मैंने अपनी चूत चुदवाई


pyasi chut हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप लोग ? मैं आशा करती हूँ की आप लोग ठीक ही होगे | मेरा नाम सोनिया है | मेरी हाईट 6 फुट 5 इंच है | मैं रहने वाली भोपाल की हूँ | मैं 12 में पढ़ती हूँ | मेरी उम्र 18 साल है | मेरा फिगर सेक्सी है | मेरा फिगर देख कर कोई भी दीवाना हो जाये | इसलिए में अपने फिगर का साइज़ नहीं बताउंगी | पर इतना बता देती हूँ की मेरे बड़े बड़े बूब्स और मोटी गांड देख कर किसी बूढ़े आदमी का भी लंड खड़ा हो जाये | ये मेरी पहली चुदाई की पहली कहानी है | मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को पसंद आयेगी | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | जब मैं कॉलेज से घर आ रही थी | मेरे क्लास का एक लड़का मुझे देख कर इशारे कर रहा था | मैं आप लोगो को इस लड़के के बारे में बता देती हूँ | इसका नाम राहुल है | ये दिखने में स्मार्ट है | इसलिए ये हमेशा मुझे पटाने की कोशिश किया करता है | राहुल जब क्लास में होता है तब मुझे बहुत परेशान करता है | पर वो जब मुझे परेशान करता है तो मुझे अच्छा लगता है | मैं उसे पसंद भी करती हूँ पर कभी बताती नहीं हूँ | वो मुझे अभी तक 2 बार प्रपोस कर चुका है पर मैंने मना कर दिया है | धीरे धीरे कुछ दिन निकल गये | एक दिन की बात है जब राहुल ने मुझे रास्ते में मुझे रोक लिया और मुझसे बोला मान भी जाओ | मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ | तब मैंने उसे बतया मैं भी तुमसे प्यार करती हूँ पर तुम्हे सताते मुझे आच्छा लगता है | फिर जब मैं कॉलेज जाती थी तो वो मुझे इशारे मैं किस के लिए कहता था | पर मैं उसकी और देखती ही नहीं थी | एक दिन की बात है जब क्लास में कोई नहीं था | तब वो मेरे पास आकर मुझे किस करने लगा और मेरे बूब्स को दबाने लगा | उस दिन उसने मुझे 10 मिनट तक किस करता रहा और साथ में मेरे बूब्स भी दबाता रहा जिससे मेरी चूत गीली हो गयी थी | फिर जब मुझे लगा कोई आ रहा है तब मैं उसे माना किया | फिर वो अपनी सीट पर जाकर बैठ गया | उसके बाद जब हम कॉलेज से छुटे तो वो मुझसे रास्ते में कहने लगा की मज़ा आया था | तो मैंने कहा हाँ फिर मैं अपने घर चली गयी | वो अपने घर चला गया | धीरे धीरे हम लोग साथ में घुमने भी जाने लगे थे | एक दिन की बात है जब हम रात को डीनर पर साथ में गए थे | तब वो मुझे सेक्स करने के लिए कहा पर मैंने माना कर दिया | फिर उसने मुझे किस किया और मुझे मेरे घर तक छोड़ कर चला गया | उस रात में सोच रही थी की कितना आच्छा मोका था | अपनी चूत चोदवाने का पर मैंने माना कर दिया | फिर मैं सोचने लगी जब मैं अगली बार उसके सह जाऊँगी | तब मैं उसका लंड अपनी चूत में लुंगी | उसके बाद जब हम क्लास में बैठे थे तब वो मेरी तरफ देख कर हंस रहा था | पर मुझे समझ नहीं आ रहा था की वो किय हँस रहा है | फिर जब सब लोग क्लास से चले गए तब मैंने उससे पूछा की तुम हँस किय रहे हो | तो उसने कहा बता दूँ | तो मैंने कहा बता दो और उसने मेरे होठ पर अपने होठ रख कर किस करने लगा | तब उसने मुझे बतया की इसलिए में हँस रहा था | फिर हम बात करते हुए घर चले गए | जब मैं घर गयी तो मेरे मम्मी पापा मेरी नानी के घर जा रहे थे | मम्मी ने मुझे बताया की वो 1 दिन बात आयेंगे |

तब मैंने राहुल को फ़ोन किया और पूछा तुम कहाँ हो | तो उसने कहा मैं अपने घर हूँ | तब मैंने उसे अपने घर बुलया और बतया की मेरे घर पर कोई नहीं है | तब वो मेरे घर आया | मैंने उससे कहा क्या खाओगे तो उसने कुछ भी खाने से माना कर दिया और मुझसे पूछा तुमने मुझे किय बुलाया है | तो मैंने कहा मुझे अकेले डर लगा रहा था इसलिए | फिर हम बैठ कर टीवी देखने लगे | तब उसने धीरे से मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे अपनी और खीच लिए | फिर मेरी होठो पर अपने होठ रख कर किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसे किस करने लगी | वो मुझे किस करने के साथ मेरे बूब्स को भी दबा रहा था | वो किस करते करते उसने मेरी टी शार्ट निकाल दी | जिससे मेरे बड़े बूब्स उसके सामने आ गए | क्यकी में ब्रा और पेंटी नहीं पहनती थी | फिर वो मेरे बूब्स को पीते हुए मेरी चूत को कपडे के ऊपर से सहलाने लगा जिससे मेरे मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ्फुह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ ऊउह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फु ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह सिसिकियाँ निकल गयी | धीरे धीरे उसने मेरे सारे कपडे उतर दिए मैं उसके सामने बीना कपडे के थी | वो मेरे बूब्स को दबाते हुए मेरी चूत में अपनी ऊँगली घुसा कर अन्दर बाहर कर रहा था | मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह ऊफ्फ ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह किये जा रही थी | उसके बाद वो मेरी चूत में अपना मुंह घुसा कर मेरी चूत को चाटने लगा साथ में वो मेरी चूत में अपनी ऊँगली अन्दर बाहर कर रहा था जिससे मेरे मुंह से ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह ऊह्ह्ह ऊफ्फ अह्ह्ह्हह्ह इस तरह की आवाजे लेते हुए | अपने बूब्स को मसल राही थी | वो मेरी चूत को कुछ देर तक चाटता रहा | वो मेरी चूत में अपनी जुबान से अन्दर बाहर करता जिससे मेरे मुंह से धीमी धीमी आवाज में ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह उह्ह्ह अहह्ह्ह्हू उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह की सिसिकियाँ लेते हुए | मैं अपनी चूत को सेहला रही थी | उसके बाद उसने अपना मुंह मेरी चूत से निकाल कर मेरी दोनों टांगो को फेला कर मेरी चूत के मुंह पर अपना लंड रख कर मेरी चूत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा | मैं अपनी चूत को सहलाते हुई चुदने लगी | धीरे धीरे मैं अपनी बूब्स को भी मसल रही थी जिससे मुझे मज़ा रहा था | फिर उसने धीरे धीरे मेरी चूत में धक्के तेज कर दिए | मैं अपने मुंह में अपनी ऊँगली डाल कर उह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह ऊउफ़्फ़्फ़्फ़ अहह्ह्ह्हू ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह किये जा रही थी | वो मेरी ये आवाज सुन कर उसने मेरी चूत में और जोर जोर से धक्के मरने लगा | मैं अपनी चूत को हीलाते हुए चुद रही थी | कुछ देर तक वो मुझे ऐसे ही चोदता रहा | उसके बाद उसने मेरी चूत से अपना लंड निकाल कर अपना लंड मेरे मुंह में डाल कर चुसाने लगा | मैं उसके लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चुसाने लगी | वो मेरे मुंह में धीमी धीमी अन्दर बहाए करने लगा | कुछ देर तक मैं उसके लंड को चूसती रही | फिर वो अपने लंड को मेरे मुंह से निकाल कर बेड पर लेट गया | मैं उसके लंड पर बैठ कर अपने आप चुदने लगी | अब मैं उसके लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होते हुए चुद रही थी साथ में अपने मुंह से उह्ह्ह्ह ऊफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊऊऊऊ फ्फ्फ फफफफ उह्ह्ह्हू ऊफ्फ्फ्फ़ ऊह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह ऊऊह्ह अह्ह्ह ऊउह्ह आःह्ह की सिसिकियाँ ले रही थी | मैं उसके लंड पर उछल उछल कर चुदने लगी | वो भी मेरी चूत में नीचे से धीरे धीरे धक्के मारने लगा | कुछ ही देर में उसने धक्को की स्पीड तेज कर दी जिससे धक्को की आवाज कमरे में घुजने लगी | मैं उसके लंड पर बैठ कर मज़े से चुद रही थी की मुझे लगा मेरी चूत से पानी निकलने वाला है | तब मैं उसके लंड से उतर कर बेड पर लेट गयी | मैंने उसको बताया की मैं झड़ने वाली हूँ | फिर उसने मेरी चूत पर अपना लंड रख रगड़ने लगा जिससे कुछ ही देर में मेरी चूत से पानी की धार निकल पड़ी | मेरी चूत का सारा पानी निकल गया | वो अभी तक नहीं झडा था तो उसने दुबारा मेरी चूत में अपना लंड डाल कर जोरदार धक्को के साथ मुझे चोदने लगा | वो 35 मिनट की चुदाई के बाद उसके लंड ने मेरे पेट पर अपना माल निकाल दिया | अब हम अक्सर चुदाई किया करते हैं |
मैं आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिए धन्यवाद् |

loading...