किस्मत से जिगोलो बना


नमस्कार मेरी प्यारी प्यारी लौंडियों और भाभियों की चूत और मेरे दोस्त के लंडो कैसे है आप सभी कैसी चल रही है चुदाई चूत और लंड मिल भी रहे हैं या नहीं या बस हाँथ को थकावट दे रहे हैं सब | मेरा नाम अतुल है और मैं जबलपुर जिले का रहने वाला हूँ | मेरा कद 6 फुट 2 इंच लम्बा है और मेरी हेत्ल्थ भी अच्छी खासी है | मैं एक प्लेबॉय हूँ और मैं आप सबको ये बताऊंगा कि मैं जिगोलो कैसे बना | ये मेरी एक दम सच्ची घटना है |

ये बात आज से 4 साल पहले कि है जब मैं बेरोजगार था और मेरे घर आर्थिक स्थिति भी कुछ ठीक नहीं थी | उस समय  मैं बहुत दुइखी और परेशान रहता था | फिर एक दिन मुझे सेल्समेन की जॉब मिल गई थी मैं डोर टू डोर जा कर सभी को कपडे धोने के साबुन बेचता था कई बार मुझे बहुत बेज्जती भी सहनी पड़ती थी कि ये कोई टाइम है आने का ? जाओ कोई सामान नही लेना है | कभी कभी तो मैं  दरवाजा खटखटाते रह जाता था पर कोई दरवाजा नहीं खोलता था | मेरा सामान न बिक पाने के कारण मुझे मेहताना कम मिलता था जिसमे से सिर्फ राशन का ही पूरा हो पता था | मैं हर बार यही सोचता था कि ये जॉब छोड़ दूं क्यूंकि इससे मुझे कोई ज्यादा फायदा नहीं मिलता था और बेज्जती अलग सहनी पड़ती थी | फिर एक दिन मैं दोपहर के लगभग 2 बजे मैं एक घर गया और वहाँ का दरवाजा खटखटाया तो एक मस्त सी भाभी निकली,दूध जैसा गोरा बदन और परफेक्ट साइज़ के दूध थे उसके उसने मुझसे पुछा कि कौन है | तो मैंने उन्हें बोला कि मैं हूँ फिर उसने दरवाजा खोला हलका सा और पुछा क्या काम है ? तो० मैंने उससे कहा मैडम मैंने ये सामान लाया है एक बार आप देख लेते तो उसने पुछा कि क्या लाए हो तब मैंने उससे कहा मैडम कपडे धोने का साबून है अभी मार्किट में नया आया है आप एक बार इसे इस्तेमाल करके देखिये तो वो बोली कि मैंने हनथो में मेहंदी लगे हूँ कैसे लूं ? तो मैंने कहा मैडम अब मैं क्या करू ?

उसे पता नहीं क्या हुआ और उसने कहा कि तुम अन्दर आ कर कुछ कपडे साफ करके बताओ अगर मुझे पसंद आया तो ही मैं लूंगी नहीं तो नहीं लूंगी | मैंने कहा ठीक है मैडम और दरवाजा खोल के अन्दर गया तो वो मटक मटक के बाथरूम की तरफ जा रही थी हाय क्या गांड थी उसकी मन तो कर रहा था कि उसे वहीँ लेटा के चोद दूं और उसकी गांड मार लूं | पर मैं डर रहा था, मैं बाथरूम में गया तो उसने मुझे कहा ये मेरी ब्रा है गंदे में गिर गई थी इसे साफ करके बताओ तो मैंने शरमाते हुए उसकी तरफ देखा तो उसने कहा क्या हुआ शर्मा क्यूँ रहे हो सामान बेचना है या नहीं ? तो मैंने कहा हाँ बेचना तो है | फिर मैं ब्रा को पहले पानी से धोया और साबुन लगाने लगा तो रगड़ रगड़ के और वो मुझे हनसते हुए देख रही थी | और बार बार अपने दूध को दबा लेती थी मैं ये भामो गया था की वो चुदाई की भूखी हो सकती है इसलिए ये ऐसा कर रही है फिर मेरा ध्यान उसके हाँथ पर गया जिसमे महंदी नही लगी थी | तब मैं पक्का समझ गया था की ये चुदना चाहती है तो मैंने कहा मैडम आपकी पेन्टी भी है तो दे दो मैं उसे भी धो देता हूँ तो उसने कहा इतने बड़ी मैं तो कड़ी हूँ मुझे साफ कर दो न | बस उनका ये कहना और मैं झट से उठ के उसे पकड़ लिया और चूमें लगा और उसके गुलाबी होंठो को चूसने लगा था | मैंने उसकी साड़ी उतर दिया था अब वो मेरे सामने ब्लाउज और पेटीकोट में कड़ी थी फिर मैं उसके गले को चूमते हुए सीधा दूध पर आ गया और उसके दूध को ब्लाउज के ऊपर से ही चूसने और दबाने लगा और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ सिस्कारिया भरने लगी थी फिर उसने कहा की सब उतार के करो न ये सब मुझे नंगे हो कर सेक्स करना पसंद है तो मैंने उसे चूमते हुए उसकी ब्लाउज और फिर ब्रा उतार दिया था और उसेक दूध को बारी बारी चूसने लगा था और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी | मैं बहुत जोर जोर से उसके दूध चुसे जा रहा था और वो मस्त मगन हो कर अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रह थी | फिर मैंने उसकी साडी पूरी उतर दिया और पेटीकोट भी उतार दिया फिर पेन्टी भी | फिर वो मुझे बेडरूम में ले गई और मुझे नंगा करने लगी जब उसने मेरे लंड को पेंट के ऊपर से हाँथ लगाया था उसकी आँखे चमक गई थी क्यूंकि मेरा लंड फूला फूला लग रहा था उसे और वो पूरा नंगा की तो मेरा लंड उसके मुंह में टकरा गया तब वो मेरे लंड को हाँथ मैं पकड कर बोली वाह ! क्या लंड है तुम्हारा, इतना मस्त लंड तो मैंने सपने भी नहीं देखा था और वो उसे पकड के सहलाने लगी और ऊपर नीचे करने लगी और मैं अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगा था |

loading...

फिर वो मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी और चाटने लगी और मैं अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रहा था | 15 मिनट तक मेरा लंड चाटने और चूसने के बाद वो खड़ी हुई तो मैंने फिर से उसके दूध पीने लगा तो वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी | फिर मैंने उसे बिस्तर पार लेटा दिया था ओर उसकी चूत जो गीली हो चुकी थी सबसे पहले ऊँगली डाल कर उसकी बुर की चुदाई करने लगा था और वो जोश में आ कर अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी इसी बीच वो एक बार झड़ चुकी थी | फिर मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ लगा के चाटने लगा था और वो मदहोशी के हालत में अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी | वो एक बार फिर से झड़ चुकी थी और मुझसे कहने लगी की बस अब मुझे चोद भी दो अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है तो मैं 10 मिनट चूत चाटने के बाद अपना लंड उसकी चूत में टिका कर थोडा सा अन्दर डाला तो उसके मुंह से हलकी सीस आआहाआअ निकली फिर मैं अध लंड डाल के उसे चोदने लगा और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी | फिर मैं 5 मिनट के बाद अपना पूरा लंड घुसेड दिया था उसकी चूत में और वो मजे से अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी | थी फिर मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और जोर जोर से उसे चोदने लगा था वीओ चुद्वाते टाइम भी दो बार और झड़ चुकी थी पर मैं अब तक नहीं झड़ा था | मैं जब झड़ने वाला था 35 मिनट के बाद तब वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी और मैं भी आहाआआआ करके ढेर सारा माल उसके ऊपर छोड़ दिया था | उसके बद्द मैंने उसकी दो बार और चुदाई किया था, जब मैं जाने तो लगा तो उसने अपना नंबर दी और कहा की तुम मुझे 2 बजे रोज कॉल किया करना मैं घर में अकेली ही रहती हूँ बस सन्डे को मत किया करना क्यूंकि पति रहते हैं और उसने मुझे जाते जाते में 5000 रुपय भी दिए थे | मैं भी ओके कह कर निकल गया था फिर मैं उसे भी चोदता था और वो मुझे पैसे देने लगी थी | और उसने अपनी सहेलियों को भी चुदवाना चालू कर दिया था और मैं सबके घर जा जा कर चुदाई करने लगा था और सब मुझे इस काम के बहुत पैसे दे थे |

तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी, मैं ऐसे बना था जिगोलो | आशा है की आप लोगों को मेरी कहानी पसंद आई होगी | अपनी राय देना मत भूलियेगा |