अपने बॉस के साथ पहली चुदाई के मज़े लिए


office sex kahani हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होंगे | आप सभी लोग चुदाई का मज़ा तो ले ही रहे होगे | मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोग चुदाई का पूरा मज़ा ले ही रहे होगे | मैं आप लोगो को अपने बारे मैं बता देती हूँ | मेरा नाम रीमा है | मेरी उम्र 24 साल है | मैं रहने वाली मुम्बई की हूँ और मेरी पढाई पूरी हो चुकी है | मैं दिखने में ज्यादा गोरी तो नही हूँ पर मेरा फिगर सेक्सी है | मैं आप लोगो को अपने फिगर का साइज़ नही बताउंगी पर इतना बता देती हूँ की मेरे बूब्स काफी बड़े हैं और मेरी गांड बड़ी चौड़ी है | मेरे घर मैं 3 लोग रहते हैं मैं और मेरे पापा मेरी मम्मी | मेरा कोई भाई नही है और मैं अपने मम्मी और पापा की लाडली बेटी हूँ | मुझे सेक्सी कहानी पढना बहुत पसंद है और मैं सेक्सी कहानी बहुत अरसे से पढ़ती आ रही हूँ | मैं आज आप लोगो के सामने अपनी एक कहानी लेके आई हूँ | ये मेरी पहली कहानी है तो आप सभी लोगो से आशा करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयगी और मेरी इस कहानी को पढने में आप लोगो को मज़ा भी आयेगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |
ये कहानी कुछ दिन पहले की है जब मेरी पढाई पूरी हो गयी थी | मैं उस टाइम जॉब ढूंढ रही थी | मैं कुछ दिन बाद एक कम्पनी में इंटरव्यू के लिए गयी थी और जब मैं वहां इंटरव्यू के लिए पहुची तो वहां पर मेरी तरह ही बहुत लोग थे | मैं बैठ कर इंतजार करने लगी और बहुत देर बाद मुझे बुलाया गया तो मैं इंटरव्यू देने के लिए गयी | फिर मुझसे वहां पर बहुत सवाल पूछे गए पर मैंने सब सवालो के जवाब दे दिए | फिर मुझे वो बोला की 2 लाख रूपये देने पड़ेंगे तो मुझे उस पर बहुत घुस्सा आया पर मैं भी क्या कर सकती थी | मैं वहां से चली आई और मैंने फिर एक कम्पनी में अप्लाई किया | मैं वहां भी गयी और वहां भी मुझे नोकरी नही मिली तो मैं निरास होकर घर चली इस तरह से मैंने बहुत सारी जगह जॉब के लिए अप्लाई करती रही और एक दिन की बात है जब मुझे एक कम्पनी में जॉब मिल गयी | जब मुझे उस कम्पनी में जॉब मिल गयी तो मैं उस कम्पनी में जॉब करने के लिए तैयार हो गयी पर उस कम्पनी में जॉब छोटी पोस्ट पर थी जिसकी वजह से सेलरी भी कम थी | तब मैंने सोचा की बड़ी मुस्किल से जॉब मिली है तो छोटी पोस्ट पर ही काम कर लेती हूँ और मैं उसके दुसरे दिन से ही जॉब करने जाने लगी | मैं जब जॉब करने जाने लगी तो मुझे अपने बॉस के केबिन में काम करना पड़ता था और वो मुझे लाइन मारा करते थे | मैं समझ गयी थी की ये मेरे हुस्न के जाल में फंस गया है | मैं भी अपने बॉस को पसंद करती थी और उनके साथ सेक्सी का मज़ा लेना चाहती थी क्यूंकि मुझे भी चुदाई कराने में मज़ा आता था | मैं अभी तक किसी के साथ चुदाई का मज़ा नही लिया था | मैं भी अपने बॉस को लाइन मारती और वो मुझसे मज़े लेते थे |

एक दिन की बात है जब मैं बॉस के साथ उनके केबिन में थी और वो मुझे घुर घुर कर देख रहे थे | मैं भी मौके का फायदा उठाते हुए बोली सर इतना घुर घुर कर क्या देख रहे हो |
बॉस – यार तुम आज मुझे बहुत सेक्सी लग रही हो ?
मैं – सच में सर ?
बॉस – हाँ रीमा और मैं तुम्हे बहुत पसंद करता हूँ | तुम ?
मैं भी सर की हाँ में हाँ मिलती रही और वो मुझसे बात करते रहे | उस दिन के बाद वो मुझे कभी कभी अपने साथ घुमाने भी ले जाते थे और मैं उनके साथ जाती थी | मैं उस दिन का इंतजार कर रही थी जिस दिन वो मुझसे सेक्स करने के लिए कहे और मैं उनके साथ चुदाई के मज़े लूँ | दोस्तों उसके कुछ दिन बाद की बात है जब मैं उनके साथ उनके केबिन में थी तो वो मेरे बड़े बड़े बूब्स को देख रहे थे | मैं उनको अपने बूब्स देखते देखकर अपनी टी शर्ट को थोडा नीचे कर दिया जिससे मेरे बूब्स साफ दिखने लगे | वो मेरे बूब्स को कुछ देर तक घुर घुर कर देखते रहे और मैं उनको बड़ी ही सेक्सी नज़रो से देखती रही | फिर वो मेरे पास आकर बैठ गए और मैं उनके अन्दर सेक्स की आग को लगाने लगी जिससे वो कुछ ही देर में मुझे कस के पकड लिया और वहीँ पड़े सोफे पर गिरा कर मेरी होठो को अपनी होठो को रख कर किस करने लगे | वो मेरी होठो को अपने मुंह में रख कर चूसने लगे और मैं उनकी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरी होठो को चूसने के साथ मेरे बूब्स को कपडे के अन्दर हाथ को डाल कर दबाने लगे जिससे में कुछ ही देर में गर्म हो गयी | दोस्तों मेरी चूत गीली हो चुकी थी और मैं अपनी चूत में लंड को लेकर चुदने के लिए तरसने लगी थी | फिर मेरे बॉस ने अपने आप पर कंट्रोल किया और मुझसे बोलो की ये मेरा ऑफिस है | वो ये कहकर मना कर दिया | दोस्तों में उस टाइम इतनी गर्म थी की मुझे ऑफिस और घर नही दिख रहा था |

फिर मैं उस टाइम अपने आप पर कंट्रोल किया और जब मेरे ऑफिस में छोट्टी हो गयी तो वो मुझे अपने साथ एक होटल में ले गए | मैं उनके साथ होटल में गयी और मैं समझ गयी थी की वो आज मेरी चुदाई की इच्छा को पूरी कर देंगे | जब वो मुझे होटल के कमरे में ले गए तो मेरी कमर में हाथ को डाल कर मुझे अपनी और खीच लिया | वो मुझे अपनी और खीचने के बाद मेरी होठो पर एक छोटी सी किस करके मुझे बेड पर लेटा दिया और मुझे चूमने लगे | वो मुझे ऐसे ही कुछ देर तक चूमने के बाद मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर मेरी होठो को चूसने लगे साथ में मेरे बूब्स को कपड़े के ऊपर से दबाने लगे | मैं भी उनकी होठो को चूसने लगी | वो मेरी होठो को अपने मुंह में रख कर चूस रहे थे और साथ में मेरे बूब्स को दबा रहे थे | वो मुझे कुछ देर तक ऐसे ही किस करते रहे | फिर किस करने के बाद उसने मेरे कपडे निकाल दिए जिससे मैं उनके सामने ब्रा और पेंटी में आ गयी | वो मेरे बूब्स को ब्रा के ऊपर से दबाते हुए मेरी ब्रा भी खोल दिया | फिर मेरे एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगे और दुसरे को हाथ में पकड कर मसलने लगे तो मेरे मुंह से सिसकियाँ निकल गयी | वो मेरे एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहे थे और दुसरे को हाथ से दबा रहे थे | मैं मज़ा लेती हुई उनके सर को अपने बूब्स पर दबा रही थी | वो कुछ देर तक दबाने के बाद मेरे पहले वाले दूध को छोड़कर मेरे दुसरे दूध को मुंह में रख कर चूसने लगे और पहले वाले को हाथ में पकड कर दबाने लगे | वो कुछ देर तक ऐसे ही मेरे बूब्स को एक – एक करके चूसते रहे |

loading...

फिर वो मेरी पेंटी को निकाल कर मेरी चूत में अपने मुंह को घुसा कर चाटने लगे तो मेरे मुंह से तेज सांसे निकलने लगी | वो मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चाटने लगे | मैं अपने बूब्स को मसलती हुई अह अह हाँ हाँ उई उई…. सी हाँ सी उई हाँ सी उई… की आवाजे निकलने लगी | वो मेरी ये आवाजे सुनकर और जोश में आ गए | वो मेरी चूत में अपनी जीभ को अन्दर बाहर करने के साथ में अपनी ऊँगली को भी घुसा दिया जिससे मेरे मुंह से सेक्सी आवाजे निकल गयी | वो मेरी चूत में जोर जोर से अपनी ऊँगली को अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चोदने लगे | मैं मज़े लेती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | वो ऐसे ही कुछ देर तक मेरी चूत में अपनी ऊँगली को अन्दर बाहर करता रहा और फिर अपने कपडे को निकाल कर अपने लंड को मेरे हाथ में पकड़ा दिया | मैं उनके लंड को हिलाती हुई अपने मुंह में रख कर चूसने लगी तो उनके मुंह से सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसके लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करती हुई चूस रही थी | वो मेरे सर को पकड कर मेरे मुंह में धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | वो कुछ देर तक ऐसे ही मेरे मुंह में अन्दर बाहर करते रहे | वो मेरे मुंह से अपने लंड को निकाल कर मेरी टांगो को थोडा सा फैला कर मेरी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख कर मेरी चूत में अपने लंड को धीरे से धुसा दिया तो मेरे मुंह से हं हं हं हं… उई हं उई सी सी उई ह ह ह हाँ…….. की सेक्सी आवाजे निकल गयी | वो मेरी चूत में अपने लंड को धीरे धीरे धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोदने लगा | मैं मस्त होकर चुदाई का मज़ा लेती हुई चुदने लगी | वो मेरी चूत में धक्को की स्पीड तेज करके अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोदने लगा | मैं अपने बूब्स को मसलती हुई उफ्फ्फ ह्ह्ह्ह फफफफ ह्ह्ह्ह ऊह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उफ़ करने लगी | फिर उसने मेरी चूत में धक्को की स्पीड और तेज करके अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोदने लगा तो मेरे मुंह से जोर से अह्ह्ह उह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह की सिसकियाँ निकलने लगी | वो मेरी कमर को पकड़ कर जोरदार धक्को के साथ मेरी चूत में अन्दर बाहर करते हुए मुझे चोद रहे जिससे मेरी चूत का पानी निकल गया और मैं झड़ गयी | मेरे झड़ने के कुछ देर बाद वो भी झड गए | उस चुदाई के बाद वो मुझे अक्सर चोदते थे और मेरी सेलरी भी बढ़ा दी |
मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी और मेरी कहानी पढने में आप लोगो को मज़ा भी आया होगा | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |