देर सवेर आखिर चूत चुद ही गई


sex stories in hindi

नमस्कार पाठको, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और चुदाई के नशे में डूबे होंगे | आप सभी को मेरी और मेरी चूत की ओर से प्यार भरा प्रणाम | मेरा नाम शीतला है और मैं जामनगर की रहने वाले हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं अभी फिलहाल कुछ नहीं करती हूँ | मैं दिखने में भक्क गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है | इतनी हाईट के बाद भी मेरा फिगर सेक्सी है और मेरे दूध मध्यम साइज़ के हैं और मेरी पतली कमर के साथ मेरी चौड़ी गांड भी है | मैं इस साईट की दैनिक पाठक हूँ और मुझे चुदाई की कहानियां पढ़े में काफुई दिलचस्पी है | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की कुछ सच्ची घटना में से एक है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा वक़्त नहीं लूंगी और अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

ये घटना काफी कुछ महीने पहले की है | मेरे घर में मेरे पापा, मम्मी, दादी, और एक मेरी छोटी बहाना हैं | मेरे पापा प्राइवेट जॉब करते हैं और उनकी कोई फिक्स जॉब नहीं हैं क्यूंकि वो एक सेल्समेन हैं और उनके पास काफी एक्सपीरियंस है इसलिए वो एक जॉब छोड़ कर दूसरी जॉब पकड़ लेते हैं | मेरी मम्मी सरकारी जोब करती है | मेरी छोटी बहन अभी स्कूल में पढ़ती है और उसी स्कूल से मैंने भी पढ़ाई की है | स्कूल की पढाई खत्म करने के बाद मैंने डी.एन.जैन कॉलेज में एडमिशन लिया और कॉलेज की पढाई वहीँ से पूरी की | मेरे घर वाले चाहते हैं कि मैं शादी कर लूं लेकिन मैं शादी नहीं करना चाहती बल्कि जॉब करना चाहती हूँ | अगर मैंने शादी कर ली तो मेरे सारे अरमानो पर पानी फिर जायेगा और मैं ये होने नहीं देना चाहती | वो इसलिए क्यूंकि मैं अपने आप को अपने पैरो में खड़ा होना देखना चाहती हूँ और शादी कर के फंसना नहीं चाहती | मेरी एक आदत है कि मैं जब भी खली रहती हूँ तो बस चुदाई के बारे में सोचती रहती हूँ | यही सोच सोच कर मेरी चूत गीली हो जाती है और फिर मुझे अपनी चूत ओ शांत करने के लिए नकली लंड का इस्तेमाल करना पड़ता है | मेरा एक बॉयफ्रेंड है जिसका नाम परमेश है और वो दिखने में बहुत ही हेंडसम और गुड लूकिंग है | जब उसने मुझे पहली बार अपने प्यार का इजहार किया था तब से मैंने उसे अपना दिल दे बैठी | अगर मैं शादी करना चाहती हूँ तो बस परमेश से ही क्यूंकि वो मुझे बहुत प्यार करता है और मेरी केयर भी करता है | अब मैं लंड लूं तो किसी अनजान का या किसी अपने का | अपने के लंड लेने में जो प्यार होता है वो गैरो के लंड में कहाँ और मुझे क्या पता कि मैं जिससे चुद्वाऊ उसका लंड कैसा होगा | जबकि मैंने परमेश का लंड देखा है और उसका लंड बहुत ही सुन्दर है | मैंने भी उसके साथ कई बार सेक्स चैट और वीडियो चैट किया है | बस हमे चुदाई करने के मौका नहीं मिल पता क्यूंकि वो जॉइंट फॅमिली में रहता है और उसका घर कभी खाली नहीं रहता और मुझे अपने घर में चुदवाने में डर लगता था | पर एक दिन मेरे घर के सभी लोग बाहर गए हुए थे और मुझे पता था कि उनको वहां से लौटने में शाम हो जाएगी | इसलिए मैंने परमेश को फोन कर के सब कुछ बता दिया और उसके कहने पर मैंने वही कपड़े पहने हुए थे जो उसे पसंद है |

loading...

मैंने उसे बुला लिया और उस दिन मैं बहुत खुश थी और उसके लिए उस दिन मैंने रेड टॉप और ब्लैक जीन्स पहने हुई  थी | वो मुझे देख कर मेरी खूबसूरती की तारीफ करने लगा | उसकी तारीफे सुन कर मैं बहुत खुश हो गई और उसके फेस पर एक किस कर दिया | जब मैंने उसे किस किया तो उसके गाल पर मेरे लिपस्टिक के दाग बन गए | उसके बाद वो आगे बढ़ा और मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया | मुझे तो ऐसा लगा जैसे मुझे मुझे कोई पनाह मिल गई हो | उसके बाद उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगा तो मैं भी उसका पूरा साथ देते हुए उसको की करने लगी | वो मेरे होंठ के किस करते हुए मेरे मुंह के अन्दर अपनी जीभ डाल कर घुमाने लगा तो मैं भी वैसा ही करने लगी और उसके मुंह में अपनी जीभ डाल कर उसकी जीभ को चाटने लगी | हम दोनों ने लगभग 15 मिनट तक किस किया | उसके बाद मैंने उसकी टी-शर्ट को उतार दिया और उसके सीने के बाल को सहलाने लगी | सहलाने के बाद मैं उसे सीने को चूमने लगी और चूमते हुए अपने घुटनों के बल जमीन पर बैठ गई और उसके बाद मैंने उसके जीन्स के बटन को खोल दिया और जीन्स उतार कर अलग कर दिया | अब वो मेरे सामने बस अंडरवियर में था और मैं अंडरवियर के ऊपर से ही उसके लंड को मसलने लगी तो वो मेरे चेहरे पर हाँथ फेरने लगा | फिर मैंने उसकी अंडरवियर को भी उतार दिया और सांप जैसा काला लंड मेरी आँखों के सामने लटक रहा था | फिर मैंने उसके लंड को अपने हाँथ में लिया और चाट कर गीला करने लगी उसके लंड को तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगा |

मैं उसके लंड को चाट रही थी और दोनों गोलियों को चूस भी रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके लंड को चाटने के बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह में लिया और चूसने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को सँवारने लगा | मैं उसके लंड को बहुत ही अच्छे से चूस रही थी और जीभ उसके लंड के सुपाड़े को चाट रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए लंड चुसाई के मजे ले रहा था | उसके बाद उसने मेरे दोनों कंधो को पकड़ कर उठा लिया और हम फिर से किस करने लगे | फिर उसने मेरे टॉप को निकाल दिया और ब्रा के उपर से ही मेरे मम्मों को मसकने लगा तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे मम्मों को जोर जोर से मसक कर चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | उसके बाद उसने मेरी पेट की नाभि पर जीभ फेरा और मुझे लेटा कर मेरी जीन्स को उतार दिया तो मैंने अपने पैर सिकोड़ लिए | उसके बाद उसने मेरी पेंटी को भी उतार दिया और मेरी चूत का मुख्य द्वार उसके सामने खुल गया |

उसके बाद उसने मेरी चूत पर टंगे चौड़ी कर के चाटने लगा तो नौब आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे दोनों दूध को भी मसल रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए जन्नत की अनुभूति कर रही थी | उसके बाद उसने अपने लंड को मेरी चूत में रगड़ा और फिर अन्दर घुसेड कर चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई का मजा लेने लगी | वो मेरी चूत को जोर जोर से शॉट मारते हुए चोद रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदवा रही थी | मैं उसके लंड को पूरा अपनी चूत में घुसेड रही थी | फिर उसने मुझे कुतिया बना दिया और एक कुत्ते के जैसे मेरे ऊपर चढ़ कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदा रही थी | कुछ देर की चुदाई के बाद उसने अपना माल मेरी गांड के उपर झड़ा दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगी होगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए शुक्रिया |