बॉयफ्रेंड से चूत चुदवाई


sex stories in hindi

हैल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सब ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | आप सभी को मेरा सादर नमस्कार | मेरा नाम किरण है और मैं बदलापुर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 20 साल है और मैं अपना कॉलेज कम्प्लीट कर चुकी हूँ बस डिग्री लेना बाकी है | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरा फिगर सेक्सी है क्यूंकि मेरे दूध बड़े हैं और गांड भी बड़ी और गोल है और मेरी गदराई कमर है | दोस्तों मैं इस साईट की दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट के बारे में मेरी एक कॉलेज फ्रेंड ने बताया था | तब से मैं रोज ही इसमें कहानियां पढ़ती हूँ | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी अहै और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी | तो अब मैं आप लोगो के कीमती समय को ज्यादा ना लेते हुए अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये घटना कुछ समय पहले की है | मेरे घर में हम 5 लोग रहते हैं | मेरे पापा अमित, मम्मी सरोजनी, बड़ी बहन आराधना, मंझली बहन सौम्य और मैं | दोस्तों मैं स्कूल के समय से ही बहुत मस्तीखोर रही हूँ और मुझे सेक्स से सम्बंधित हर चीज का बड़ा ही शौक रहा है | पहले मैं बहुत गन्दी दिखती थी इसलिए स्कूल में मेरा कोई भी बॉयफ्रेंड नहीं था | लेकिन जब मैंने जवानी के दहलीज पर कदम रखा तो मेरा सौन्दर्य बढ़ने लगा और शारीरिक विकास भी होने लगा | मेरे दूध बढ़ने लगे और फिगर सेक्सी बनता चला गया | अब मुझे लंड चाहिए था लेकिन मैं खुल्ला तो किसी से बोल नहीं सकती थी कि मुझे चोदो | मेरी एक फ्रेंड थी जिसका नाम दिशा था वो बहुत बड़ी चुदक्कड़ थी | उसी ने मुझे इस साईट के बारे में बताया था | मैं सेक्स स्टोरीस पढ़ कर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर चुदाई करती थी क्यूंकि लंड तो था नहीं | तभी एक दिन मुझे एक लड़के ने प्रोपोस कर दिया जिसका नाम मयंक था | वो दिखने में गोरा था और उसका शरीर भी अच्छा था |

loading...

वो हमारे कॉलेज में हमारा सीनियर था | जब उसने मुझे प्रोपोस किया तब मैंने उसे तुरंत ही हाँ कर दिया | क्यूंकि वो काफी हेंडसम था | उसके बाद अब मैं भी कमिटेड हो गई और हम दोनों में प्यार ने भी बहुत जल्दी जगह बना ली थी | वो मुझे बहुत प्यार करता था और मेरी केयर भी बहुत अच्छे से तरीके से करता था | मुझे उसका केयर करना बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता था | मैं उससे हर दम नखरे में ही बात करती थी | वो इतना अच्छा लड़का था कि मुझसे कभी कोई गलत बात नहीं करता था | इसलिए मैंने सोचा कि इससे तो कुछ होगा नहीं इसलिए मैं ही पहल करती हूँ | मैंने ही धीरे धीरे चुदाई की बाते करना चालू की तब जा कर उसने मुझसे कहा कि मैं भी तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूँ लेकिन कहने से डरता था इसलिए नहीं बोल पाया लेकिन तम्हे याद कर के रोज मुट्ठ जरुर मारता हूँ | मैंने कहा कोई बात नहीं यार अब तो मुझे पता चल गया न |

फिर एक दिन उसने मुझसे कहा कि यार मेरा घर खाली है तुम आ जाओ | उस समय मैं भी फ्री थी तो मैंने हाँ कर दिया | जब मैं उसके घर गई तो उसने तुरंत ही मुझे पीछे से पकड़ लिया | मैंने उससे कहा कि इतने ज्यादा उत्तेजित हो क्या जो ज़रा भी सब्र नहीं कर पाए ? तो उसने कहा कि क्या करू जान तू इतनी मस्त है कि सच में सब्र नहीं हुआ | उसके बाद वो वैसे ही मेरे दोनों दूध को अपने हाँथ आगे कर दबाने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए पीछे हाँथ कर के उसके लंड को सहलाने लगी | उसके बाद उसने मुझे अपनी तरफ घुमा लिया और मेरे होंठ से अपने होंठ को लगा कर किस करने लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को किस करने लगी | वो मेरे होंठ को किस करते हुए मेरे दोनों दूध मजे से दबा रहा था और मैं भी उसके होंठ पर किस करते हुए उसके लंड को सहला रही थी |

हम दोनों ने करीब 10 मिनट तक किस किया | उसके बाद मैंने उसके शर्ट को उतार दिया और उसके सीने को चूमने लगी | उसके सीने को चाटते हुए फिर मैंने उसके जीन्स को भी उतार दिया और फिर अंडरवियर को भी उतार दिया और उसे पूरा नंगा कर दिया | फिर मैं उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर हिला कर खड़ा करने लगी | जब उसका लंड खड़ा हो गया तो मैं अपनी जीभ से उसके लंड को चाटने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | मैं उसके लंड को चाटते हुए उसके दोनों गोटो को हाँथ से सहला भी रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्करियां ले रहा था | फिर मैंने उसके दोनों गोटो को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर पर हाँथ रख कर खड़ा रहा | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में डाल लिया और चूसने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को संवारने लगा |

मैं उसके लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह की चुदाई कर रहा था | फिर उसने मुझे खड़ा किया और मेरे टॉप को निकाल कर ब्रा के ऊपर से ही दूध को दबाने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | फिर उसने मेरे ब्रा को भी उतार दिया और मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके सिर को सहलाने लगी | वो जोर जोर से मेरे दोनों दूध को बारी बार से मसलते हुए चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | उसके बाद उसने मेरी भी जीन्स को उतार दिया और फिर मुझे लेटा कर मेरी पेंटी को उतार कर मुझे भी पूरा नंगी कर दिया | उसके बाद उसने मेरे दोनों टांगो को फैला कर अपनी जीभ मेरी चूत पर फेरने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी किसी मछली की तरह | वो मेरी चूत को चाटते हुए चूत के दाने को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोशी के आलम में डूबे जा रही थी | फिर मैंने उससे कहा कि यार बस करो अब सहन नहीं होता चोद दो मुझे और मेरी चूत को भोसड़ी बना दो |

उसने तुरंत ही अपने लौड़े को मेरी चूत में टिका दिया और एक ही शॉट में अन्दर डाल कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | फिर उसने अपनी रफ़्तार बढ़ा दिया और मेरे दोनों दूध को दबाते हुए जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में साथ दने लगी | उसके बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आ कर अपना लंड डाल दिया और चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड हिला हिला कर चुदवाने लगी | कुछ देर चोदने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी गांड के ऊपर ही डाल दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए धन्यवाद |