अगर मुझे लंड का साथ मिल जाता


desi porn kahani, hindi sex stories

दोस्तों मैं बेंगलुरु का रहने वाला  युवक हूं। मैं अपनी जिंदगी बहुत अच्छे से जीना पसंद करता हूं। मैं ज्यादा टेंशन नहीं लेता बस मेरी जिंदगी में इंजॉय को ही करता रहता हूं। मैं कभी भी कहीं भी निकल जाता हूं। जब मेरा मन करता है घूमने का जब भी मुझे मेरे दोस्तों से मिलना हो तो उनके पास पहुंच जाता हूं। सब लोग मुझसे ही पूछते रहते हैं कि तुम इतना खुश कैसे रहते हो। मैं बोलता हूं बस जीवन में मैं खुश रहना ही जानता हूं बाकी मुझे कोई टेंशन है नहीं पैसे से लेकर भी क्यों मेरे पिताजी ने हमारे लिए काफी कुछ किया है। मैंने भी जितनी मेहनत करनी थी कर ही ली है। मैंने भी अपने पिताजी के काम को आगे बढ़ाने में बहुत मेहनत की है। वह इस मुकाम पर आ गया है कि मैं अब अपनी लाइफ में सिर्फ जीना चाहता हूं। अपनी हर ख्वाहिश को पूरा करना चाहता हूं इसलिए मैं सब कुछ करता हूं। मैं रोज पार्टी करता हूं रोज नई नई लड़कियां लाता हूं और उन्हें चोदता हू।

मैंने अभी तक शादी नहीं की है। वैसे तो मेरी उम्र 40 बरस की हो चुकी है पर मैंने अभी तक शादी नहीं की क्योंकि मुझे शादी के लिया अभी तक कोई अच्छी लड़की मिली भी नहीं है और ना ही मेरा मन भी हुआ शादी करने का इसी वजह से ना तो मैंने शादी की क्योंकि मैं नहीं चाहता। मेरी लाइफ में किसी भी तरह से कोई पाबंदी लगाए। मैं अपने लाइफ को अपने हिसाब से जीना चाहता हूं। इस वजह से मैं ना तो अभी तक शादी कर पाया और ना ही मुझे कोई ऐसी लड़की मिली जो मेरे हिसाब से मेरे साथ चल पाए। मेरी मां हमेशा कहती रहती है शादी कर ले लेकिन मैंने अभी तक शादी नहीं की और मेरा बड़ा भाई भी हमेशा मुझे यही समझाता है। तुम्हें कभी तकलीफ ना हो मैं उन्हें कहता हूं कि मुझे अब भाषणबाजी मत दिया करो। मुझे अपने हिसाब से जीने दो जैसा मैं चाहता हूं। मैं उसी तरीके से अपनी लाइफ को जीऊंगा आप लोग कोई होता नहीं है मुझे बोलने वाले और ना ही रोकने वाले इसलिए उन्होंने मुझे बोलना छोड़ दिया है। ना ही वह मुझे परेशान करते हैं इस बारे में ना तो वह मुझे पूछते हैं तू कहां है क्योंकि मैं घर भी कम ही जाता हूं।

loading...

मैं ज्यादातर अपने दोस्तों के साथ पार्टी में ही व्यस्त रहता हूं। एक बार हम लोगों ने एक बड़ी पार्टी करवाई। जिसमें मेरे सारे दोस्तों ने बहुत इंजॉय किया। उस पार्टी में सब लोग काफी खुश थे मेरे साथ के जितने भी लोग हैं। लगभग सब की शादी हो चुकी है चाहे वह लड़के हो या लड़कियां हो सिर्फ मेरी शादी नहीं हो पाई है अभी तक मेरे दोस्त मुझसे इस बारे में बात करते हैं। मैं समझा देता हूं कि मुझे शादी नहीं करनी है। मुझे अकेला ही रहना है। इसलिए वह मुझे इस बारे में नहीं पूछेते ज्यादा अच्छा रहेगा। तो वह भी मुझे इस बारे में नहीं पूछते हैं। लेकिन वह मुझे छेड़ते रहते हैं।

मेरी कॉलेज टाइम में एक पुरानी गर्लफ्रेंड हुआ करती थी। जिसके पीछे में काफी पागल था। अगर मेरी शादी हो जाती तो शायद अभी तक मैं दो बच्चों का बाप होता और एक शादीशुदा इंसान भी लेकिन ना तो मेरी शादी हो पाई और ना ही मेरी कुछ आगे बात बढ़ी। मेरे दोस्त मुझे बहुत चिढ़ाते हैं वह कहते हैं कैसे तू उस लड़की के पीछे पागल था। उसका आगे पीछे ही घूमता रहता था लेकिन वह तुझे कभी भाव तक नहीं डालती। उन्होंने मुझे कॉलेज का ही एक और किस्सा याद दिलाया। जब हम लोग हॉस्टल में एक कॉल गर्ल को लेकर आए थे। हम 5 दोस्तों ने मिलकर उसके साथ संबंध बनाया था और उसको अच्छे से चोदा था। यह सब याद करके हम लोग पुराने दिन की बातें करने लगे। हमारे सारे दोस्त खुश हो रहे थे। जिस कॉलगर्ल को हमने बुलाया था। उसके साथ हमें कॉलेज के प्रोफेसर ने पकड़ लिया था। जिसके बाद हमें कॉलेज से सस्पेंड भी कर दिया गया था। लेकिन हम लोग बहुत खुश थे क्योंकि उसके साथ हमें करने में काफी मजा आया था। बस ऐसे ही हम लोग अपनी कुछ पुरानी यादें ताजा कर रहे थे। अब काफी रात हो चुकी थी 12:00 से ऊपर का समय हो चुका था। हमने पार्टी खत्म की और हम लोग अपने-अपने घर के लिए निकल पड़े।

मैं भी रास्ते में जा रहा था। तो मुझे एक लड़की रास्ते में खड़ी दिखाई दी। जिसकी गाड़ी खराब थी। उसने मुझे हाथ दिया। पहले तो मैंने सोचा छोड़ो रहने दो क्या रोकना लेकिन बाद में मैंने गाड़ी रोकी ली। मैंने उस लड़की से पूछा क्या प्रॉब्लम हो गई है। उसने मुझे कहा कि मेरी गाड़ी खराब हो गई है और अभी मुझे कुछ कन्वेंस भी नहीं मिल रहा है जाने का तो क्या आप मुझे ड्रॉप कर देंगे।

मैंने उस लड़कियों कहा ठीक है। आप बैठ जाइए मेरी कार में मैंने उसे अपनी कार में बैठा लिया और हम लोग चलने लगे। वह लड़की मुझे देखकर कहने लगी कुछ देर में उसने मुझे पूछ लिया क्या आप ने शराब पी है। मैंने उससे कहा हां मैंने शराब पी रखी है। लेकिन आप मुझसे डरिए मत अब मैंने उस लड़की का नाम पूछा उस लड़की का नाम सोनिया बताया। मैंने उस लड़की से पूछा आप क्या करती हैं। तो उसने बताया मैं मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करती हूं। जॉब के सिलसिले में ही मैं वापस आ रही थी तो रास्ते में मेरी कार खराब हो गई। ऐसा करते-करते हम लोगों की काफी अच्छे से बातें होने लगी। उसने मुझसे पूछ लिया क्या आपने शादी नहीं की तो मैंने उसे सब कुछ बात बताई। मैंने शादी नहीं की है क्योंकि मैं अपनी लाइफ को जीना चाहता हूं और मैं अपनी लाइफ में एंजॉय करना चाहता हूं। इस वजह से मैंने अभी तक शादी नहीं की है क्योंकि मैं किसी का बोझ नहीं उठा सकता हूं। वह लड़की मुझे कहने लगी तुम्हारे ख्यालात भी मेरे जैसे हैं। मैंने भी अभी तक शादी नहीं की है। मैं भी अपनी लाइफ को सिर्फ इंजॉय करना चाहती हूं अपनी लाइफ जीना चाहती हूं। इसी वजह से मैं अपने घर से बाहर हूं। अब मैं समझ चुका था कि मैं उसके साथ आज सेक्स करता हूं। मैंने उसकी टांगों पर हाथ रख दिए क्योंकि उसने छोटी सी की स्कर्ट पहनी हुई थी। उसने मुझे कुछ नहीं कहा और मैं उसकी टांगों को दबाने लगा जैसे ही मैं दबाता जाता वह खुश हो रही थी। मैंने धीरे-धीरे उसकी स्कर्ट को उठाते हुए उसकी पैंटी मे से योनि में उंगली डाल दी और अंदर बाहर करने लगा। जैसे जैसे मे करता उसे काफी मजा आ रहा था। वह अपने मुंह से आवाज निकाल रही थी। वह कुछ देर बाद झड गई। उस लड़की का गिला पदार्थ मेरे हाथ में गिर गया। मेरा हाथ पूरा गीला हो चुका था।

मैंने गाड़ी को ब्रेक लगाया और गाड़ी को साइड लगा कर रोक लिया। मैंने कहा मुझे तुम्हारी गांड मारनी है। वह कहने लगी ठीक है मैंने अपनी गाड़ी का दरवाजा खोलते हुए उसे घोड़ी बना लिया। मैंने अपने जीभ से उसकी गांड को चाटा और गीला कर दिया। मैंने अपना लंब बाहर निकाला और उसकी गांड में धक्का मारने लगा। जैसे मैं उसकी गांड के छेद में धक्का मारता तो मेरा लंड अंदर नहीं जा रहा था। क्योंकि उसकी गांड बहुत टाइट थी। मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए उसे थूक से गीला किया। मैंने उसकी मुलायम गांड में अपना लंड टच करते हुए धीरे से अंदर डालने की कोशिश की मेरे लंड उसकी गांड में जा चुका था और वह चिल्ला रही थी। फिर मैंने थोड़ा और तेज झटका लगाया और पूरा का पूरा लंड अंदर घुसा दिया। जैसे ही मैंने अपना लंड पूरा अंदर घुसाया तो वह चिल्लाने लगी उसकी बड़ी-बड़ी गांड देखकर मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। उसकी गांड मेरे लंड से टकराती मुझे बहुत ही अच्छा सा लग रहा था। कुछ समय बाद 200 झटको के बाद मेरा माल गिरने वाला था। मैंने अपने वीर्य को उसके चूतड़ों पर गिरा दिया। उसने अपनी पैंटी निकाली और मुझे कहा  अपने माल को साफ कर दो मैंने उसकी पैंटी से उसके चूतड़ों को साफ किया। जैसे-जैसे मैं अपने माल को साफ कर रहा था। उसकी चूतड़ और चमकदार लगने लगी थी। जिसे मुझे देखकर काफी अच्छा लग रहा था। उसके बाद मैंने उस लड़की को उसके घर पर ड्रॉप किया और उसका नंबर ले लिया। जब भी मेरा मन होता था तो मैं उसे बुला लेता था क्योंकि वह भी एक जुगाड़ किस्म की लड़की है। वह मेरे पास अपनी गांड मरवाने आ जाती है। जब भी मैं उसे बुलाता हूं।