मामी की चुदाई


Maami ki chudai:

desi incest sex stories

हेलो दोस्तों मैं रणवीर आज फिर से एक बार अपनी एक और मस्त कहानी ले कर आपके लिए हाजिर हूँ| मुझे मेरी कहानियों का बहुत अच्छा रेस्पोंसे मिल रहा है| मुझे उम्मीद नहीं थी की आप सब को मेरी कहानी इतनी पसन्द आयेगी| आप सब के इतने प्यार मिलने की वजह से आज मैं आप को एक और नया और मस्त किस्सा बताने जा रहा हूँ| मुझे उम्मीद है आप को आज भी मेरी ये कहानी पसन्द आयेगी| तो चलिए फिर ज्यादा फिर देर न करते हुए कहानी को शुरू करते है| जैसा की मैंने पहले बताया था की मैंने कैसे अपनी मामीयों को छोड़ा था| पर कुछ समय वो दोनों मामीयों अलग हो गई थी बड़ी मामी मेरे घर से ज्यादा दूर नहीं थी पर छोटी मामी थोड़ी दूर थी| बड़ी मामी एक नंबर की चोदकर थी|

वो साली अपनी चूत को मरवाने से ज्यादा चटवाना पसन्द करती थी| इसीलिए उसे लंड की भूख कम ही लगती थी| पर उधर छोटी मामी एक नंबर की चोदकर औरत थी| उसे तो लंड के बिना चैन नहीं आता था| हर हफ्ता में २ या ३ बार तो वो मेरे ही लंड मांगती थी| और उसके बाद हर रात मामा जी से भी चुदाती थी| उसका कहना था की मामा का बहुत छोटा है और वो ५ मिनट में ही ही फ्री हो जाते है| इसीलिए वो मेरे लंड मांगती है| पर दोनों मामीयों को फ्री में चोदने में मुझे कोई दिक्कत नहीं थी| मैं जब चाहे उन दोनों में से किसी की भी चूत मर सकता था| मैं ज्यादा तक छोटी मामी को चोदता था| क्यूंकि उनकी चूत कमल की थी| और वो चोद्वाती थी भी बहुत ही मस्त तरीके से| एक दिन मैं बड़ी मामी को चोदने गया क्यूंकि उन्होंने ही मुझे फ़ोन करके बुलाया था|मैं उनके घर गया और उनको चोदने की तैयारी करने लग गया| पहले उन्होंने मुझसे हमेशा की तरह ३० मिनट तक अपनी चूत को अच्छे से चटवाया| वैसे मामी की चूत को चाटने में एक अलग ही मजा है|क्यूंकि जब चिकनी चूत पर जीभ लगती है तो मजा ही कमाल का आता है|

उसके बाद वो खुद भी अपनी चूत को अच्छे से चटवाती थी| वो मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में दबा लेती थी| और अपनी गांड को खुद ही ऊपर निचे करके मुझसे चूत अच्छे से चटवाती थी| चूत को चाटने और उसका २ बार पानी निकालने के बाद अब चूत चोदने का मोका मिला| मामी की चूत मैं जब भी चोदता था वो मुझे एक दम टाइट मिलती थी| क्यूंकि वो अपनी चूत बहुत कम मरवाती थी| इस लिए उनकी मस्त चिकनी चूत बहुत ही कमाल की थी| मैंने बड़ी मामी की खूब आचे से २ घंटे तक चोदा| इन २ घंटों में मैंने अपने लंड का पानी २ बार और मामी की चूत का पानी ३ बार निकाला| तब जब कर मैं और मामी थोड़ी शांत हुई| कुछ देर बाद उन्होंने मेरा लंड चुसना शुरू कर दिया| और मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया| मैंने इस बार मामी का मुह और गला जाम कर चोदा| और फिर उनके गले में ही अपने लंड का सारा पानी निकल दिया| लंड का सारा पानी पिने के बाद मामी ने मेरे लंड को चाट कर पूरा साफ कर दिया| उसके बाद वो मेरी बाँहों में आ गई|कुछ देर रेस्ट करने के बाद मामी मेरी बाँहों में लेते हुए बोली|

मेरे राजा मैंने तेरे लंड के लिए एक बहुत कमाल की चूत को ढूंडा है| वो तेरे लंड के लिए तड़प रही है| और मैं यकीन के साथ कह सकती हूँ| अगर तेरे लंड ने वो चूत देख ली न तो तेरे लंड भी उसके बिना नहीं रह पायेगा| फिर क्या था मैंने मामी से उसके बारे में पुचा| मामी ने मुझे अपने फ़ोन में एक विडियो दिखाया उसके एक जवान आंटी मामी की चूत को अच्छे से चाट रही थी| देखने में ही वो मुझे बहुत कमाल की लग रही थी| उसके चूची ३४ के होंगे और सच उनको देख कर मेरा मुह में पानी आ गया|मैंने मामी से उसके बारे में पूछा तो उन्होंने कहा की ये उसके घर के पास में नई आयी है| इसका पति इसको चोदता नहीं और अभी इसकी शादी को सिर्फ ५ साल हुए है और अभी तक कोई बच्चा भी नहीं है| इस लिए इसकी चूत बहुत ज्यादा तड़प रही है इसे तुम्हारे जैसा एक मस्त जवान लड़का और मस्त लम्बा लंड चाहिए| जो तुम्हारे पास है मेरे राजा| बस फिर क्या था मैंने मामी से मीटिंग फिक्स करने को कहा| मामी बोली तुम थोड़ा वेट करो एक बार ऐसे ही इससे मिल लो फिर मैं बात आगे चलाती हूँ| मैंने कहा ठीक है पर जल्दी काम करना अब मेरा लंड इसकी चूत में जा कर ही चैन पायेगा| अगले दिन ही मामी मेरे घर आ गई| घर पर मैं और मम्मी थे| दरवाजा मैंने खोला और वहां ममता को देख कर मैं उसका दीवाना हो गया| मामी ने मुझे जैसे बताया था ये उस से भी कही ज्यादा कमाल की औरत थी| देखने में वो सिर्फ २२ साल की लग रही थी|

उसके चूची कमाल के थे उसके ब्लाउज में आधे चूची ऊपर से साफ दिख रहे थे| मैंने उन्हें घर के अन्दर लिए जाते हुए मामी ने कहा कैसा लगा पुर्जा| मैंने कहा की ये तो बहुत ही मस्त है प्लीज आप जल्दी से मेरा सेटिंग इस से करवाओं और इसे मेरी रंडी बना दो| मामी ने मुझे कहा की बस अब तैयार हो जावो कुछ नहीं पता तुम्हे कब ये चोदने को मिल जाये समझे| अब मैं बहुत बेसब्री से ममता की चूत का इन्तेजार करने लग गया| अब मैंने मुठ और चूत मरना बंद कर दिया था| क्यूंकि मैं चाहता था की अपने लंड का काफी सारा पानी ममता के मुह में दलु जिसे उसका पूरा मुह भर जाये| आखिर कुछ दिन बाद ये दिन भी आ गया जिसका मुझे बेसब्री से इन्तेजार था| उस दिन बारिश हो रही थी मैं घर में अकेले था| क्यूंकि मम्मी पापा बाहर गए हुए थे जो रात तक ही आने वाले थे| मेरे पास पहले मामी का फ़ोन आया की मैं कहा हूँ| जब मैंने कहा की आज मैं घर में अकेला हूँ इस लिए आप को चोदने के लिए नहीं आ सकता| तो मामी बोली कोई बात नहीं मैं तेरे घर ही आ जाती हूँ| करीब ३० मिनट मेरे घर की डोर बेल बजी मैंने सोचा ये साली रंडी इतनी बारिश में भी नहीं अपने घर बैठी| जैसे ही मैंने दरवाजा खोला तो मैं हैरान रह गया क्यूंकि मेरे सामने ममता बारिश में पूरी तरह से भींगी हुई खड़ी थी| उसका साथ कोई नहीं था उसने वाइट कलर का लाइट सा सूट डाला हुवा था जिसमे से उसका एक एक अंग साफ दिख रहा था| मेरा लंड उसे देखते ही खड़ा हो गया| मैं उसे अन्दर ले आ गया और अन्दर जैसे ही मैंने दरवाजा बंद किया उसने मुझे पीछे से पकड़ लिया| और मैं एक दम डर गया मैं सोच रहा था मैं तो इस साली का रेप करने की सोच रहा था ये तो मेरा ही रेप कर रही है|

उसने मुझे लिप्स किया और बोली बहुत तारीफ करती है तेरी मामी तेरी और तेरे लंड की| आज मैं भी तो देखूं तेरे अन्दर कितना दम है आजा मेरे राजा मुझे अपना दम दिखा| ये सुनते ही मैंने उसके भींगे हुए होंठो को एक बार और चूसा और साली को उठा कर बीएड पर ले गया| जाते ही हम दोनों पुरे नंगे हो गए और उसने मेरा ७ इंच लंड देखते ही अपने मुह में ले लिया| और बोली वह आज तो मजा ही आ जायेगा ऐसा लंड तो आज तक नहीं देखा मैंने| उसको मैंने अपना लंड अच्छे से चुसवाया और फिर उसका सिर पकड़ कर मैं उसका मुह चोदना शुरू कर दिया| कुछ ही देर में मैंने उसका मुह अपने लंड के पानी से पूरा भर दिया जैसे मैंने सोचा था| उसको अपने लंड का पानी पिला कर मैंने उसकी चूत का पानी पिया| उसकी चूत सच में बहुत कमाल की थी ऐसी चूत तो मैंने मेरी मामी की भी नहीं थी| फिर मैंने उसको जोर से चोदना शुरू कर दिया| मुझे पता था अगर मैं आज ही अपनी पूरी तागत से चोद दूं तो ये साली जिन्दगी भर मेरी रंडी बन कर रहेगी| और मैंने उस टाइम अपनी पूरी जान उसकी चूत को फाड़ने में लगा दी| और उसकी खुली हुई चूत में से एक बार खून निकाल दिया| उसकी चूत खून और उसकी चूत के पानी से भर चुकी थी. अब तक उसकी चूत ने ४ बार पानी छोड़ा और मैंने सिर्फ १ बार| फिर मैंने अपने लंड का पानी उसे पिलाया और फिर उसे छोड़ दिया| ३५ मिनट रेस्ट करने के बाद वो बाथरूम में गई और फ्रेश कर आई| तो मुझे गले से लगा कर बोली आज तुम मुझे जैसे मर्जी जब मर्जी चोद सकते हो| मैं तुम्हारी रंडी बन कर रहना पसन्द करुँगी| उस दिन के बाद ममता और मामी को मैंने एक साथ उसी के घर पर चोदता हूँ| मैं अब मामी को डाली मामी कहता हूँ क्यूंकि उसी डाली ने मुझे एक मस्त रंडी का मालिक बना दिया है|…


error: