सट्टे ने दिलाई माल की चूत


हैल्लो दोस्तों मेरा नाम प्रवीण है और मैं जबलपुर में रहता हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैं नौकरी करता हूँ | मैं दिखने में अच्छा हूँ और मेरी कद काठी भी अच्छी है | मेरी हाईट 6 फुट 1 इन्च है और मेरे लंड का साइज़ जान कर क्या करोगे गांड मराओगे क्या ? मैं अकेले ही रहता हूँ और बहुत मुंहचोदी करता हूँ | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश कर रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |
ये घटना तब कि है जब मैं कॉलेज में पढता था | उस समय मेरे पास बाइक नही थी तो साइकिल से ही मैं कॉलेज जाता था | कई सरे बच्चे मेरी हंसी उड़ाते थे और हर बात पर मुझे छेड़ते थे | मैं उस समय बहुत चोदु लौंडा था हर कोई मेरी टपरी बाजी करता था | कोई लड़की मुझसे नही पटी और न ही कोई मेरा दोस्त था | मुझे बहुत ख़राब लगता कि सब मेरे साथ इतना बुरा व्यव्हार करते हैं | पर मैं कर भी क्या सकता था | मैं अपनी जिन्दगी से बहुत परेशान हो चुका था और कभी कभी मेरा मन होता कि मैं सुसाइड कर लू | पर मुझे सुसाइड करने में भी डर लगता था | एक दिन की बात है कुछ लड़के बात कर रहे थे कि यार इस नंबर की जोड़ी आने वाली है और ये नंबर सुलतान भाई के पास जा कर लगा दे | कसम से बहुत पैसा मिलेगा | मैं समझ गया कि ये लोग सट्टे की बात कर रहे हैं | जब मैंने सब कुछ सुन लिया तो सीधा अपना ए.टी.एम निकाला और चला गया पैसे निकालने | उस समय मेरे अकाउंट में एक लाख रूपए थे तो मैंने सोचा कि चलो अब आर या पार वाली बाजी खेल ही ली जाए | मैं सुलतान भाई के पास गया और उनसे कहा कि भैया ये है मेरे पैसे और राजधानी में मेरे पैसे लगाने हैं | तो उन्होंने पूछा कि क्या नंबर लगाना है और ओपन या क्लोज खेलेगा | तो मैंने कहा कि जोड़ी लगाना है और अंक भी बता दिए | रात भर मुझे नींद नही आई कि अगर मेरे पैसे डूब गये तो क्या होगा | मुझे कुछ समझ ही नही आ रहा था | तभी 12 बजे मेरे पास कॉल आया कि तुम कहा हो ? तो मैंने कहा हाँ सुलतान भाई आ रहा हूँ | उनके हाँथ में दो सूटकेस थे और उन्होंने अपने नौकर से कहा कि इसकी साइकिल रख लो और इसे घर तक छोड़ के आओ | मैं कुछ समझ नही पाया | अब वो गुंडा है तो मैं उसे कुछ बोल भी नही सकता था | उसका नौकर ने अपनी कार से मुझे घर तक छोड़ा और कहा कि ये लो सूटकेस और इसे घर में जा कर ही खोलना | जब मैं घर जा कर सूटकेस खोला तो उसमे ढेर सारे पैसे थे | मैं इन पेसो को देख कर बहुत खुश हो गया और मैं समझ गया कि सुलतान भाई ने मेरी साइकिल क्यू ले ली ? अगले दिन मैं कॉलेज नही गया और आधे पैसे मैंने अपने अकाउंट में जमा करवा लिए और और एक कावासाकी निंजा खरीद ली | उसके बाद मैं पार्लर गया अपने आप को स्मार्टी बनाया | अब मेरा पूरा लुक बदल गया | अब मैं वो चोदु प्रवीण नही रहा | मैं जब कॉलेज गया तो सबकी गांड फट गयी मुझे ऐसे देख कर |
हांलाकि लड़कियां तब भी मुझसे बात नही करती थी पर मुझे लाइन जरुर देती | कुछ समय बाद मैंने एक कार खरीद ली हौंडा एकॉर्ड | अब सब लड़कियां मुझसे बात करने लगी थी और लौंडे भी मुझसे दोस्ती करने लगे थे | मैंने सभी को माफ़ किया और ख़ुशी खुशी रहने लगा था उनके साथ | एक लड़की थी मेरी क्लास में जिसका नाम अंकिता है | वो लड़की दिखने में बहुत ही कड़क माल है और उसका फिगर भी एक नंबर है | उसने मुझे प्रोर्पोसे मार दिया और मैं भी उसे मना नही कर पाया | मैं जानता था कि वो बस पैसे से प्यार करती है पर मैं भी अब होशियार हो गया था और उसे चोद के छोड़ने का फैसला लिया | एक दिन उसने मुझे अपने घर में बुलाया और मुझे किस करने को कहा | तो मैंने उसे एक सोने की अंगूठी गिफ्ट की और वो मुझसे लिपट गयी | मैं समझ गया कि इसने बुलाया किस के लिए अब चुद के ही मानेगी | फिर मैंने उसके होंठ में अपने होंठ रख दिए और उसके मस्त होंठ को चूसने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मुझे किस करने लगी | उसके बाद उसने मेरे कपडे उतार कर पूरा नंगा कर दिया| अब वो घुटनों के सहारे जमीन में बैठ गयी और मुझे सोफे पर बैठा दिया | अब वो मेरे लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी | तो मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारिया निकलने लगी | वो मेरे लंड को चाट कर अच्छे से गीला कर देना चाहती थी | जब उसने मेरे लंड को चाट लिया तो उसे अपने मुह में डाल ली और ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगी तो मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके दूध को मसलने लगा | वो मेरे लंड को बहुत अच्छे से चूस रही थी और साथ में दोनों अन्टोलो को भी चूस रही थी और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके टॉप को उतारा और ब्रा के ऊपर से खूब मसला उसके दोनों दूध को तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | फिर मैंने ब्रा को उतारा और दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को सहलाने लगी |
मैं उसके दोनों दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और निप्पलस को भी होंठ से दबा कर चूस रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया ले रही थी | फिर मैंने उसे उसकी जीन्स को उतार कर पेंटी भी उतार दी | अब हम दोनों पूरे नंगे थे और मैंने उसे लेटा दिया | अब मैं उसकी टाँगे चौड़ी कर दी और अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को चाट रहा था और ऊँगली से चोद भी रहा था और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत में दबाने लगी | उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत में रगड़ते हुए अन्दर डा दिया और अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मदहोश होने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से शॉट लगाते हुए चोदने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से जा कर जोर जोर चोदने लगा वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | फिर करीब आधे घंटे के बाद मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते उए उसकी चूत के ऊपर ही अपना माल निकाल कर खाली कर दिया |
तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी | आप सभी का मेरी कहानी पढने के लिए धन्यवाद |

10,805 total views, 2 views today

loading...