मम्मी ने मुझे रुपयों के लिए रंडी बना दिया


hindi sex stories हाय फ्रेंड्स कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगें और सेक्स का भरपूर मज़ा ले ही रहे होगे | मैं दुवा करती हूँ की आप सभी लोग खुश रहें और ऐसे ही सेक्स का मज़ा लेते रहें अगर आप लोगो के पास सेक्स करने के लिए लड़की नही मिलती तो मुझ जैसी लड़की बहुत मिलेंगी | उनके साथ चुदाई करो और खुश रहो | दोस्तों आज मैं एक अपनी कहानी लेकर आई हूँ ये मेरी पहली कहानी हैं और मेरे जीवन की सबसे बड़ी घंटना भी है क्यूंकि मेरे जीवन में घटना तो बहुत हुई पर इससे बड़ी नही | मैं कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देती हूँ |

मेरा नाम शिफ़ा है | मेरी उम्र 20 है और मैंने पढाई सिर्फ़ 12 तक की है क्यूंकि मैं गरीब परिवार से हूँ | मैं रहने वाली मुम्बई से हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है | मैं दिखने में ज्यादा गोरी हूँ और मेरा फेस भी ठीक है जिससे मैं बहुत सुन्दर दिखती हूँ | मेरा फिगर तो बहुत सेक्सी है इसलिए मैं अपने फिगर का साइज़ नही बता सकती हूँ पर थोडा बता देती हूँ | मेरे बूब्स काफी बड़े हैं और मेरी गांड ज्यादा चौड़ी तो नही है पर जब मैं चलती हूँ तो मेरी गांड लचकती जरुर है जिसको देख कर किसी की भी नियत ख़राब हो जाये | दोस्तों आज जो मैं कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रही हूँ मुझे उम्मीद है की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में मज़ा भी आयेगा | अब मैं अपनी कहानी शुरू करती हूँ |
ये मेरी कहानी अभी 1 साल पहले की है | मैं जब छोटी थी तो मेरी मम्मी बहुत ज्यादा बीमार रहती थी और मेरे पापा मेरी मम्मी से बहुत प्यार करते थे इसलिए मेरे पापा ने मम्मी का बहुत इलाज कराया पर मेरी मम्मी ठीक ही नही हुई और कुछ दिन बाद मम्मी की मौत हो गयी | उस टाइम मैं 6 साल की ही थी तो मेरे पापा मुझे लेकर बहुत परेशान रहते थे तो मेरे पापा से कुछ लोगो ने कहा अभी तुम्हारी शादी हो जाएगी और शिफ़ा को माँ का प्यार भी मिल जायेगा | तब बहुत लोगो के कहने पर मेरे पापा ने दूसरी शादी कर ली और मेरे प्यार में कोई कमी न रहे इसलिए मेरे पापा ने मेरी दूसरी मम्मी के बच्चा भी नही होने दिया | फिर मैं स्कूल में पढने लगी जब मैं 11 में पढ़ रही थी तो उस टाइम मेरे पापा की भी मौत हो गयी जिसका मुझे बहुत दुख हुवा | फिर मेरी मम्मी ने दूसरी शादी कर ली और वो आदमी मुझे बहुत ज्यादा परेशान करता था | मैं इसलिए एक सिलाई शॉप पर काम भी करने लगी | उस टाइम एक लड़का मेरा दोस्त बन गया था | उसका नाम रिंकू था और वो दिखने में भी अच्छा था | वो मुझे जरुरत पडने पर कुछ रूपये भी दे दिया करता था | फिर मुझे पता ही नही चला की मुझे उससे कब प्यार हो गया और अब वो मुझे बहुत प्यार करता था और मैं भी उसे बहुत चाहती थी | मेरी मम्मी मुझसे रोज के रोज रूपये लेती थी और वो आदमी उनसे ले लिया करता था | एक दिन रिंकू ने मुझसे सेक्स करने के लिए कहा तो मैंने उसे मना कर दिया पर वो इस बात से घुस्सा नही हुवा तब मैंने उससे कहा ठीक है कर लो | तब रिंकू ने मुझसे कहा की अगर तुम्हारा मन नही है तो फिर कभी करते हैं तो मैंने कहा ठीक है | तब वो बोला पर तुमने मुझे अभी सेक्स के लिया मना क्यों किया था | तब मैंने उससे कहा की मैं देखना चाहती थी की तुम मुझसे नाराज होगे या नही और फिर उस दिन उसने मेरी चुदाई की थी | मुझे उस दिन बहुत दर्द हुवा था और मेरी चूत से खून भी निकला था क्यूंकि वो मेरी पहली चुदाई थी |

उसके बाद जब मैं घर गयी तो उस आदमी ने और मेरी मम्मी ने एक आदमी से मुझ पर कुछ रूपये लिए थे | जब मुझे ये बात पता चली तो मैंने साफ मना कर दिया की मैं ये काम नही करुँगी | तब मेरी मम्मी और वो जो मेरे दूसरे पापा थे उसने मुझे कुछ नही कहा और फिर मुझे खाना दिया मैंने खाना खाया और सो गयी | फिर दुसरे दिन मैं सिलाई की शॉप पर काम करने गयी | उस दिन मैंने रिंकू से रूपये भी लिए थे और वो रूपये घर जाके मम्मी को दे दिए थे | पर उस दिन मेरी मम्मी ने उस आदमी को घर बुला लिया था | वो आदमी मुझे बहुत ही सेक्सी नज़रो से देख रहा था | तब मेरी मम्मी ने कहा तू मान जा बेटी मैं इससे रूपये ले चुकी हूँ नही तो ये मुझे उठा ले जायेगा | तब ये तुझे मारेगा भी पर मैंने कुछ भी न सुनती हुई बस एक ही बात बोल रही थी की मैं ये काम नही करुँगी | पर फिर मुझे मजबूरन उस आदमी के साथ सेक्स करने के लिए तैयर होना पड़ा |
तब वो आदमी बहुत खुश होवा और अपने साथ अन्दर रूम में मुझे लेकर चला गया | फिर वो अन्दर मुझे अपनी बाहों में भर कर मेरे गले में किस करने लगा और मुझे ये करते हुए अच्छा नही लग रहा था तो मैं उसका साथ नही दे रही थी | पर वो मेरे गले में किस करते हुए मेरे कान के पास किस करने लगा | वो मुझे ऐसे ही 10 मिनट तक मेरे पुरे शरीर में किस करता रहा और जिससे मैं गर्म हो गयी और उसको कास के पकड़ लिया तो वो समझ गया की मैं गर्म हो गयी हूँ और तब वो मेरी होठो पर अपने होठो को रख कर मेरी रसीली होठो को चूसने लगा | मैं भी उसका साथ देती हुई उसकी होठो को चूसने लगी | वो मेरे होठो को चूसने के साथ में मेरे बूब्स को कपड़े के अन्दर हाथ डाल कर दबा रहा था | मेरे बूब्स बहुत ही गोल और चिकने है क्यूंकि मैंने सिर्फ़ एक बार ही अभी तक चुदी थी वो भी मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी सील थोड़ी थी मुझे उस दिन बहुत दर्द हुवा था | फिर उसने अपने कपडे और मेरे कपडे निकाल दिए जिससे मैं उसके सामने बिना कपड़ो के आ गयी |

loading...

वो मेरे बड़े बूब्स को देखकर पागल सा हो गया और एक दूध को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगा | तो मैं मचल गयी और उसके सर के बाल को सहलाने लगी | वो मेरे एक दूध के निप्पल को मुंह से पकड कर खीच खीच कर चूस रहा था और दुसरे वाले को हाथ में पकड कर मसल रहा था जिससे मेरे मुंह से ऊऊ अहह अहह उई….. ऊऊऊऊ… आआआ…. सी सी सी….. उई मई उई मई उई मई….. की सिसिकियाँ लेने लगी | वो मेरे बूब्स को मुंह में रख कर ऐसे ही 5 मिनट तक जोर जोर से मेरे निप्पल को घुमा घुमा कर चूसता रहा और फिर मेरे बूब्स को छोड़कर मेरी टांगो को फैला कर मेरी गुलाबी चूत में अपने मुंह को घुसा दिया तो मेरे मुंह से गर्म सांसो में ऊऊऊ.. आआआआ… सी सी सी… ऊऊऊऊ.. उई उई उई उई…. मई मई मई… की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरी चूत को चाटने के साथ में मेरी चूत में अपनी ऊँगली को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | मैं मस्त होकर हु हु हु.. हाँ हाँ हाँ… उई मई उई मई उई मई… आआआआ….. सी सी सी… की सिसिकियाँ लेने लगी | वो मेरी चूत में ऐसे ही 6 – 8 तक चाटता रहा और फिर उसने अपना लंड चड्ढी से निकाला तो उसके लंड को देख कर मेरे तो होश ही उड़ गए उसका लंड बहुत बड़ा और मोटा था | फिर मैं उसके लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | उसका लंड मेरे मुंह में नही जा रहा था तो मैं उसके लंड को ऐसे ही ऊपर से चाट रही थी | वो मेरे सर को पकड कर अपने लंड को चूसा रहा था | मैं उसके लंड को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसती रही और वो अपने लंड को ऐसे ही चूसता रहा | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा कर मेरी टांगो को फैला दिया और फिर मेरी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख कर मेरी चूत में घुसाने लगा | उसका लंड ज्यादा मोटा था इसलिए मेरी चूत में घुसाने का नाम ही नही ले रहा था | फिर उसने मेरी चूत में थूक लगाया और अपने लंड के टोपे पर थूक लगा कर मेरी चूत में जोरदार धक्के से थोडा घुसा दिया तो मेरी चूत से खून निकल पड़ा साथ में मेरे मुंह से भी चीख निकल गयी | फिर वो मेरी चूत में लंड को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | उसका लंड मोटा और लम्बा होने से मेरी आँखों में पानी आ गया | पर वो कोई रहम किये बिना ही जोर जोर के धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए चोद रहा था | मैं ऊऊऊ… आआआआ…. सी सी सी… उह्ह अहह ऊऊ अह्…. हाँ हाँ मई उई मई मर गयी की सिसिकियाँ लेती हुई चुदने लगी | अब वो मेरी सिसिकियाँ सुनकर और तेज स्पीड में अन्दर बाहर करने लगा | वो मुझे ऐसे ही 15 मिनट तक जोरदार धक्को से चोदता रहा और फिर उसने सारा माल मेरे मुंह में निकाल दिया और मैं वो सब गटक गयी उसका स्वाद कुछ खट्टा और नमकीन था | फिर उसने मुझे भी रूपये दिए अब वो मुझे चोदने अक्सर आया करता है और मुझे उससे चुदना पड़ता है | वो इस तरह से चुदाई करता है की मैं चल भी नही पाती हूँ | इस तरह से मेरी मम्मी ने मुझे रंडी बना दिया अब मुझे जो रूपये देता है मैं उससे चुद लेती हूँ |
ये थी मेरी कहानी मुझे उम्मीद है की आप सभी को मेरी कहानी पढ़ कर मज़ा आया होगा |

7,500 total views, 48 views today