जब मैं चुदी पहली बार


desi sex stories, hindi porn kahani

हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम उषा है और मैं 30 साल कि हूँ और शादीशुदा हूँ महिला हूँ मेरा एक बेटा है जो अभी 2 साल का है | मैं दिखने में बहुत खूबसूरत हूँ ऐसा सभी कहते है  मेरी हाईट मेरी खूबी है और साथ ही साथ मेरा फिगर भी बहुत अच्छा है | दोस्तों आज मैं अपनी लाइफ की पहली स्टोरी लिखने जा रही हूँ और मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगों को मेरी ये स्टोरी बहुत पसंद आयगी और आप सभी का मनोरंजन भी होगा मेरी इस कहानी को पढ़ कर | तो अब मैं ज्यादा वक़्त न लेते हुए सीधा स्टोरी पर आती हूँ |

ये घटना 4 साल पहले की है जब मेरी नयी नयी शादी हुई थी, और मेरे घर वालो ने मेरे और मेरे पति जिनका नाम कौशल है उनकी टिकेट करा दी थी शिमला की और हम लोगों का हनीमून वहीँ मनने वाला था | मैं पहले अपनी पति के बार में आप लोगों को बता दूं कि मेरे पति एक शेयर ब्रोकर है और उनके पास बहुत पैसा है, उनका टूर्स एंड ट्रैवलिंग्स का भी एक साइड बिसनेस है, मेरे पति एक बहुत अच्छे से इंसान है उनका नेचर बहुत अच्छा है साथ ही साथ उनका स्वभाव, बात करने का तरीका सब लाजवाब है वो एक परफेक्ट हस्बैंड है | हर लड़की एक ऐसा वर मांगती हैं जो उसे जिन्दगी भर खुश रखे और उसका हर मुसीबत में साथ दे मेरे पति वैसे ही इंसान हैं जैसा सभी मांगे हैं पर मिलते कुछ खुशनसीब  वालो को ही हैं | हम लोगों की टिकेट हो चुकी थी और हम लोगों ने जाने से पहले पूरा सामान रख लिया था अब बस इंतजार था तो वहाँ पंहुचने का मेरे पति के जो भाई हैं और जो मेरे देवर लगते हैं उनकी कार में उन्होंने हमे ट्रेन तक छोड़ा और फिर वो वापस चले गये थे फिर हमने ट्रेन में अपना सामान रखा और अपनी अपनी सीट पर बैठ गये थे मेरी सीट नीचे की थी और मेरे पति की ऊपर वाली सीट थी क्यूंकि हमारा ए.सी 3 में हो पाया था |

loading...

हमारे सामने एक अंकल और आंटी थे वो भी वहीँ जा रहे थे तो उनसे अच्छी पहचान हो गयी थी और हम लोग उनसे बात करने लगे थे |  कुछ ही मिनट में ट्रेन चलने लगी थी और हम लोग बहुत साडी बाते कर रहे थे एड दूसरे से रिलेटेड, अंकल और आंटी हमे वहाँ के बारे में बता रहे थे कि यहाँ पर ये है वहाँ पर वो है ये जगह जाना वो जगह जाना फलाना फलाना ! वो बहुत अच्छे थे फिर एक जगह तत्रैन रुकी तो कुछ यात्री उतरे और कुछ चढ़े थे उन कुछ यात्री में से एक आदमी था जो उन अंकल आंटी की सीट के ऊपर उसका नंबर था वो उसी की थी | वो आदमी दिखने में एक गुंडे जैसा था बड़ी बड़ी ढाढ़ी थी उसकी और कान में बालियाँ पहना था तगड़ा बदन था उसका | खैर हमे तो उसे कोई मतलब नहीं था, फिर ऐसे ही शाम हुई और फिर रात हुई तो फिर हम लोगों ने आपस में खाना खा कर एक दूसरे से शेयर किया | अंकल और आंटी को हमारे हाँथ का बना खाना खाने में बहुत अच्छा लगा था | फिर खाना खाने के बाद मुझे बहुत नींद आ रही थी तो मैंने अपने पति से कहा कि यार मुझे बहुत नींद आ रही है मुझे सोना है तो मैने उन्होंने कहा कि ठीक है फिर मैं सोने लगी और कुछ टाइम के बाद मेरे पति भी सो गये थे लाइट बंद करके मेरे पति लेट ही सोते हैं क्यूंकि वो ऑनलाइन हो कर शेयर की साडी जानकारी लेते हैं | फिर अगले दिन सुबह मेरी नींद खुली तो देखा कि वो आदमी जो था वो वहाँ नहीं है तो मुझे ऐसा लगा  कि शायद वो किसी स्टेशन पर उतर गया होगा, फिर जब हम हमारी ट्रेन शिमला स्टेशन पर पंहुची तो मैंने अपना सामान उठाया और पानी लेने के लिए हस्बैंड को पैसे देने के लिए जब पर्स चेक किया तो वो पर्स मेरे पास नहीं था तो मुझे लगा कि हो सकता अहिया वो आदमी चोर हो और उसने ही मेरा पर्स चुरा लिया हो मैंने अपनी पति को ये साडी बाते बताई वैसे घबराने वाली कोई ज्यादा बात नहीं थी क्यूंकि उसमे ज्यादा पैसे भी नहीं थे और कोई कीमती सामान भी नहीं था, फिर हम एक शारदा होटल में अपना रूम बुक किये और अपने रूम में चले गये थोड़ी देर बैठेने के बाद मैंने अपने पति से कहा कि मैं हॉट बाथ ले कर आती हूँ तब तक आप एक गरमा गरम चाय का आर्डर दे दीजिये फिर मैं कुछ ही देर में बाहर आ गयी और फिर हस्बैंड नहाने चले गये और 5 मिनट बाद वो भी नहा कर आ चुके थे और उसके 2 मिनट बाद चाय भी आ गयी थी फिर हम लोगों टीवी देखते हुए चाय की चुस्कियां ली और जैसे ही मैं कप रखने लगी तो मेरे हस्बैंड ने मेरा हाँथ पकड लिया और अपना मुंह के पास ले जा कर उस कप को किस किया ये देख कर मैं शरमा गयी थी |

तो उन्होंने कहा की जान आज मुझे तुम्हे प्यार करने का मन हो रहा है और मुझसे रहा नहीं जा रहा है, तो मैंने भी कह दिया की आप बस बोलेंगे या कुछ करेंगे भी बस इतना ही कहना था मेरा और उन्होंने मुझे अपने गले से लगा लिया ओर मुझे आई लव यू कहा फिर मैंने भी जवाब में उन्हें आई लव यू टू कहा, तो उन्होंने अप्नेहोंथ मेरे होंठ में रख कर मुझे चूमने लगे और साथ में मेरे चेहरे को चूम भी रहे थे और मैं भी उनका साथ दे रही थी, अब तो माहोल एक दम गरमा गर्मी का बन चुका था और हम दोनों एक दूसरे को चूम और चाट रहे थे फिर उसके बाद मेरे पति ने मेरे अरे कपड ने मेरे  सारे कपडे उतर दिए थे और मैंने अपने पति के सारे कपडे उतर दिए थे और हम दोनों नंगे ही एक दूसरे को किस कर रहे थे |

फिर मेरे पत्नी ने मेरे दूध को चूसना शुरू कर दिया और वो बहुत अच्छे से मेरे दूध को चाट रहे थे और मैं अहह आअ करते हुए सिस्कारिया भर रही थी वो मेरे दूध को जोर जोर से मसल मसल के चाट रहे थे मुझे बहुच अच्छा लग रहा था उनका इस तरह से दूध पीना और मैं बस अहह ऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहह हाआअ करे जा रही थी |

15 मिनट तक उन्होंने मेरे दूध को बहुत अच्छे से चाटा था और फिर उन्होंने मुझे लेटा कर मेरी टाँगे चौड़ी करके मेरी चूत में अपनी जीभ लगा कर मेरी चूत को चाटने लगे और मैं अ हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहा आअ करते हुए उनका सिर अपनी चूत में दबा रही थी फिर वो जोर जोर से मेरी चूत को अपनी जीभ से चोद रहे थे और मैं अ हा आअ करे जा रही थी |

उन्होंने मेरी चूत को 10 मिनट तक खूब चाटा और चोदा था अपनी जीभ से फिर मैं उनके लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी जोर जोर से हिलाने लगी और हिलाने के बाद मैं उनके लंड को चूसने लगी और चाटने लगी तो वो अ ऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगे थे उन्हें बहुत मजा आ रही थी जब मैं उनका लंड अपने मुंह में ले कर जोर जोर से चूस रही थी और वो अह आअ कर रहे थे |

10 मिनट तक मैंने उनके लंड को जोर जोर से चूसा और चाटा था फिर उन्होंने मेरी टाँगे अपने कंधे में रख कर अपना बड़ा लौड़ा मेरी चूत में एक ही झटके में पूरा का पूरा लंड डाल दिया और मैं सातवे असमान में सैर कर रही थी मुझे बहुत अच्छा लग रहा था की मेरी चूत चुद रही है वो जोर जोर से धक्के मार मार के मुझे चोदने लगे और मैं अहहहा हाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रही थी उनकी चुदाई में दम था इसी बात से मुझे एक शायरी आ गयी (चोद चोद के सुबह हो गयी लंड में पड़ गए चले, चूत बन के गुफा हो गयी वह रे चोदने वाले ) 30 मिनट की चुदाई के बाद उन्होंने अपना माल मेरी में ही उड़ेल दिया था और फिर हम दोनों आराम करने लगे आराम करने के बाद फिर रेडी हो कर शिमला की सैर करने निकल गये थे |