कॉलेज की मजेदार चुदाई


hindi porn stories, indian sex kahani

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैंने आशा करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम प्रवीण है और मैं बिलासपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं अभी कंप्यूटर का कोर्से कर रहा हूँ | मैं दिखने में गोरा हूँ और हेल्थ हाईट भी अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है और मेरा बदन गठीला है | दोस्तों इस साईट में मैं नया पाठक हूँ मुझे इस साईट के बारे में मेरे एक फ्रेंड अरुण ने बताया था | मुझे कुछ ही दिन हुए इस साईट में चुदाई कि कहनियाँ पढ़ते हुए | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयगी और मेरी कहानी पढ़ कर आप लोगो का भी चुदाई करने का मन करने लगेगा | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लूँगा और अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

मैं एक बहुत सीधा सादा लड़का था पर जब से मैं कॉलेज गया तब से मेरी दोस्ती बुरे लड़को से हो गई और वो लोग बहुत ही बड़े वाले नशेड़ी और रंडीबाज टाइप के लड़के थे | मैं उन लोगो की संगत में आ कर बिगड़ गया | मुझे घर से अच्छी खासी पॉकेट मनी मिला करती थी तो कभी उन लोगो को चाय पिलाना सिगरेट पिलाना बियर पिलाना मेरा काम बन गया था क्यूंकि एक बार मेरा कॉलेज में झगड़ा हुआ था और इन्ही लोगो ने मेरी मदद की और साथ ही जिससे मेरी लड़ाई हुई थी उसको भी बहुत पीटा था | मैंने सोचा कि चलो ऐसे लड़के मेरे साथ रहेंगे तो मेरा काम यूँही चलता रहेगा | पर मुझे क्या पता था कि वो लोग मुझे चेत ही बना लेंगे | एक बार मेरे पास पैसे नहीं थे तो उन्होंने मुझसे कहा कि भाई आज तू खर्च करेगा | तो मैंने कहा भाई यार देख हर बार मैं ही खर्च करता हूँ आज मेरे पास पैसे नहीं हैं तो आज तुम लोग ही खर्च कर दो पैसे | तभी अतुल वहां आया और उसने कहा देख हम लोग के साथ रहना है तो ऐसे ही रहना पड़ेगा और नहीं रहना है तो बता दे | तेरे पीछे उस लड़के को मारा था तो उसके पीछे तुझे भी बजा देंगे | ये सुन कर मैं डर गया और कहा कि कोई बात नहीं भाई मैं उधार कर लूँगा तुम लोग परेशान मत हो | मुझे जब भी पॉकेट मनी मिलती पूरी की पूरी उन पर ही खर्च हो जाती | उन में से एक लड़का था जो कि निशा हमारे कॉलेज की सबसे सेक्सी लड़की के घर के बगल में रहता था | मैं हेंडसम लड़का था तो एक दिन निशा ने मेरे दोस्त अनुज से पूछा कि तुम्हारे साथ वो जो हेंडसम सा लड़का रहता है उसका नाम क्या है ? तो उसने कहा कि उसका नाम प्रवीण है | निशा को अतुल पटाता था लेकिन कॉलेज में वो सबसे बर्बाद लड़का था ये बात सारे कॉलेज को पता थी | अगले दिन मैं जब कॉलेज गया तो अतुल और उसके सारे साथी ने मुझे बुलाया और कहा कि आज बेटा बियर पीने का बहुत मन हो रहा है | तो मैंने कहा हाँ भाई चल | आज तो मैं भी पियूँगा | उन लोगो को लगा कि शायद मेरी निशा से बात हुई है इस वजह से मैं बियर पी रहा हूँ लेकिन ऐसा नहीं था | अतुल और हम सब घुमने गए और वहां के बार से बियर की बोतल लिए | बियर पीते पीते अतुल को नशा हो गया तो उसने मुझसे पूछा कि क्यूँ बे मादरचोद तेरा और निशा का कबसे चल रहा है ? मैंने कहा भाई कौन निशा ? मैं किसी निशा को नहीं जनता | तभी अनुज बोल पड़ा अबे तेरी बहन की चूत तो वो मुझसे तेरे बारे में बोली कैसे ? मैंने कहा भाई मुझे इस बारे में मुझे कुछ भी नहीं पता है | पर वो साले कहाँ सुनने वाले थे | उन लोग ने मुझे खूब पीटा और वहां से भगा दिया | उसके दो दिन बाद मैं कॉलेज गया और उनकी तरफ देखा तक नहीं और सीधा पूछते हुए निशा के पास पंहुच गया | निशा बहुत ही सेक्सी फिगर वाली लड़की थी और उसका गोरा रंग और सुनहरे बाल | हाय इसके लिए तो मैं सीने में गोली खा जाऊं सीने में | मैंने उससे पूछा कि क्या तुम किसी अतुल नाम के लड़के को जानती हो ? उसने कहा हाँ क्यूँ क्या हुआ ? फिर मैंने कहा क्या तुम ने अनुज से कुछ कहा था मेरे बारे में ? तो उसने कहा हाँ मैंने तुम्हारा नाम पूछा था बस पर हुआ क्या है ये तो बताओ ? तो मैंने कहा यार उन लोगो ने मुझे खूब पीटा और अतुल ने मुझसे कहा कि कभी निशा के साथ मत दिखना | तब निशा ने अपने पापा को फोन लगाया | निशा के पापा पुलिस स्टेशन में सी.एस.पी. थे | उसने उन्हें बुलवा कर उनकी खूब पिटाई करवाई | उसके बाद हमारी बहुत अच्छी दोस्तों हो गई | उसकी तरफ से वो मुझसे बहुत प्यार करती थी लेकिन शुरुआत में मुझे उससे प्यार नहीं था | पर जैसे जैसे हमारे रिलेशन को कुछ साल हो गए तब मुझे भी उसे प्यार हो गया था | हम दोनों शादी करना चाहते थे | पर उस समय हमने ठान लिया था कि पहले हम अपना करियर बनायेंगे और उसके बाद शादी करेंगे | एक दिन मेरा घर खाली था तो मैंने निशा को फ़ोन कर के कहा कि निशा मेरे घर में कोई नहीं है क्या तुम आ सकती हो ? उसने कहा हाँ मुझे बस 20 मिनट लगेगा | मैं उसका वेट करने लगा और एक दम सही टाइम में मेरे घर आ गई | निशा ने मुझसे पूछा कि क्या हुआ ? क्यूँ बुलाया तुमने ? तो मैंने कहा की हम दोनों फ़ोन सेक्स करते हैं तो क्या आज रियल सेक्स को अंजाम दे सकते हैं | ये बात सुन कर वो शर्मा गई तो मैं समझ गया कि उसकी रजामंदी है | फिर मैंने उसे अपनी बांहों में ले कर गोद में उठा लिया और अपने कमरे में ले गया | मैंने उससे कहा की आज हमारी पहली सुहागरात है और उसके बाद शादी में होगी | उसकी स्माइल देख कर मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगा | वो भी मेरा साथ देने लगी किसिंग में | मैं उसे किस करते हुए उसके बालो को सहला रहा था और वो मुझे किस करते हुए मेरी पीठ को सहला रही थी | किस करने के बाद मैंने उसके टॉप को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही उसके उभारो को मसलने लगा तो उसके मुँह से अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा की आवाज़ निकलने लगी | फिर मैंने उसके ब्रा को उतार कर अलग कर दिया और उसके मम्मों को अपने मुँह में ले कर चूसने लगा तो वो अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा करते हुए मेरे सिर के बालो को सहलाने लगी | उसके बाद मैंने उसकी जीन्स और पेंटी साथ में उतार कर नंगी कर दिया | उसकी चिकनी चूत देख कर मैं पागल हो गया और अपने भी पूरे कपड़े उतार दिए | उसके बाद उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले कर जीभ से चाट कर गीला करने लगी तो मेरे मुँह से भी अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा की आवाज़ निकलने लगी | फिर उसने मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए चूसना शुरू कर दिया तो मैंने भी अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा की सिस्कारियां भरते हुए उसके मुँह को चोदने लगा |

loading...

उसके बाद मैंने उसकी टाँगे चौड़ी की और उसकी चिकनी गुलाबी चूत पर अपनी जीभ फेरने लगा तो वो अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा करते हुए कसमसाने लगी | मैं उसकी चूत को चाट रहा था और चूत के दाने को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा करते हुए मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर मैंने अपने लंड पर तेल लगाया और उसकी चूत के अन्दर लंड डाल कर चोदने लगा तो वो अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा करते हुए मचलने लगी | कुछ देर ऐसे ही चोदने के बाद मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से चोदने लगा तो वो भी अआहा ऊनंह ऊउम्ह ऊंह ऊउम्म्ह आहा ऊउंह ऊम्ह ऊउन्न्ह आहा करते हुए अपने चूतड उठा उठा कर चुदाई में साथ देने लगी | करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसकी चूत के ऊपर छोड़ दिया और उसके बगल में लेट गया | उसके बाद हमे जब भी मौका मिलता है हम चुदाई कर लेते हैं |

तो दोस्तों ये थी मरी कहानी |