दोस्त की बहन को उड़ाया


kamukta

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप लोग ? मैं आशा करता करता हूँ की आप लोग ठीक ही होगे और चुदाई के लिए टाइम तो निकाल ही लेते होगे दोस्तों | मेरा नाम पंकज है | मैं 12 में पढता हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 8 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच मोटा 3 इंच है | मैं दिखने में ज्यादा स्मार्ट नहीं हूँ | मैं रहने वाला भोपाल का हूँ | दोस्तों ये मेरी पहली कहानी है तो अगर आप लोगो को इस कहानी में कोई गलती नजर आये तो मुझे माफ़ करना | ये जो मैं कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी जीवन की सच्ची कहानी है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी और इसे पढ़ कर आप को बहुत मजा भी आयगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | मेरा दोस्त जिसका नाम सिवा था | जब मैं उसके के घर जाया करता था | मेरे दोस्त के घर में उसके मम्मी पापा और उसकी एक बहन रहती थी | उसकी बहन का नाम सपना था | वो दिखने में बहुत गोरी थी | उसके बड़े बड़े बूब्स और उसकी गांड किसी हुस्न की मलिका से कम नहीं थी | जब वो चलती थी तो उसकी गांड मचलती थी | उसको देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था | सपना की उम्र 18 साल थी | वो 12 में पढ़ती थी | मैं जब भी उसके घर जाता तो उसकी गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था | मैं कभी कभी उससे मजक भी कर दिया करता था | तो वो मुझे कुछ नहीं कहती थी और हँसते हुए चली जाती थी |  मैं भी अब उससे रोज के रोज मजाक किया करता था | एक दिन वो किचेन में कुछ बना रही थी | तब मैंने उससे कहा की यार मैं तुम्हे प्यार करता हूँ | तब वो मुझसे बोली हां पर कोई जान जायेगा तो क्या सोचेगे हमारे बारे में तो मैंने कह दिया कोई नहीं जानेगा | तब वो हँसते हुए चली गयी | अब मैं जब भी उसके घर आता तो मैं उसकी गांड को पकड कर दबा दिया करता था | वो भी हँसते हुए मेरे लंड को पर हाथ रख दिया करती थी | एक दिन की बात है जब मैंने उससे कहा की यार मैं तुम्हे प्यार करना चाहता हूँ | तब वो बोली में भी पर टाइम नही मिलता है घर में सब लोग रहते है | फिर मैं अपने घर चला गया |

loading...

एक दिन की बात है जब मेरा दोस्तों और उसके मम्मी पापा एक पार्टी में जा रहे थे | उस रात मैं सपना के घर गया और सपना को अपनी बाँहों में उठा कर उसको रूम में लेकर गया | उसके होठो पर अपने होठ रख कर उसके होठो को चूसने लगा वो मेरा साथ देते हुवे मेरे होठो को चूसने लगी | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ उसके बूब्स को कपड़े के ऊपर से दबा रहा था | वो उह्ह्ह उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह  करने लगी | मैंने उसकी टी शार्ट निकाल दी फिर उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह्ह उग्ग्ग उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्हह करते हुए मेरे सर को सहलने लगी | मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी जिससे उसके बूब्स उछल कर सामने आ गए | मैं उसके एक बूब्स को अपने मुंह में रख कर चूसने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह य्ह्ह्हह य्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उआअ उह्ह्ह करते हुए मेरे बालो को सहला रही थी | मैं उसके एक बूब्स को मुंह में रख कर चूस रहा था और एक को हाथ से दबा रहा था | जिससे उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह ऊह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह उह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह की सिसिकियाँ लेते हुवे अपने मुंह में अपनी ऊँगली डाल कर चूस रही थी | उसके बाद मैंने पहले वाले दूध को छोड़ कर दुसरे वाले दूध को अपने मुंह में रख कर चूसने लगा और पहले वाले दूध को हाथ से दबाने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्हू उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह अहह उह्ह आह करते हुए अपने दूध को चूसा रही थी | उसके बाद मैंने उसकी पेंट निकाल कर उसकी पेंटी भी निकाल दी |

अब वो मेरे सामने पूरी तरह से नंगी थी | मैंने उसकी टांगो को थोडा से फेला कर उसकी चूत में अपना मुंह घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा जिससे उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह  अह्ह्ह उफ़ अहह करते हुए अपने बूब्स को दबते हुए | मैं उनकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी और उसको अन्दर बाहर करने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ करती हुई मेरे सर को अपनी चूत में दबाने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा कर अन्दर बाहर कर रहा था साथ में अपनी ऊँगली को भी अन्दर बाहर कर रहा था | वो अपनी ऊँगली को अपने मुंह में डाल कर उह्ह उफ्फ्फ उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उग्ग उह्ह्ह अहह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह अहह कर रही थी | उसके बाद मैंने अपने कपडे उतार कर अपने लंड को हिलाने लगा | वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर अपने मुंह में रख कर चूसने लगी जिससे मेरे मुंह से धीमी धमी आवाज में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उफ्फ्फ अहह हूऊऊ अहह उफ्फ्फ अह्ह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे लंड को मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चूस रही थी | मैं भी उसके मुंह में धीमें धमे धक्के मार रहा था साथ में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उफ़ उह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह कर रहा था | वो मेरे लंड को चूस रही थी |

कुछ देर तक वो मेरे लड़ को चूसती रही | फिर मैंने उसके मुंह से अपने लंड को निकाल कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत के मुंह पर अपना लंड रख कर धीरे धीरे उसकी चूत में घुसाने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह हूह्ह अहह उफ़ अह्ह्ह की सिसिकियाँ लेते हुए चुदने लगी | मैं उसकी चूत में धीरे धीरे धक्के से उसको चुदने लगा | वो मस्त होकर चुदने लगी साथ में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उफ्फ्फ अहह करते हुए चुद रही थी | मैंने उसकी चुत में धक्को की स्पीड तेज कर दी जिससे उसके मुंह से उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह इह्ह अहह करते हुए अपने बूब्स को दबा रही

थी | मैं उसकी जोरदर धक्को के साथ चोद रहा था | उसके बाद मैंने उसको जमीन पर धोड़ी बना दिया और उसके पीछे से उसकी चूत में लंड को डाल कर उसकी चूत में धक्के मारने लगा | वो उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह्हह करते हुए अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसको चूत में जोर जोर से धक्के मारने लगा | वो अपनी चूत को आगे पीछे करते हुए मेरा साथ देते हुए चुदने लगी साथ में उग्फ्फफ्फ्फ़ उह्ह्ह उआह्ह ऊफ्फ्फ्फु हुह्ह्ह्ह उआअ उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उफ्फ्फ हूह्हुह्ह्ह अह्ह्ह उफ्फ्फ अहह करती हुई चुद रही थी में उसकी चूत चोद रहा था | कुछ देर तक मैं उसको ऐसे ही चोदता रहा  और मुझे लगा की मेरे लंड से माल निकलने वाला है तो मैं अपना लंड निकाल कर उसकी गांड के ऊपर मुठ मारने लगा जिससे 35 मिनट की मस्त चुदाई के बाद मेरे लंड ने सारा माल उसकी गांड के ऊपर निकाल दिया |

इस तरह से मैंने अपने दोस्त की बहन को चोदा | अब हमे जब मौका मिलाता है | तब हम मस्त चुदाई करते हैं |  मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिए धन्यवाद्

2,541 total views, 17 views today