शिमला में चुदाई


हेल्लो मेरे प्यारे दोस्तों कैसे हो आप लोग | मैं आशा करता हूँ की आप सब मस्ती में होकर सेक्सी कहानिया पढ़ रहे होंगे | दोस्तों मैं आज आप लोगो को आज अपने जीवन पर बीती एक सच्ची चुदाई की घटना बताने जा रहा हूँ | उससे पहले आप लोग थोडा मेरे बारे में जान लीजिये फिर मैं अपनी कहानी को आगे ले चलता हूँ |
दोस्तों मेरा नाम दीपक ठाकुर है | मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ | मेरा एक छोटा परिवार है जिसमे मेरे मम्मी-पापा हैं | पापा मेरे अपनी स्पोर्ट्स की दूकान पर बैठते है और मम्मी एक सीधी-सादी हाउसवाइफ हैं जो ज्यादातर घर पर ही रहती हैं | दोस्तों इस कहानी में मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को शिमला में दारू पिलाके एक होटल में चोदा है | तो चलिए दोस्तों मैं आप लोगो को अपनी ज्यादा बकवास न सुनाते हुए सीधा कहानी की ओर ले चलता हूँ कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को कैसे चोदा |

मेरे सभी प्यारे दोस्तों ये बात उस समय की है जब मैं अपनी पढाई पूरी करके एक बैंक में नौकरी कर रहा था | मैंने एक गर्लफ्रेंड सेट की थी अपने कॉलेज के दिनों में | वो मेरे ही साथ जॉब करती थी | हम दोनों एक ही बैंक में पोस्टेड थे | मैंने जब अपनी गर्लफ्रेंड को पहली बार देखा था तब मैं उसे देखकर हैरान हो गया था | क्या खूबशुर्ती थी उसकी भगवान ने उसे बिलकुल फुर्शत में बनाया था | जब मेरी गर्लफ्रेंड ने मेरे कॉलेज में अपना एडमिशन लिया था तब मैं 12 वीं क्लास में आ गया था | हमारे 11वीं के एग्जाम बस हुये ही थे | मैंने 11वीं में टॉप की थी तो मैं मिठाई का डिब्बा लेके अपनी प्रिंसी मैडम को खिलाने गया था | उस समय एडमिशन चल रहे थे तो मेरी गर्लफ्रेंड अपना एडमिशन लेके अपने पापा के साथ हमारी मैडम के साथ बाते कर रही थी | मैं भी तब तक पहुँच गया और मैंने मैडम को उसके पापा और उसको मिठाई खिलाई | हमारी प्रिंसी मैडम ने मेरी थोड़ी तारीफ उनके सामने कर दी की देखिये भाई साहब ये हैं हमारे स्कूल के छात्र | आप देख सकते हैं रिजल्ट आप के सामने हैं | मेरी छाती उनके सामने चौड़ी हो गयी जब मेरी प्रिंसी मैडम ने मेरी तारीफ़ उनके सामने कर दी | मैं उन सबको मिठाई खिलाके प्रिंसी मैडम के ऑफिस से निकल ही रहा था तभी मैडम ने मुझे उस लड़की को उसकी क्लास दिखाने को बोला की बेटा इसको इसकी क्लास तक पहुंचा देना |
मैं उसे लेके ऑफिस से बाहर चल दिया | मैंने उससे रास्ते में चलते-चलते उसका नाम पता सब पूछ लिया | उसने अपना नाम अंजली बताया | वो इतनी क्यूट और सेक्सी थी की मेरा मन उसपे डोल गया था | मैंने उसको उसकी क्लास तक छोड़ा और अपनी क्लास में बैठ गया | जब इंटरवल हुआ तब तब मैं खाना खाके अपनी क्लास से बाहर आया और ऊसकी क्लास की तरफ उसको देखने के लिए गया | मैं उसकी क्लास में पहुंचा तो देखा की वो चुप-चाप अपनी सीट पर बैठी थी और खाना भी नही लाई थी | उसका पहला दिन था कॉलेज में और पहला दिन तो कॉलेज का आप लोग जानते ही हो | मैं उसके पास गया और उसकी सीट की आगे वाली सीट पर बैठ गया | और उससे बाते करने लगा वो भी मुझसे बाते कर रही थी | मैंने थोड़ी देर तक उससे बाते की फिर मैंने उसी क्लास में बैठी हुयी लडकियो को अपने पास बुलाया और मैंने उसका इंट्रोडक्शन उन सबसे से करवाया और उन सबसे मैंने उसे अपने साथ में रखने को बोला | मैं उन सबका सीनियर था इसीलिए वो लोग मेरी बात मानते हुए उसको अपने पास बैठाल लिया और उसको अपने में से थोडा-थोडा खाना सबने उसको खिलाया | इंटरवल ख़त्म हुआ मैं अपनी क्लास में आ गया | दोस्तों मैं अब उसे पसंद करने लगा था | वो दिन रात अब मेरे सपनो में आने लगी थी | मैंने फैसला कर लिया था की किसी न किसी दिन तो मैं इसे पर्पोस मारूंगा | एक दिन मैं फैसला करके अपने घर से गया की आज मैं इसे पर्पोस मारूंगा | मैं स्कूल आया और उसके बारे में पता किया की वो आयी है की नही | तो मुझे पता चला की वो आयी है और उसका आज बर्थडे भी है | मैं तुरंत उसके पास गया और पहले तो उसको मैंने उसका बर्थडे विश किया और कहा की आज इंटरवल में कैंटीन आना मैं तुम्हे कुछ दूंगा | मैं अपनी क्लास में आया और अगले पीरियड में नीचे गया | मैंने चपरासी को 500 सो का नोट दिया और बोला एक अच्छी से लडकियो वाली घडी पैक करा के ले आना |
इंटरवल हुआ मैं कैंटीन में पहुंचा | मैंने उसके लिए कैंटीन में साड़ी व्यवस्था कर रखी थी | वो कैंटीन आयी मैंने उसके लिए एक छोटा सा केक लिए और उसको काटने के लिए बोला | उसने केक काटा और मूझको खिलाया | मैंने उसे गिफ्ट दिया और वहीँ अपने घुटनों पर बैठकर मैंने उसको पर्पोस मार दिया | वो भी धीर-धीरे मुझे सायद पसंद करने लगी थी उसने मेरा पर्पोस एक्सेप्ट कर लिया था | इस तरह से मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को सेट किया था | हम लोगो ने अपनी पढाई पूरी की और अब एक ही साथ एक ही बैंक में जॉब कर रहे हैं |
हम लोग बहुत खुस थे | जब बैंक में लंच टाइम होता था तब हम लोग एक ही साथ बैठकर खाना खाते थे | और जब छुट्टी होती थी तब मैं कभी-कभी उसके घर पर ड्राप कर दिया करता था | हम लोगो को एक साथ रहते हुए काफी समय हो गया था | बात यहाँ तक पहुँच गयी थी मेरी गर्लफ्रेंड ने अपने पापा से अपनी शादी मुझसे करने की बात कर ली थी | उसके पापा को कोई प्रॉब्लम नही थी मेरे साथ में उसको शादी करने की | हम लोगो के घर वालो ने हम दोनों की रजाबंदी से हम लोगो की सगाई कर दी थी |
हम लोग बहुत खुस थे हमारी लव मैरिज हो रही थी |
हम लोगो को दिवाली की छुटियाँ मिली थी तो मेरी गर्लफ्रेंड नही घूमने का प्लान बनाया था | हम लोगो ने शिमला की ट्रिप बनाई | हम लोगो ने टिकेट बुक कर ली और अगले दिन हम लोग फ्लाइट से शीमला पहुँच गये | वहां हम लोगो ने शिमला खूब टहला और खूब मस्ती की | हम लोगो को टहलते-टहलते शाम हो गयी थी | हम लोग अब अपने होटल लौट रहे थे तभी रास्ते में मेरी गर्लफ्रेंड ने एक क्लब देखा उसने उसमे जाने की जिद कर रही थी | मैं उसे लेके क्लब गया वहां हम लोगो ने थोड़ी-थोड़ी दारू पी और डांस कर रहे थे | थोड़ी देर तक उम लोगो ने डांस किया और फिर वहां से हम लोग अपने होटल को चल दिए | हम लोग अपने कमरे में पहुंचे | मैं बाथरूम में फ्रेस होने को चला गया और जब लौटकर आया तो देखा की मेरी गर्ल अपने सब कपडे उतार कर खाली अंडर गारमेंट्स में लेटी हुयी थी | वो नशे में कुछ ज्यादा ही हो गयी थी | उसका ये हाल देखकर अब मुझे भी उसके प्रति सेक्स वाली फीलिग़ आने लगी थी | मैं बेड पर गया और उसको अपनी बाँहों में लेकर उसकी होंठो को चूसने लगा | वो थोड़ी देर तक बेड पर पड़ी रही फिर वो बेड पर थोडा मचली और मुझसे लिपट गयी | मैंने अपने कपडे उतार दिए थे और उसके भी अंडरगारमेंट्स उतार दिए थे | हम दोनों अब पूरे नंगे हो गये थे | मैं उसके होंठो को चूसते-चूसते उसके बूब्स को अपने हांथो से दबा रहा था | मैंने थोड़ी देर तक उसको चूमा-चाटा था फिर मैं उसकी चूत में अपना मुह डाल कर उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा और वो बेड पर मचलती हुयी अपने मुह से आह आह आह्ह आह्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह आह आह आःह आह्ह आह्ह आ आह आह आह आह्ह आह्ह्ह आह्ह आह्ह अहह आह्ह आह्ह आह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह की सिस्कारिया निकाल रही थी | थोड़ी देर तक उसकी चूत मैंने चाटी और फिर बाद में मैंने उसकी दोनों टांगो को फैला कर अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और बड़े आराम से मैं उसकी चूत में धक्के मार रहा था | और वो भी अपनी चूत को हिलाते हुए अपने मुह से आह्ह आह्हं आन्न्ह्ह आह्ह्ह आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह उन्ह उन्नह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह आह आह आह आह आह आह आह आह अहः आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह की सिस्कारियां निकाल रही थी और जब मैं झड़ने वाला था तब मेरे मुह से भी आह आह आह आह आह आह आह आह आह आह आः आःह्ह आह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह्ह की सिस्कारिया निकल रही थी | मूझे इतना मजा आ रहा था उसकी चूत को चोदने में की मैं उसकी चूत में ही झड गया था और मूझे तब पता चला जब उसके चूत से मेरे लंड का माल निकल रहा था |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी इस तरह से मैंने अपनी गर्लफ्रेंड यानी की मेरी होने वाली बीवी की शिमला में चुदाई की | आशा करता हूँ की आप लोगो को पसंद आएगी |

loading...

6,543 total views, 4 views today