हर्षित और विनय की अनकही कहानी


desi sex stories

हाय गाइस, मेरा नाम मंटोश है मैं बंगलौर में रहता हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मैं बंगलोर में रह कर हर्षित के साथ चिंदी चोरी में साथ देता हूँ | आप सभी हर्षित को जानते होंगे शायद क्यूंकि उसने अभी कुछ दिन पहले ही अपनी एक चुदाई की कहानी लिखी है | मैंने पढ़ी नहीं है पर उसने मुझे बताया था | मैं उस कहानी का टाइटल भूल गया | खैर, मैंने इस साईट में बहुत सारी चुदाई की कहानियां पढ़ी है तो मैंने सोचा की क्यूँ न मैं भी आज आप सभी के समाने अपनी कहानी लिखना चाहता हूँ | तो आज जो मैं आप सभी के सामने अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे दोस्त की लाइफ में बीती एक सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आएगी और मजा भी आएगा | तो अब मैं अपनी कहानी लिखना चालू करता हूँ | वैसे मेरे दोस्त हर्षित ने मुझे बतया था कि कैसे उसने एक लड़के के साथ सेक्स किया | उसने मुझे जो भी बताया वो मैं कहानी के माध्यम से बाताने जा रहा हूँ |

ये घटना अभी कुछ दिन पहले की है | हर्षित की बटेर उससे छूट गई थी जब से उसे पता चला की हर्षित लौंडो का भी शौक रखता है | हाँ हर्षित फिर से अत्ठेबाज हो गया | अब उसको कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा था कि अब वो क्या करे | उसने अपने दोस्त शशांक से बात की और शशांक के साथ काम करने लगा | वहां पर शशांक का एक दोस्त आता था जिसका नाम विनय था | हर्षित से सभी घिनाते थे क्यूंकि वो महीनो महीनो तक नहीं नहाता था बस सेंट डाल कर काम चलाता था | जब हर्षित ने सोचा कि यार मुझे अब अच्छे से रहना चाहिए तो उसने नहाना शुरू कर दिया और अच्छे अच्छे कपड़े पहनने लगा | हर्षित को जब कुछ महीने हो गए शाशंक के पास काम करते हुए तब हर्षित की पहचान उसी लड़के विनय से हुई | विनय एक बहुत ही हरामी लड़का है | वो पहले एक रंडीखाने में दलाल था | उसके बाद उसने वो काम छोड़ दिया और एक किराये से रूम ले कर जहाँ रह रहा था तो वहीँ वो एक आदमी के साथ चुदाई करता था | हर्षित और विनय की जान पहचान हुई और वो ऐसे हुई कि विनय ने एक दिन शशांक से कहा कि भाई यार मझे एक फर्जी सिम दिलवा दे | तो शशांक ने कहा कि हाँ मैं दिलवा दूंगा | फिर शशांक ने हर्षित से बात से बात की और कहा कि तेरे पास फर्जी सिम है तो उसने कहा हाँ है न कितने सिम चाहिए ? तो शशांक ने कहा कि बस एक चाहिए | अगले ही दिन शशांक ने हर्षित के सामने विनय को सिम दी और जब हर्षित ने विनय से पुछा कि और सिम चाहिए हो तो बताना | तभी से हर्षित और विनय की अच्छी दोस्ती हो गई |

loading...

अब विनय को सिम का जो भी काम होता तो वो हर्षित से सीधा बात करता | हर्षित और विनय की दोस्ती काफी बढ़ने लगी और दोनों बातो ही बातो में दोनों एक एक दो दो घंटे बात करने लगे | कुछ समय बाद दोनों फ़ोन सेक्स करने लेगे क्यूंकि दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे थे | विनय दिखने में काला है और उसकी हाईट 5 फुट 8 इंच है और काफी पतला दुबला भी है हर्षित की तरह | दोनों साथ में घूमने लगे चोरी छुपे और साथ में खाना दारु पीना गांजा पीना | ये सब भी करने लगे | कुछ समय बाद हर्षित ने अपने लंड की फोटो विनय को भेजी और विनय ने अपने लंड की फोटो हर्षित को भेजा | दोनों को ही एक दूसरे का लंड बहुत पसंद आया | दोनों ही एक दूसरे को चोदने के लिए तड़प रहे थे और एक दूसरे को चोदना चाह रहे थे | फिर एक दिन विनय ने हर्षित को कॉल किया और कहा कि अब हम दोनों की चुदाई की तड़प दूर हो गई मेरे पास रूम का जुगाड़ हो गया | उसके बाद विनय के बताये पते पर हर्षित पंहुच गया | उसके बाद विनय और हर्षित एक दूसरे के सामने खड़े रहे | फिर विनय ने हर्षित के होंठ में अपने होंठ रख दिए और उसके होंठ को चूसने लगा | हर्षित को भी बहुत अच्छा लग रहा था तो वो भी उसका पूरा साथ देते हुए विनय के होंठ को चूसने लगा | विनय हर्षित के होंठ को चूसते हुए उसके पतले लंड को हिला रहा था और हर्षित उसके होंठ को चूसते हुए विनय के लंड को हिला रहा था | उन दोनों ने करीब दस मिनट तक एक दूसरे के होंठ का स्वाद लिया | फिर हर्षित ने विनय की लाल शर्ट को उतार दिया और उसके सीने पर हाँथ फेरते हुए चाटने लगा | फिर हर्षित ने विनय के जीन्स को उतार दिया और विनय के लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगा | कुछ देर बाद हर्षित विनय के लंड पर जीभ फेरते हुए चाटने लगा तो विनय के मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | हर्षित विनय के लंड को हर तरफ से चाट कर सहला रहा था और विनय आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए हर्षित की पीले रंग की टी-शर्ट को उतार दिया |

फिर हर्षित ने उसके लंड को मुंह में ले कर सुपाड़े को चाटते हुए चूसने लगा तो विनय आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए हर्षित के के टकले को सहलाने लगा | फिर हर्षित ने विनय के लंड को अपने मुंह में पूरा ले कर आगे पीछे करते हुए चूस रहा था और विनय आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए हर्षित के मुंह की चुदाई कर रहा था | कुछ समय बाद हर्षित ने भी अपने कपड़े उतार दिया और अपने पतले लंड के साथ नंगा हो गया | फिर विनय ने हर्षित के लंड को चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां लेते हुए हाँ कर रहा था |

विनय इन सब चीज़ में माहिर था तो वो बहुत अच्छे से हर्षित के पतले लंड को चाट रहा था और हर्षित आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रहा था | विनय ने कुछ देर लंड चाटने के बाद उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और हर्षित आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने बालो पर हाँथ फेर रहा था | विनय उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रहा था और हर्षित की दो बेरिओ को भी सहला रहा था | दोनों ही एक दूसरे के साथ प्यार में बहुत खुश थे और पूरी उत्त्जेना के साथ एक दूसरे को प्यार कर रहे थे | उसके बाद विनय अपनी गांड खोल कर हर्षित के सामने खड़ा हो गया तो हर्षित ने अपने लंड को उसकी गांड में डाल कर चोदने लगा और विनय आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | हर्षित जोर जोर से विनय की कमर पकड़ कर गांड मार रहा था और विनय आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए गांड चुदाई के मजे ले रहा था | कुछ समय के बाद हर्षित झड़ गया और उसके लंड से एक बूँद माल झड़ा | ये देख विनय को दुःख हुआ | अब हर्षित के बारी थी गांड चुदवाने की | विनय ने हर्षित को लेटा दिया उसकी टांगो को फैला दिया उसकी गांड में अपना लंड घुसेड कर चोदने लगा और हर्षित आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | फिर विनय ने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया जोर जोर से हर्षित की गांड मार रहा था और हर्षित आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए ओह फक ओह फक कर रहा था | फिर विनय ने हर्षित को घोडा बना दिया और उसके पीछे जा कर पीछे से हर्षित की गांड में लंड डाल कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए गांड चुदाई में साथ दे रहा था | कुछ देर की चुदाई के बाद विनय ने हर्षित के मुंह में अपना माल छोड़ दिया और हर्षित ने पी लिया |