गर्लफ्रेंड की चुदाई अपने दोस्त के रूम में


hindi hot stories

हाय दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम रवीश है और मैं दरभंगा का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैं अभी बेरोजगार हूँ | मेरा रंग सांवला है और मैं दिखने में हेंडसम हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है इसी के साथ ही मेरा बदन भी गठीला है | दोस्तों मैं इस चुदाई की साईट का दैनिक पाठक हूँ और मुझे यहाँ पर चुदाई की कहानियां पढ़ते हुए समय बिताना बहुत अच्छा लगता है | पर दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी और आप लोगो को मेरी कहानी पढ़ कर जो मजा आएगा वो आप खुद ही समझ जाओगे | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लेते हुए सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये घटना मेरे कॉलेज के समय की है | मेरे घर में , मम्मी ( साध्वी ) जो एक हाउसवाइफ हैं, पापा ( रमेश ) जो प्राइवेट बैंक में केशियर हैं, मेरा बड़ा भाई ( अमित ) जो आर्मी में जॉब करते हैं | स्कूल तक तो मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी लेकिन जब मैं कॉलेज पंहुचा तब मेरी एक लड़की से दोस्ती हो गई जिसका नाम रुचिता है और वो दिखने में गोरी है और उसकी हाईट भी अच्छी है इसी के साथ भगवान् ने उसको इतना अच्छा फिगर दिया है कि कोई उसके नाम की बिना मुट्ठ मारे तो रह नहीं सकता | मैं भी उनमें से एक ही था | लेकिन जब हमारी दोस्ती को काफी समय हो गया तब एक दिन मैंने सही मौका देख कर उसे प्रोपोस कर दिया और उसने भी जवाब में हाँ कर दिया | बस उसी दिन से हमारा मिलना जुलना और घूमना फिरना कुछ ज्यादा हो गया | हम दोनों एक दुसरे से बहुत प्यार करते हैं और हो सकता है आने वाले समय में हमारी शादी हो जाए | एक दिन की बात है मेरा दोस्त सुनील जो कि मेरा बहुत ही अच्छा दोस्त है | वो यहाँ पर किराये से रह कर अपनी कॉलेज कि पढाई पूरी कर रहा था | उसने मुझसे कहा कि यार मुझे कुछ दिन के लिए अपने घर जाना है | उसी समय मेरे दिमाग की बत्ती जल गई और मैंने उससे कहा कि तू जा आराम से बस मुझे अपने रूम की चाभी दे जाना | उसने भी ओके कहा |

loading...

उसी दिन मैंने अपनी गर्लफ्रेंड रुचिता को फ़ोन किया और कहा कि हम जितना चुदाई के लिए तड़पे हैं अब वो तड़प खत्म होने वाली है तो उसने पूछा वो कैसे ? तो मैंने उसे पूरी बात बता दिया और फिर जब मेरा दोस्त चला गया | तब उसका घर खाली था और मैंने अपने दोस्त से पहले ही चाभी ले ली थी | मेरा दोस्त कुछ दिन के लिए बाहर गया हुआ था | मैंने रुचिता को फ़ोन कर के पूछा कि कहाँ हो ? तो उसने जवाब दिया कि मैं बस अभी घर से निकल रही हूँ | फिर मैंने पूछा कि कहाँ मिलोगी ? तो उसने कहा कि तुम बताओ | फिर मैंने कहा कि एक काम करते हैं तुम मुझे हीरा स्वीट वाले के पास मिल जाना मैं तुम्हे वहां से पिक कर लूँगा | उसने कहा ओके और फिर फ़ोन काट दिए हम दोनों ने | उसके बाद मैं भी अपने घर से निकल गया और जब मैं हीरा स्वीट वाले की दूकान के पास गया तो वो मुझे वहीँ खड़े हुए मिल गई | मैंने उससे कहा कि आओ बैठ जाओ आज हमारे लिए बहुत ही अच्छा दिन है | उसने भी मुस्कुराया और फिर बैठ गई | अब हम रस्ते में थे और वो मुझसे एक दम चिपक कर बैठी हुई थी | करीब 20 मिनट के बाद हम दोनों मेरे दोस्त के घर पंहुच गए | जब हम वहां गए तो मैंने दरवाजे का लॉक खोला और फिर उसको भी अन्दर कर के दरवाजा लॉक कर दिया | फिर मैंने लाइट चालू की और पंखा भी चला दिया | उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को निहारते रहे और थोड़ी देर बाद मैंने उसे अपनी बांहों में ले कर उसके होंठ में अपने होंठ को रख दिए और उसके होंठ को चूसने लगा | उसे भी अच्छा लग रहा था और वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी |

मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके उसके दूध भी दबा रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए वो मेरे शरीर को सहला रही थी | हम दोनों ने करीब 15 मिनट तक एक दूसरे के होंठ को अच्छे से चूसा | उसके बाद मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को दबाने लगा तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | उसके बाद मैंने उसके ब्रा को भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया | अब मैं उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | मैं उसके दोनों दूध को बारी बारी से चूस रहा था और जोर जोर से दबाने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को सहलाने लगी | मैंने उसके दूध को 15 मिनट तक चूसा | फिर उसने मेरे शर्ट के बटन को खोल दिया और मेरे सीने पर अपने हाँथ चलाते हुए चलने लगी और मैंने अपनी जीन्स को उतार दिया | ऊसके बाद वो मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से ही सहलाने लगी और कुछ देर बाद उसने मेरी चड्डी को भी उतार दिया और मुझे पूरा नंगा कर दिया | फिर वो मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर सहलाने लगी और फिर अपनी जीभ से चाटने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को किसी आइसक्रीम की तरह चाट कर गीला कर रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था |

जब उसने मेरे लंड को अच्छे से चाट कर गीला कर दिया तब वो मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके सिर के बालो को सहलाने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह की चुदाई कर रहा था | फिर मैंने भी उसकी जीन्स को उतार दिया और उसे फिर वहीँ पर लेटा दिया और उसकी पेंटी भी उतार कर नंगी कर दिया | उसके बाद मैंने उसकी टांगो को चौड़ा कर दिया और उसकी चूत पर हाँथ फेरते हुए जीभ से चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कसमसाने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए उसके चूत के दाने को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबा रही थी | कुछ देर उसकी चूत चाटने के बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर टिकाया और फिर एक ही शॉट में उसकी चूत के अन्दर डाल कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिसकियाँ भरने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड तेज कर दिया और जोर जोर से शॉट लगाते हुए चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदवा रही थी | फिर मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसके पीछे जा कर अपना लंड डाल कर चोदने लगा तो वो भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदाई में साथ देने लगी | करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत में ही भर दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी |