दोस्त की पत्नी की अन्तर्वासना शांत की


हाय फ्रेंड्स, मेरा नाम दीपांकर है और मैं गुजरात का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 30 साल है और मैं एक फैक्ट्री में मेनेजर हूँ, दोस्तों मैं दिखने मैं कोई अच्छा नहीं हूँ और साथ ही काला भी हूँ | मेरी कोई गर्लफ्रेंड नही थी कभी और न ही मेरी अब तक शादी हो पाई है | आप लोग इस बात से अंदाजा लगा सकते हो कि मैं कैसा दिखता हूँ | पर दोस्तों, काला हूँ मगर दिलवाला हूँ, दोस्तों आज से पहले मैंने कभी भी कोई भी कहानी नही लिखा है और यह जो कहानी मैं आज लिख रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है | तो दोस्तों मैं ज्यादा वक़्त बर्बाद न करते हुए आप लोगो को मजे देने के लिए सीधा कहानी में आता हूँ |

ये घटना पिछले साल की है दोस्तों जब मैं इस फैक्ट्री में नया नया था तब एक रोहित नाम के लड़के से मेरी दोस्ती हो गयी थी और मुझे यहाँ काम करते हुए 5 साल हो चुके है मेरे काम और लगन की वजह से मुझे यहाँ का मेनेजर बना दिया गया था | रोहित एक बहुत अच्छा और सीधा सादा बंदा है और वो किसी भी उलटे सीधे काम में नहीं रहता था उसका नेचर और उसका सीधापन एसा था कि कोई भी उसे आराम से चोदु बना सकता था | पर वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त था और मैं मेनेजर हूँ तो इस वजह से उसे कोई कुछ भी नहीं कह पता था | 2 साल बाद रोहित की शादी हो गयी थी और जिससे रोहित की शादी हुई थी वो लड़की बहुत सुन्दर थी और उसका फिगर भी बहुत घातक था | उस जैसे लौंडे को ऐसी बीवी मिली कि मेरी झांटे सुलग गई थी पर ठीक है कम से कम उसे मिली तो… मुझे तो अभी तक नही मिली थी | हम लोगो को उसने बहुत शानदार पार्टी दी और सबसे ज्यादा पूरी फैक्ट्री में वो मुझे ही मानता था | इसलिए उसने सिर्फ मुझे अपने घर आने को कहा था कि भाभी के हाँथ का खाना खा के देखना तो मैंने उसे अगले दिन आने का वादा किया और फिर हम अपने अपने काम में लग गये थे | फिर अगला दिन सन्डे था तो मैं मस्त हो कर उसके घर 1 बजे पंहुचा था फिर उसके घर पंहुच कर मैंने दरवाज़ा नॉक किया तो भाभी ने दरवाज़ा खोला था ( रोहित की बीवी का नाम प्राची है ) फिर उसने कहा हांजी कौन ? तो मैंने बोला नमस्ते भाभी जी मैं रोहित का मेनेजर हूँ और रोहित का बहुत अच्छा दोस्त भी हूँ | फिर उसने मुझे भी नमस्ते किया और फिर अन्दर आने को कहा तो मैं अन्दर जाते हुए उससे पूछा कि रोहित कहाँ है ? तो भाभी ने कहा कि रोहित अभी नहा रहे हैं जब तक आप बैठिये मैं पानी ले कर आती हूँ | तो मैंने कहा ठीक है और फिर वहीँ सोफे पर बैठ कर मैं रोहित का इंतजार करने लगा था |

फिर रोहित नहा कर और ड्रेस अप हो कर आया तो हम दोनों गले मिले और बैठ गये तब उसने आवाज़ लागायी प्राची चाय बना कर ले आओ तो उसने जवाब दिया अभी आई ! फिर थोड़ी देर बाद वो चाय ले कर आई और हम तीनो चाय पीने लगे बैठ कर फिर चाय खत्म होने के बाद प्राची खाने की तैयारी में लग गई और हम दोनों बैठ कर बात करने लगे थे | फिर कुछ देर बाद खाना भी रेडी हो गया था और प्राची ने खाना लगा दिया था फिर हम तीनो बैठ कर बात करते हुए खाना खा रहे थे और रोहित मेरी खूब तारीफ भी कर रहा था | मैंने रोहित से कहा भाई रोहित भाभी तो बहुत अच्छा खाना बनाती हैं तो प्राची शरमा गयी और मुझे थैंक यू कहा फिर कुछ देर ऐसे ही बात करने के बाद मैं अपने घर आ गया था | 2 महीने बीत गये थे रोहित कुछ परेशान सा मुझे दिखने लगा था रोज | तो मैंने उससे पूछा तो उसने कोई खास वजह नही बताई | फिर ऐसे ही कुछ दिन बीत गए और मैं जब उसके घर जाता था तो दोनों ठीक से बात नहीं करते थे मुझे भी समझ नहीं आ रहा था | फिर एक दिन मेरे पास रिपोर्ट आई कि रोहित को ट्रेनिंग के लिए मुंबई जाना होगा और उसके बाद उसका प्रमोशन हो जायगा तो मैंने ये खबर रोहित को बताई तो रोहित खुश तो हुआ था पर ज्यादा खुद नहीं लग रहा था और फिर दो दिन के बाद वो ट्रेनिंग में निकल गया था |

loading...

एक दिन मैंने सोचा की चलो भाभी से ही पता करता हूँ कुछ कि आखिर बात क्या है | मैं शाम को 6 बजे ऑफिस खत्म होने के बाद रोहित के घर गया और फिर दरवाज़ा नॉक किया तो भाभी निकली उसने नमस्ते किया और मैंने भी नमस्ते किया और फिर हम दोनों अन्दर चले गये | हम दोनों बैठे तो मैंने उनका हाल चाल पूछा और उसने भी तो फिर मैंने पूछा कि भाभी आज कल ये बहुत दुखी दुखी सा रहता है | क्या बात है आप ही कुछ बताइएये वो तो कुछ बताता नहीं है | तो फिर वो भी शरमाने लगी पर बता नहीं रही थी तो मेरे जोर देने पर फिर उसने बताया कि रोहित का लंड खड़ा नहीं होता है और जब खड़ा होता है तो वो बहुत जल्दी झड़ जाता है और मैं प्यासी रह जाती हूँ | जिस वजह से घर में झगड़ा होता और यही कारण है जिस वजह से हम दोनों ही दुखी रहते हैं | तो फिर मैंने कहा ये तो बहुत बुरी खबर है उसने कहीं दिखाया किसी डॉ. को उसने कहा कि हाँ कई जगह दिखाया पर कोई असर ही नहीं पड़ रहा है | तो फिर मैंने भाभी से डरते हुए बोला कि भाभी क्या मैं आपकी प्यास बुझा सकता हूँ तो फिर उसने शरमाते हुए कहा अगर किसी को पता चल गया तो फिर मैंने कहा आप चिंता ना करो किसी को पता नहीं चलेगा और फिर मैं उठ के उसके पास गया और उसके होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगा और वो भी धीरे धीरे मेरा साथ देने लग गई |

अब दोनों एक दूसरे को चूम और चाट रहे थे और प्राची ऊन्न्ह्ह ऊउम्म्ह करते हुए सिस्कारियां भर रही थी | उसने उस समय साडी पहने हुई थी तो मैंने उसकी साडी का पल्लू नीचे गिरा दिया और उसके गले को चूमने लगा और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करने लगी थी | मैं समझ गया था कि वो गरम हो रही है फिर मैंने उसके ब्लाउज को हटा दिया और ब्रा खोल के उसके मम्मो को चूसने लगा और वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ सिस्कारिया भर रही थी | वो मुझे बार बार चोदने को बोल रही थी पर मैं उसे और गरम करना चाहता था | इसलिए मैं उसे मना कर रहा था और तडपा रहा था फिर मैंने उसकी साडी उसके बदन से अलग कर दी और पेटीकोट उतार कर पेन्टी भी उतार दी और उसे नंगा कर के अपनी गोद में उठा कर बेड पर लेटा दिया | मैं उसकी चूत चाटने लगा और वो लगातार अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करे जा रही थी | उसने दो बार अपनी चूत का पानी मेरे मुंह में ही छोड़ दिया और मैं सारा माल पी गया था |

15 मिनट तक उसकी चूत चाटने के बाद मैंने अपने कपडे पूरे उतार दिए तो उसकी गांड फट गयी थी मेरा लंड देख कर क्यूंकि मेरा लंड 7 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा है | फिर वो मेरे लंड को पकड़ के अपने मुंह में ले कर चूसने लगी मेरा लंड उसके मुंह में बहुत मुश्किल से जा पा रहा था और वो पूरा लंड मुंह भर के चूस रही थी | मैं अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ कर रहा था | जब उसका मुंह थक गया तो हम दोनों फिर किस करने लगे थे फिर उसने मेरा लंड आपने मुंह में ले कर 15 मिनट तक चाटा | उसके बाद मैंने उसकी चूत में अपना लंड डाला तो उसकी चीख निकल गयी और मुझे मेरा लंड निकालने को बोलने लगी | पर मैं कहाँ सुनने वाला था मैं उसको किस करने लगा और चोदने लगा जब उसे मजा आने लगा तब मैंने किस करना बंद कर दिया और जोर जोर से उसे चोदने लगा | वो अहहहाआआ अहहहाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म्ह उऊंन्ह्ह अहहाआअ ऊमम्म्म अहहाआआ अहहाआआ हहहहाआ हहाआआआ आआअह्ह्हाअ उऊंन्ह्ह ऊउम्मम्म ऊउन्न्ह अहहहहहाआ अहहहाआ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्म अह्हाआअ उऊंन्ह्ह ऊउम्म्ह अहहहाआअ करते हुए फिर एक बार झड गयी | मैंने आधे घंटे उसे चोदने के बाद उसके पेट पर अपना वीर्य गिरा दिया था |

जब तक वो ट्रेनिंग में था तब तक मैं उसे चोदता था और फिर जब भी हमे मौका मिलता तो हम चुदाई कर लिया करते थे और आज भी करते हैं |