गुंडे का टूटा दिल और अन्तर्वासना


हेल्लो मेरे दोस्तों कैसे हो आप सब मेरा नाम है हाजी सुलतान और मैं एक गुंडा हूँ पर मैंने कभी किसी के साथ गलत नहीं किया क्यूंकि मुझे लोगों के दिलो पे राज करना था उनके अन्दर डर पैदा नहीं करना था | दोस्तों आप तो जानते है इंसान गुंडा या डॉन बस दो ही सूरत में बनता है | या तो उसको इसमें मज़ा आता है या फिर हालात उसे बन्ने पे मजबूर कर देते हैं | मुझे मेरे हालातों ने मजबूर किया था | मेरे पिता गुजरात में एक गरीब किसान थे इसलिए बामुश्किल हम दो समय का खाना जुटा पाते थे | इसलिए मैंने कच्ची उम्र में ही काम करना शुरू कर दिया | मैं उसमे उतरना नहीं कम पाया इसलिए मैंने सोचा मैं बम्बई चला जाता हूँ और वहां जाके मैंने साइकल की दूकान खोल ली | उसमे भी मैं नाकाम रहा और फिर मैंने एक कोयला कंपनी में काम करना शुरू कर दिया फिर वहां से मुझे बम्बई के डाकयार्ड पे भेज दिया जहाँ से मुझे माल उतारना और चढ़ाना होता था | मैं बड़ी लगन से अपना काम करता और मैं मेहेज़ १६ साल का था | तबी मेरी मुलाकात बाबा अकबर से हुयी और उसने मेरी काबिलियत पहंचान ली | उसने मुझे चोरी का माल लाने ले जाने के लिए तैयार कर लिया और मुझे ज्यादा पैसे मिलने लगे |
दोस्तों बात बहुत पुरानी है और हमारे समय में हाथ पैर की लड़ाई चलती थी और मैं तब तक दिलेर बन चूका था और स्मगलिंग की दुनिया में मेरा नाम चलने लगा था | कुछ दिन बाद करीम अफगानी से मेरा सामना हुआ और वो भी डॉन बनना चाहता था | पर मैंने उसे हरा दिया और कब्ज़ा कर लिया पूरी बम्बई पे | लोग मुझे सलाम करते क्यूंकि वो मुझे अपना मसीहा मानते थे और मैं बन गया बम्बई का डॉन | मैं एक ऐसा डॉन हूँ जिसने कभी अपनी जिंदगी में एक खून का कतरा नहीं बहाया जो भी हुआ मैंने सब प्यार से सुलझाया और कभी कभी ऊँगली टेढ़ी भी करनी पड़ी | अब मेरा सिक्का जैम गया था और मुझे बस एक लड़की कि तलाश थी जो मुझे पूरा इंसान बना दे | मैं वो सामान बाहर से अन्दर लाता हूँ जिसकी इजाज़त सरकार नहीं देती वो नहीं जिसकी इजाज़त ज़मीर नहीं देता | यही शब्द थे मेरे और मुझसे सलमा पट गयी | वो फिल्मो में काम करती थी और मुझे भी फिल्मों का बड़ा चस्का था मैंने कई बार फिल्मों में पैसा भी लगाया पर अफ़सोस वो चल नहीं पायी |
तो दोस्तों मैं आपको बताना चाहता हूँ कैसे प्यार में मेरा दिल टूटा और कैसे मैंने सलमा को छोड़ के नादिरा से शादी की | दोस्तों सलमा बड़ी मस्त छम्मक छल्लो थी और वो बड़ी खूबसूरत थी | उसकी गांड और उसके दूध मुझे दीवाना कर गए | पर मुझे ये नहीं पता था कि साली दस लोगो से चुद्वाती रहती है | एक बार कि बात है मैं फिल्म के एक सेट पे गया था जिसमे मैंने पैसे लगाये थे और उसके बारे में मैंने सलमा को कुछ नहीं बताया था | अब डायरेक्टर तो मुझे माई बाप मानता था इसलिए उसने मुझे एक स्पेशल कमरे में रुकवाया और कहा साहब फिल्म की शूटिंग चालु होते ही मैं आपको बुलवा लूँगा | मैंने सिगरेट खोली और पीने के लिए बाहर जाने लगा तभी मैंने देखा सलमा एक वैनिटी वैन में जा रही है | तभी मैंने देखा ये वैन तो चूतिया गफ्फार की है | मैंने सोचा चलो देखते है ये करती क्या है अन्दर जाके | मैं वही पीछे खड़ा हो गया और देखने लगा कि हो क्या रहा है | मैंने देखा वो अपने कपडे उतार के नंगी हो रही है और चूतिया गफार उसके दूध पकड़ के चूस रहा है | फिर उसने उसकी चूत में हाथ लगाया और रगड़ने लगा | वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | फिर उसने चूतिया का लंड बहार निकाला और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा |
थोड़ी देर बाद उसने आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए अपना माल उसके मुह के ऊपर गिरा दिया | फिर उसने उसको घोड़ी बनाया और उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और चोदने लगा वो मस्ती में आगे पीछे होकर चुदवा रही थी और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | फिर उसने लंड निकाला और उसकी गांड में डालने लगा और वो मन करने लगी | उसने उसको एक थप्पड़ मारा और नीचे गिरा दिया और उसकी गांड में अपना लंड डाल दिया और वो चीख पड़ी | पर थोड़ी देर चुदने के बाद वो मस्ती में आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | और उसने भी उसको खूब चोदा और उसकी चूत के अन्दर अपना मुट्ठ भर दिया |
फिर वो दोनों ठीक हुए और सलमा ने कहा मैं तुम्हरे बच्चे की माँ बन्ने वाली हूँ पर नाम इसको सुलतान का मिलेगा | उसने कहा माँ चुदा और उसको धक्के मार के बाहर कर दिया | मैंने सब सुन लिया और मुझसे रहा नहीं गया | मैंने सीधा अन्दर गया और चूतिया गफ्फार को बहुत मारा और सलमा को भी मारा | और उसकी शादी गफ्फार के साथ करवा दी और बेवफा सनम की वजह से दिल का ज़ख्म ले लिया | तभी फिल्म की हीरोइन आई नादिरा और मुझे उससे प्यार हो गया | फिर मेरे दिल में उसके लिए कुछ कुछ होने लगा और वो भी मेरे पास आने लगी | हम दोनों को पता ही नहीं चला कब हमारे बीच प्यार हो गया | इस बार मैंने सबसे पहले उसके बारे में पता कर लिया और उसके बारे में जो सुना मेरा दिल खुश हो गया | पर फिर भी मैंने उसको चोदने के लिए प्लान बना लिया | मैंने उसको अपने आलिशान बंगले पे बुलाया और उसको अपने गले लगाके उसके कपडे खोलने लगा और वो शर्माने लगी | मैंने उस्क्को चूमना चालु किया और उसके दूध पीने लगा | फिर उसके बाद उसने मेरा साथ देना शुरू कर दिया और मैंने अपने भी कपडे उतार दिए | मैंने उससे कहा मेरा लंड चूसो और उसने मेरी बात मानली और मेरा लंड चूसने लगी मेरा पहली बार था इसलिए मुझे अजीब सा लगा पर मज़ा आया | मैंने आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः किया और उसके मुह के अन्दर मुट्ठ गिरा दिया | उसके बाद मैंने उसकी चूत पे हलके से लंड रखा और अन्दर किया तो खून आ गया पर वो चिल्लाई नहीं और सह गयी | मैंने थोड़ी देर तक चोदा और फिर पूरा लंड अन्दर कर दिया और इस बार उसने चिल्ला दिया | मुझे भी दर्द हुआ पर मैंने हलके हलके चोदते हुए सब कुछ सामान्य कर दिया और अब बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कि ही आवाज़ आ रही थी | मैं भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहा था |
फिर मैंने उसको अपने लंड के ऊपर बैठाया और उन्चाकने को कहा वो मस्त उचक रही थी और मैं भी मज़े ले रहा था | ऐसा लग रहा था मेरे लंड से चुदने के बाद उसका बदन खिल रहा है | वो और मैं दोनों आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए चुदाई करते रहे |
यही थी मेरी दास्ताँ |