मेरा लंड मैडम का साथी


Teacher sex दोस्तों आज मैं आप लोगो को अपने स्कूल की प्रिंसिपल मैडम की रियल कहानी बताने जा रहा हूँ | इस कहानी पढने में आप लोगो को चोदने की खूब उत्सुकता मिलेगी और आप लोगो को पढने में भी बहुत मजा आएगा | इस कहानी के पढने के बाद चोदने के लिए आप लोग बेताब हो जाओगे और सोचोगे कि काश कोई लड़की चोदने के लिए मिल जाये |
दोस्तों मैं भोपाल का रहने वाला हूँ और मेरा नाम अतुल है मेरी उम्र 26 साल है और लम्बाई 6 फीट २ इंच है | मेरे चेहरे का रंग सांवला है और अब जबलपुर में रहता हूँ | जबलपुर में मैं टाटा कंपनी में मनेजर हूँ | मेरे मम्मी पापा भोपाल मैं ही रहते है | हां तो दोस्तों अब आप लोग तैयार हो जाओ क्योकि अब मैं आप लोगो को अपनी कहानी बताने जा रहा हूँ |

दोस्तों जब मैं 19 साल का था तो मैं एन के जे हाई सेकेन्ड्री स्कूल भोपाल में पढता था | मेरे स्कूल में एक बहुत ही सेक्सी प्रिंसिपल मैडम थी | उनका नाम सुल्जा कोरी था पूरा स्कूल उनकी खूबसूरती का दीवाना था | स्कूल के सभी सर लड़के और कर्मचारी तक मैडम को पटाने में लगे हुए थे | मुझे भी मैडम बहुत अच्छी लगती थी ऐसा लगता था कि बस एक बार मैडम चोदने को दे दें | मुझे उनको चोदने का खूब मन करता था | वो बहुत ही ज्यादा सेक्सी थी और खूब गोरी थी उनके उनके दूध बहुत ही अच्छे थे जब भी मैं उनके सामने जाता था तो उनको देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और उनको चोदने का खूब मन करता था | मैडम मुझसे बहुत अच्छे से बात किया करती थी स्कूल में हम दो तीन दोस्त बहुत ही फेमस थे क्योकि स्कूल में जब कोई भी कार्यक्रम होता था तो हम लोग ही पूरे कार्यक्रम की तैयारी करते थे | मैं स्कूल का प्रेसिडेंट भी था तो मेरी मैडम से अच्छी बनती थी | फिर एक दिन पता चला कि डायरेक्टर सर भी मैडम को पाटने में लगे हुए है | डायरेक्टर सर भी दिखने में बहुत स्मार्ट थे | वो प्रिंसिपल मैडम से खूब बात किया करते थे | इसी तरह धीरे धीरे प्रिंसिपल मैडम डायरेक्टर सर की लाइन में आ गई और डायरेक्टर सर से पट गई | प्रिंसिपल मैडम डायरेक्टर सर से बहुत चुदती थी डायरेक्टर सर मैडम को अपने बंगले में बुला कर बहुत चोदते थे | उस टाइम मैडम कि शादी नहीं हुई थी और प्रिंसिपल मैडम डायरेक्टर सर से इसलिए पट गई थी क्योकि मैडम के पास जो कुछ भी गाड़ी घर था वो सब डायरेक्टर सर ने मैडम को दिया था | मैडम बाहर से थी वो बिहार की रहने वाली थी प्रिंसिपल मैडम की पूरी फैमिली बिहार में ही रहती थी | प्रिंसिपल मैडम अपनी जॉब के कारण यही रहती थी | डायरेक्टर सर से खूब चुदती थी | डायरेक्टर सर का जब भी मन करता था मैडम को चोदने का तो वो अपने बंगले में मैडम को बुला कर खूब चोदते थे | स्कूल में हम लोगो का लास्ट साल था मेरा मन तो नहीं कर रहा था इस स्कूल से जाने का क्योकि मुझे मैडम को चोदना था लेकिन मैं क्या करता मेरी पढाई पूरी होने वाली थी फिर उसके कुछ दिन बाद हम लोगो की बिदाई हो गयी | बिदाई होने के बाद प्रिंसिपल मैडम ने हम लोगो को अपने ऑफिस में बुलाया और हम लोगो का मोबाइल नंबर ले लिया और कहा जब भी इस स्कूल में कोई भी कार्यक्रम होगा तो मैं तुम लोगो को फ़ोन करके स्कूल में बुलाऊंगी और तुम लोगो को स्कूल आना पड़ेगा | उसके बाद जब भी स्कूल में कार्यक्रम होता था तो प्रिंसिपल मैडम हम लोगो को जरुर बुलाया करती थी |

हम लोग हमेशा स्कूल जाया करते थे जब भी स्कूल में कार्यक्रम होता था | मैं तो मैडम से हमेशा मिलने जाया करता था क्योकि मुझे मैडम बहुत अच्छी लगती थी और मुझे उनको चोदना था | मैं जब भी उनसे मिलने के लिए जाता था तो मेरी नजर सीधे उनके दूध में जाती थी और मेरा लंड खड़ा हो जाता था उनको चोदने का खूब मन करता था पर अफ़सोस डायरेक्टर अपनी माँ चुदा रहा था | उसके एक साल बाद मैडम की शादी हो गयी और अपनी शादी में भी मैडम ने हम लोगो को भी बुलाया था | शादी हो जाने के बाद भी प्रिंसिपल मैडम अपने पति के साथ यही रहती थी और डायरेक्टर सर से खूब चुदती थी | यह बात मैडम के पति को नहीं मालूम थी कि मैडम डायरेक्टर सर से पटी है और और उनके बंगले में जाके उनसे खूब चुदती है | फिर उसके कुछ महीनो बाद मैडम को लड़का हो गया | दो लोगों से चुदती थी इसलिए इतनी जल्दी मैडम को लड़का हो गया था | सब लोगो को तो शक भी था कि ये लड़का मैडम के पति का है कि डायरेक्टर सर का क्योकि सबको यह बात पता थी कि मैडम डायरेक्टर सर से चुदती है | जब मैं एक दिन मैडम के लड़के को देखने स्कूल गया तो उनका लड़का बहुत सुंदर था उसका नाम मैडम ने आदि रखा था | फिर एक दिन मैडम का फ़ोन मेरे पास आया और मैडम मुझसे कहने लगी कि अतुल तुम आज मेरे घर आ सकते हो मुझे तुमसे कुछ काम है | मैंने मैडम से कहा बिलकुल आ जाऊंगा मैडम मैं आपके घर | यह बात सुनकर मेरा मन खुश हो गया मुझे लग रहा था कि शायद आज मुझे मैडम को चोदने मिल जाये | जब में मैडम के घर पहुंचा और जब मैडम को देखा तो देखता ही रह गया क्योकि घर में मैडम ने गाउन पहना था और वो उसमे में बहुत ही ज्यादा सेक्सी लग रही थी उनके दूध भी दिख रहे थे | मेरा लंड खड़ा हो गया था | मैंने मैडम से बोला आपको क्या काम था मुझसे तो मैडम बोलने लगी कुछ काम नहीं है आदि के बाल कटवाना है तुम इसे अपने साथ ले जाओ और अपने जैसे बाल कटा दो |
मैंने मैडम से बोला ओके मैडम कटवा दूंगा बाल | प्रिंसिपल मैडम को मेरे बाल और हेअर स्टाइल बहुत अच्छी लगती थी इसलिए उन्होंने मुझे आदि के बाल कटवाने को बोला | जब मैडम ने आदि के बाल कटे देखे तो खुश हो गयीं और मुझसे कहने लगी कि अतुल तुम अभी जाना नहीं मैं खाना बना रही हूँ खाना खा कर जाना और सबसे पहले आदि को नहला के सुला दिया | मैडम खाना बनाने लगी पर मुझे तो उस टाइम बस मैडम को चोदने का मन कर रहा था में तो बैठे बैठे मैडम को ही देख रहा था और उनके दूध भी दिख रहे थे | मैं तो उनके दूध को ही देख रहा था और सोच रहा था कि कब मैडम के दूध पीने मिलेंगे | और मेरा लंड भी खड़ा था बेठने का नाम भी नहीं ले रहा था |

मैडम ने मुझे देख लिया कि मैं उनके दूध को देख रहा हूँ और उनकी नजर भी मेरे लंड में पढ़ गयी और फिर मैडम मेरे पास आकर बैठ गयीं | वो मुझसे कहने लगी अतुल मैं बहुत देर से देख रही हूँ तुम मेरे दूध देख रहे हो और जब भी तुम मुझसे मिलने आते थे तो तुम्हारा लंड खड़ा रहता था और आज भी खड़ा है | क्या मुझे चोदने का मन कर रहा है ? मैंने मैडम से बोला आपको देख कर किसका लंड खड़ा नहीं होगा और चोदने का मन नहीं करेगा आप हो ही इतनी सेक्सी, किसी का भी लंड आपको देख कर खड़ा हो जायेगा और चोदने का मन करेगा | यह बात सुनकर मैडम ने अपने गाउन के आगे की चेन पूरी दी और मेरा मुंह पकड़कर अपने दूध में लगा दिया | मैं बहुत खुश हो गया फिर मैं उनके मस्त दूध पीने लगा | उसके बाद मैडम ने मेरा लंड अपने हाथ से पकड़कर बाहर निकाला और पीने लगी | उसके बाद मैडम ने अपना गाउन उतार दिया और फिर मैंने मैडम को पलंग में लेटा कर उनके दूध के बीच में लंड हिलाने लगा | मैडम मुझसे कहने लगी कि अब मेरे दूध से ही खेलते रहोगे कि चोदोगे भी | वो मेरा लंड अपनी चूत में डालने को कहने लगी | फिर मैंने अपना लंड में की चूत में डाला और उनको बहुत चोदा | मैं मैडम को बहुत तेज मन लगा कर चोद रहा था | मैडम आह्ह आह्ह्ह्ह आह्ह्ह ऊह्ह्ह कर रही थी और कह रही थी कि अतुल मुझे तुमसे चुदने में बहुत मजा आ रहा है और खूब आह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह ऊह्ह्ह्हह उह्ह्हह्ह कर रही थी | मैडम ने उस दिन अपने घर मैं ही रोक लिया मुझे और पूरी रात मुझसे चुदती रही | उनको मुझसे चुदने में बहुत मजा आ रहा था और मुझे तो मजा आ गया था | मेरा मन तो कर रहा था कि बस चोदता ही जाऊ | मेरा सुपाडा मैडम को चोदने के बाद फूल गया था | मैडम अब बस मेरे लंड से ही अपनी प्यास बुझाती थी |


error: