घर के पीछे वाला मुंडा


hindi sex stories, desi sex kahani

हाय दोस्तों कैसे हैं आप सब ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी मस्त होंगे और चुदाई के मजे ले रहे होंगे | मेरा नाम साक्षी है और मैं मदन महल में रहती हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मैं एक शादीशुदा महिला हूँ | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा बदन सेक्सी है | दोस्तों मैं इस साईट की दैनिक पाठक हूँ और मुझे यहाँ पर चुदाई की कहानियां पढ़ते हुए अपनी चूत सहलाना अच्छा लगता है | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची कहानी है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लेते हुए अपनी कहानी लिखना चालू करती हूँ | ये मेरी पहली कहानी है तो आप मेरी गलतियाँ नजर अंदाज कर देना |

ये घटना काफी समय पहले की है | मेरे घर में जहाँ मैं शादी हो कर आई हूँ वहां मेरे पति, मेरे सास ससुर और मेरी दो नन्द रेहती हैं | मेरे पति आर्मी में जॉब करते हैं और बहुत ही कम बार वो घर आ पते हैं | उनकी पोस्टिंग कहीं भी हो जाती है | शादी होने के बाद दो दो साल तक साथ रहे उसके बाद उनकी पोस्टिंग कहीं और हो गई मैं उनके साथ जा सकती थी लेकिन मैं इसलिए नहीं जा पाई क्यूंकि उस समय मैं पेट से थी और जब मेरा बेटा पैदा हुआ तो उसकी देखभाल करने के लिए माँ की जरुरत होती है | इसलिए फिर मैंने अपना मन बना लिया था कि अब मैं यहीं रह कर अपने बच्चे को पालूंगी | ऐसे ही समय बीतते जा रहा था और मेरी चूत की आग बढ़ते जा रही थी | मैं बता नहीं सकती कि चुदाई के बिना मेरा कितना बुरा हाल होता था | मैं कई बार सोचती कि अपने पति के पसा चले जाऊं पर जा भी नहीं सकती | अब मेरी नन्द की भी शादी होने वाली थी तो ये भी मेरे लिए जरुरी था | ऐसे ही समय कट रहा था और तभी मेरी नजर एक लड़के पर पड़ी जो की ठीक हमारे घर के पीछे रहता था उसका नाम महेश था और वो कॉलेज में पढाई करता था | उसका बदन देख कर लगता था कि जैसे वो जिम जाता होगा | उसे देख कर मैं फ़िदा हो गई उस पर सोचने लगी कि अब यही मेरी चूत की आग को अपने माल से बुझाएगा | अब मैं इसको लाइन देने लगी और वो भी कभी कभी मेरी तरफ देख लिया करता था | फिर एक दिन उसने मुझे हाँथ दिया तो मैंने भी जवाब में हाँथ दे दी  | अब वो भी समझ गया कि मैं उसे पटाना चाहती हूँ तो वो रोज ही मुझे दूर से ही हाँथ दिया करता था | फिर एक दिन हम दोनों पुब्लिक जगह पर मिले और तब हम दोनों ने एक दूसरे के नंबर को आपस में बदल लिए |

loading...

उसके बाद हम दोनों चोरी छुपे बात करने लगे और फिर एक दिन उसने मुझसे सेक्स के लिए कहा तो मैंने उसे बताया कि मेरे घर में तो सभी लोग रहते हैं इसलिए मुझे तो मौका नहीं मिल पायेगा | तो उसने कहा कि आप चिंता मत करो | फिर एक दिन हमे मौका मिल गया और जब मैं उसके घर गई तब उसने मुझे अपनी बांहों में कास लिया और मेरे बदन को सहलाने लगा | मुझे भी अच्छा लग रहा था उसकी बांहों में जकड़े रहना और मैं भी उसके बदन को सहला रही थी | उसके बाद उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिया और मेरे होंठ को चूसने लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरी गांड को मसल रहा था और मैं मेरे होंठ को चूसते हुए उसके लंड को जीन्स के ऊपर से ही सहला रही थी | हम दोनों ने करीब 15 मिनट तक एक दूसरे को खूब किस किये | उसके बाद मैंने उसकी टी-शर्ट को उतार कर उसकी बनियान भी उतार कर उसे ऊपर से नंगा कर दी और उसकी छाती पर अपने हाँथ फेरते हुए सहलाने लगी और फिर मैंने उसको सोफे पर बैठा कर उसकी जीन्स को उतार दी और अब वो मेरे सामने बस चड्डी में बैठा हुआ था | उसके बाद मैंने उसकी चड्डी को उतार कर उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिलाने लगी | कुछ देर लंड हिलाने के बाद उसका लंड एक दम तन कर खड़ा हो गया | उसके बाद मैं अपनी जीभ से उसके लंड को चाट कर सहलाने लगी तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | मैं उसके लंड को अपनी जीभ से सहलाते हुए चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिसकी ले रहा था | मैंने उसके लंड को 15 मिनट चाटने के बाद मैंने मउसके लंड को अपने मुंह में भर कर चूसने लगी और और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगा | मैं उसके लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने लंड से मेरे मुंह की चुदाई कर रहा था | मैंने उसके लंड को 15 मिनट चूसा और उसके बाद मैंने उसके अन्टोलो को मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे माथे पर अपने लंड को पटकने लगा |

फिर उसने मेरी साड़ी के पल्लू को नीचे कर के मेरे ब्लाउज को उतार दिया और मेरे ब्रा के ऊपर से ही मेरे मम्मो को मसलने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी | उसके बाद उसने मेरे ब्रा को भी उतार दिया और मुझे भी ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और मेरे मम्मो को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके सिर के बालो पर हाँथ फेरने लगी | वो मेरे मम्मो को जोर जोर से दबाते हुए चूस रहा था और निप्पलस को होंठ में दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर उसने मेरी साड़ी और पेटीकोट को उतार दिया और अब मैं उसके सामने सिर्फ पेंटी में थी | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा कर मेरी पेंटी को भी उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया | उसने मेरे दोनों पैरो को फैला दिया और अब वो मेरी चूत को अपनी जीभ से सहलाते हुए चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरी चूत में अपनी ऊँगली डाल कर चोद रहा था  और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबा रही थी | उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत को सहलाते हुए अन्दर पेल दिया और चोदने लगा धक्के मारते हुए और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोश होने लगी | थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर मटका मटका कर चुदाई में साथ दे रही थी | फिर उसने मुझे घोड़ी दिया और उसने पीछे से अपने लंड को मेरी चूत में पेल कर कमर पकड़ कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करवा के चुदवा रही थी | लगभग बीस मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना माल मेरी चूत के ऊपर ही निकाल दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी और मैं वादा करती हूँ कि आगे भी आप लोग के लिए अपनी कहानी लिखते रहूंगी |