मामा की लड़की के मुह मे लंड दे दिया


incest kahani, antarvasna

मेरा नाम अरमान है और मैं एक छोटे से शहर के रहने वाला लड़का हूं। मैं बहुत ही सिंपल और साधारण हूं। मुझे बिल्कुल भी शोर शराबा और किसी के साथ झगड़ा करना भी पसंद नहीं है। मैं अपने आप में ही खोया रहता हूं और मुझे अपने आप में ही रहना अच्छा लगता है। मेरे जितने भी दोस्त हैं वह सब मेरी तरह ही हैं।  वह भी इन सब चीजों में बिल्कुल नहीं पड़ते और कहते हैं कि हम इस तरीके से ही ठीक हैं। मेरे पिताजी चाहते हैं कि मैं थोड़ा अपने आप को बदलने की कोशिश करू लेकिन मैं नहीं चाहता कि मैं अपने आप को बदलू। मैं जैसा हूं वैसे ही अपने आप में खुश हूं। इसी वजह से मेरे पिताजी ने मुझे मेरे मामा जी के यहां पर भेज रहे थे और कहने लगे कि तुम कुछ दिनों के लिए बेंगलुरु जाकर घूम आओ। मैंने उन्हें कहा कि मैं वहां पर क्या करूंगा।

वह लोग बहुत ही बड़े लोग हैं और हम बहुत ही मामूली और साधारण लोग हैं। वह फिर भी मुझसे जिद करने लगे और कहने लगे कि तुम वहां पर चले जाओ। कुछ दिनों तक तुम वहां पर रहोगे तो तुम्हें भी अच्छा लगेगा। घर पर वैसे भी कुछ काम तो है नहीं। तुम्हारी मां मैं और तुम्हारे बड़े भैया तो यहां पर हैं। तुम कुछ दिन घूम आओ तो तुम्हारा मन भी बहल जाएगा। मैं भी उनकी बात मान गया और सोचा कुछ दिनों के लिए घूम ही आता हूं। जब मैंने अपने मामा जी को फोन किया तो वह कहने लगे कि तुम कब आओगे। मैंने उन्हें बताया कि मैं अगले हफ्ते तक आपके घर पर आ जाऊंगा। कुछ दिनों तक मैं वहीं पर रहने वाला हूं। यह बात जब मैंने उनसे कही तो वह बहुत खुश हुए और कहने लगी कि चलो कम से कम तुम इस बहाने घर से बाहर तो निकलोगे। नहीं तो तुम सिर्फ घर पर ही रहते हो और तुम कहीं भी नहीं जाते। मैंने उन्हें कहा मामा जी ऐसी कोई बात नहीं है। मैं जाता तो हूं लेकिन मुझे ज्यादा शोर शराबा पसंद नहीं है और मैं अपने आप से ही खुश हूं। अब मैं अगले हफ्ते उनके घर पर चला गया। जब मैं उनके घर गया तो मेरे मामा की लड़की मुझे मिली। उसका नाम काजल है और वह बहुत ही मॉडल ख्यालातो की है। वह मुझे देखकर बहुत ही खुश हुई। वह उनकी इकलौती लड़की है। वह उससे बहुत ही प्यार करते हैं और उसकी हर चीज के लिए वह हमेशा आगे रहते हैं। मेरे मामा ने काजल को कहा कि तुम अरमान को घुमा देना और उसे अपने साथ ले जाया करो। ताकि उसका टाइम पास हो जाया करें। नहीं तो वह घर में अकेले अकेले बोर हो जाएगा। काजल मुझसे 2 साल ही बड़ी है और उसने एक अच्छे कॉलेज से पढ़ाई की है। अब वह मेरे साथ ही रहती। और घर पर भी हम दोनों साथ में ही थे।

एक दिन उसने मुझे कहा कि चलो मैं तुम्हें शहर घुमा कर ले आती हूं। मैंने उसे कहा कि अब कौन सा टाइम हो रहा है घूमने का। उसने कहा यही टाइम तो घूमने का है। मैंने उसे कहा कि बहुत रात हो गई है। अब कहां जाएंगे। उसने मुझे कहा कि तुम तैयार हो जाओ और मेरे साथ चलो  अब वह मुझे अपने साथ ले गई। मैं उसके साथ गया। उसने मुझे अपने दोस्तों से मिलाया। उसके दोस्त बहुत ही ज्यादा मॉडर्न थे और सब मुझे घूर रहे थे। मुझे अपने आप में बहुत ज्यादा शर्म सी महसूस होने लगी। काजल ने उन लोगों से मुझे मिलाया लेकिन वह मेरे साथ बिल्कुल भी अच्छे से बात नहीं कर रहे थे। मुझे यह बात बहुत ही बुरी लग रही थी लेकिन यह बात काजल को बिल्कुल भी समझ नहीं आया और वह अपने दोस्तों के साथ एंजॉय कर रही थी लेकिन मैं अकेला बैठा हुआ था। तो मुझे बहुत ही बुरा लग रहा था। जब उन लोगों की पार्टी खत्म हो गई। तो वह मुझे कहने लगी कि अब घर चलो। हम दोनों अब घर आ गए लेकिन उसे तब भी कुछ समझ नहीं आया और मैंने उससे बात भी नहीं की। हम दोनों जब घर आए तो हम दोनों काफी देर तक बातें कर रहे थे लेकिन मेरा मन बिल्कुल भी उससे बात करने का नहीं था। फिर भी मैं उस से बातें कर रहा था। मैंने उसे कहा कि क्या तुम्हें मुझे अपने साथ लेकर जाना चाहिए था। वह कहने लगी क्यों, तुम्हें बुरा लगा क्या। मैंने उसे कहा कि तुम्हारे दोस्त बहुत ही मॉडर्न ख्यालातों के हैं और मैं एक सिंपल साधारण सा इंसान हूं। मुझे यह चीज बिल्कुल भी पसंद नहीं है लेकिन उसके बावजूद भी तुम मुझे अपने साथ ले गई और तुम्हारे दोस्त मुझे किस तरीके से घूर रहे थे। मुझे तो बहुत ही बुरा लग रहा था। वह कहने लगी कि चलो तुम मुझे माफ कर दो। अगर तुम्हें इस बात से बुरा लगा। मैंने उसे कहा कि इसी वजह से मैं तुम्हारे घर आना नहीं चाहता था लेकिन मेरे पिताजी मुझे कहने लगे कि तुम कुछ दिनों के लिए अपने मामा के पास चले जाओ। वह मुझसे कहने लगी कि अकर तुम्हें इस चीज का बुरा लगा तो मुझे माफ़ कर दो। मेरा तुम्हे हर्ट करने का बिल्कुल भी इरादा नही था।

हम दोनों ऐसे ही बात कर रहे थे और वह पता नहीं कब सो गई मुझे पता भी नहीं चला। मैं भी उसी के बगल में लेट गया जब मैं उसके बगल में लेटा हुआ था तो उसकी गांड मुझे दिखाई दे रही थी। मैंने उसकी गांड को देखा तो मेरा मूड खराब होने लगा क्योंकि वह बहुत ज्यादा गोरी थी। मुझे ऐसा लग रहा था कि कितनी मस्त जवानी है लेकिन मुझे अपने मामा का ध्यान भी आ रहा था और मेरा लंड भी खड़ा होने लगा। मैंने जैसे ही उसके कपड़ों को उतार तो मेरा मन और ज्यादा खराब हो गया और मैं अपने लंड को निकालते हुए उसकी गांड के बीचो-बीच रगडने लगा। थोड़ी देर बाद वह भी उठ गई और उसे मजा आ रहा था। जब उसने मेरे मोटे से लंड को देखा तो वह कहने लगी तुम्हारा तो बहुत ज्यादा मोटा और लंबा है। जब उसने यह बात कही तो मैंने तुरंत ही उसको कसकर पकड़ लिया और उसके स्तनों को अपने मुंह के अंदर समा लिया। उसक उत्तेजना भी बढ़ने लगी और उसने चिल्लाना शुरु कर दिया। मैंने उसकी चूत को भी चाटना शुरू कर दिया और थोड़ी देर तक उसकी चूत को चाटता रहा। उसकी चूत से पानी का रिसाव बहुत तीव्र गति से हो रहा था। मैंने भी अपने मोटे लंड को उसकी टाइट और मुलायम योनि के अंदर डाल दिया। जब मैंने अपने लंड को उसकी योनि में डाला तो उसके मुंह से बहुत तेज चीख निकल गई और वह बड़ी तेजी से चिल्लाती जाती।

वह इतनी तेज  चिल्ला रही थी कि मेरे कानों तक  उसकी आवाज आ रही थी। वह बहुत ही तेज तेज चिल्लाने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लगता जब वह इतनी तीव्र गति से चिल्लाती। मैंने उसे कहा कि अब तुम मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर ले लो। उसने मेरे लंड को अपने मुंह में लिया तो उसे बहुत ही अच्छे से चूसने लगी। वह इतने अच्छे से चूस रही थी कि मेरा लंड और ज्यादा मोटा हो गया। मैंने उसे डॉगी स्टाइल में बना दिया और धीरे से अपने लंड को उसकी योनि के अंदर डाला। वह आगे की तरफ को होने लगी मैंने उसे पकड़ते हुए उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया। जब मैंने अपने लंड को डाला तो उसकी चूतडे मेंरे लंड से टकराने लगी। उसकी चूतडे बहुत ही मोटी और बड़ी-बड़ी थी वह जब मुझसे टकराती तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था मैं अपने लंड को उस पर प्रहार करता। अब उसकी चूतडे पूरी लाल होने लगी और मुझे बहुत ही मजा आ रहा था जब मैं उसे चोद रहा था।

मैं अब भी ऐसे ही धक्के मारते जा रहा था। काफी देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वह भी अपनी चूतड़ों को मेरे लंड से मिलाने लगी और ऐसे ही मैं उसे बड़ी तेजी से चोदता जाता। थोड़ी देर बाद उसकी चूत मेरे लंड से कुछ ज्यादा ही रगड़ने लगी उससे एक गर्मी उत्पन्न होने लगी। उस गर्मी से उसका भी झड़ चुका था और मेरा माल भी उसकी योनि के अंदर जा गिरा। मेरा वीर्य इतनी तेजी से उसकी योनि में गया की वह चिल्लाने लगी और जब मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो वह दोबारा से उसे हिलाने लगी। उसने अपने हाथों में मेरे लंड को पकड़ा हुआ था जब वह हिला रही थी तो वह दोबारा से खड़ा हो गया। उसने अपने मुंह के अंदर उसे ले लिया और उसे चूसने लगी लेकिन उसे बहुत ज्यादा नींद आ रही थी और वह अपने मुंह में मेरे लंड को लेकर ही सो गई। जब मैं सुबह उठा तो मैंने देखा कि उसने मेरा लंड अपने मुंह के अंदर ही ले रखा था।


error: