आ रात भर चोदे जमकर


hindi sex kahani, desi porn stories

नमस्कार दोस्तों, कैसे है आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और मस्त चुदाई कर रहे होंगे | मेरा नाम सीमा है और मैं केरल की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मैं दिखने में सांवली हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच है और मेरा बदन सेक्सी और सुडोल है | दोस्तों मैं इस चुदाई की कहानी की बहुत बड़ी दीवानी हूँ और मुझे चुदाई की कहानी पढ़ कर मुझे बहुत सुकून मिलता है | इसलिए मैं रोज ही चुदाई की कहानी पढ़ती हूँ और कभी कभी तो अपनी दोस्तों को इस बारे में बता भी देती हूँ | पर दोस्तों आज जो मैं आप सभी के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की कुछ सच्ची घटना में से एक है | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी पढ़ते समय बहुत उत्साह होगा और आप लोगो को उत्तेजना की अनुभूति होगी | तो अब मैं आप सभी का ज्यादा समय नहीं लेते हुए अपनी कहानी लिखना शुरू करती हूँ |

ये घटना दो महीने पहले की है | मेरे घर में मैं, और मम्मी पापा बस रहे हैं | मेरी एक बड़ी बहन थी जिसकी शादी हो चुकी है और मुंबई में रहती है | मैं शुरू से ही चुदासी रही हूँ और मुझे चुदाई की लालसा तब से है जब से मैंने पहली ब्लू फिल्म देखि थी और वो भी अपनी एक दोस्त की जिसका नाम धन्या था | वो लड़की बहुत चुदक्कड़ थी और न जाने कितने लंड अपनी चूत में ले चुकी होगी अब तक | वो मुझसे खुद कहती थी कि अगर मुझे मौका मिले तो मैंने बीच रोड में अपनी चूत खोल कर बैठ जाऊं और कहूँ कि मार लो मेरी चूत जिसको चोदना है | उसकी अश्लील बाते सुन सुन कर मैं भी चुदक्कड़ बन गई और मैंने सबसे पहला लंड अपने बॉयफ्रेंड रमेश का लिया था | उसका लंड ज्यादा बड़ा तो नहीं था लेकिन मुझे मजा आया था क्यूंकि मेरी चूत भी ज्यादा खुली नहीं थी और मुझे कोई बड़ा लंड कभी मिला नहीं था | स्कूल खत्म होने के बाद मैं और मेरी दोस्त ने कॉलेज में साथ ही में एडमिशन लिया था | हम दोनों वहां नए नए लौंडो को ताड़ते रहते थे और जिससे जो लड़का पट जाता था वो उससे चुदवा लिया करते | हम दोनों के लिए चुदाई एक भूख बन चुकी  थी | जैसे अगर खाना न मिले तो खाना चाहिए रहता है भूख में | वैसे ही हालत हम दोनों की चूत की हो चुकी थी | अगर हम दोनों की चूत को लंड न मिले तो किसी भी हाल में लंड चाहिए ही होता है | ऐसा ही करते करते हम दोनो ने अपनी कॉलेज लाइफ खत्म कर दिए | उसके बाद उसकी दो साल में ही शादी हो गई और मेरी शादी नहीं हो पाई क्यूंकि मैं जॉब करती हूँ और मुझे अभी शादी नहीं करना था | मुझे बिना शादी के ही लंड मिल जाते है तो इसके लिए शादी करने की क्या जरुरत है | मेरी इसी सोच के कारण मैं एक बहुत बड़ी कंपनी में मेनेजर हूँ और मैं हर महीने 50000 कमाती हूँ | मेरे घर वालो को भी मेरे ऊपर बहुत गरूर है कि मेरी बेटी लड़को से अच्छा ख़ासा कमाती है |

एक दिन की बात है जो हमारी कंपनी के बॉस हैं उन्होंने मुझसे कहा कि हमारे यहाँ पर बाहर से एक बहुत अहम् व्यक्ति आ रहे हैं तो तुम उनका ख़ास ख्याल रखना \ अगर वो हमसे खुश हो गए तो मैं तुम्हारी पगार 20000 रूपए और बढ़ा दूंगा | मैंने भी उनसे कह दिया कि आप चिंता न करे | मैं सब कुछ संभाल लूंगी | उसके बाद जब सर के महमान आये और मेरे उन्होंने मेरी उनसे पहचान बढ़ाई और कहा कि ये हमारी कंपनी की जान है | फिर उसी रात में उनके कमरे में गई और उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और यहाँ वहां चूमने लगा | मैं उसका कोई विरोध नहीं कर रही थी इसलिए उसकी हिम्मत और ज्यादा बढ़ गई | अब उसने अपने होंठ को मेरे होंठ में लगा दिया और मेरे होंठ को चूसने लगा तो मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे मम्मों को भी मसल रहा था और मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके लंड को जीन्स के ऊपर से ही महसूस कर रही थी | उसके बाद उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे मम्मों को मसलने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी |

थोड़ी देर के बाद उसने मेरे ब्रा को भी उतार दिया और मुझे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और उसके बाद उसने मेरे एक मम्मे को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और दूसरे को मसलने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके लंड को ऊपर से ही सहला रही थी | फिर उसने दूसरे को मुंह में ले कर चूसने लगा और पहले को मसलने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए आँखे बंद कर के मजे ले रही थी | उसके बाद उसने उसने दोनों मम्मों को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके सिर पर हाँथ फेरने लगी | उसने मेरे मम्मों को काफी मजे ले कर चूसा | अब मेरा भी फर्ज बनता था कि मैं भी उसके लिए कुछ करूँ तो मैंने उसे बिस्तर बार बैठा दिया और उसकी शर्ट को खोल कर उतार दी | अब मैं एक हाँथ से उसके सीने पे हाँथ फेरने लगी और एक हाँथ से उसके पेंट को उतारने लगी | फिर मैंने उसके लंड को उसका कच्छा फाड़ कर बाहर निकाल ली | उसका लंड करीब साथ इंच लम्बा और तीन इंच मोटा होगा को ले कर अपनी जीभ फेरते हुए चाटने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को सहलाने लगा |

मैं उसके लंड को हर तरफ से चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे मम्मों को मसलने लगा | मैं उसके लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे सिर को अपने लंड पर दबा रहा था | फिर मैंने उसके अन्टोलो को भी मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  करते हुए अपने लंड को मेरे मुंह पर पटक रहा था | मैंने उसके लंड को करीब दस मिनट तक चूसी | फिर उसने मेरे जीन्स को उतार दिया और मेरी पेंटी को भी उतार कर मुझे बिस्तर पर लेटा दिया | फिर उसने मेरी दोनों टांगो को ऊपर कर के मेरी चूत पर अपनी जीभ लगा कर चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे लूटने लगी | वो मेरी चूत को अपनी जीभ से बहुत अच्छे से चाट रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोशी में डूब रही थी | उसके बाद उसने अपने फौलादी लंड को मेरी चूत में टिका दिया और एक ही हल्ले मिएँ पेल दिया और चोदने लगा धक्के मारते हुए और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने मम्मों को मसलने लगी | थोड़ी देर के बाद उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार को बढ़ा दिया और बुलेट ट्रेन के जैसे मेरी चूत को चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा कर चुदाई में साथ देने लगी | उसके बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आ कर लंड को चूत में सेट कर के अन्दर पेल कर चोदने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते उसके लंड को चूत की तह तक ले रही थी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद उसने अपना माल मेरी चूत में ही छोड़ दिया |


error: