वो मेरा इशारा समझ गयी और मेरे ऊपर आ गयी | वो मेरे लंड को बड़े मजेदार तरीके से सहलाने लगी | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया और किस किया | दोस्तों उस किस में ही मुझे भरपूर मजा आ गया | अब वो मुझे और उत्तेजित कर रही थी | वो मेरे लंड को टोपे को बड़े प्यार से चूम रही थी | मुझे जोश चढ़ रहा था | मेरा लंड अब पूरा खड़ा हो गया और 7 इंच का हो गया | अब वो मेरे लंड को चूसने लगी और बड़े प्यार से अन्दर बाहर करने लगी | मुझे जन्नत की सैर करने जैसा मजा आ रहा था उस टाइम | मैंने उसके सर को पकड़ा और अपने लंड से उसके मुंह हो चोदने लगा | कई बार तो मैंने अपना लंड उसके मुंह में इतना अन्दर तक घुसेड दिया की उसे खांसी आ गयी |

मैंने अब झडने वाला था लेकिन मैंने उसे बताया नही क्यूंकि मैं उसके मुंह में झाड़ना चाहता था | थोड़ी देर तक ऐसे ही लंड चुस्वाने के बाद मैं झड गया और अपना सारा माल उसके मुंह में छोड़ दिया | वो सारा माल निगली तो नही लेकिन गुस्सा भी नही हुई | अब मैंने उसको लिटाया और उसके बूब्स को चूसने लगा | बूब्स को चूसते चूसते उसकी चूत में ऊँगली भी करने लगा | उसकी चूत झांटों वाली थी इसीलिए मेरा चूत चाटने का मन नही हुआ | मैंने उसकी चूत को अपनी उँगलियों से चोदना शुरू कर दिया | उसकी मादक सिसकियाँ सुनकर मेरा लंड खड़ा हो गया फिर से | वो भी और इंतजार नही करना चाहती थी | मैंने अब बिना देर किये उसकी टांगों को फैलाया और उसमे अपना 7 इंच का लंड घुसेड़ना शुरू कर दिया | जैसे ही मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत में डाला, वो चीख पड़ी | उसकी चूत काफी टाइट थी | मैंने थोड़ी देर इंतजार किया और फिर एक और झटका दिया | इस बार मेरे लंड का आधा हिस्सा उसकी चूत के अन्दर था | उसकी आँखों से आंसू आ गये | मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया ताकि उसे थोडा नार्मल लगे | थोड़ी देर बाद मैंने और जोर से धक्का लगाया और इस बार पूरा लंड घुसेड दिया | वो रो पड़ी | मैंने उसको दिलासा दिलाया और उसे नार्मल किया |

अब वो रोना बंद कर चुकी थी | मैंने अब धीरे धीरे उसकी चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया | अब वो भी मजे लेने लगी | मैंने धक्कों की स्पीड तेज कर दी | वो मजे लेटी हुई आआआह्ह्ह्ह ह हह ह ह्ह्ह ह ह हह ह ह हह ह हह ह ह्ह्ह हह हह ह्ह्ह्ह ह ह्ह्ह्हह ह ह हह ह हह ह  ऊ ऊ ऊऊ उ ऊ उ ऊऊउ उ उ ऊ उ उ ऊऊउ ऊ उ उ उ ई इ ई इ इ इ ई इ ईईईइ ईईईई ईईइ इ इ इ आह्ह्ह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह्ह्ह्ह ह ह हह हह हह ह हह ह ह ह हह ह ह ह हह ह ह ह ह्ह्ह्ह हह करने लगी | मैंने उसे चोदना जरी रखा और साथ ही साथ उसे किस भी करने लगा |

थोड़ी देर तक ऐसे ही चोदने के बाद मैंने उसे घोड़ी बनाया और उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया | अब वो पूरी तरह गर्म हो चुकी थी | चुद्वाते हुए वो बोलने लगी आःह्ह हह ह हह ह हह ह ह ऊऊऊ उ ऊ उ ऊ उ उ ऊ ऊ उ चोदो मुझे आःह्ह ह हह ह ह ह्ह्ह हह ह ह ह ह हह ह और जोर से चोदो ओ आःह्ह्ह ह ह ह ई इ ओई इ ऊऊऊउइ ई इ ई इ इ ई इ ई इ इ ई इ ईईइ इ इ ई इ ई इ ईई ई ई इ इ ई इ ई इ ईई ईईइ ईईईई इ इ इ ई इ इ ई इ इ इ ईईइ मजा आ रहा रहा है.. बुझा दो मेरी प्यास…. आःह ह हह ह ह हह ह ह.. चोदो मुझे.., आह्ह्ह | मुझे उसकी सिसकियाँ सुन कर और जोश आ रहा था और मैंने अपने धक्कों की स्पीड और बढ़ा दी |

लगभग बीस मिनट की चुदाई के बाद जब मैंने झडने वाला हुआ तो वो बोली की मेरी चूत में ही छोड़ दो, मैं दवा खा लुंगी | मैंने बोला ठीक है | मैंने जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया | थोड़ी देर बाद मैं उसकी चूत में झड गया |

हम दोनों को इस चुदाई में बहुत मजा आया | उस दिन के बाद से जब तक मैं दिल्ली में था, हम दोनों ने बहुत बार चुदाई की और मजे लिए | आशा है की आप लोगों को ये कहानी पसंद आई होगी |