गर्ल्स हॉस्टल में चुदाई का नंगा खेल


xxx kahani

हाय दोस्तों मेरा नाम अनमोल है | मैं रहने वाला बंगलौर का हूँ | दोस्तों मैं आज सेक्सी कहानी के पाठको के लिए अपनी एक सच्ची कहानी के साथ हाज़िर हूँ | मैं भी आप लोगो में से ही हूँ | मैं भी काफी साल से सेक्सी कहानी पढता आ रहा हूँ और मैं अभी तक पता नही कितनी कहानी को पढ़ कर मज़ा ले चूका हूँ | दोस्तों मुझे आज मौका मिला है की मैं भी अपनी एक कहानी को आप लोगो के सामने पेश करूँ और मैं अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ | मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पढने में मज़ा आयेगा | मैं अपनी कहानी को आगे बढ़ाने से पहले आप लोगो को बता देता हूँ | मेरी उम्र 18 साल है | मैं दिखने में स्मार्ट लगता हूँ | मेरा शरीर काफी लम्बा चौड़ा है | दोस्तों मेरे शरीर की एक खास बात ये है की मुझे कोई भी देखा कर ये नही कहा सकता की मैं 18 साल का हूँ | मैं अपने शरीर की वजह से 22 – 23 साल का लगता हूँ |

दोस्तों ये कहानी करीब 6 महीने पहले की है | मेरे घर के पास में ही एक गर्ल्स हॉस्टल है | उस हॉस्टल में बहुत लड़कियां रहती है | मैं जब अपनी छत पर खड़ा होता हूँ तो मेरी छत से लड़कियों के रूम में साफ दिखता है | इसलिए मैं रोज शाम को अपनी छत पर खड़ा होता था और वहां से लड़कियों से मस्ती किया करता था | मैं अपनी छत से लड़कियों से हाय हेल्लो किया करता था | मैं रोज ही ऐसा किया करता था | मेरे छत के एकदम पास में जो रूम था | उस रूम में 3 लड़की रहती थी | वो तीनो ही बहुत नॉटी लड़की थी | वो मुझे अपने रूम से किस करती थी और मैं अपनी छत से उनको किस करता | मैं उन तीनो लड़की से मस्ती रोज ही किया करता था | एक दिन की बात है जब वो तीनो लड़की मुझे नही दिखी तो मैंने सोचा की शायद वो तीनो लड़की अपने घर चली गयी हो |

उसके 8 – 9 दिन के बाद की बात है | जब मुझे उस रूम में लड़की दिखी | मैंने सोचा की शायद वो तीनो लड़की आ गयी है | जब मैं छत पर जाकर उस रूम में दिखने लगा तो मुझे वो लड़कियां तो नही दिखी पर उनसे भी मस्त पटाका 2 लड़की दिखी | मैं उन लड़कियों को हाय किया और पूछा की आप लोगो न्यू हो इस रूम में | वो दोनों लड़कियों ने मुझे बताया की हाँ पर आप कौन हो | मैं उन दोनों को बताया मैं यही रहता हूँ और ये मेरा घर है | फिर वो दोनों बोली ठीक है तुम हम दोनों के काम आ सकते हो | मैंने भी उन दोनों से कह दिया हाँ क्यूँ नही आप घर के पास में रहती हो कोई चीज की जरुरत हो तो मुझे बता देना मैं ला दूंगा |

मैंने उस दिन उन दोनों से 10 मिनट तक बात की और छत से नीचे चला आया | उसके दुसरे दिन जब मैं अपने कॉलेज से आया | जब शाम को मैं छत पर गया तो मैं उस दिन उन दोनों का नाम पूछा | उसमे से एक लड़की ने अपना नाम सुमन बताया और दूसरी ने अपना नाम रीमा बताया | फिर रीमा ने मेरा नाम पूछा और मैंने अपना नाम बता दिया | मैं रोज शाम को उन दोनों से 5 -10 मिनट तक बात करता और फिर नीचे चला आता | मुझे भी अपनी पढाई करनी होती थी इसलिए मैं उन लोगो से कम मस्ती करता था | पर मैं उस कमरे की लड़कियों से मस्ती जरुर करता था |

उसके कुछ दिन बाद की बात है जब मुझे थोडा काम की वजह से अपने घर से बाहर जाना पड़ा था | मैं इसलिए 3 दिन तक अपने घर से बाहर रहा था | जब मैं 3 दिन बाद घर पंहुचा तो मुझे काफी रात हो गयी थी और मेरा नाम हुआ की छत पर जाके देखता हूँ वो दोनों सो गयी क्या | दोस्तों जब मैं छत पर जाके देखा तो मेरे होश ही उड़ गए | वो दोनों आपस में सेक्स कर रही थी | सुमन रीमा की चूत में ऊँगली डाल कर चूत को चाट रही थी और रीमा अपने बूब्स को पकड कर दबाती हुई अपने एक दूध के निप्पल को घुमा घुमा कर चूस रही थी | वो देख कर मेरा लंड पैंट में ही खड़ा हो गया | मैं उन दोनों को आपस में सेक्स करते कुछ देर तक देखता रहा और मुझसे रहा नही गया तो मैंने हल्की आवाज में रीमा को आवाज की वो मेरी आवाज सुनकर खिड़की की तरफ देखने लगी | मैं वही पर खड़ा था | वो मुझे देख कर मुझे रूम में आने को कहने लगी | दोस्तों पर मैं अभी बाहर से आया था इसलिए मेरे घर पर सब लोग जग रहे थे इसलिए मैंने उन दोनों को मना करके कहा कल विस्की का इंतजाम करो तो मैं तुम्हरे रूम में आता हूँ | इतना कहने के बाद में सीधे नीचे चला आया और खाना खाकर सो गया |

दुसरे दिन की बात है जब रात हो गयी और मैं खाना खाने के बाद लेट गया | मेरे घर के भी सब लोग सो गए | तक मैं चुपके से छत पर आया और अपनी छत के पीछे से नीचे उतर गया | फिर हॉस्टल की पाइप पकड कर चढ़ गया | उन दोनों ने मुझे अपने रूम में अन्दर कर लिया और सब तरह से बंद करने के बाद | हम तीनो ने विस्की के पेग बनाये और पिने के बाद में मैंने उन दोनों के कपडे निकाल दिए | वो दोनों ब्रा और पैंटी में थी | मुझे उन दोनों को इस तरह देख कर मज़ा आ गया और मेरा मन उनका रंडी डांस दिखने का करने लगा | तब मैं उन दोनों से बोला की तुम दोनों कोई एक गाना गाती हुई नाचो | वो अपनी अपनी गांड को हिलाती हुई नाचने लगी | मुझसे उनका नाच देख कर रहा नही गया और मैंने अपने भी कपडे निकाल कर उनके साथ नाचने लगा | हम तीनो इसे ही 5 मिनट तक नाचते रहे | वो मादरचोद जब नाच रही थी तो उनकी मोटी गांड उछल उछल कर हिल रही थी |

फिर मैंने उन दोनों को बेड पर लेटा कर उन दोनों की ब्रा को खोल दिया | एक हाथ में रीमा के दूध को पकड कर दबाने लगा और दुसरे हाथ में सुमन के दूध को पकड लिया | रीमा के दूध से सुमन के दूध ज्यादा बड़े थे और उसके दूध को बहुत चिकने थे | मैं एक हाथ में सुमन के दूध को मसल रहा था और दुसरे हाथ से रीमा के दूध को दबा रहा था | मैं कुछ देर तक ऐसे ही उनके बूब्स से एक एक करते हुए खेलता रहा | फिर मैंने रीमा की चूत में ऊँगली डाल कर सुमन की रसीली होठो पर अपने होठो को रख दिया | सुमन मेरी होठो को चूसने लगी और रीमा अ अ अ अ… उ उ उ उ उ.. ह ह ह ह ह.. माँ माँ माँ माँ की सिसकियाँ लेती हुई मेरे लंड को सहला रही थी | मैं उसकी रसीली होठो को चूसने के बाद | मैं अपनी होठो को रीमा की होठो पर रख दिया कर उसकी होठो को चूसने लगा | रीमा की होठो उसकी होठो से बहुत पतली थी जिससें मुझे उसकी होठो को चूसने में मज़ा आ रहा था | मैं दोनों की होठो को एक एक करके कुछ देर तक चूसने के बाद में | रीमा बिस्तर पर लेट गयी और उसकी चूत में सुमन ने अपनी जीभ घुसा कर उसकी चुत को चाटने लगी | मैं भी सुमन की चूत में अपनी ऊँगली को घुसा कर उसकी चुत को चाटने लगा | वो दोनों ही सिसकियाँ पर सिसकियाँ ले रही थी | मैं उसकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही ऊँगली को अन्दर बाहर करता रहा |

 

फिर मैंने अपनी अंडरवियर भी निकाल दी जिससे मेरा सात इंच लम्बा लंड लोहे की तरह खड़ा था | वो दोनों मेरे लंड को पकड कर नीचे घुटनों के बल बैठ कर चूसने लगी | वो मेरे लंड एक एक करके 5 मिनट तक चूसती रही | फिर मैंने अपने लंड को उनके मुंह से निकाल कर रीमा की एक तांग को उठा कर उसकी चूत में घुसा दिया | उसकी चूत गीली थी इसलिए मेरा लंड उसकी चूत में एक ही बार में घुस गया | सुमन अपनी चूत को रीमा के मुंह पर टिका दिया और अपनी चूत को हिलाती हुई रीमा को चूसा रही थी | रीमा सेक्सी आवाजे करती हुई उसकी चूत को चूसा रही थी | मैं रीमा के दोनों बूब्स को अपने दोनों हाथो में भर कर दबाते हुए उसकी चूत में जोरदार धक्के मार रहा था | मैं उसकी चूत में फुल स्पीड से अन्दर बाहर कर रहा था जिससे रूम में सिर्फ रीमा की सिसकियाँ की आवाज और मेरे लंड के धक्को के आवाज गूंज रही थी | फिर मैंने रीमा की चूत से लंड को निकाल कर सुमन को घोड़ी बना कर उसकी चुत में पीछे से डाल कर जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करने लगा | मैं उसकी कमर को अपनी और खीच कर जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उसे चोद रहा था | वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुद रही थी साथ में रीमा की चूत में ऊँगली कर रही थी जिससे रीमा की चूत से पानी निकल गया | मैं सुमन को 10 मिनट तक जोरदार धक्को के साथ चोदता रहा | मैं दोनों को  25 मिनट तक एक एक करके चोदता रहा | फिर मैं भी झड़ गया | उसके बाद हम तीनो एक दुसरे के बूब्स को दबाते हुए लेट गए | मैं सुमन के बूब्स को दबा रहा था | सुमन रीमा के दबा रही थी और रीमा मेरे लंड को खड़ा कर रही थी | कुछ ही देर में मेरे लंड दुबारा खड़ा हो गया और मैंने उन दोनों की दुबारा चुदाई की | उस रात दोनों को एक एक करके 3 बार चोदा था और अब मैं उन रंडियों को रोज ही 1 -2 बार चोदता था |

धन्यवाद्…………


error: