मकान मालकिन की लड़की को चोदा


हेल्लो कैसे है दोस्तों मैं आपका अभिजीत जैसा की आप ने मेरी पहली कहानी मैं पढ़ा की मैंने कैसे अपनी मकान मालकिन की चुदाई कैसे की | ये कहानी मैं जो लिख रहा हूँ | जो की मकान मालकिन की लड़की रिया की है | जैसा की मैंने बताया था की उस दिन रिया को शक हो गया था की और उस दिन की अलका भाभी की चूत चुदाई के बाद मैंने रिया की चूत कैसे मरी उसकी कहानी मैं आज आप लोंगों को बताने जा रहा हूँ जैसे की की उस दिन मैंने आप लोगों को बताया था की मेरे गीले कपडे व खड़ा लंड देख कर रिया को शक हो गया था | पर अलका भाभी और मुझे नहीं पता था की जब उस दिन हम दोनों की चुदाई के समय रिया भी वंहा थी | इसकी खबर हम दोनों को नहीं थी | जब अलका भाभी की चुदाई के बाद अलका भाभी को मैं अगली सुबह मिला तो अलका भाभी ने बताया की कल की सारी बात रिया को पता चल गयी है | मेरी तो गांड फट गयी की अब रिया की चूत चोदने का सपना अब मेरा सपना ही रह जायेगा | पर भाभी ने कहा की तुम चिंता न करो मैं रिया को समझा लूंगी | और भाभी ने बताया की रिया भी मुझको पसंद करती है | तो मैंने भी भाभी को बताया की मैं भी रिया को बहुत पसंद करता हूँ तो भाभी ने कहा की चिंता मत करो मैं तुम्हारी ये भी इच्छा पूरी करूंगी बस तुम मेरी प्यास ऐसे ही बुझाते रहना आज मैं रिया को तुम्हारे पास भेजूंगी पूरी कर लेना अपनी तमन्ना |

तब जाके मुझे कुछ आराम मिला | और मैं रिया के खयालो मैं खो गया | उसकी चिकनी चूत के बारे मैं सोंच कर ही मेरा लंड पानी छोड़ने लगता है | अगले दिन मैं अपने कमरे मैं लेटा था तभी रिया मेरे कमरे मैं आयीं और खड़े होकर मेरे लंड को देखने लगी जो की उस समय उसी के ख्यालों मैं खड़ा हुआ था | मैं रिया को अपने कमरे मैं देख कर एक दम से चौंक गया | क्यूंकि वो पहलीं बार वो मेरे कमरे मैं आयी थी | देख कर मेरा लंड पैन्ट फाड़कर बाहर आने लगा पर मैंने कंट्रोल किया और मैंने रिया से पूंछा की तुम यंहा क्या कर रही हो तो उसने बताया की उसे मम्मी और मेरे बारे मैं सब पता है | सायद अलका भाभी ने उसे सब कुछ बता दिया था | उसकी ये बात सुनकर मैं डर गया की कही वो अपने पापा से सब न बता दे पर उसने मुझ से कहा की डरने की कोई बात नहीं हैं मैं जानती हूँ की मेरे पाप मेरी मम्मी की प्यास नहीं बुझा पाते मम्मी ने मुझे बताया था | तब जाके मुझे कुछ आराम मिला और फिर मैंने उससे कहा की मैं उससे बहुत प्यार करता हूँ |

तो उसने कहा की प्यार तो वो भी मुझ से करती है पर आज तक वो कह नहीं पायी | और उसने बताया की उसने भी कई बार मेरे बारे मैं सोंच कर अपनी चूत मैं ऊँगली की है | इतना सुनते ही मेरे अन्दर की वासना जाग उठी और मैंने उसे पकड़ लिया और जोर से किस करने लगा | सलवार कुरते मैं क्या गजब लग रही थी | मैंने उसे बेड पे लिटाया और उसकी गर्दन पे किस करने लगा और उसके मम्मो को मसलने लगा | धीरे – धीरे वो गरम होने लगी और वो भी मुझे जोर से किस कर रही थी जैसे की वो भी बहुत दिनों से इसी का इन्तजार कर रही हो | मैं उसे किस करते हुए उसके मम्मो को मसल रहा था और उसकी चूत मैं ऊँगली कर रहा था | उसकी चूत गीली होने लगी थी | फिर मैंने धीरे से उसका कुर्ता निकाल दिया | उसकी काली रंग की ब्रा मैं उसकी चुचियों का उभार देख कर मैं पागल हुआ जा रहा था | मैंने उसकी सलवार भी निकाल फेंकी अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी मैं थी क्या कमाल लग रही थी | मुझे लग रहा था की आज मेरे बरसो की मेहनत रंग ला रही थी |

loading...

अब रिया भी बहुत गर्म हो चुकी थी | उसने मेरी पैन्ट निकाल कर फेक दी और मेरे लंड को बाहर निकाला मेरा मेरा मोटा लंड देख कर उसकी गांड फट गयी | क्यूंकि इससे पहले उसने लंड के दरसन नहीं किया था | फिर मैंने अपना लंड उसे अपने मुह मैं लेने को कहा पहले तो उसने मन किया पर मेरे बहुत कहने पर वो मान गयी | और उसने मेरा पूरा लंड अपने मुह मैं ले लिया और मजे से चूसने लगी | मुझे भी बहुत मजा आ रहा था आज मेरा वो सपना पूरा हो रहा था जो की मैं बहुत दिनों से देख रहा था | मैं उसके मुह को बराबर अपना लंड डाल के चोद रहा था और वो भी मेरा लंड चूसते हुए मजे लिए जा रही थी | मैंने थोड़ी देर तक उसको अपना लंड चूसाया फिर मेरा मन उसे चोदने का हुआ | मैंने अपना लंड उसके मुह से बाहर निकला और उसके बाद में मैंने उसकी ब्रा- पैंटी निकालकर फैंक दिया और उसको मैंने बेड पर लिटा दिया | मैंने भी अपने सारे कपडे निकाल दिए और उसके साथ बेड पर लेट गया | मैंने थोड़ी देर तक अपनी होंठो को उसकी होंठ में डाल कर चूसा | फिर मैंने उसकी दोनों टांगो को अपने हाँथ में पकड़ कर फैला दिया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया वो एक दम से सिहर उठी उसके आँखों मैं आंसू आ गए थे उसकी चूत से खून निकल रहा था | मेरे लंड पे भी उसकी चूत का खून लग चुका था | खून देख कर वो डर गयी और रोने लगी मैंने उसे समझाया की तुमने ये पहली बार किया है तभी ऐसा हुआ है | मैंने उसे समझाया की उसकी सील टूट चुकी है |

फिर मैं उसे किस करने लगा और और अपने लंड को बड़े ही आराम से उसकी गुलाबी चूत में डाल दिया और वो भी अब अपने मुह से बहुत तेज-तेज आह आह आहा अहः आहा ओह्ह्ह आह आह उह्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह इह्ह इह्ह ओह्ह्ह आह आहा आहा आहा आहा अह आहा आहा उह्नुंह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्नोह्ह ओह्ह ओह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह्ह इह्ह इह्ह इह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह्ह ओह्ह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह्ह ओह्ह उन्ह उन्ह उन्हुंह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह ओह्ह्ह ओह्ह की सिस्कारिया निकाल रही थी | मुझे भी बहुत मजा आ रहा था और नों भी अपने मुह से आह आह आहा अ आहा आह आह आह आह आह आहा आहा अ आ आ आहा उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह की आवाज़े निकाल रही थीं | मैं शॉट पे शॉट मरे जा रहा था और धीरे – धीरे मैंने स्पीड तेज की अब वो मेरा साथ दे रही थी सायद उसे भी मज़ा आने लगा था | मैं जोर –जोर से चोद रहा था और उसके मम्मो को मसल रहा था और उसके गुलाबी होंठों का रसपान कर रहा था | वो जोर – जोर से अहह उन्हह ओह्ह्ह अह्ह्ह आह्ह्ह आःह्ह ओह्ह्ह फक में अह्ह्ह ओंन्ह्ह अह्ह्ह चोदो मुझे और जोर से चोदो ओह्ह्ह अह्ह्ह उम्म्म अह्ह्ह फाड़ दो मेरी चूत को आज से मेरी चूत तुम्हारी |

मैं भी उसकी आवाज़े सुन कर और कामुक हो गया और मैं और जोर से धक्के लगाने लगा |वो भी गांड उठा कर मेरा साथ दे रही थी | फिर धोड़ी देर की चुदाई के बाद उसने मुझ से कहा की वो झड़ने वाली है मैंने धक्के और जोर कर दिया और वो झड गयी |पर मैं अभी कहा झड़ने वाला था मैं धक्के पे धक्के लगाये जा रहा था था फिर मैं भी थोड़ी देर बाद झड़ने वाला था तो मैंने अपना लंड निकाल कर उसके मुह मैं दे दिया | और वो मेरे लंड को मजे से चूसने लगी मैंने अपना सारा माल उसके मुह मैं ही निकाल दिया वो मेरा सारा माल गटक गयी | उसने मेरा लंड चूस-चूस कर फिर से खड़ा कर दिया | और मैंने फिर उसे बेड पे गिरा लिया और उसकी चूत पे अपना मुह रख दिया और उसके चूत के दानो को धीरे-धीरे सहलाने लगा और उसकी चुचियों को मसल-मसल लाल कर दिया हम दोनों एक दुसरे को बराबर किस कर रहे थे | वो फिर से गरम हो चुकी थी | और मेरा लंड तो पहले से ही उसकी चूत की गहराइयों मैं जाने के लिए तैयार था | पर मैंने पहले उसके बूब्स पे लंड रख कर उसके बूब्स की चुदाई करने लगा | और उसकी चूत मैं ऊँगली दल कर चोदने लगा | वो बहुत गरम हो चुकी थी |

उसने मुझ से कहा अभिजीत अब मुझे मत तडपाओ डाल दो अपना लंड मेरी चूत मैं वरना मैं मर जाउंगी फाड़ दो मेरी चूत को आज तक इसने किसी का लंड नहीं खाया आज मिटा दो भूख मेरी चूत की | अब मैंने अपना लंड उसकी चूत के निशाने पर रखा और पूरा लंड उसकी चूत मैं घुसा दिया उसकी चूत अब भी बहुत टाईट थी | मैंने धक्के जोर किये और अब वो भी चूतड उचका कर मेरा साथ दे रही थी | मुझे बहुत मज़ा आ रहा था आज तक मैंने ऐसी रसीली छूट कभी नहीं चोदी थी | लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद उसने कहा मैं झड़ने वाली हूँ मैंने धक्के और तेज किये हम दोनों ही झड गए फिर हम दोनों थोड़ी देर एक दुसरे के ऊपर लेटे रहे फिर वह उठी और अपने कपडे पहन कर मुझे किस किया और मुस्कुरा कर चली गयी |