माँ कसम चोदने नहीं दूंगा


हाँ दोस्तो आज मैं तुम लोगो को सबसे अनोखी कहानी बताने जा रहा हूँ | यह कहनी को पढ़ कर तुम लोग हैरान हो जाओगे और इस कहानी को पढने के बाद तुम लोगो का लंड ऐसा खड़ा होगा की तुम लोग चोदने के लिए तरस जाओगे और यह कहनी पड़कर तुम लोगो को बहुत मजा आएगा |

दोस्तों मेरा नाम रितिक है और मैं कटनी का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 25 साल है | दोस्तों मेरा एक दोस्त है उसका नाम सिब्बू है | उसकी उम्र 26 साल है | वो मेरे से एक साल बड़ा है | हम दोनों अच्छे दोस्त है हम दोनों बहुत लड़की बाजी करते है | दोस्तों पिछले साल की बात है मैं और सिब्बू केला लेने जा रहे थे तो जाते समय सिब्बू रस्ते पर बहुत लड़की बाजी कर रहा था और मैं उसे मना कर रहा था कि भाई अभी मत कर अपन केला लेने के बाद लड़की बाजी करेंगे और फिर सिब्बू बोलने लगा कि अच्छा ठीक है | चल पहले केला लेकर घर पर देके आते है फिर लड़की बाजी करेंगे और अच्छी से लड़की को पटाकर बहुत चोदेंगे अपन दोनों | फिर मैंने सिब्बू से कहा नहीं भाई आज मैं नही चोदुंगा तू चोद ले आज | फिर उसके बाद हम दोनों बाइक लेकर लड़की बाजी करने निकल पड़े | फिर उसके बाद रस्ते में बहुत माल मिलते है मस्त मस्त लेकिन सिब्बू को कोई भी माल पसंद नहीं आया | सिब्बू एक मस्त माल की तलाश में था जिसको चोदने में बहुत मजा आये और फिर थोड़ी आगे जाते ही सिब्बू को एक मस्त माल दिख गयी | वो माल इतनी मस्त थी कि मैं भी उसे देख कर पागल हो गया था और उसे देख कर मेरा लंड भी खड़ा हो गया था | फिर उसके बाद सिब्बू रस्ते पर ही उस लड़की को छेड़ने लगा और उस लड़की से कहने लगा कि तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो तुम बहुत ही ज्यादा सेक्सी हो मैं तुमको चोदना चाहता हूँ | तुझे जो चाहिए मैं लाकर दूंगा लेकिन तुम मना मत करना चुदने के लिए | फिर वो लड़की सिब्बू की बात मान गयी और चुदने के लिए तैयार हो गयी | सिब्बू बहुत खुश हो गया | फिर सिब्बू उससे उसका नाम पूछने लगा कि तुम्हारा नाम क्या है ? तो वो लड़की ने अपना नाम नेहा बताया | नेहा के साथ एक लड़की और थी फिर मैंने भी उस लड़की से उसका नाम पूछा उसने अपना नाम सुभी बताया | सुभी भी बहुत ही सेक्सी थी मुझे भी चोदने का मन कर रहा था | तो फिर मैंने भी सुभी से कहा सुभी मैं तुमको चोदना चाहता हूँ तुम मुझे बहुत अच्छी लगी | तो सुभी भी मान जाती है और मुझसे चुदने के लिए हाँ कह देती है | उसके बाद हम लोगो का एक घर खाली पड़ा हुआ था वह कोई नहीं रहता था | तो हम दोनों नेहा और सुभी को अपने खाली घर पर ले गए और वहाँ कोई नहीं आता था | उसके बाद जब हम घर पहुँच गए तब कमरे में सिब्बू अपनी नेहा को चोदने के लिए ले गया और एक कमरे में मैं अपनी सुभी को चोदने के लिए ले गया | सिब्बू तो कमरे के अंदर जाते साथ नेहा को चोदने लगा वो नेहा को बहुत चोदता है | नेहा की चिल्लाने की आवाज़ मेरे कमरे तक आ रही थी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः | मैं तो सुभी को आराम से ही चोद रहा था | सबसे पहले मैंने सुभी को किस किया क्योकि सुभी के होंठ बहुत मस्त थे | सुभी को मैं पलंग में लेटा कर बहुत किस कर रहा था और उसके मस्त बड़े बड़े दूध को दबा रहा था | सुभी आआह्ह्ह्ह आःह्ह ऊउह्ह्ह ऊउह्ह्ह आःह्ह ऊउह्ह्ह करने लगी और फिर मैंने सुभी के कपडे उतार दिए और उसके मस्त मस्त दूध पीने लगा | सुभी के दूध मस्त लग रहे थे और पीने में भी बहुत मजा आ रहा था | फिर मैंने सुभी की चूत में अपना लंड डालने लगा और उसे चोदने लगा | सुभी आःह्ह आःह्ह ऊउह्ह्ह ऊउह्ह्ह आःह्ह ऊउह्ह्ह करने लगी और मुझे किस करने लगी | फिर मैंने सुभी की टांग उठाकर अपने कंधे पर रखी और अपना लंड उसकी चूत में डाल के बहुत चोदा | सुभी फिर मना करने लगी कि बस करो अब | और जोर जोर से आह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह ऊह्ह्ह्हह्ह ऊह्ह्ह्हह आअह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह ऊउह्ह्ह्ह करने लगी लेकिन मुझे तो उसे चोदने में बहुत मजा आ रहा था | मैं सुभी को जम के चोद रहा था और सुभी आह्ह आह्ह ऊउह्ह ऊह्ह करने में लगी हुई थी | फिर चोदने के बाद मैंने सुभी से पुछा मजा आया चुदने में तो सुभी कहने लगी कि बहुत मजा आया तुमसे चुदने में | वो मुझसे कहने लगी कि तुम जब भी मुझे बुलाओगे चोदने के लिए मैं तुमसे चुदने जरुर आउंगी | मैं सुभी को चोद कर कमरे से बाहर निकल आया लेकिन सिब्बू तो नेहा को चोद ही रहा था | नेहा की बहुत आवाज़ आ रही थी आआअह्ह्ह आःह्ह ऊउह्ह्ह ऊह्ह्ह्हह आह्ह्ह आह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह | फिर मैंने सिब्बू से बोला कि सिब्बू बस कर टाइम हो गया अब कितना चोदेगा नेहा को तू अब बस कर | लेकिन फिर भी सिब्बू नहीं मान रहा था  और कहने लगा अभी नहीं मैं अभी नेहा को बहुत चोदुंगा मुझे बहुत मजा अ रहा है नेहा को चोदने में और नेहा को भी बहुत मजा आ रहा है चुदने में | इसलिए अभी और चोदुंगा में नेहा को | और फिर सिब्बू मुझसे बोलने लगा की तू इतने जल्दी सुभी को चोद लिया | फिर मैंने उसे कहा हाँ मैंने सुभी को चोद लिया अब तू जल्दी नेहा को चोद और चल घर टाइम हो रहा है | फिर सिब्बू ने मुझसे कहा कि मेरे को टाइम लगेगा तू एक बार और सुभी को चोद ले जब तक अच्छे से | फिर उसके बाद मैं फिर से सुभी को कमरे में ले गया और सुभी को बहुत चोदा और हद कर दी चोद चोद मचाके मैंने चोदम चुदाई कर डाली | सुभी बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करती रह गयी मेरी चुदाई के बाद |

अब हम लोग थक गए थे और घर जाके सीधा सो गए | उसके बाद अगले दिन फिर हमारी कड़ाई की इच्छा होने लगी और फिर हमे नेहा और सुभी की याद सताने लगी | मैंने सिब्बू से कहा चल यार बड्डा फिर से उन दोनों को बुलाते और रंडियों की मैय्या चोद देते हैं | सिब्बू ने कहा ठीक है बुला ले पर इस बार मैं सुभी को चोदुंगा और तू नेहा को | मैंने कहा ठीक है मज़ा आएगा बदल बदल के चोदने में | हमलोग गए उनके घर के पास और उनको गाड़ी पे बैठा के ले आए अपने अड्डे पे | हमलोगों ने बिना टाइम लगाये कमरे में प्रवेश किया और चुदाई चालु कर दी | सिब्बू तो कुत्तों की तरह चोद रहा था और सुभी खूब आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | मैंने जब नेहा को चोदना चालु किया तो नेहा ने कहा यार पहले मेरी चूत चाटो | मैंने कहा ठीक है और मैं उसकी चूत चाटने लगा और वो सिस्कारियां भरने लगी | मैंने फटाफट अपना लंड उसके मुह में दिया थोड़ी देर बाद और उसने चूस के मेरा सारा माल बाहर निकाल दिया | फिर मैंने नेहा के दूध चूसे और लंड वापस खड़ा करके उसकी चूत में डाल दिया | थोड़ी देर बाद यो भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी और मज़े लेने लगी |

मैंने उससे पुछा क्यूँ किसकी चुदाई में ज्यादा दम है | उसने कहा सिब्बू की चुदाई में क्यूंकि उसका लंड बड़ा है और बच्चेदानी पे मार करता है | मैंने कहा मादरचोद मेरे मुह पे मेरी बेईज्ज़ती | मैंने जम के चोदा उसको और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | जब हम सब बाहर आए तो दोनों रंडियां बोलने लगी सिब्बू तुम्हरे लंड के क्या कहने | पर में भी खुश था चूत तो मिल रही थी इसलिए कोई दिक्कत नहीं |


error: