बीवी के बाद रंडी को चोदा


hindi sex stories

हाय दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सब खुश होंगे और चूत वाले लंड के मजे ले रहे होंगे और लंड वाले चूत के और जिनको चुदाई नहीं मिल रही है वो अपने हाँथ को ही तकलीफ दे रहे होंगे | खैर कोई बात नहीं परेशान मत हो एक न एक दिन सभी को चुदाई करने का मौका मिलता है | मेरा नाम प्रथम है और मैं भिलाई का रहने वाला हूँ | मरी उम्र 42 साल है और मैं शादीशुदा मर्द हूँ | मैं दिखने में सांवला हूँ और मेरा बदन मोटा है और मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है | दोस्तों मैं इस साईट का दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट पर चुदाई की कहानियां पढ़ना बहुत ही अच्छा लगता है | दोस्तों आज जो मैं आप सभी के लिए अपनी कहानी पोस्ट करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की कुछ सच्ची चुदाई वाली कहानियों में से एक है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी | तो अब मैं आप सभी के समय को बर्बाद न करते हुए अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये घटना तब की है जब मेरी बीवी और बच्चे नानी के घर गए हुए थे | मेरे घर में मैं, मेरी बीवी संतोषी, बेटी छुटकी, बेटा सूरज रहते हैं | मैं एक प्राइवेट फर्म में काम करता हूँ और प्रॉपर्टी डीलिंग का भी काम करता हूँ | वैसे तो मेरे पास पैसे की कमी तो नहीं है लेकिन मुझे चुदाई का बहुत शौक है | मैं चुदाई का कोई भी मौका नहीं छोड़ता | मुझे हर दिन चुदाई चाहिए | जब मेरी बीवी घर में रहती है तो मैं उसे रात को बहुत चोदता हूँ इतना चोदता हूँ कि उसकी चूत सुबह तक दर्द देती है | लेकिन जब मेरी बीवी घर पर नहीं होती तो मैं कोई भी रंडी को बुला लेता | मेरी बहुत सारी रंडीयों से पहचान है | एक दिन की बात है मैं अपने ऑफिस में था और तभी मेरी बीवी का फ़ोन आया | मैंने पूछा कि क्या हुआ है इस टाइम पर फ़ोन क्यूँ किया ? तो उसने बताया कि मेरे घर में किसी की डेथ हो गई है और मुझे जल्दी ही जाना पड़ेगा | ये सुन कर मुझे दुख हुआ तो मैंने पूछा कि तुम कब तक आओगी ? तो उसने कहा कि तेरवी के बाद ही आ पाउंगी जी | मैंने कहा और बच्चे और उनके लिए खाना | तो उसने कहा कि वो मेरे साथ चल रहे हैं | आपका तो काम ही ऐसा ही कि आप मेरे साथ नहीं चल सकते | मैंने कहा कोई बात नहीं रुको मैं आता हूँ और टिकेट करवा के तुम को दे दूंगा और स्टेशन छोड़ दूंगा | उसके बाद मैंने घर गया और अपने बीवी बच्चो के सामान जमवाने में मदद की और फिर उन लोग को स्टेशन छोड़ दिया | अब मेरे मन में खुराफात सूझने लगी तो मैंने रेखा को फोन किया और पूछा कि कहाँ हो ? तो उसने कहा कि मैं अभी घर से निकल रही हूँ | तो मैंने पूछा अभी फ्री हो क्या ? तो उसने पूछा क्यूँ ? तो मैंने कहा कि मुझे चुदाई करने का मन कर रहा है |

loading...

मैंने उसे अपने घर बुलाया क्यूंकि उस दिन मेरा घर खाली था और मेरी बीवी और मेरे बच्चे मायके गए हुए थे | जब रेखा मेरे घर आई तो मैंने उसे अन्दर बुला लिया और उसे बैठने के लिए कहा तो वो अन्दर आ कर कुर्सी में बैठ गई | उसके बाद मैं उसके लिए पानी लेने गया | जब पानी ले कर वापस आया तो वो बैठ कर मेरी और मेरी बीवी की तस्वीर देखने लगी | मैंने उसे पानी दिया और वो पानी पीते पीते बोली कि क्या हमे चुदाई करना चाहिए ? तो मैंने उससे पूछा कि तुम ऐसा क्यूँ बोल रही हो ? तो उसने कहा कि तुम्हारी फैमिली है | तो मैंने कहा देखो तुम्हारा काम जो है तुम बस वही करो और जाओ | यहाँ ज्यादा रायता बघराने की जरुरत नहीं है | उसने तस्वीर को रख दिया और फिर वो बोली कि चलो कहाँ चलना है | तो मैं उसे अपने रूम ले कर गया तो वो वहां पंहुच कर अपने कपड़े उतारने लगी तो मैंने उसे रोक दिया | मैंने उसे कहा कि मुझे रोमांस करते हुए चुदाई करना पसंद है | उसके बाद मैंने उसके हाँथ को पकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया और उसकी गांड को सहलाने लगा तो वो भी मेरी गर्दन पर अपने हाँथ लपेट ली | फिर मैंने उसके होंठ पर अपने होंठों को रख दिया और उसके होंठ को चूसने लगा तो वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसन लगी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसकी गांड को जोर जोर से मसल रहा था और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरी पीठ को सहला रही थी | हम दोनों ने काफी देर तक एक दूसरे के होंठ को चूसा | उसके बाद मैंने उसके टॉप को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को जोर जोर से मसलने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करने लगी | उसके बाद मैंने उसके पीछे हाँथ कर के ब्रा के हुक को खोल दिया और ब्रा को उतार दिया | फिर मैंने उसके एक दूध को अपने मुंह में लिया और चूसने लगा और दूसरे दूध को हाँथ से मसलने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

फिर मैंने दूसरे दूध को चूसने लगा और पहले दूध को मसलने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए आन्हे ले रही थी | उसके बाद उसने अपने दूध को मेरे मुंह में लगा दिया और मैं उसके दोनों दूध को चूसने लगा और एक हाँथ से उसकी चूत को सहलाने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे सिर पर हाँथ फेरने लगी | फिर मैंने अपनी शर्ट को उतार दिया और पेंट भी | फिर मैंने अपनी अंडरवियर को उतार कर उसके सामने नंगा खड़ा हो गया | वो मेरे लंड को देख कर बोली कि तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है | तो मैंने कहा कि तो फिर आओ इसकी सेवा करो | तो वो मेरे लंड को हाँथ में ले कर हिलाने लगी | उसके बाद वो मेरा लंड को चाटने लगी तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को चाटते हुए एक हाँथ से मेरे सीने पर हाँथ फेरने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगा | उसके बाद वो मेरे लंड को अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद मैंने उसकी जीन्स को उतार दिया और उसकी पेंटी को भी उतार दिया | फिर मैंने उसे पलंग पर लेटा दिया और उसके पैरो को फैलाकर और चूत को चाटने लगा तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए उसकी चूत को ऊँगली से चोद भी रहा था और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत में टिकाया और फिर अन्दर डाल कर चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे ले रही थी आँख को बंद करके | फिर मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार तेज कर दी और जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड उचका उचका कर चुदवाने लगी | कुछ देर की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसके दूध पर छोड़ दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सब को मेरी ये चुदाई अच्छी लगी होगी