चुदाई अपने कॉलेज की लड़कियों के साथ


दोस्तों आज आप सभी को मेरी यह मस्त स्टोरी पढने में बहुत मजा आने वाला है | यह स्टोरी मेरे कॉलेज की है | मुझे पता है और आप सभी को यह स्टोरी पढने में बहुत मजा आयेगा | दोस्तों मेरा नाम संजय कोल है | मेरी उम्र 30 साल है और में कटनी का रहने वाला हूँ |

दोस्तों मेरे कॉलेज में 15 सितम्बर को इंजीनियर्स डे मनाया गया और उस दिन मेरी ब्रांच की सभी गर्ल्स और सभी बॉयज कॉलेज आए थे क्योकि हमारा कॉलेज में लास्ट इयर था और लास्ट प्रोग्राम भी | इंजीनियर डे में प्रोग्राम रखा गया था और पार्टी भी रखी गई थी | तो उस दिन सभी लोग कॉलेज आए हुए थे | और उस दिन सभी लोग बहुत मस्ती कर रहे थे | दोस्तों उस दिन तो मैं बहुत खुश था | क्योकि उस दिन मेरी दोनों गर्लफ्रेंड भी कॉलेज आई हुई थी | एक का नाम आरती है और एक नाम सोनम | मेरी दोनों गर्लफ्रेंड दिखने में बहुत सेक्सी थी और खुबसूरत भी है | पूरे कॉलेज के बॉयज मुझसे इसी वजह से जलते है| क्योकि आरती और सोनम दोनों ही मेरी गर्लफ्रेंड है और उस दिन भी दोनों बहुत ही ज्यादा सेक्सी लग रही थी | उस दिन तो मैंने दोनों को चोदने का प्लान बनाया था |……….दोस्तों आरती मेरी सबसे पहली गर्लफ्रेंड है और आरती मुझे बहुत अच्छी लगती है और बहुत सेक्सी भी लगती है | मैं जब भी आरती को देखता था तो मुझे उसे चोदने का मन किया करता था | मैंने आरती को मैंने अपने डांस से इम्प्रेस्स किया था | कॉलेज में मैंने एक डांस किया और उस डांस को देखकर आरती मुझे बहुत पसंद करने लगी | और सच कहूँ तो वो मुझसे बहुत बात करने लगी मेरा टैलेंट देख के | वो मेरी अच्छी फ्रेंड बन गई थी | फिर एक दिन मैंने आरती को को बोला की आरती में तुम्हे बहुत पसंद करता हूँ और तुम्हे अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता हूँ | उसके बाद आरती आरती मुझसे बोली कि मैं आपकी गर्लफ्रेंड ही तो हूँ | आप अभी तक मुझे क्या समझ रहे थे ? यह बात सुनकर मैं बहुत खुश हो गया |  आरती मुझे हमेशा आप करके बात किया करती | उसके बाद आरती मुझसे पूरे तरीके से पट चुकी थी और फिर मुझे तो आरती को चोदने का बहुत ही ज्यादा मन कर रहा था | फिर एक दिन मैं आरती को अपने जन्मदिन पर अपनी कार में घुमाने ले गया उस दिन आरती मस्त लग रही थी और उसके दूध बहुत मस्त लग रहे थे | उसके बाद तो मुझसे बिलकुल भी नहीं रहा जा रहा था | बस आरती को चोदने का मन कर रहा था |

धीरे धीरे बात करते करते आरती मुझसे कहने लगी की आपको क्या चाहिए आज गिफ्ट में बताओ मुझे | यह बात सुनकर मैंने आरती से बोला जो में आपसे मांगूंगा क्या वो तुम मुझे पक्का दोगी | तो फिर आरती मुझसे कहने लगी हाँ जो आप मांगोगे मुझसे मैं आपको दूंगी | बोलो आपको क्या चाहिए | फिर उसके बाद मैंने आरती से कहा मुझे तुम्हे किस करना है और तुम्हे चोदना है | यह बात सुनकर आरती बहुत जोर जोर से हसने लगी और मुझसे कहने लगी ये भी कोई गिफ्ट है | फिर मैंने उसे कहा मुझे तो यही गिफ्ट चाहिए आज तुमसे | तो आरती मुझसे कहने लगी ब मैंने बोला है तो मुझे देना ही पड़ेगा आपको गिफ्ट | वो कहने लगी की ले लो आप आज अपना गिफ्ट कर लो मुझे किस और चोद लो मुझे जितना चोदना हो आज | फिर उसके बाद मैं आरती को अपने रूम में लेकर आया और उसके बाद तो मुझसे बिलकुल भी रहा नहीं जा रहा था | मेरा लंड तो आरती की चूत के लिए तड़प रहा था | जब आरती मेरे रूम में आई तो आरती मुझसे कहने लगी कि आपका रूम बहुत मस्त है | आरती हल्का सा स्माइल करते हुए कहने लगी कि अब ले लो अपना गिफ्ट जल्दी | मैंने आरती को अपनी गोद में उठा लिया और पलंग पर लेटा दिया और आरती को किस करने लगा | मैंने धीरे धीरे उसके पूरे कपडे उतार दिए और उसके मस्त मोटे और कसे हुए दूध को पीने लगा | आरती को बहुत मजा आ रहा था जब में उसे किस कर रहा था और उसके दूध पी रहा था | दूध पीने के बाद मैंने अपने खड़े लंड को जो आरती की चूत के लिए तड़प रहा था उसे आरती की गोरी चूत में डाला | फिर आरती  को चोदने लगा और जेसे ही आरती को मैंने चोदना स्टार्ट किया तो आरती आःह अआह्हह आआह्ह्ह अआह्हह ऊऊह्ह्ह ऊह्ह ऊह्ह करने लगी | उसे बहुत मजा आ रहा था चुदने में और मुझे तो आ ही रहा था | उसके बाद मैंने आरती को बहुत चोदा और फिर उसके बाद आरती को उसके रूम छोड़ कर आ गया | उस दिन के बाद आरती मुझसे कभी भी चुदती रहती जब भी मैं उसे चोदने को कहा करता था | फिर उसके बाद मुझे सोनम भी बहुत अच्छी लगने लगी | सोनम और आरती दोनों अच्छी दोस्त है | सोनम के दूध आरती से भी मस्त लगते और गांड भी | …. एक दिन फिर मैंने आरती से बोला कि तुम्हारी दोस्त सोनम भी मुझे बहुत अच्छी लगती है | मेरी दोस्ती उसे करा दो ना तो फिर आरती ने सोनम से मेरी दोस्ती करायी | सोनम भी मुझसे बात करने लगी जैसे आरती करती थी | सोनम को पता था कि  आरती मेरी गर्लफ्रेंड है | सोनम भी मेरी बहुत अच्छी दोस्त बन गई | मैं अपनी हर बात सोनम को बताया करता था और सोनम भी मुझसे हर बात बताया करती थी | कुछ दिनों के लिए आरती अपने घर चली गई रीवा | वो रीवा की रहने वाली थी उसके मम्मी पापा वही रहते थे | उसके जाने के बाद मैं और सोनम दोनों बहुत मस्ती करने लगे कॉलेज में और मुझे तो रोज सोनम को चोदने का मन करता था | तो फिर एक दिन सोनम को भी मैं अपनी कार में घुमाने ले गया | मैं और सोनम कॉफ़ी पीने गए और फिर उसके बाद सोनम से बात करते करते मैंने सोनम से भी कह दिया की सोनम तुम भी मुझे बहुत अच्छी लगती हो | यह बात सुनकर सोनम स्माइल करने लगी और मुझसे कहने लगी कि मैं भी तुमको बहुत पसंद करने लगी जब मैंने आपका डांस देखा था | लेकिन जब पता चला की आरती आपकी गर्लफ्रेंड है तो फिर मैंने सोचा मैं अलग हो जाती हूँ | फिर यह बात सुनकर मैंने सोनम से कहा की अब में तुमको बहुत पसंद करने लगा हूँ | तुम मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी तो सोनम खुश हो गयी और मेरी गर्लफ्रेंड बनने के लिए हाँ बोल दिया | अब सोनम भी मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी और अब मेरा लंड सोनम की चूत के लिए तड़प रहा था | फिर उसके बाद कॉलेज में दूसरे दिन इंजीनयर डे में सोनम भी आई सज धज के | आरती भी अपने घर रीवा से वापस आ गई | वो भी इंजिनियर डे में कॉलेज आ रही थी | मेरी दोनों गर्लफ्रेंड कॉलेज आ रही थी | मैंने तो दोनों को चोदने का प्लान बनाया था | लेकिन आरती को तो मैं पहले कई बार चोद चूका था | इस बार मैंने सिर्फ सोनम को चोदने का प्लान बनाया क्योकि मेरा लंड अब सोनम की चूत के लिए तड़प रहा था | फिर इंजिनियर डे मनाने के बाद और पार्टी ख़तम होने के बाद मैं आरती और सोनम को उनके रूम छोड़ने गया अपनी कार में | मैंने पहले आरती को उसके रूम छोड़ दिया | वहाँ से लौटने के बाद मैं रास्ते में कार रोक कर सोनम से कहने लगा कि सोनम आज मुझे तुमको चोदने का बहुत मन कर रहा है और यह बात सुनकर सोनम भी हसने लगी | उसके बाद तो मैं समझ गया कि सोनम भी मुझसे चुदना चाहती है और मैं सोनम को अपने रूम ले कर गया | जैसे ही वो मेरे रूम आई मुझसे बिलकुल कंट्रोल नहीं हुआ और मैं सोनम को पलंग पर लेटा कर किस करने लगा और उसके पूरे कपडे उतार कर सोनम की चूत पर अपना खड़ा हुआ लंड डाल दिया और सोनम को बेतहाशा चोदने लगा पागलों की तरह | सोनम आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | उसके बाद मैं सोनम के दूध पीने लगा | सोनम के दूध भी बहुत मस्त थे | मुझे बहुत मजा आ रहा था सोनम को चोदने में और उसके मस्त दूध को पीने में उसकी चूत भी टाइट थी | सोनम चुदते समय बहुत आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहःकर रही थी | मैंने सोनम को उस दिन इतना चोदा की क्या बताऊँ | फिर उसके सोनम को चोदने के बाद में सोनम को उसके रूम छोड़ आया और फिर सोनम को भी मैं कभी भी चोदता रहता |

loading...