चुदाई का सच्चा खेल


hindi porn kahani, sex stories in hindi

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम नीरज है और मैं रीवा का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी कुछ भी नहीं करता हूँ | मेरा रंग काला है और मेरी हाईट 5 फुट 9 इंच है और मेरा बदन गठीला है | फ्रेंड्स, मेरी नजर में चुदाई एक महत्त्वपूर्ण क्रिया है | मैं चुदाई के लिए कुछ भी कर सकता हूँ अगर मुझे चुदाई कभी करने मिल जाये तो मैं तभी चुदाई के लिए एक दम रेडी हो जाता हूँ | मैं सिर्फ नाम की काला नहीं हूँ बल्कि मेरा लंड तो और भी ज्यादा काला बड़ा और मोटा है | मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और 2.5 इंच मोटा है | मैंने अपनी जिन्दगी में कई बार चुदाई कर चुका हूँ | मैंने अपनी सौतेली `बहन, पड़ोस में रहने वाली भाभी, स्कूल में साथ पढने वाली दो लौंडियाँ, कॉलेज की एक मैडम और दो तीन रंडियाँ भी चोदा है | अभी फिलहाल में सिंगल हूँ और जब मैंने चुदाई नहीं किया था तब मुझे बिना चुदाई के करीब 1 साल हो चुके थे | अब जिसने इतनी चूत मारा हो उसके लिए एक साल सौ साल के बारबर ही समझो | आप लोग मुझे चुदासा लंड कह सकते हो | चलो अब मैं अपनी कहानी लिखना चालू करता हूँ वरना आप लोग मुझे खकलन समझने लगोगे |

ये घटना काफी समय पहले की है | मेरे घर में, मैं, मेरे पापा ( रमेशचंद जैन ), मम्मी ( वंशिका जैन ), एक बड़ी बहन ( एकता जैन ) और मेरी दादी ( चंदो जैन ) है | मैं बहुत पहले से ही चुदक्कड़ बन गया था और वैसे हुआ कि एक दिन रात में मैं मुझे बहुत जोर से प्यास लगी तो मैं उठ कर गया और पानी पी के वापस आने लगा अपने रूम की तरफ तभी मुझे सिस्कारियां की आवाज़ आ रही थी | मैंने सोचा कि चलो चल कर देखा जाये तो मैं जा कर देखा तो मेरे मम्मी पापा चुदाई कर रहे थे और मैंने तब पहली बार जाना कि चुदाई क्या होती है | अब मैंने स्कूल में एक लड़की को पटा लिया और उसकी एक बार चुदाई भी कर दिया | मुझे चुदाई करने में बहुत मजा आया तो मैंने सोच ही लिया कि अब मैं चुदाई का देवता बनूँगा | फिर मैंने उसके ट्रान्सफर के बाद एक और लड़की को पटा लिया और उसे स्कूल ही बाथरूम में जा कर खूब चोदा | मैंने उसे एक साल तक रोज ही चोदा करता था | मुझे चुदाई के लिए और तलब लगने लगी और मैं चुअदै के भूख के मारे एक दम पागल सा हो गया तो मैंने अपने पड़ोस में रहने वाली एक और भाभी को भी पटा लिया और उसे भी चोदा | फिर जब मैं कॉलेज गया तब मुझे एक फिजिक्स की टीचर पसंद आई तो मैंने उसे भी पटा लिया और उसे उसके ही घर में जा कर खूब चोदा | उसके बाद जब मेरा कॉलेज भी खत म हो गया तब मैं एक दम बेरोजगार हो गया अब मेरे पास चूत का एक ही जरिया नहीं बचा था | फिर मैंने अपने यहाँ के रंदिखाने को सर्च किया और मुझे पता चला कि दो लड़कियाँ यहाँ चुद्वातियो हैं पैसे ले कर | तो मैंने उन्हें भी दो या तीन बार ही बस चोदा क्यूंकि उन्हें चोदने में उतना मजा नही आता था | उसके बाद मैंरे पड़ोस वाली भाभी के यहाँ एक लड़की रहने आई और वो दिखने में बहुत ही खूबसूरत थी | उसके दूध का साइज़ भी अच्छा था और उसके चूतड़ भी गोल और उठे हुए थे |

loading...

मैंने उसे ताड़ना चालू कर दिया और मुझे लगता था कि शायद वो भी चुदाकड़ होगी | क्यूंकि जब मैं उसे लाइन देता था तो वो भी मुझे लाइन देते थी | मैंने मन ही मन सोच लिया था कि इसे पटा कर चोदूंगा जरुर | एक दिन मैंने उसके छत पर जा कर उसे रोक कर अपने दिल की बात कह दिया और वो तो पक्की चुदक्कड़ निकली | उसने मुझे हाँ कर दी और अब हमारी बात फ़ोन पर भी होने लगी और कुछ ही दिन बाद उसने मुझसे चुदाई के लिए कह दिया | मैं समझ गया कि अब मैं खुद ही इसको अपने घर बुला कर चोदूंगा लेकिन अगले दिन उसने मुझे अपने घर बुलाई तो तो मैं उसके घर जा गया और जब वो जाने लगी तो मैंने उसका हाँथ पकड़ कर खींच लिया और वो मेरे सामने खड़े हो कर शर्माने लगी तो मैंने कहा जान शर्मा क्यूँ रही हो ? तो उसने कहा जान तुम मुझे ऐसा कर के प्यार करोगे तो शर्म हो आएगी ही | मैंने उसे अपने गले से लगा लिया और वो भी मेरी बांहों में आ कर मुझे आई लव यू कहा और मैंने भी उसे आई लव यू कहा | उसके बाद मैंने अपने होंठ उसके होंठ से लगा दिया और उसके होंठ को चूसने लगा और वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके चूतड को दबा रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे लंड को को दबाने लगी | उसके बाद उसने मेरे शर्ट को उतार दिया और मेरे सीने पर हाँथ फेरने लगी | उसके बाद अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ कर मेरे जीन्स को भी उतार दी और फिर मेरे अंडरवियर को भी उतार कर मुझे एक दम नंगा कर दी और मेरे लंड को अपने हाँथ से हिलाने लगी जोर जोर से और उसके बाद वो मेरे लंड पर जुबान फेरते हुए चाटने लगी और तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिसकियाँ निकलने लगी | वो मेरे लंड पर जीभ आगे पीछे करते हुए चाट रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके दूध को दबा रहा था | मेरे लंड को चाटने के बाद उसने मेरे लंड को अपने मुंह में भर कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए लंड चुसाई के मजे लेने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और मेरे दोनों अन्टोलो को भी सहला आरही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए आन्हे भर रहा था | उसके बाद उसने मेरे अन्टोलो को भी अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मूठ मारा रहा था | फिर मैंने उसे उठाया और उसके टॉप को निकाल कर दूध को दबाने लगा तो उसके मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिसकियाँ निकलने लगी | उसके बाद मैंने उसके ब्रा को भी उसके बदन से अलग कर दिया और उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे चेहरे को सहलाने लगा | मैं उसके दूध को जोर जोर से दबा कर चूस रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिसकियाँ भर रही थी |

फिर मैंने उसके जीन्स को भी उतार दिया और उसको बेड पर लेटा कर उसकी चूत को चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कसमसाने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए उसके दूध भी दबा रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रह थी | उसके बाद मैंने उसकी चूत में अपने लंड को टिकाया और फिर एक ही धक्के में अपने लंड को उसकी चूत में घुसेड दिया और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई तेज कर दिया और उसके दूध को दबाते हुए चोदने लगा जोर जोर से और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदाई में साथ दे रही थी | उसके बाद मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसके पीछे जा कर अपने लंड को उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिसकियां ले रही थी | कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने अपन वीर्य उसकी चूत के ऊपर ही निकाल दिया |