चुदाई और अन्तर्वासना के बीच मस्ती


हेल्लो मेरे दोस्तों मैं आज आपने सामने आ गया हूँ क्यूंकि मैं ज्यादा दिन आपसे दूर नहीं रह पाया और आपके पास आ गया हूँ | आज मेरे पास हमेशा की तरह एक कहानी है और मुझे इसकी बहन की चूत वो सुनानी है | आज मैं आपका नल्ला और बटेरबाज दोस्त गुड्डू आपको मस्त कहानी सुनाऊंगा और इसको पढके आपको बहुत मज़ा आएगा | मैं गाँव से हूँ और वहां तो आपको पता है वहां टट्टी करने कि जगह बस खेत में होती है | मैं भी खेत में टट्टी करने जाता हूँ और यहीं से शुरू हुयी मेरी प्रेम कहानी टट्टी एक सेक्सी कथा | तो दोस्तो मैं आपको यह बता देता हूँ कि मैं एक बहुत ही बड़ा चोदु हूँ और चुदाई आये दिन करता रहता हूँ | मैं आपको आज एक सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ जिसमे आपको सिर्फ चुदाई और चुदाई ही चुदाई पढने को मिलेगी | इस कहानी को पढने के बाद आपका लंड पागल हो जाएगा और चूत के लिए मचलने लगेगा पर हर बार कि तरह आपको बस मुट्ठ मार्के काम चलाना पड़ेगा | अब देखो ऐसा है हर बार चूत नहीं होती सबके पास कभी कभी हांथों का भी सहारा लेना पड़ता है |
तो दोस्तों पहले मैं आपको बताना चाहता हूँ कजरी की कहानी जिसे मैंने टट्टी करते समय चोदा और वो भी मस्त रंडी थी जिसने मुझसे खुल के चुदवाया | एक साल पहले कि बात है मैं टट्टी करने के लिए जिस खेत में जाता था वहां लड़कियां और औरतें नहीं आती थी क्यूंकि चुदने कि संभावनाएं ज्यादा थी वहां पे | पर एक दिन मैं बस अकेला था और सुबह के चार बज रहे थे | तभी मैंने देखा कजरी दौड़ते हुए टट्टी करने आ रही है | मैं झाड़ियों के पीछे था इसलिए मुझे वो देख नहीं पायी और मेरे सामने ही बैठ गयी | अब जब वो टट्टी करने लगी तो मुझे उसकी चूत दिखने लगी और मुझसे रहा नहीं गया | मैंने अपना हाथ हल्का सा आगे किया और उसकी चूत सहलाने लगा | वो कहने लगी कोण है रे मादरचोद | मैंने कहा तेरा पहला प्यार गुड्डू इतनी जल्दी भूल गयी बहनचोद | उसने कहा अरे तू है फिर सहला क्यों रहा है रगड़ के चोद दे मुझे | मैंने सोचा वाह इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा | तो अब हम टट्टी करने के बाद उठे और मेरा लंड खड़ा हो चूका था | वो मेरे पास आई और मेरे लंड को चूसने लगी | मुझे मज़ा आने लगा और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | उसने मस्त चूस चूस के मेरे लंड को लाल कर दिया और थोड़ी देर बाद मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए उसके मुह में झड़ गया |
फिर उसने कहा चल मेरे राजा मेरी चूत को भी मज़ा दे | मैंने कहा ठीक है और मैं हलके हलके उसकी चूत को रगड़ने लगा | थोड़ी देर बाद वो भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | उसके बाद मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू किया तो वो मदमस्त आंहे भंरने लगी और मैंने उसकी चूत के रस को चाट चाट के पिया | उसके बाद मैंने उसको पूरा नंगा किया और झाड़ियों के अन्दर लेट गया | फिर मैंने उसके दूध को दबा दबा के पिया और किस्मत से कोई नहीं आया था तब तक | वो भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए कहने लगी अब लंड डाल दे अन्दर |
मैंने भी देरी न करते हुए उसकी चूत में अपना लंड अन्दर डाला और चोदने लगा | उसकी चूत गीली थी और उसने चूस के मेरा लंड भी गीला कर दिया था इसलिए चुदाई में बड़ा ही मज़ा आ रहा था | उसकी चूत चोदने में अबीब सी मादक खुशबू आ रही थी जो मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थी | मैंने उसको जोर जोपर से चोदना चालु किया और साथ में उसके दूध भी पी रहा था | हम दोनों आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए चुदाई मचा रहे थे | उसकी चूत कि गर्मी से मेरे लंड का लावा पिघलने लगा और २० मिनट बाद मैंने अपने मुट्ठ से उसकी चूत को गीला कर दिया | और मैं उसकी चूत को लंड से रगड़ने लगा और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | फिर उठके बैठ गयी और अपनी चूत में ऊँगली डाल के मेरा माल निकालने लगी और मैंने अपना लंड उसके मुह में दिया और खूब चुस्वाया | मेरा माल फिर निकला तब जाके मुझे शांति मिली और हम दोनों अपने घर चले गए | तो दोस्तों यहाँ ख़त्म हुयी मेरी पहली चुदाई अब मैं आपको बताने जा रहा हूँ अपनी दूसरी चुदाई के बारे में और ये भी बहुत मजेदार है |
तो दोस्तों कजरी की चुदाई तो हो गयी अब बारी है संगीता की | जी हाँ संगीता से मुझे प्यार हो गया था गाँव में ही पर मुझे उसको चोदना भी था | पर मुझे समझ नहीं आ रहा था कैसे क्यूंकि वो साली सभ्य लड़की थी और मुझसे पट नहीं रही थी | फिर क्या मैंने इसकी भी तरकीब निकाल ली | मैंने पता लगाया लगाया ये टट्टी करने कितने बजे जाती है तो मैंने शहर से एक फोटो वाले को बुलवाया और उसको ज्यादा पैसे देके उसकी तस्वीर निकलवा ली | मैं अब उसके पास गया और कहा संगीता देख तेरी गांड और चूत दोनों खिल गए हैं चुदवा ले मुझसे | उसने कहा दूर हट हरामी मेरे पास ना आना | मैंने कहा अरे जानेमन ये तस्वीर तो देख ले तो वो डर गयी और कहा सुन तू जो बोलेगा मैं करुँगी तो मैंने कहा ब्याह करेगी मेरे साथ | उस्ने कहा ठीक है कर लुंगी फिर मैंने कहा चल सुहागरात अभी मना लेते है | वो थोड़ी डरी पर उसके पास और कोई रास्ता भी नहीं था | मैं उसको उसके घर ले गया और उसको नंगा करने लगा | वो अपने बदन को छुपाने लगी पर मैंने उसका हाथ हटाया और उसके दूध चूसने लगा और चूत रगड़ने लगा | थोड़ी देर ऐसा करते करते मैंने सुना वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही है | वो गरम हो गयी थी तो मैंने सोचा बस अब इसको अपना लंड चूसा देता हूँ जिससे मेरा काम बन जाए | मैं अपना लंड उसके मुह के पास ले गया और कहा चूस इसको तो उसने मना कर दिया पर मैंने फिर उसका मुह ज़बरेदास्ती लंड पे लगाया और अन्दर डाल दिया | वो धीरे धीरे बच्चों जैसे मेरे लंड को चूस रही थी और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहा था |
जैसे ही मेरा लंड खड़ा हुआ मैंने उसको लेटाया और उसकी चूत में एक झटके में अपना लंड पेल दिया और वो रोने लगी पर मैं धीरे धीरे उसको चोदने लगा तो उसका दर्द कुछ कम हुआ और अब वो सिस्कारियां भर रही थी | उसके बाद मैंने उसको थोड़ा तेजी से पेलना शुरू किया और वो अब पूरे जोश में थी और मुझसे जोर से चोदने को कह रही थी | मैंने भी आधे घंटे तक तूफानी चुदाई की और उसके बाद मैं उसकी चूत के ऊपर अपना माल गिराके उसके बगल में लेट गया | वो मेरे गले लग गयी और कहा वाह अब तो ये लंड मेरा हो गया है पतिदेव और हमने ब्याह कर लिया |


error: