अपनी बहन को दोस्त से चुदवाया भाग २


Apni Behan Ko Dost Se Chudwaya Part 2 : अब में चुपचाप से अपनी बहन की चुदाई देख रहा था, नील ने सेक्स की टेबलेट ली थी तो इसलिए उसे ज्यादा टाईम लग रहा था। फिर  20 मिनट तक नील ने शिल्पा को अच्छे से चोदा और अब मेरा रूम मेरी बहन की चुदाई से गूँज उठा था। फिर झटके लगने के बाद नील ढीला हो गया और मेरी बहन से चिपका रहा। फिर मैंने दुबारा मुठ मारना शुरू किया, अब 30 मिनट की चुदाई के बाद भी मेरी बहन की चूत से खून नहीं निकला था, वो शायद पहले भी कई बार किसी और से चुद चुकी थी। अब सब हो जाने के बाद नील जाने लगा तो शिल्पा ने अपने कपड़े पहने और मेरे रूम से बाहर चली गयी। फिर में भी रूम से बाहर निकल गया और फिर में और नील साथ-साथ मेरे घर वापस आए। अब में अंदर पानी लेने गया तो मैंने देखा कि अब मेरी बहन मेरे दोस्त से चुदकर बहुत खुश दिख रही थी और वो मुझे मूर्ख समझ रही थी।

फिर में और नील रूम में बैठे और नील ने मुझे बताया कि मेरी बहन पहले से ही किसी से सील तुड़वा चुकी थी। फिर मैंने भी कहा कि हाँ मैंने भी देखा कि शिल्पा को इतना चोदने के बाद भी उसकी चूत से खून की एक बूँद भी नहीं निकली और उस दिन से मुझे अपनी बहन को चोदने का बहुत मन होने लगा था। फिर उसी शाम मैंने एक कंडोम लिया और शिल्पा से कहा कि ये मेरे रूम में कहाँ से आया? सच बताना में किसी को कुछ नहीं बताऊंगा। शिल्पा ने पहले तो कुछ नहीं बताया, लेकिन मेरे बहुत ज़ोर देने के बाद उसने बताया कि नील ने उसके साथ कुछ किया था। फिर मैंने उससे कहा कि मुझे भी एक बार करने दो ना तो शिल्पा ने पहले तो मना कर दिया कि ऐसा नहीं हो सकता है। फिर मैंने कहा कि क्यों नहीं हो सकता? आजकल सब चलता है, तू टेंशन मत ले में किसी से कुछ नहीं कहूँगा, तुझे जिससे मिलना हो तू मिलती रहना और में तेरी मदद कर दिया करूँगा ओके।

फिर शिल्पा बोली कि सोचकर बताउंगी और यह कहकर चली गयी, लेकिन मुझे लगता था कि मेरी बहन मुझे अपनी चूत ज़रूर देगी चाहे कुछ दिन के बाद दे, लेकिन वो मना नहीं करेगी, क्योंकि उसको मालूम था कि भाई को मेरी चुदाई के बारे में पता चल गया है और वो घर में किसी को बता नहीं रहा है। फिर 3-4 दिन के बाद शाम को में हॉल में बैठकर एक टी.वी. सीरियल देख रहा था तो  उसी टाईम शिल्पा मेरे पास आई और मुझसे कहा कि इधर आओं तो में उठकर अपने रूम में आ गया। फिर शिल्पा ने मुझसे कहा कि तुम कल कह रहे थे कि तुम्हें करना है तो कर लो, क्योंकि नील तो करेगा ही। अब ये सुनकर में बहुत खुश हो गया, अब मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि मेरी बहन मुझसे चुदने के लिए तैयार हो गयी है। फिर मैंने उससे कहा कि नील को मेरे रूम में ही बुलाना, तू कहीं भी बाहर मत जाना, बाहर बहुत रिस्क रहता है किसी ने देख लिया तो क्या होगा? और घर में किसी को क्या पता? फिर वो बोली हाँ ठीक है और मैंने रूम लॉक कर लिया।

loading...

फिर मैंने बेड से रज़ाई हटा दी और सोफे पर रख दी, अब वो समझ गयी थी कि अब में उसे चोदने वाला हूँ। फिर सबसे पहले मैंने उसको अपनी बाँहों में ले लिया, जब में बहुत सॉफ्ट महसूस कर रहा था।  फिर थोड़ी देर तक मैंने शिल्पा को अपने बदन से चिपकाए रखा और उसकी गांड को अपने हाथ से सहलाता रहा। फिर उसने लाईट ऑफ कर दी। फिर मैंने उससे कहा कि लाईट ऑफ क्यों कर दी? तो वो बोली कि आज ऑफ रहने दो, फिर कभी ऑन कर लेना। फिर मैंने उसको बेड पर लेटाया और उसके ऊपर चढ़ गया। फिर में अपना मोबाईल ऑन करके उसके सलवार का नाड़ा खोलने लगा तो शिल्पा बोली कि इसे ऑफ करो। फिर मैंने कहा कि फिर कैसे खोलूँगा? मुझे कुछ दिख ही नहीं रहा है तो फिर वो चुप रही और मैंने उसका नाड़ा खोला फिर और सलवार उतारी। अब मुझे मोबाईल की लाईट में शिल्पा का बदन साफ़ दिख रहा था।

फिर उसने अपनी कुर्ती खुद ने निकाली। अब शिल्पा सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी, वो क्या हसीन लग रही थी? अब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी और उसकी चूत पर अपना हाथ रख दिया। अब उसकी चूत पूरी भीग चुकी थी और मेरी उंगलियां भी भीग गयी थी। फिर उसने मुझे अपने ऊपर खींचा तो मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया और उसके बूब्स दबाने लगा। फिर मेरी बहन ने मेरी हथेलियों से अपने बूब्स तेज़-तेज मसले तो में समझ गया कि अब मेरी जान को मज़ा आने लगा है। फिर मैंने ज़ोर-ज़ोर से अपनी बहन के बूब्स दबाए और अपने मुँह में बूब्स का निप्पल भर लिया। फिर मैंने एक साईड का बूब्स चूसा और दूसरी तरफ का दबाया और बहुत देर तक ऐसा किया। फिर मैंने नीचे जाकर उसकी चूत पर जीभ रख दी तो मेरी बहन की आवाज़ निकलने लगी, आआआअईई आह्ह्ह्हह्ह।

फिर मैंने उसकी चूत के होंठो के बीच में जगह बनाई और अपनी एक उंगली अंदर घुसाकर आगे पीछे करने लगा। अब मेरी बहन की हालत खराब हो चुकी थी और मेरी भी हालत ख़राब हो चुकी थी। फिर मैंने अपनी जीभ अपनी बहन की चूत में डाल दी और ज़ोर-ज़ोर से चाटने लगा। मेरी बहन मचल उठी। अब  मुझे तो जन्नत मिल गयी थी, अब मुझसे फिर रहा नहीं गया तो मैंने जल्दी से अपने लंड पर कंडोम चढ़ाया और शिल्पा की गांड के नीचे एक तकिया लगाकर, उसकी चूत में ऑयल लगाकर अपना लंड रख दिया, अब शिल्पा सिसकारियाँ भरने लगी थी। फिर मैंने पहले धीरे-धीरे अपने लंड का सुपाड़ा अपनी बहन की चूत में घुसाया। जैसे ही मेरे लंड का सुपाड़ा अंदर गया तो मैंने झटके से पूरा लंड चूत में अंदर घुसा दिया। फिर मैंने अपने लंड को ज़ोर-ज़ोर से आगे पीछे करना शुरू किया। अब उसकी आवाजें आने लगी आहह अया आआ ईईईई आईईई आईईई। अब उसकी आवाज़ से मेरा लंड और भी टाईट हो गया था और में अपनी बहन को लगातार चोद रहा था। अब उस टाईम ऐसा लग रहा था कि अगर मेरी बहन मेरी पत्नी होती तो कितना मज़ा आता।

फिर मैंने अपनी बहन को 30 मिनट तक चोदा और  एक बार फिर मेरा रूम मेरी बहन की चुदाई से गूँज उठा। फिर मेरा माल गिर गया और अब वो भी थक चुकी थी। फिर हम दोनों भाई बहन 5 मिनट तक एक दूसरे से चिपके रहे। फिर मैंने उससे कल फिर चोदने का वादा लिया और नील से भी चुदवाने को कहा, लेकिन मेरे रूम में ही। अब मेरी बहन मुझसे रोज ही चुदवाने लगी थी ।।

धन्यवाद …