मैंने कॉलबॉय को घर पर बुलवा कर अपनी चुदाई कराई


hindi sex stories

हाय मेरे प्यारे दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मुझे उम्मीद है की आप सब खुश ही होगे और मुझे जैसी लड़कियों की मस्त चुदाई करते होगे और उनको खुश भी रखते होगे साथ में तुम सब भी खुश रहते होगे | आज मैं एक कहानी को लेकर आई हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची कहानी | मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देती हूँ |

मेरा नाम सैलू है | मेरी उम्र 28 साल है | मैं रहने वाली अमृतसर की हूँ | मेरी शादी हो चुकी है | मैं दिखने में गोरी हूँ और सेक्सी भी मेरे स्तन काफी बड़े है | मेरी गांड तो आकर्षण का केंद्र है मैं जब चलती हूँ तो मेरी गांड मटकती हुई चलती है | आज जो मैं कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रही हूँ | मुझे उम्मीद है की आप सभी लोगो को मेरी कहानी पंसद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा आयेगा | मैं आप सभी लोगो का ज्यादा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |

loading...

मेरी शादी के बाद की बात है जब मेरे पति विदेश काम करने चले गए थे | तब मेरे पति 1 में एक बार ही आते थे और जब वो घर आते थे तब ही मुझे लंड का सुख मिलता था | इस तरह से धीरे धीरे मेरी शादी को 3 साल हो गए थे और शादी के बाद मुझे अपने पति का लंड अपनी चूत में लेने का मौका अभी तक सिर्फ़ 10 -12 बार ही लिया होगा इससे ज्यादा तो मैं अपनी चूत में ऊँगली डाल कर चूत का पानी निकाल चुकी हूँ | मैं अपने घर पर अकेली ही रहती थी इसलिए मैं सोच रही थी की कोई लड़के को ही पटा लूँ जो मुझे रोज अपने लंड से चोदा करे तब मैं अपनी छत पर खड़ी होकर देखती की कोई लड़का दिख जाये जो मेरी चूत की आग को बुझा सके पर मुझे उस दिन कोई लड़का भी नही मिला जिसके लंड को अपनी चूत में लेकर चुदती | फिर एक दिन की बात है जब मेरी सेहली ने मुझे फ़ोन किया और बोली की मुझे कुछ काम है और मैं तेरे घर आ रही हूँ |

मैं आप लोगो को अपनी सहली के बारे में बता देती हूँ उसका नाम पारुल है और वो मेरी बचपन की सेहली है | उसकी अभी शादी नही हुई है | उस दिन वो मेरे घर आ रही थी तो मैंने भी उसके लिए खाने पिने का इंतजाम किया | वो भी कुछ ही देर में आ गयी फिर हम और वो बैठ कर बाते करने लगे | तब उसने मुझसे पूछा की जीजा जी तो बाहर रहते हैं तो तेरे तो रात और दिन बराबर है | तब मैंने कहा हाँ मुझे तो लंड देखे 8 महीने हो गए हैं | फिर मैंने उसे अपनी परेशानी बताई तो उसने मुझे बताया की वो एक लड़के को जानती है जो रूपये लेकर चुदाई करता है | तब मैंने उससे पूछा तुम कैसे जानती हूँ तो उसने बताया की मैं उससे अक्सर अपनी चुदाई कराती हूँ और वो चूत भी चाटता है | वो लड़का चुदाई का पूरा मज़ा देता है और हर तरह से चुदाई करता है | मैं तो उससे बहुत खुश रहती हूँ और जब मेरा मन चुदाई करने का होता है तो मैं उसे बुला लेती हूँ | तब मैंने उसका नम्बर माँगा और उसका नाम पूछा तो उसने उसका नाम राहुल बताया | उस रात वो मेरे ही घर पर रुकी थी और सुबह नाश्ता करने के बाद वो चली गयी | तब मैंने सोचा की राहुल को फ़ोन करती हूँ और फिर मैंने उसको फ़ोन किया |

राहुल – हेल्लो जी आप कौन ?

मैं – जी आप राहुल बोल रहे हो ?

राहुल – जी हाँ | पर आप कौन ?

मैं – सैलू हूँ और मुझे आप से कुछ बात करनी है ?

राहुल – जी मैं आप को नही जनता हूँ और आप को मुझसे क्या बात करनी है |

मैं –  मुझे प्यार की जरूरत है तो क्या आप मुझे प्यार का सुख दे सकते हो ?

राहुल – हाँ दे सकता हूँ पर मैं इसके रूपये लेता हूँ और एक बात बताओ आप को मेरा नम्बर किसने दिया |

मैं – मेरी एक दोस्त है जिसका नाम पारुल है उसने ही मुझे तुम्हारे बारे में बताया था और तुम्हारा नम्बर दिया था |

राहुल – हाँ पारुल तो मेरी बहुत पुरानी कस्टमर है और बोला तो बताओ मुझे कहाँ आना है होटल या तुम्हारे घर |

मैं – मेरे घर ही आ जाना क्यकि मेरे घर कोई नही रहता है |

राहुल – तुम्हारा घर कहाँ है ?

फिर मैंने उसे अपना घर का पता बता दिया और फ़ोन कट कर दिया | फिर मैं मार्केट में कुछ सामान ले रही थी | तब मुझे उसका फ़ोन आया और बोला की मैं तुम्हारे मोहल्ले में हूँ तुम्हारा घर कहाँ पर है | मैंने कहा रुकना अभी मैं मार्केट में हूँ अभी आती हूँ | फिर मैं उससे बात करती हुई आ रही थी की वो मुझे रास्ते में ही मिल गया | तब मैं उसको अपने साथ में लेकर घर आई और दरवाजा बंद कर लिया | फिर मैंने उसे बैठने के लिए कुर्सी दी और वो बैठ गया तो मैंने उससे कहा क्या लोगो चाय या कॉफ़ी तब उसने कह कुछ नही |

फिर मैंने उससे कुछ बाते की और उसको अपने बेडरूम में ले गयी | तब वो कुछ देर बाद मेरी होठो पर अपने होठो को रख कर मेरी रसीली होठो को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं भी उसकी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरी होठो को अपने मुंह में दबा कर जोर जोर से खीच – खीच कर चूसने लगा | मैं भी उसकी होठो को चूसने लगी | वो मेरी होठो को चूसने के साथ में मेरे स्तन को कपडे के ऊपर से दबा रहा था | वो मेरी होठो को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसने के बाद मेरे कपड़ो को निकाल दिया | मैं उसके सामने 2 मिनट में ही ब्रा और पेंटी में आ गयी | फिर वो मेरी बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाते हुए मेरी ब्रा के हुक को खोल दिया | फिर मेरे चिकने दूधो को पकड कर दबाते हुए एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा | तब मैं उसके सर को पकड कर सहलाती हुई अपने दूध को चूसने लगी | वो मेरे एक दूध को मुंह में रख कर जोर जोर से चूस रहा था और दुसरे दूध के निप्पल को अपनी उँगलियों से पकड कर मसल रहा था | जब वो मेरे निप्पल को मुंह में रख कर चूसने लगा और साथ में मेरे निप्पल को मुंह से पकड कर खीच खीच कर चूसने लगा तो मेरे मुंह से उई उई ऊह्ह्ह उह्ह ओह्ह… हाआअ आआआ ऊऊऊ… सी सी सी…. की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे एक दूध को हाथ में पकड कर मसल रहा था और दुसरे दूध के निप्पल को मुंह में दबा दबा कर खीच रहा था जिससे मेरे मुंह से धीमी धीमी आवाज में ऊऊऊ आआआआ… ऊऊऊ…हू हू हू हू…. उई उई उई माँ मा माँ… की आवाजे करती हुई अपने बूब्स को चूसा रही थी | वो मेरे बूब्स को इस तरह से चूस रहा था की मेरे जिस्म में आग सी लग गयी और मैं अपनी चूत को जोर जोर से हिलाने लगी | तब वो मेरी बूब्स को छोड़कर मेरी टांगो को फैला कर मेरी चूत में अपने मुंह को घुसा कर मेरी चूत को चाटने लगा | तब मैं उई उई माँ उई माँ उई माँ… ऊऊऊ…आआआ.. सी सी सी… हु हु हु.. की सिसिकियाँ लेती हुई अपनी चूत को चूसा रही थी | वो मेरी चूत को चूसने के साथ में मेरी चूत में अपनी ऊँगली को भी घुसा दिया जिससे मेरे मुंह से मदहोश करने वाली सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरी आवाजो को सुनकर और जोश में आ गया और मेरी चूत में अपनी ऊँगली की स्पीड तेज करके अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चाटने लगा | वो मेरी चूत को ऐसे ही 6 -7 मिनट तक चाटता रहा | फिर अपने कपड़ो को निकाल कर अपने लंड को मुंह में डाल कर चूसने लगा | मैं उसके लड़ को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | मैं उसके लंड को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसती रही |

फिर उसने मेरी टांगो को फैला कर मेरी चूत के मुंह पर लंड को रख कर घुसा दिया मेरी चूत गीली थी जिससे उसका लंड मेरी चूत में एक ही धक्के में अन्दर तक घुस गया तो मेरे मुंह से उई माई उई मई मर गयी ऊऊ अह्ह्ह… आआआ ऊऊऊ… की सिसिकियाँ लेने लगी | वो मेरी चूत में लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोदने लगा | फिर मेरी चूत से गर्म पानी की धार निकल पड़ी और मैं झड गयी | फिर वो मेरी चूत में अपने लंड को दुबारा डाल कर मेरे दोनों बूब्स को पकड कर जोर जोर के धक्को के साथ मुझे चोदने लगा | मैं मस्त होकर अपनी चूत को हिलाती हुई चुदने लगी | वो मुझे ऐसे ही 10 मिनट तक चोदने के बाद मेरी चूत से अपने लंड को निकाल कर मुझे घोड़ी बना दिया | फिर मेरी चूत में पीछे से लंड को डाल कर जोरदार धक्के मेरी चूत में मारने लगा तो मैं उई उई उई सी सी सी… उह उ उह उह उह… अहह अहह माँ माँ माँ.. की सिसिकियाँ लेती हुई चुदने लगी | वो मुझे ऐसे ही जोरदार धक्को के साथ मुझे चोदता रहा और मैं दुबारा झड गयी मेरी चूत का पानी निकल गया | फिर वो 30 मिनट की चुदाई के बाद झड गया | फिर कपडे पहन कर मुझसे रूपये लिया और चला गया | उसने मेरी इस कदर चुदाई की थी की मैं उस रात दर्द के मारे सो नही पाई थी | अब मुझे जब ही चुदने का मन होता है तो मैं उसे बुला लेती हूँ |

ये थी मेरी कहानी | मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पढ़ कर बहुत मज़ा आया होगा |