ढोंगी बाबा के मोटे लंड ने मेरी चूत को भोसड़ा बनाया


desi sex stories हेल्लो दोस्तों मेरा नाम आरती है | मैं आज आप लोगो के सामने अपनी एक कहानी को लेकर आई हैं | दोस्तों मैं हिंदी सेक्स कहानियां डॉट कॉम पर सेक्सी कहानियों को काफी टाइम पहले से पढ़ती आ रही हूँ और मैं जब कहानी पढ़ती हूँ तो मेरी चूत में खुजली होने लगती थी | मैंने अभी तक बहुत सी कहानी पढ़ी है और जो कहानी पढ़ी हैं वो मुझे बहुत पसंद भी आई हैं | मैं जब कहानी पढ़ती थी तो मेरे मन में भी अपनी कहानी को लिखने का मन होता था पर मैं अपनी पढाई की वजह से टाइम नही निकाल पाती थी जिसकी वजह से मैं अभी तक अपनी कहानी को आप लोगो तक नही पंहुचा सकी | दोस्तों मैं आज टाइम निकाल कर आप लोगो के सामने अपनी कहानी को पेश करने जा रही हूँ | दोस्तों मैं कहानी को इसके आगे बढ़ाने से पहले अपने बारे में बताना चाहती हूँ | मैं रहने वाली मुम्बई की हूँ और मेरा रंग बहुत साफ है जिसकी वजह से मैं बहुत सुन्दर लगती हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैं अभी पढाई करती हूँ | मेरा फिगर बहुत सेक्सी है जिसको देखकर किसी की भी नियत ख़राब हो जाये | दोस्तों मेरे बड़े बड़े बूब्स जोकि कपडे के ऊपर से एकदम गोल लगते थे | दोस्तों मेरे मन में एक बात हमेशा रहती थी की मैं सब लड़कियों से कुछ नया करूँ | सब लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड से चुदती थी पर मेरे अन्दर कुछ नया ही था | मैं किसी बाबा के लंड से चुदना चाहती थी इसकी वजह ये थी की मेरी क्लास की लड़कियां कहा करती थी की बाबा लोगो का लंड बहुत मोटा और बड़ा होता है क्यूंकि वो लोग जल्दी शादी नही करते हैं तो उनके लंड में बहुत दम होता है | मैं भी वहीँ देखना चाहती थी की बाबा लोगो के लंड में कितना दम होता है |

दोस्तों एक दिन की बात है जब मैं अपनी फ्रेंड के साथ एक बाबा के पास गयी थी | मैं उस दिन उस बाबा को बहुत घुर घुर कर देख रही थी | मैं उसको बहुत ही ध्यान से देख रही थी और वो बाबा मुझे ऐसे देखकर मुझसे बोला क्या हुआ बेटा | मैं कुछ नही बाबा जी मैं आप की बॉडी देख रही थी आपने मस्त बॉडी बना रक्खी है | दोस्तों मैंने इससे पहले भी काफी बाबा को देखा था जोकि बहुत ही दुबले पतले थे पर ये उन सबसे अगल था और इसकी बॉडी के साथ दिखने में भी स्मार्ट लग रहा था | मैंने उस दिन सोचा लिया की अपनी इच्छा को इसके साथ ही पूरी करुँगी | उस दिन मैं अपनी दोस्त के साथ वापस चली आई और उस बाबा के बारे में सोचती हुई सो गयी | फिर उसके दुसरे दिन की बात है जिस दिन में अपने कॉलेज गयी थी | मैं उस दिन कॉलेज ड्रास पहन रक्खी थी और शॉट पैंट पहनी थी जिसकी वजह से मेरी साफ टांगे दिख रही थी | मैं कॉलेज ड्रास में बहुत सेक्सी लगती थी | मैं उस दिन कॉलेज के बाद उस बाबा के घर गयी | जब मैं बाबा घर गयी तो वहां पहले से कुछ लोग काम से आये हुए थे तो मैं वहीँ पर बैठ गयी | फिर कुछ टाइम बाद वो लोग चले गए तो मैं बाबा के कमरे में गयी और बोली की बाबा जी मेरी तांग में मोच आ गयी है और बहुत दर्द हो रही है |
बाबा – मुझसे बोले की कैसे लग गयी ?
मैं – घर जा रही थी की रास्ते में पैर गड्ढे में पड़ गया |
बाबा – ने मुझे अपनी बेड पर बैठने को कहा और फिर एक तेल लेकर आये | मेरे पैर को तेल से मालिश करने लगा | दोस्तों जब वो मेरे पैर में मालिश करने लगा तो मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था | तब मैंने अपनी पूरी तांग खोल दी और वो मेरी गोरी गोरी टांगो को घुर घुर कर देखने लगा और मालिश कर रहा था | दोस्तों उस टाइम मुझे उसकी आँखों में वासना नज़र आ रही थी और मैं उसकी वासना का फायदा उठाती हुई अपने हाथ की ऊँगली को अपने मुंह में रख कर चूसने लगी | मैं जब अपनी ऊँगली को मुंह में रख कर चूसने लगी तो वो मुझे बहुत चकित नज़रो से देख रहा था साथ में मेरी तांग की मोच को सही कर रहा था | मैं उसके सामने ऐसे ही सेक्सी स्टाइल मारती रही | वो ऐसे ही मेरी टांग को 5 मिनट तक मालिश करने के बाद मुझसे चलाने को कहा तो मैं चलने लगी | दोस्तों उस दिन मैंने उसके अन्दर एक आग लगा दी थी और वो मेरी जवानी को निहार रहा था | तब मैंने बाबा से कहा की मैं जाती हूँ और फिर मैं चली आई | मैं अपने घर आकर उस दिन सेक्सी कहानी भी पढ़ी थी जिसकी वजह से मेरी चूत गीली हो गयी थी | मैं उस दिन अपनी चूत में अपनी 2 उँगलियों को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगी | मैं अपनी चूत में ऐसे ही ऊँगली को कुछ देर करने के बाद सो गयी थी | दोस्तों उसके कुछ दिन की बात है जब मैं खुद उस बाबा के घर गयी और उस दिन जब मैं बाबा के घर गयी तो देखा की वो अपने रूम में बैठ कर कुछ सोच रहा था |

मैं – नमस्ते बाबा जी ?
बाबा – नमस्ते |
मैं – बाबा जी आप क्या सोच रहे हो ?
बाबा – तुम्हारे बारे में ही सोच रहा था |

loading...

मैं समझ गयी की ये मेरे साथ मस्ती कर रहा है और मेरी जवानी के मज़े लेना चाहता है | तब मैं भी उसके साथ मस्ती करने लगा | मैं उसके साथ बैठ गयी और वो मेरे हाथ को पकड कर मुझे देखने लगा | मैंने तब उसके हाथ को पकड कर अपनी जांघ पर रख दिया और वो मेरी खुली जन्घो को सहलाने लगा | वो मेरी खुली जन्घो को सहलाने के साथ मेरी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | दोस्तों वो समझ गया था की चुदाई करने के लिए आई हूँ और वो इस मौके का फायदा उठाते हुए मेरी होठो को चूसने लगा | मैं भी उसकी होठो को चूसने लगी | मैं उसकी होठो को चूस रही थी और वो मेरी होठो को चूसने के साथ मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबा रहा था | जब वो मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा तो मेरे मुह से तेज सांसे निकलने लगी | दोस्तों वो मेरे बूब्स को दबाने के साथ मेरे कपडे निकाल दिए जिससे मैं उसके सामने बिना कपड़े के आ गयी थी | वो मुझे बिना कपडे में दिखकर मुझसे लिपट गया और मुझे चूमने लगा | वो मुझे चूम रहा था और मैं उसे चूम रही थी | फिर उसने मेरे एक दूध को मुंह में रख लिया और दबाते हुए जोर जोर से चूसने लगा | वो मेरे एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था | मैं बिस्तर पर लेट कर अह अह उई उई माँ… आ आ आ हह…. की आवाजे कर रही थी | वो मेरे दोनों बूब्स को एक एक करके कुछ देर तक ऐसे ही चूसता रहा और साथ में मेरी चूत में अपनी ऊँगली को घुसा दिया जिससे मेरे मुंह से उई माई अह उई…. अ अ अ अ.. अ सी ओह ओह उई माँ अ… की सेक्सी आवाजे निकल रही थी | वो मेरी आवाजो को सुनकर मजे में ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर कर रहा था | वो मेरी चूत में अपने मुंह को भी घुसा दिया और अपनी होठो से पकड कर मेरी चूत के दाने को खिचता जिससे मैं मचल जाती थी |
वो ऐसे ही मेरी चूत में ऊँगली को डाल कर जोर जोर से अन्दर बाहर करता रहा | फिर अपने कपडे निकाल दिए | दोस्तों उसने जब अपने कपडे निकलले तो मैं उसके लंड को देखती ही रह गयी | उसका लंड काफी बड़ा और मोटा था जिसको मैं घुर घुर कर देख रही थी | तब उसने अपने लंड को मेरे मुंह में घुसा दिया | उसका लंड काफी मोटा होने की वजह से मेरे मुंह में नही जा रहा था पर उसने जबरदस्ती मुंह में लंड को घुसा दिया और चुसाने लगा | दोस्तों मैं उसके लंड को मुंह में नही ले पा रही थी तो मैंने उसके लंड को मुंह से निकाल दिया | जब मैंने उसके लंड को निकाल दिया तो उसने मुझे बेड पर लेटा दिया फिर अपने मोटे लंड को चूत के मुंह पर टिका दिया | मेरी चूत के छेद में थोडा लंड को घुसा कर एक जोरदार धक्का मार जिससे मेरी चूत में उसका आधा लंड घुस गया | दोस्तों मेरी चूत गीली थी जिसकी वजह से उसका लंड मेरी चूत में घुस गया और मेरे मुंह से एक जोरदार दर्द भरी अह निकल गयी | उसका लंड ज्यादा ही मोटा था जिसकी वजह से मेरी आँखों में पानी आ गया और मैं पीछे बढ़ गयी | जब मैं पीछे बढ़ गयी तो उसका लंड बाहर निकल गया और मेरा कुछ दर्द कम हो गया | तब उसने मुझे पकड कर दुबारा अपनी और खीच लिया फिर एक लंड को घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगा | दोस्तों कुछ ही देर में मैंने उसके पुरे लंड को चूत के अन्दर ले लिया और मस्त होकर सेक्सी आवाजे करती हुई चुदने लगी | बाबा मेरी आवाज को सुनकर धक्को की स्पीड को तेज कर दिया और मैं बाबा के लंड के मज़े ले रही थी |

फिर मैं बाबा के लंड पर बैठ कर चुदने लगी | मैं बाबा के लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होती हुई चुदने लगी और वो मेरी कमर को पकड कर जोर जोर के धक्के नीचे से मारने लगा जिससे वहां पर धक्को की और मेरी सिसकियाँ की आवाज गूंजने लगी | कुछ ही देर में मेरी चूत से पानी निकल गया और मैं झड़ गयी | मेरे झड़ने के ठीक 2 मिनट बाद बाबा ने सारा माल मेरे मुंह में निकाल दिया | उस दिन मुझे बाबा ने स्वर्ग के दर्सन करा दिए थे | दोस्तों उस दिन उसने मेरी चूत के छेद को बड़ा कर दिया था और मुझे चुदाई का असली मज़ा दिया था | उस चुदाई के बाद मैंने और कभी किसी के लंड को चूत में नही लिया | मैं बाबा से ही अपनी चुदाई के मज़े लेती थी क्यूंकि वो मुझे चुदाई का असली मज़ा देता था |
धन्यवाद…….

13,232 total views, 23 views today