गर्लफ्रेंड के साथ सुहागरात


हैलो दोस्तों मेरा नाम रॉकी है और मैं जैसलमेर का रहने वाला हूँ | मैं दिखने में स्मार्ट हूँ कद 6 फीट और लंड 6 इंच का है | अगर किसी भी लड़की या औरत को चूत में खुजली मचे तो वो बिना किसी हिचक के मुझे बुला सकती है मैं उनकी प्यास बुझाने वहाँ फ़ौरन हाज़िर हो जाऊंगा | मैं चुदाई में बहुत एक्सपीरियंस रखता हूँ इसलिए आपको डरने की कोई ज़रूरत नहीं है | अगर भरोसा नहीं होता तो मैं आपको अपनी एक हॉट और सैक्सी कहानी बताता हूँ | तो मैं अपने लंड को नमन करते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

कहानी शुरू होती कुछ महीने पहले से जब मेरी एक लड़की से बात शुरू हुई जिसका नाम निहारिका था और वो एयर होस्टेस थी | मैंने उससे कभी भी किसी एयर होस्टेस को नहीं पटाया था तो मैंने फैसला किया कि अगली गर्लफ्रेंड मेरी यही बनेगी | हमारे बीच में बहुत बातें हुई और एक दिन मैंने उसे प्रोपोस किया और वो मान गई | फिर एक दिन मैंने उसे मिलने बुलाया उस दिन हम पहली बार मिल रहे थे क्योंकि हमारी साड़ी बातें फेसबुक और स्काइप का ही हुई है | हम दोनों ने एक रेस्टोरेंट में मिलने का प्लान बनाया था और मैं वहाँ जल्दी पहुँच कर उसका इंतज़ार कर रहा था | मैंने सिर्फ उसकी फोटोस ही देखी थी अभी तक और दो बार वीडियो चैट की थी इसलिए मैं मन में सोच रहा था कि कैसी दिखती होगी वैसे एयर होस्टेस लड़कियां माल तो होती है |

तभी वो अन्दर आई और उसको देखकर मेरा मुंह फटा रह गया | उसने ब्लैक ड्रेस पहनी थी और गोरी तो वो बहुत थी | मस्त फिगर बड़े और उठे हुए दूध और एक बालों की लट जो उसके चेहरे पर आ रही थी बहुत प्यारी लग रही थी | मैं तो उसको बस देखता रह गया फिर उसने मुझे देखा और मेरे पास आकर कहा हाय रॉकी लुकिंग गुड | तो मैंने थैंक यू कहा और उससे बोला तुम्हारे बारे में तो मैं कुछ कह भी नहीं सकता क्योंकि अगर मैं तुम्हारी ख़ूबसूरती की तारीफ करूँगा तो ख़ूबसूरती बुरा मान जाएगी | उसने कहा वाओ तुम तो बहुत अच्छी बातें करते हो और मैं इसी पर तो फ़िदा हूँ | बस फिर क्या हम दोनों एक दुसरे की आँखों में देखने लगे जब तक वेटर ने आके ये नहीं पूछा सर कुछ आर्डर करेंगे क्या ? तो मैंने आर्डर दिया और बातें करते हुए खाना खाने लगे | उसकी ड्रेस से उसके दूध दिख रहे थे और मेरी नज़र बार बार वहीँ जा रही थी जैसी ही वो झुकती मैं उसके दूध देखने लगता | लेकिन मैंने इतनी सफाई से उसके दूध देखे कि उसको पता भी नहीं चला |

फिर खाना खाने के बाद मैंने उसे घर छोड़ा और हमारी मुलाकातें यूँही होने लगी | हम दोनों मिलने लगे और कुछ दिन के बाद उसे जाना था लगभग एक हफ्ते बाद | तो मेरे पास सिर्फ साट दिन थे और मुझे जो भी करना था वो इन्ही सात दिनों में करना था | मैं सोच रहा था कि अगर मैं इससे डायरेक्ट चुदाई करने के लिए पूछूँगा तो मानेगी तो नहीं और गांड पे लात मारेगी वो अलग | तो मेरी गांड फट रही थी लेकिन शेर तो मुझे देखना ही था तो मैंने सोचा चलो धीरे धीरे इशारे करूँगा और अगर वो समझी और मानी तो ठीक वरना पहले भी अपने हाँथ से हिला रहे थे और आगे भी हिला ही लेंगे | तो मैंने रात को उसको वीडियो कॉल लगाया और कोशिश करने लगा कि कैसे भी सैक्स की बातें शुरू हो जाये लेकिन वो हर बार बात घुमा रही थी | तो मैंने सीधे सीधे उससे कहा क्या तुमने कभी सैक्स किया है ? तो उसकी नज़रें झुक गई तो मैंने कहा मतलब किया है तो उसने कहा नहीं लेकिन मन है | तो मेरे चेहरे पर रौनक आने लगी तो मैंने कहा अच्छा क्या मुझे ये करने का मौका मिलेगा |

उसने सिर झुकाए और अपने बाल पीछे करते हुए कहा देखते है तुम इतने लकी हो कि नहीं | तो मैंने कहा मैं ऐसा क्या करूँ जो तुम मुझे इतना लकी बना दो ? उसने कहा मैं क्या बताऊँ | तो मैंने कहा कुछ तो हिंट दो कि मैं ऐसा क्या करूँ | तो उसने कहा कुछ ऐसा करना और माहौल ऐसा बनाना कि मैं खुद को रोक ना पाऊं | तो मैंने पूछा और ऐसा करने के लिए मुझे क्या करना होगा ? तो उसने कहा वो सोचना तुम्हारा काम है | फिर उसने कॉल काट दिया और मैं सोच में पड़ गया कि ऐसा क्या करूँ यार और ऐसा माहौल बनेगा कैसे ? अब मुझे अपने दोस्तों की याद आई और मैंने अगले दिन अपने दोस्तों की सभा बैठाई | मैंने अपना सवाल सामने रखा और दोस्तों से पूछा भाइयों मुझे इस पर आपके विचार चाहिए और इस दिक्कत का हल भी | तो दोस्तों ने कुछ कुछ तरीके बताए लेकिन कोई भी परफेक्ट नहीं था इसलिए मेरा दिमाग ख़राब होने लगा | तभी मेरे एक दोस्त ने मुझे एक उपाय बताया जो मुझे बिलकुल सही लगा और मैंने वही किया | तो मैंने क्या किया वो मैं आपको बताता हूँ |

मैंने एक उसके जाने के एक दिन पहले उसको फ़ोन लगाया और एक होटल में मिलने के लिए बुलाया | मैंने होटल में एक बड़ा रूम बुक कर रखा था | मैंने उसको एक रिंग दी और कहा क्या तुम मेरी लाइफ पार्टनर बनोगी और उसने हाँ कहा और मैंने उसे रिंग पहना दी | फिर हम दोनों ने किस किया और उसने कहा वैसे बेबी जो तुम चाहते हो उसके लिए इतना काफी नहीं है तो मैंने कहा अच्छा आओ मेरे साथ | तो मैंने उसकी आँखें बंद की और उसे अन्दर लेकर गया | मैंने उसकी आँखें खोली और उसने देखा और कहा वाओ मैंने पूरा कमरा सुहागरात के कमरे की तरह सजा रखा था | उसने मेरी तरफ देखा और कहा तुमने मुझे जीत लिया मैं तुम्हारी हूँ | फिर मैंने उसे गोद में उठाया और उसे लेकर बिस्तर पर बैठ गया और उसे किस करना शुरू कर दिया | वो भी उठ उठकर मुझे किस करने लगी और मुझे जप्र से पकड़कर चिपकने लगी | फिर हम रुके और मैंने उसके गले पर किस करना शुरू कर दिया | वो मचल रही थी और मैंने उसे जोर से अपनी बाहों में जकड रखा था | फिर मैंने उसका कुर्ता उतारना शुरू किया और वो मना करने लगी तो मैंने कहा नहीं तुम मुझे नहीं रोक सकती और मैंने उसका कुर्ता उतार दिया | फिर मैंने पीछे हाँथ डाला और उसका ब्रा भी खोल दिया | उसके दूध बड़े मस्त थे एकदम गोल गोल और निप्पल भी सही थे | मैंने उसके दूध चूसना शुरू किया और वो उम्म्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म्म्म उम्म्मम्म उम्म्मम्म्म्म इस्स्स्सस्स्स्स इस्स्स्स स्सस्सस्स म्मम्मम्मम करने लगी |

फिर मैंने उसका पजामा खोला और उसकी पैंटी भी उतार दी और उसे पूरी तरह से नंगा कर दिया और लिटा दिया | मैंने एक गुलाब की पंखुड़ी उठाई और उसके दूध के बीच में से लेकर उसके पेट पर फिराते हुए उसकी चूत तक लेकर आया और बड़े आराम से उसकी चूत मलने लगा | वो धीरे धीरे सिसकियाँ लेने लगी और मैं उसकी चूत मलता रहा | फिर मैंने अपने पूरे कपडे उतारे और मैं भी नंगा हो गया | फिर मैंने उसकी चूत पर लंड रखा और घिसने लगा और वो उम्म्मम्म्म्म उम्म्म्मम्म उम्म्मम्म्म्म स्स्स्सस्स्स्स स्सस्सस्सस इस्स्स्सस ईईईई स्सस्सस्सस उम्म्मम्म म्मम्मम्मम करने लगी | फिर मैंने अन्दर अन्दर घुसाना शुरू किया लेकिन चूत बहुत टाइट थी तो मैंने एक जोर का झटका मारा और मेरा लंड अन्दर चला गया | वो तड़पने लगी और कहने लगी नहीं जान बाहर निकालो इसे लेकिन मैंने लंड अन्दर ही रखा रहा और हलके हलके झटके मारता रहा | वो जल्दी ही शांत हो गई और मैंने उसे चोदने की रफ़्तार बढ़ा दी और वो अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उह्ह्ह्हह्ह्ह्हह अह्ह्ह्हह्ह हह्ह्हह्ह्ह्हा आआआआ आआआअ उम्म्मम्म उम्म्म्मम्म आह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह आआआअ उम्म्म्मम्म करने लगी |

मेरा झड़ने को हुआ तो मैंने लंड बाहर करके उसके ऊपर माल झड़ा दिया और फिर से उसकी चूत के अन्दर डाल दिया | मेरा लंड थोडा सा डाउन हुआ लेकिन जल्दी ही फिर से तन गया और मैंने फिर से चुदाई शुरू कर दी | मैं उसे जोर जोर से झटके मारे जा रहा था और वो आह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्हह्ह उह्ह्हह्ह्ह्ह उह्ह्हह्ह्ह्ह आआआआ ह्ह्ह्हह्हह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आआअ अह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह उम्म्मम्म उम्म्मम्म स्स्स्सस्स्स्स अह्ह्ह्हह्ह आआआ अह्ह्ह्हह्ह करे जा रही थी | फिर मैं भी उसके साथ लेट गया और उसकी एक टांग उठाके उसे चोदने लगा और वो अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अह्ह्हह्ह्ह्ह आआआआअ आआआअ उह्ह्ह्हह्ह उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह उम्म्म्मम्म उम्म्मम्म्म्म आआह्ह्ह्ह आआआअ अह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्हह्ह्ह्ह करती रही | हमने और थोड़ी देर तक चुदाई की और मेरा फिर से झड़ गया और मैंने उसके ऊपर माल गिरा दिया | फिर मैं थक कर लेट गया और उसे किस करने लगा | फिर हमने किस किया और आराम किया | उस दिन मैंने उसको दो बार और चोदा और फिर वो चली गई और जब भी आती है मैं उसी होटल में उसे ले जाता हूँ और हम खूब चुदाई करते है |


error: