कॉलेज वाली सीनियर को चोदा


hindi sex stories, antarvasna kahani

मेरा नाम सुमित है, मैं मुंबई का रहने वाला 24 वर्ष का लड़का हूं। मैं कॉलेज में पढ़ाई करता हूं और मैं कॉलेज में बीएससी की पढ़ाई कर रहा हूं, मेरा यह सेकेंड ईयर है। मेरे पिताजी स्कूल में अध्यापक हैं और मेरी मां भी एक सरकारी विभाग में काम करती हैं। मेरे कॉलेज में ही एक लड़की पढ़ती है जिसका नाम सपना है। वह मुझे बहुत पसंद है लेकिन उसका एक बॉयफ्रेंड है और उन दोनों का रिलेशन काफी पहले से चल रहा है इसलिए मैं कभी भी उससे अपने दिल की बात नहीं कर पाया। वह मुझसे एक क्लास सीनियर है और मैं जब भी उसे देखता हूं तो मुझे उसे देखकर अंदर से एक अलग ही फीलिंग आती है, मुझे बहुत अच्छा लगता है जब मैं सपना के साथ बात करता हूं। उससे मेरी बात इतनी ज्यादा नहीं हो पाती लेकिन हम लोगों की जितनी भी बात हुई है, मुझे उससे बात कर के बहुत अच्छा लगता है। सपना बहुत ही सुंदर है और उसका जो बॉयफ्रेंड है वह भी उसकी ही क्लास में है।

मैं सोचने लगा कि मैं सपना से किस प्रकार से दोस्ती करू, क्योंकि हम लोगों की इतनी बात नहीं होती थी और वह मुझसे ज्यादा बात नहीं करती थी। मैंने एक दिन उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी और जब मैंने उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी तो उसने एक्सेप्ट कर ली। उसके बाद से मैं उससे बातें करने लगा था और हमारी मैसेजेस में बातें होने लगी थी। मैंने सपना से उसका नंबर भी ले लिया, वह मुझसे कॉलेज में भी बात करने लगी थी। उसके बॉयफ्रेंड और उसका रिलेशन बहुत ही पुराना है इसीलिए वह उसके प्रति बहुत ही ईमानदार है। मैं उसे हमेशा ही मैसेज करता था लेकिन हम दोनों सिर्फ कॉलेज की ही बात करते थे। एक बार हमारे कॉलेज मे प्रोग्राम चल रहे थे तो मैंने उस प्रोग्राम के दौरान सपना से बात की और वह मुझसे कहने लगी कि तुम मैसेज में तो बहुत बातें करते हो परंतु जब सामने होते हो तो तुम बिल्कुल भी बात नहीं करते। मैं उसे कुछ भी जवाब नहीं दे पाया और मैंने उसे कहा कि यदि तुम मेरे साथ घूमने चलो तो मुझे अच्छा लगेगा। वह कहने लगी ठीक है मैं इस हफ्ते तुम्हारे साथ घूमने चलूंगी। सपना बहुत ही खुले विचारों की है और वह बहुत ही बिंदास लड़की है।

मैं जब सपना के साथ घूमने गया तो मुझे उसके साथ बहुत ही कंफर्टेबल महसूस हो रहा था। उसने अपने पिताजी से उनकी कार ले ली थी, उस दिन बहुत ज्यादा ट्रैफिक था इसीलिए मैंने सपना से कहा कि मैं कार कहीं पार्किंग में लगा देता हूं और हम लोग कहीं पास में ही बैठ जाते हैं। मैं उस दिन उसे एक पार्क में ले गया और हम दोनों वहीं बैठे रहे। कुछ देर हम लोग उस पार्क में रहे और उसके बाद उसके सामने एक मॉल था हम लोग वहां चले गए। जब मैं सपना के साथ बैठा हुआ था तो मैं उसे उसके रिलेशन के बारे में पूछने लगा, वह कहने लगी कि मेरा रिलेशन तो बहुत ही पुराना है और हम दोनों शादी का प्लान भी कर रहे हैं। मैंने उससे पूछा कि क्या तुम ने शादी का पूरा मन बना लिया है, वह कहने लगी हां मैंने शादी का पूरा मन बना लिया है और कॉलेज खत्म होने के कुछ समय बाद मैं शादी कर लूंगी। मैंने सपना से पूछा कि क्या तुम लोगों के बीच में अच्छा रिलेशन है, वह कहने लगी कि हां हम दोनों के बीच में बहुत ही अच्छा रिलेशन है। मैंने उसे पूछा कि तुम अपने रिलेशन से खुश हो, वह कहने लगी मैं अपने रिलेशन से बहुत खुश हूं। उस दिन हमारी इतनी ही बात हुई और उसके बाद हम लोग वहां से चले गए। अब हमारे कॉलेज की पढ़ाई चलने लगी और मेरी काफी दिनों तक सपना से बात नहीं हुई लेकिन कुछ दिनों बाद मुझे सपना दिखी तो वह बहुत ही उदास थी। वह मुझे कहने लगी की मेरा ब्रेकअप हो चुका है और मैं बहुत ही उदास हूं। मैंने उससे पूछा कि तुम्हारा तो बहुत ही पुराना रिलेशन था। वह मुझे कहने लगी कि हम दोनों को ही अब एक दूसरे पर भरोसा नहीं है क्योंकि वह किसी और के साथ रिलेशन में है इसलिए मैं नहीं चाहती कि अब हम दोनों अपने रिलेशन को आगे बढ़ाएं, मैंने उसे कहा कि हम दोनों अब अलग ही रहे तो ज्यादा अच्छा रहेगा। इसलिए मैंने उससे ब्रेकअप कर लिया। उस दिन सपना बहुत ही ज्यादा दुखी थी। मैंने उसे कहा कि हम लोग कहीं बैठने चलते हैं, मैं उसे सीसीडी में ले गया और हम लोग वहीं बैठ कर बातें कर रहे थे।

सपना बहुत ज्यादा दुखी थी और उसकी आंखों में आंसू भी थे, वह मुझे कहने लगी कि मुझे बहुत ही बुरा लग रहा है। मैंने उसे कहा कि तुम चिंता मत करो अब सपना मुझसे खुलकर बात करने लगी थी और वह मुझे कहने लगी कि मैंने अपने बॉयफ्रेंड के मोबाइल में दूसरी लड़की की तस्वीर देख ली थी इसलिए मुझे बहुत गुस्सा आ गया और जब मैंने उससे पूछा तो उसने मुझे कुछ भी जवाब नहीं दिया, मुझे लगा कि शायद हम दोनों एक दूसरे के प्रति ईमानदार नहीं है इसलिए मैंने इस रिलेशन को खत्म कर दिया। हम दोनों ही साथ में बैठे हुए थे और मैंने जैसे ही सपना का हाथ पकड़ा तो उसे थोड़ा अच्छा लगने लगा और वह कहने लगी कि मुझे तुमसे बात कर के बहुत हल्का लग रहा है, नहीं तो मुझे बहुत ही तकलीफ हो रही थी और मैं यह बात किसी से भी शेयर नहीं कर पा रही थी। सपना का कोई भी अच्छा दोस्त नहीं है और मेरी उससे अच्छी दोस्ती हो गई थी इसलिए उसने मुझसे सारी बात कही। हम दोनों काफी देर तक बात कर रहे थे और अब शाम भी होने वाली थी इसलिए मैंने उसे कहा कि अब काफी लेट हो चुकी है इसलिए हमें घर चलना चाहिए। वह मुझसे कहने लगी कि कुछ देर बाद हम लोग घर चलते हैं, मेरा घर जाने का बिल्कुल भी मन नहीं है। हम दोनों साथ में ही बैठे हुए थे और वह मुझसे बात कर रही थी। मैं उसे ध्यान से देखे जा रहा था, मुझे लग रहा था कि शायद सपना ने अपने बॉयफ्रेंड पर कुछ ज्यादा ही भरोसा कर लिया। वह बहुत ज्यादा रो रही थी मैंने उसके हाथों को पकड़ लिया।

मैंने उसे कहा कि तुम तो एक बहुत ही बिंदास लड़की हो। जब मैंने उसका हाथ पकड़ा तो उसके मुलायम मुलायम हाथ पकड़ते हुए मुझे बहुत अच्छा लगने लगा। मैंने उसे कहा कि यहा से कहीं और चलते हैं जहां हम दोनों साथ में बैठ कर बात कर पाए। मैं उसे उस दिन अपने घर ले गया उस दिन मेरे घर पर कोई भी नहीं था। हम दोनों साथ में बैठ कर बात कर रहे थे और सपना मेरे पास ही बैठी हुई थी। मैंने जब सपना की जांघ पर हाथ रखा तो वह गर्म होने लगी और मैंने धीरे-धीरे उसकी जींस के अंदर अपना हाथ डाल दिया। जैसे ही उसकी योनि पर मेरा हाथ लगा तो वह गीली हो चुकी थी अब उससे बिल्कुल नहीं रहा गया उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और मेरे होठों को चूमने लगी। वह मेरे होठों का अच्छे से रसपान कर रही थी और मैंने उसके होठों पर दांत के निशान मार दिए। जब मैंने उसे नंगा किया तो उसका बदन पूरा गर्म हो चुका था उसके स्तनों को मैं अपने हाथ से बड़े जोर जोर से दबा रहा था और वह पूरी मूड में आ रही थी। मैंने उसके स्तनों को अपने मुंह के अंदर तक समा लिया और अच्छे से चूसने लगा। अब मैंने उसके पूरे शरीर को अच्छे से चाटा जैसे ही मैंने उसकी योनि पर अपनी जीभ लगाई तो वह मचलने लगी। उसकी योनि पर एक भी बाल नहीं था और मैं उसकी चूत को अपने दांत से काटने लगा उसकी योनि से भी खून आने लगा। कुछ देर बाद मैंने अपने लंड को सपना की योनि में डाल दिया जैसे ही मेरा लंड उसकी योनि में गया तो बहुत चिल्लाने लगी। उसकी योनि बहुत ज्यादा टाइट थी मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया जब मेरा लंड उसके पेट तक जा रहा था तो वह बहुत तेज चिल्ला रही थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी। वह अपने मुंह से सिसकियां ले रही थी और उसकी चूत मारने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था। उसकी योनि गीली हो चुकी थी और उसकी योनि से पूरा पानी बाहर आने लगा। मैंने उसे कहा कि तुम मुझे बहुत पसंद हो उसने मुझे अपने गले लगा लिया और मैं उसे ऐसे ही धक्के मारने लगा। मैने काफी देर तक उसे धक्के मारे और उन झटकों के बीच में जैसे ही मेरा माल सपना की चूत में गिरा तो वह खुश हो गई।


error: