मस्त चुदाई मामी के साथ और अन्तर्वासना


हेल्लो मेरे प्यारे दोस्तों और मेरी सेक्सी बहनों आज आपका दोस्त असलम फिर से हाज़िर है अपनी एक नयी कहानी के साथ | मैंने पहले भी आप लोगों का मनोरंजन किया है अपनी कहानी के माध्यम से और आज भी मैं आपके सामने आया हूँ ताकि मैं आपको अपनी नयी कहानी के बारे में बता सकूँ | जी हाँ दोस्तों आज मैं आपके सामने हाज़िर हूँ अपनी मामी की कहानी के साथ और आज मैंने सोचा आपका इस कदर मनोरंजन करूँगा की आप लोगो को भी लगेगा कि बन्दे में कुछ तो बात है | मैंने अभी तक ये बात किसी को नहीं बताई पर मैं पिछले महीने मामी को चोद चुका हूँ और मैंने एक नहीं बल्कि अपनी दोनों मामियों को चोदा है | मुझे शादी धुडा औरतें कुछ ज्यादा ही पसंद है क्यूंकि उनका बदन भरा हुआ होता है और मोटी सी चूत जिसपे हलके से बाल होते हैं | मेरी दोनों मामी बहुत ही मस्त और सेक्सी है पर पहले जब मैं उनसे मिला तो वो बुर्के में थी पर मुझे नहीं पता था कि मैं उन्हें पूरा नंगा भी देख पाऊंगा | इसलिए मैंने सोचा ये मस्त बात आपसे साझा कर ली जाए इसलिए आज मैं आपके सामने आया हूँ और आपके लिए एक ऐसा किस्सा लाया हूँ जिससे आप बिलकुल तरोताज़ा महसूस करेंगे | जब मैं अपनी ममियोंको चोद के वापस जवान बन सकता हूँ तो फिर कुछ भी हो सकता है | इसलिए आज मैं आपको और जो भी मेरी कहानी पढ़ रहे हैं उन सब से कहना चाहता हूँ कि रिश्तों में चुदाई अच्छी बात है पर मैं मुसलमान हूँ तो मेरा चल जाता है | मैं आपको एक बात और बताना चाहता हूँ छोटी मामी मेरे घर के पास रहती हैं तो वो तो लगभग हर दिन ही मुझसे चुदती है पर जो बड़ी मामी है वो कसम से मेरे बच्चे की माँ बनते बनते रह गयी | उस समय तो मेरी भी गांड फट गयी थी जब मुझे ये पता चला था कि मेरी मामी पेट से हो गयी है | पर वो भी होशियार निकली उसने मेरे बच्चे को मामू का बच्चा बना दिया ये कहते हुए कि तुम मुझे नशे में कितना चोदते हो पता भी है |

तो अब मैं शुरू करता हु अपना चुदाई कथन और आप लोगों भी तैयार हो जाइए मेरी इस कहानी का मज़ा लेने के लिए | तो बात शुरू हुयी थी तीन महीने पहले जब मेरे मामू का ट्रान्सफर सतना हुआ | यहाँ पे वो एक सरकारी कंपनी में थे इसलिए उनको पैसों की कोई दिक्कत नहीं थी और ना ही आज है | हम सब पढ़े लिखे और सभ्य लोग हैं बस मैं ही एक मादरचोद प्रवत्ति का इंसान पैदा हो गया हूँ अपने घर में | तो मामी जब यहाँ आई तो मेरी पढ़ाई चल रही थी और मैंने सोचा चलो कोई तो रिश्ते दार आया यहाँ जो हमारा अपना है वरना हम सब तो बिहार के है और यहाँ अकेले पड़े हुए हैं | एक दिन मामा का फोन आया कि वो लोग हमे घर पे बुलाना चाहते है और सबका खाना करना चाहते है | मेरा एग्जाम था इसलिए मैं जा नहीं पाया पर मम्मी पापा वहां गये और उनके यहाँ होकर आये | एक दिन मैं अपने कॉलेज से वापस आ रहा था तब मुझे किसी ने आवाज़ दी और जैसे ही मैंने पीछे पलट के देखा तो मामा अपना हाथ हिला के मुझे बुला रहे थे |  मैं उनके पास गया तो उन्होंने पूछा कहाँ हो बेटा उस दिन भी नहीं आये | फिर उन्होंने कहा देखो तुम्हरी मामी तुमसे मिलना चाहती थी | मैंने देखा तो वो बुर्के में थी पर उनकी आँखे कमाल लग रही थी | मामी ने कहा तुम बड़े बिजी इंसान हो न इतना टाइम नहीं मिला कि अपनी मामी को अपना चेहरा दिखा दें ? मैंने कहा मामी बस एग्जाम हो जाए फिर तो बस आप और मैं मामी भांजे साथ में मस्ती करेंगे | वो हस्ते हुए बोली चलो कुछ खालो तो मैंने कहा मामी बस जाने दीजिये अभी घर जाके वापस कोचिंग के लिए निकलना है | मैंने घर गया और मम्मी से कहा मम्मी शादी का एल्बम हैं आपके पास जिसमे मामा मामी की फोटो हैं | मम्मी ने कहा बस तीन चार फोटो ही होंगी पर तू क्यूँ पूछ रहा है ? मैंने कहा माम्मिमैने मामी को नहीं देखा न कभी इसलिए पूछ रहा हूँ | मुम्मी ने कहा जा अलमारी से जाके निकाल ले वही रखा है सब |

मैंने सोचा चलो मामी की शकल तो दिख ही जाएगी अब | मैंने फोटो निकाली और देखा तो मामी क्या माल लग रही थी और तब तो वो पतली थी अब वो गदराई हुयी जवानी बन गई थी | मैंने भी सोचा चलो मामी को पटाने के लिए कुछ किया जाए | जैसे ही मैंने ये सोचा तब मेरी नज़र एक और फोटो पे पड़ी उसने मेरे छोटे मामा थे और उनकी पत्नी और वो भी मस्त लग रही थी | मैंने सोचा वाह दोनों मिल जाए तो मज़ा आ जाए | फिर उसके बाद मैंने मामी से पोचा मम्मी ये कौन है दूसरी फोटो में तब उन्होंने बताया और ये भी बताया छोटे मामा तो पीछे ही रहते हैं घर के | मुझे तो लगा जैसे मेरे सारे तारे ज़मीन पे आके गिर गये और मेरे साथ बैंग बैंग हो गया | मेरा मन मुझे कहने लगा चल मेरे घोड़े बहन के लौड़े लगा दे अपने नीचे का गियर और चोद दे सबको जस्ट डान्स जैसे | लटक लटक के जस्ट डांस…… लटका लटका के जस्ट डांस एंड तेरे डांस की माँ की चूत | मैंने सोचा पहले छोटी वाली को पटा लेता हूँ फिर बड़ी का नंबर लगाऊंगा | जब मैं उनके घर गया तो मैंने देखा मामा है ही नहीं और ममी ने कहा वाह अब फुर्सत मिली है आने की | मैंने कहा सॉरी मामी बहुत ज्यादा व्यस्त था | मामी सेक्सी कपडे पहनी हुयी थी और मेरे बगल में आके बैठ गयी | मैंने कहा मामा कहाँ है ? तब उन्होंने बताया कि मामा 6 महीने में एक बार घर आते है | मामी मेरे लिए खाने के लिए कुछ लायी और उनका पालू नीचे गिर गया और मैं उनके दूध देखने लगा | मामी कहने लगी बस देखते ही रहोगे क्या ? मैंने कहा क्या तब उन्होंने कहा देखो 6 महीने में एक बार चुदती हूँ अब बाहर से अच्छा घर का बच्चा चोद ले | मैंने तुरंत उनको पकड़ा और उनके दूध बाहर निकाल के पीने लगा और वो मेरे साथ मेरे लंड को सहलाने लगी ऊपर से ही | थोड़ी देर बाद उनके मुह से ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह  की आवाज़ निकलने लगी जोकि मुझे और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी |

फिर मैंने उससे कहा मामी क्या माल हो और इतने में उसने मेरा लंड बाहर निकाल लिया और चूसने लगी | मेरे मुह से भी ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह निकलने लगी और मैं मस्ती में आ गया | मैंने दो बार मामी के मुह में मुत्थ मारा और कहा मामी बस अब चूत के दर्शन करवा दो मुझे | उन्होंने तुरंत अपना लेहेंगा उतारा और मुझे चूत दिखा के कहा चाटो इसको | मैंने जैसे ही चूत चाटना चालु किया मामी ऊऊ उम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआ आअह्ह ह्हह्ह ऊ ऊऊ ऊऊ ऊऊऊऊओ आआ अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआ आअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह  करने लगी | और ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊ ऊऊऊ ऊऊओ आआअ ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊउ म्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआ आअह्ह ह्हह्ह ऊ ऊऊऊ ऊऊ ऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊ ऊऊऊऊ ऊऊऊओ आ आअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्  आअह्ह्ह्ह    करते हुए तीन बार झड़ गयी | मैंने उनका पूरा माल पी लिया | उसके बाद मैंने उनकी चूत में अपना लंड डाला तो पता चला चूत ज्यादा नहीं चुदी है और एक झटके में अन्दर पेल दिया अपना लंड | वो ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आ आआअह्ह ह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआ अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊ ऊउम्म्म्म ऊऊ न्न्ह्ह आआआअ ह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह ऊऊ उम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआ अह्ह ह्हह्ह ऊऊऊऊ ऊऊऊ ऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह करते हुए चुदती रही | फिर मैं उनकी चूत में झड़ गया और फिर मैंने उनकी गांड पे अपना लंड रखा | मैंने जैसे ही अन्दर डाला तो मामी चिलाने लगी और कहा दर्द हो रहा है निकालो इसको |

मैं नहीं रुका और चोदता रहा मामी भी ऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्हऊऊउम्म्म्म ऊऊन्न्ह्ह आआआअह्हह्हह्ह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ आआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् आअह्ह्ह्ह करते हुए चुद्वाती रही | मैंने मामी को तबीअत से छोड़ा बिना कुछ किये और मुझे अब उनकी चूत के दर्शन रोज़ होते हैं और मैं गांड भी रोज़ मारता हूँ बस मामा जब आते तब एक बार ही चोद पाता हूँ |

तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | आशा है आप लोगों को पसंद आयी होगी | कृपया अपनी अपनी राय जरुर दीजियेगा | मुझे इंतजार रहेगा |
 


error: