दूधवाले को देखा तो चूत में खुजली हुयी


antarvasna, hindi sex story

हेल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई जम से कर रहे होंगे | अब क्या करे चुदाई ऐसी क्रिया है ही कि कोई इससे मुंह नहीं मोड़ सकता | मैं भी एक चुदक्कड औरत हूँ और मुझे नए नए लंड और बड़े मोटे लंड से अपनी चूत की चुदाई कराना पसंद है | मैंने अपनी लाइफ में बहुत सारे लंड खाए हैं और अब तक ना मेरे घर वालो का पता है और नहीं मेरे पति और बच्चो को | खैर, मेरा नाम दीप्ती है और मैं कन्नोज की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 35 साल है और मैं  एक शादीशुदा महिला हूँ और मेरे दो बच्चे हैं एक बेटा और एक बेटी | मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरे फिगर का साइज़ 32-36-38 है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरे ऐसे फिगर के साथ कहर धाती हूँ | जब लोग मुझे कमेंट करते हैं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है कि मैं इस उम्र में भी इतनी सेक्सी दिखती हूँ कि लोग मुझे चोदने के सपने देखते हैं | मैं इस साईट की बहुत पुरानी पाठक हूँ और मुझे चुदाई की कहानिया पढना बहुत पसंद है | आज मुझे मौका मिला कि मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करू तो आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | ,मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए सीधा कहानी में आती हूँ |

ये घटना आज सुबह की है | मेरे घर में मेरे सास ससुर हैं और मेरे पति के साथ में रहती हूँ | हमारे दो बच्चे हैं जो कि स्कूल में पढाई करते हैं | कल रात मेरे पति ने मेरी बहुत चुदाई की लेकिन जब से मैंने अपने दूध वाले से चुदाई करवाई है तब से मेरे पति का लंड मेरी चूत की प्यास नहीं बुझा पाता | लेकिन कल जब मेरे पति ने चुदाई की तो मुझे अच्छा तो बहुत लगा पर उनके लंड से मुझे कुछ ख़ास मजा नहीं आया | हमारा दूध वाला लगभग 7 बजे सुबह आ जाता है पर आज मैं बहुत लेट सो कर उठी तो वो शायद सभी जगह दूध दे कर चला गया होगा | जब मैं सो कर उठी तो मेरे पति और मेरे दोनों बच्चे ऑफिस और स्कूल चले गए थे | अब सुबह दूध भी नहीं था और मेरा चाय पीने का मन था | मैंने सोचा कि चलो मार्किट जा कर कुछ सब्जियां भी ले आउंगी और साथ में दूध भी लेते आउंगी | जिससे हम दूध लेते हैं उसका तबेला घर से कुछ दूर पर ही है | फिर मैंने ब्रश किया और और फिर नाहा धो कर तैयार हो गयी | मैंने उस समय ब्लू कलर की साड़ी पहने हुई थी |

loading...

जिसमे मैं बहुत सेक्सी लग रही थी | मैंने अपने सास ससुर से कहा कि मैं मार्किट जा रही हूँ | करीब मैं 10 बजे घर से निकली और मार्किट से सब्जी ले कर लौट रही थी तो तबेले में दूध लेने चली गई | जब मैंने वहां पंहुच कर आवाज दी कि कोई है क्या तो हमारे दूध वाले ने कहा हाँ मैडम मैं हूँ | वो उस समय भेंसो को चारा दे रहा था और अंडरवियर में बस था | जब मैं वहां गई तो उसने कहा मैडम यहाँ बैठने की कोई ख़ास व्यवस्था तो नहीं है आप चारे के बोरी के ऊपर बैठ जाओ | मैंने बैठते हुए पूछा कि आज तू दूध देने नहीं आया ? तो उसने कहा अरे मैडम मैं आया था पर कोई निकला ही नहीं तो मैंने दूध नहीं दिया | मैंने कहा ठीक है | फिर वो जब चारा दे कर मेरे पास आया और मुझे खड़ा कर अपनी बांहों में भर लिया | मैंने कहा यार अभी तो छोड़ दो कोई आ जायगा तो दिक्कत हो जायगी | तो उसने कहा अरे मैडम कोई दिक्कत नहीं होगी क्यूंकि 10 बजे के बाद यहाँ कोई नहीं आता खाली पड़ा रहता है तबेला | पर मैं कोई रिस्क नही लेना चाहती थी तो मैंने कहा यार जो भी है पर तब बभी अगर कोई आ गया तो मेरी बेज्जती हो जायगी | पर वो साला करिया दूध वाला सुन ही नही रहा था मेरी | उसने अपने होंठ मेरे होंठ में रख कर किस करने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए किस कर रही थी पर उसे मना भी कर रही थी कि देखो कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए मुझे | तो उसने कहा अरे जानेमन कोई दिक्कत नहीं होगी क्यूँ घबरा रही हो | मैंने भी सोचा कि ठीक है वैसे भी कल की चुदाई से कुछ खास मजा तो आया नहीं |

मैं भी उसके बदन को चूमने लगी | अब हम दोनों ही गरम हो चुके थे आग वहां भी लगी थी और यहाँ भी | फिर उसने मेरी साड़ी का पल्लू उतार कर कहा यार आज तू बहुत मस्त लग रही है | मैंने भी शरमा कर पूछा कि कैसी सेक्सी लग रही हूँ जानेमन ? तो उसने कहा ये कलर तुझमे बहुत अच्छा लग रहा है | मैंने कहा जान अब क्या कहू तुझे बस तेरे लिए ही तो ये साड़ी पहनी है | फिर उसने मेरे ब्लाउज को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे दूध को दबाने लगा तो मैंने सिस्कारिया लेते हुए कहा आआहा ऊउम्मंह ऊउम्म्ह आहाहा हरामी आराम से दबाना दर्द होता है आऔउम्म्न्ह ऊम्म्ह आहाहा ऊनंह आराम से कर | तो वो कहने लगा दबाते हुए अरे जानेमन मसलने दे कितने दिन बाद तो मौका मिल रहा है तेरे बड़े दूध को दबाने का | तो मैंने कहा मादरचोद पूरा दूध ही निकाल देगा क्या ? फिर वो रुक गया और मेरे ब्रा को खोल कर मुझे ऊपर से पूरा नंगा कर दिया |

फिर उसने मेरे दूध को अपने मुंह में लिया और जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा और मैं आहा ऊउम्मंह ऊउम्म्ह आहा अआहा आराम से चूसना मादरचोद मैं कहीं भागे जा रही हूँ क्या ? तो उसने कहा मादरचोद रंडी बड़े दिनों बाद तो तू मिल रही है अब चुप रह करने दे जो मैं कर रहा हूँ | मैंने भी कहा हाँ मादरचोद कर ले | वो मेरे दूध चूस रहा था दबा दबा कर और मैं आहा ऊउंह ऊम्म्ह आहा ऊनंह ऊम्म्ह करते हुए उसके सिर के बाल सहलाने लगी | मैं बहुत ज्यादा गरम हो गयी थी और मेरी चूत ने पानी छोड़ दी थी | उसके बाद मैंने उसकी अंडरवियर को उतार दिया | उसका मूसंड काला लौड़ा मेरी आँखों के सामने था | मैंने झट से अपने होंठ से किस ले ली और उसके लंड को चाटने लगी तो वो अआहा आहा अआहा करते हुए कह रहा था कि मादरचोद अच्छे से चाट मेरे लंड को कबसे तेरी चूत के लिए तड़प रहा है | मन उसके लंड को अच्छे से चाट चाट कर गीला करने लगी |

फिर जब मैंने उसके लंड को अच्छे से गीला कर दिया तो मैंने उसे अपने मुंह में डाल लिया और चूसने लगी तो वो आहाहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह मादरचोद रंडी मोटा लंड देखा नहीं कि चूसने लगी तेरी बहन की चूत | मैं भी उसका लंड चूसते हुए कह रही थी कि मादरचोद तेरे लंड से बदबू आ रही है फिर भी चूस रही हूँ तेरा लंड ज्यादा मुंह मत चला और उसके लंड को चूसती रही | फिर उसने कहा चल बस कर अब मुझे अपनी चूत का भी तो स्वाद चखा | मैं तुरंत ही अपनी साड़ी पूरी उतार कर पेटीकोट भी उतार दिया | अब मैं बस पेंटी में उसके सामने खड़ी थी | फिर उसने मुझे वहीँ लेटा दिया और मेरी पेंटी उतार कर पूरा नंगा कर दिया | फिर उसने अपनी जीभ मेरी चूत में लगा कर चाटने लगा तो मैं अआहा ऊउम्म्मंह ऊउन्न्ह आहाआ ऊउम्मंह आहा करते हुए सिस्कारिया भरने लगी |

वो मेरी चूत को चाटते हुए चूत के चने के साथ भी खेलने लगा तो मैं अआहा ऊउन्ह्ह ऊउम्म आहा हाहा आआहा करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत में दबाने लगी | मैं बहुत ज्यादा मदहोश हो चुकी थी और एक बार मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया जो वो पी गया | अब उसने अपने लंड को मेरी चूत में रगड़ कर अन्दर डाल दिया और धीरे धीरे और मैं आंह ऊउम्म्ह आआहा ऊउन्न्ह करते हुए सिस्कारिया ले रही थी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुद्वाने लगी | वो जोर जोर से धक्के मारते हुए चोद रहा था और मैं भी सिस्कारिया लेते हुए चुदाई के मजे ले रही थी | करीब उसने मेरी चूत को 45 मिनट तक चोदा और मेरी चूत में ही झड़ गया मैं भी उस समय तीसरी बार झड़ चुकी थी | फिर मैंने वहां से दूध लिया और अपने घर चली गई |