बन जा तू मेरी रंडी तेरी गांड मार लूँगा


hindi sex stories

हैल्लो दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम दिशा है और मैं जबलपुर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 34 साल है और मैं शादीशुदा हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 4 इंच है और मेरा बदन गदराया हुआ है | शादी से पहले मैं काफी पतली थी लेकिन शादी के बाद मेरा बदन गदरा गया | मैं इस साईट की बहुत बड़ी फैन हूँ और मुझे इस साईट में चुदाई की कहानियाँ पढ़ना बहुत पसंद है और ऐसा क्यूँ है ये मैं कहानी में बताउंगी | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश कर रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयगी और आप लोगो को मेरी कहानी पढ़ कर मजा भी आएगा | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए सीधा अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

मेरा घर में मैं, मेरे पति और उनके चाचा रहते हैं | मेरे सास की कुछ महीने पहले ही कहानी खत्म हुई है और मेरे ससुर पिछले साल दिवाली में निपट गए | मेरी शादी को 10 साल हो चुके हैं लेकिन हमारा एक भी बच्चा नहीं है | हमारे बच्चे इसलिए नहीं है क्यूंकि मेरे पति का वीर्य नहीं बनता है और उनका इलाज डॉ. चचोंदिया से चल रहा है | जब मेरे पति से मेरी शादी हुई थी तब मैंने ये सोचा था कि वो मुझे चुदाई में काफी आराम देंगे लेकिन सुहागरात के दिन ही मेरे पूरे अरमानो में पानी फिर गया था जब उन्होंने ये कहा कि मेरा माल नहीं झड़ता | तब तो मैंने ये कह कर अपने मन को मना लिया कि चलो माल ही तो नहीं झड़ता कम से कम चुदाई तो करेगा | लेकिन जब हम चुदाई करने लगे तब वो मुझे सिर्फ 10 मिनट तक ही चोद पाया और मैं बिना संतुष्ट ही सो गई | मेरे पति की दो बहन भी थी लेकिन उन्होंने एक बहन को घर से निकाल दिया क्यूंकि वो छिनार थी और एक काले से लड़के पटी हुई थी | वो उससे रोज चुदती भी थी लेकिन ये बात मैंने अपने पति से कभी नहीं कही क्यूंकि उसकी वो बहन मुझसे नफरत करती थी | मेरे पति की छोटी बहन अच्छी है वो भी शादीशुदा है लेकिन वो यहाँ वहां मुंह नहीं मारती मुझे छोटी वाली बहन बहुत अच्छी लगती है क्यूंकि जब भी वो घर आती है काम में मेरा हाँथ बंटा देती है | लेकिन उसकी बड़ी वाली बहन साली छिनार घर आती है तो मुझसे लडती भी है और काम भी नहीं करवाती | इसलिए हमारी कभी नहीं बनती | जहाँ मेरा ससुराल है वहां पर एक अभिलाष नाम का लड़का रहता है | वो दिखता भी अच्छा है और काफी हेंडसम है | वो मेरे पति का बहुत अच्छा दोस्त है और उसकी उम्र महज 24 साल है लेकिन वो कम ही घर आता है |

एक बार की बात है मेरे और मेरे पति के बीच झगडा हुआ और वो भी चुदाई के लिए | मैं एक औरत हूँ और मुझे भी चुदाई चाहिए लेकिन मेरा पति न तो चोदता है न ही कुछ करता है | हालांकि प्यार करता है लेकिन प्यार से बस चूत को ठंडक थोड़ी न मिलती है | उसके लिए चुदाई भी जरुरी है जो मुझे नहीं मिलती | झगडे के बाद मैं घर छोड़ कर चली गई थी | जब रात में सब सो रहे थे मैंने चुपके से अपना सामान बांधा और चली गई | उस समय मैंने सिर्फ सूट पहना हुआ था | जब मैं वहां से निकली तब रात के करीब 11 बज रहे होंगे | वहां से मैं जैसे ही निकली एक ऑटो वाला किसी से बात कर रहा था तो मैंने उनसे कहा भैया मुझे कांचघर तक चलना है आप चल सकोगे क्या ? तो उसने कहा मैडम मैं चल तो सकता हूँ लेकिन आपका पैसा ज्यादा लग जायेगा | मैंने पूछा क्यूँ ? तो उसने कहा मैं घर जा रहा हूँ और मेरा वो रूट भी नहीं है लेकिन आप अकेले हैं इसलिए मैं बोल रहा हूँ | मैंने मन में सोचा कि ठीक है यार पैसे ही तो लग रहे हैं कम से कम मुझे जल्दी पंहुचा तो देगा | मैंने कहा ठीक है भैया चलेगा | उसके बाद मैं ऑटो में बैठ गई और उसने मुझसे पूछा कि मैडम कांचघर में आपको कहाँ जाना है ? मैंने कहा भैया आप मुझे मैं रोड में साईं पिल्लै के जिम के पास छोड़ देना | उसने कहा ठीक है | फिर कुछ दूर चलने के बाद उसने पूछा मैडम आप इतने रात में पूरे सामान के साथ क्यूँ जा रहे हो ? तो मैंने कहा आप गाड़ी चलिए बस | फिर वो चुप हो गया और चुपचाप गाड़ी चला रहा था | उसके बाद उसने टेस्टिंग के पास गाड़ी रोका तो मैंने पूछा कि भैया यहाँ क्यूँ रोका है ? तो उसने कहा मुझे पेशाब आई है इसलिए | मैंने फिर कुछ नहीं कहा | टेस्टिंग रोड एक दम सूनी जगह है जहाँ लूटपाट होती रहती है | 5 मिनट के बाद वो मूत के आया और गाड़ी चालू कर रहा था तो गाड़ी चालू नहीं हो रही थी | उसने कहा मैडम गाड़ी स्टार्ट नहीं हो रही है | मैं समझ गई कि ये नाटक कर रहा है हो सकता है कि ये साला मुझे चोदने के बारे में सोच रहा है | मैंने कहा भैया गाड़ी चालू क्यूँ नही हो रही है ? तो उसने कहा मैडम मुझे क्या पता क्यूँ नहीं हो रही है आप चिंता मत करो मैं देखता हूँ कि क्या हुआ है | बैठे बैठे मुझे आधे घंटे हो गए | मैंने कहा भैया क्या प्रोब्लम है ? तो उसने कहा मैडम अब ये गाड़ी चालू नहीं होगी | मैंने पूछा क्यूँ ? तो उसने कहा मुझे आपकी चूत चाहिए तभी गाड़ी चालू होगी | मैंने कहा अबे मादरचोद पहले बोलना था न कि तुझे मेरी चूत चोदना है | वो भी समझ गया कि मैं भी चुदवाने को तैयार हूँ तो उसने कहा मैडम ये जगह अच्छी नहीं है मैं आपको सेफ जगह ले जा कर चोदुंगा | मैंने कहा ठीक है | फिर वो मुझे एक जगह ले कर गया वो मुझे भी नहीं पता कि कौनसी जगह थी | वहां पर उसने गाड़ी खड़ी किया और कहा मेरे पीछे आओ |

मैं उसके पीछे जाने लगी फिर एक खेत जैसी जगह थी वहां उसने मुझे बांहों में जकड़ लिया तो मैंने उससे पूछा कि यहाँ कोई मुन्हचोदी तो नहीं होगी न तो उसने कहा नहीं तू चिंता कर | इतना कहने के बाद उसने मेरे होंठ से अपने होंठ लगाया और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरे सूट के अन्दर हाँथ डाल कर मेरे दूध को ब्रा के ऊपर से ही मसलने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | उसके बाद उसने मेरे सूट और ब्रा दोनों को ऊपर किया और मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगी | उसके बाद उसने अपने पेंट को उतारा और चड्डी भी और अपना लंड बाहर निकाल लिया | मैं इशारा समझ गई और उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो वो भी आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करने लगा | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी तो वो आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | जब मैंने उसके लंड को अच्छे से चूस लिया था तब उसने मेरी सलवार को नीचे किया और पेंटी को भी और अपनी चूत से मेरी जीभ को चाटने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | चूत चाटने के बाद उसने मुझे झुकाया और मेरी चूत में लंड डाल कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढाया और जोर जोर से शॉट लगाते हुय्हे चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊउंह ऊमंह आहाआ ऊम्मंह उयूंह आहाआअ ऊउम्मंह ऊउंह ऊम्नंह आह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे कर के चुदवाने लगी | करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना माल मेरे कहने पर चूत में ही छोड़ दिया | फिर हम दोनों ने अपने आप को ठीक किया और फिर उसने मुझे मेरे घर तक छोड़ दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर पसंद आई होगी |


error: