चूत की खराबी


हेल्लो फ्रेंड्स कैसे हो आप लोग | आशा करती हूँ की आप लोग सब मस्ती में होंगे और रोज चूत चुदाई की कहानिया पढके चूत की तलाश में निकलते होंगे | चलिए दोस्तों मैं आज आप लोगो को अपने जीवन पर बीती एक मजे की कहानी बताती हूँ , उससे पहले आप लोग थोडा मेरे बारे में जान लीजिये | मेरे प्रिय चूत के भूंके दोस्तों मेरा नाम अमनजोत कौर है | दोस्तों मैं पंजाब में अमृतसर की रहने वाली हूँ | मेरे पापा एक बहुत बड़े फार्मर है | मैं अपने घर में सबसे बड़ी हूँ |

तो दोस्तों ये बात उस समय की है जब मैंने अपने 12 th एग्जाम पास कर लिए थे और आगे की पढाई के लिए यूनिवर्सिटी में बी.कॉम में एडमिशन ले लिया था | दोस्तो मैं दिखने में बहुत ही मस्त और पटाका लगती हूँ | मेरा लुक भी एक दम मस्त था | जिससे कॉलेज से लगाकर मेरे पे कई लडको का क्रस था | पर मैं भी उन लडको को लिफ्ट देती थी जो थोड़े-बहुत दिखने में अच्छे हो और लुक भी थोड़ा बहुत सही हो | मुझपे कई लड़के मरते थे | दोस्तों मुझसे सेक्स बरदास नही होता था | मैं भी लंड की प्यासी रहती थी | मैं  जब 12 th में पढ़ती थी तब मुझपे एक लड़का सेंटी था | वह दिखने में सही था लम्बा चौड़ा एकदम गोरा चिट्टा | वो मुझे लाइक करता था | पर उसकी मेरे से बोलने में फटती थी | कम से कम 2-3 महीने तक वो मेरे पीछे घूमा था लेकिन मैं भी उसकी फिरकी ले रही थी | मैं एक दिन कॉलेज की कैंटीन में बैठी कॉफ़ी पे रही थी | थोड़ी देर के बाद वो भी आ गया और डरते डरते मेरे सीट के सामने वाली सीट पर बैठ गया | थोड़ी देर तक तो वह बैठा रहा फिर उसने मेरे से बात करनी स्टार्ट कर दी मैं तो जानती ही थी की यए मुझपे लट्टू था | मैं चुप चाप बैठकर उसकी बातो को सुन रही थी | मुझे भी वह दिखने में अच्छा लगता था पर में उसे पर्पोस काहे करू | थोड़ी देर तक उसने  मेरे से बाते की फिर उसने मुझको पर्पोस मार दिया | मैंने भी हां कह दिया उसको | अब वो हमरे साथ धीरे धीरे रहते-रहते खुल गया था | अब मुझसे कहीं-कहीं मौज ले लिया करता था | धीरे-धीरे 5-6 महीने हो गये थे हम लोगो की रिलेशन को | एक दिन वो मुझे पार्क में घुमाने को ले गया | वहां का माहोल देख कर तो दिमाक ही ख़राब हो गया था सभी लड़के अपनी-अपनी गर्लफ्रेंड को लेके चूमा चाटी कर रहे थे | यह देख कर उसका भी मन किया की वो भी मेरे साथ चूमा चाटी करे पर उसकी हिम्मत नही पड़ रही थी | हम लोग पार्क की एक अलग कोने में बैठकर वहां का नज़ारे ले रहे थे | दोस्तों मन मेरा भी कर रहा था की मैं भी इसके साथ में किस्सिंग सीन करू पर वो भी साला डरता था | पर थोड़ी देर के बाद मैंने ही उसके हाथो को अपने हाथ में पकड़ कर मलने लगी | यह देख कर वो भी खुल गया और मेरे तरफ बढ़ आया और मेरा कंधे पर हाथ रख कर मेरे बूब्स को दबने लगा और 1-2 बार उसने मेरे लिप्स पर किस भी किआ | वो भी चूत का प्यासा लग रहा था उसने मुझे भी लंड की याद दिला ही दी |

मैं पूरी तरह से गरम हो गयी थी और अब लंड की जरुरत मुझे लग रही थी | मैंने उसे कहीं और चले को कहा तो वह मुझे अपने किसी दोस्त के फार्म हाउस पर ले गया जहाँ कोई नही रहता था | उसने अपने दोस्त से चाभी लेली और मुझे लेके वहां पहुँच गया | हम लोग एक कमरे में जाके रोमांस करना स्टार्ट कर दिया | मैंने पहले तो अपने कपडे उतार दिए और बेड पर लेट गयी और उसे अपनी चूत को चाटने को कहा | उसने अपने मुह को मेरी चूत के पास ला कर अपनी जीभ से चाटने लगा | वह इतनी अच्छी तरह से मेरी चूत को चाट रहा था की मेरे मुह से आह आह आहा आहा आहा आहा आहा अह आहा आहा हाह आहा हा आहा आहा अह आह आह आह आह आहा आह आहा आह आहा आह उन्हुंह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह ओह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह आह हाह आहा कर रही थी | थोड़ी देर तक उसने मेरे चूत को चाटा फिर मेरे बूब्स को दबाते-दबाते मेरे पैरों को फैला कर अपना लंड मेरी चूत में डाल कर चोदने लगा | उसका लंड काफी बड़ा था तो मेरे मुह से जोर-जोर से आह आह आह आह आहा आहा अह आह आहा आहा अह आहा अहा आहा आहा आहा आहा उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह आह आह आहा आहा आ आहा हाह आहा आहा आहा आह अहा अकी सिस्कारियां निकल रही थी | इस तरह से जब मुझे लंड की जरुरत होती थी तब मैं उससे ही अपनी चूत की गर्मी शांत करवा लेती थी |

जब से में बी.कॉम में एडमिशन लिया था | तब से मुझे चूत की गर्मी कुछ ज्यादा ही सता रही थी | यहाँ तो लड़के कहीं क्लास में बैठ कर किस कर रहे होते थे तो कहीं बाथरूम में लडकियो को लेके जाते थे | यह सब देख कर मैं ओर भी गरम होती थी मेरा भी मन अपनी चूत चुदवाने को करता था | पर मेरा बॉयफ्रेंड उसने कहीं और एडमिशन ले लिया था और अब मियन अकेली हो गयी थी | मैंने सोंचा की ऐसे नही बनेगा कोई तो मुर्गा दूंढना ही पड़ेगा | मैं अगले दिन अपने कॉलेज गयी वहां सब लड़के अपने-अपने गर्लफ्रेंड को लेके टहल रहे थे | मैं कोई मस्त लड़के की तलाश में थी | फिर मुझे एक लड़का दिखाई पड़ा वह मेरी तरफ ही आ रहा था | मैं थोडा सभाल कर बैठ गयी | वह सीधा मेरे ही पास बैठ गया और मुझसे कॉलेज के बारे में पूंछने लगा की कैसा माहोल है इस कॉलेज का | वह नया-नया आया था कॉलेज में आया था | मैंने मन में सोंचा की लड़का तो दिखने में मस्त है  चलो इसको ही सेट करती हूँ | मैंने उसको फ्रेंडशिप का ऑफर दे दिया | उसने मुझसे फ्रेंडशिप कर ली और अब हम लोग साथ-साथ ही कॉलेज आते थे और क्लास में एक ही सीट पर बैठते थे | हमारी फोन पर भी बात होने लगी थी |हम लोग धीरे-धीरे एक दुसरे के प्रति खल चुके थे | मैं तो उसे लाइक करती ही थी पर वो भी अब मुझे लाइक करने लगा था | एक दिन कॉलेज में छुट्टी थी | उसने मुझे सुबह फोन मिलाया की हम लोग शाम को क्लब चलेगे तुम तैयार रहना मैं तुम्हे लेने आऊंगा | मैंने भी उसको हां कर दी | शाम को मैं तैयार हुई वो मुझे लेने आया | हम लोग क्लब गये वहां हम लोगो ने खूब दारू पी और खूब डांस किया | उसने मुझे डांस करते-करते मेरे बूब्स और मेरी कमर को खूब दबाया | मुझे भी थोडा थोडा मजा आ रहा था | मैं नसे में हो गयी थी और मैं चलने के काबिल नही थी | वो मझे एक होटल में ले गया जहाँ उसने एक कमरा बुक कर लिया | मुझे व कमरे में ले गया और बेड पर लिटा दिया और मेरे होंठो को अपने मुह में रख कर चूसने लगा मुझे थोडा थोडा महसूस हो रहा था | थोड़ी देर तक उसने मुझे चूमा फिर मेरे कपड़ो को एक-एक करके सब निकाल दिया और उसने अपने भी सब कपडे निकाल दिए | वो बेड पर मेरे साथ लेट गया और मेरे बूब्स को अपने हाथो से दबाता हुआ मेरे पूरे शरीर को चूम रहा था | मुझे भी थोडा मजा आ रहा था फिर उसने मेरी दोनों पैरो को फैला दिया और अपना मोटा लंड मेरी चूत में डाल कर चोदने लगा | उसका लंड काफी मोटा और और लम्बा था जिससे मुझे दर्द हो रहा था और मेरे मुह से आहाह आह आह आहा आहा आहा अह आहा अह आहा अह आहा हाह आहा आहा अह आह आहा आहा आहा उन्ह उन्ह नह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह आह आह आह आहा आहा आहा आहा आहा अह की सिस्कारियां ले रही थी | थोड़ी देर के बाद उसने अपने लंड का माल मेरी चूत में ही झाड दिया था और मेरे लंड को मेरे मुह में देके फिर से चूसने लगा और जब उसका लंड खड़ा हो गया तो उसने फिर से मेरी चूत में डाल कर चोदने लगा | इस तरह से उसने मेरी नशे की हालत का फायदा उठाकर पूरी रात मेरी चुदाई की | उसने पूरी तरह से मेरी चूत की खराबी कर दी थी | सुबह जब मैं उठी तब मेरी चूत से खून निकल रहा था |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | आशा करता हूँ की आप लोग को पसंद आएगी |


error: