गुलाबी आँखे जो देखी तेरी


दोस्तों कैसे हो आप लोग | मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग अच्छे होंगे और रोज अपना बहुमूल्य समय निकाल कर सेक्सी कहानियां | दोस्तों मैं आज आप लोगो के लिए एक नयी कहानी लेके आया हूँ | जिसे पढ़के आप लोगो को बहुत मजा आएगा | आप लोगो को मैं थोडा अपने बारे में बताता हूँ फिर मैं आप लोगो को सीधा कहानी की और ले चलता हूँ |
मेरे सभी बक्चोद दोस्तों मेरा नाम प्रियांश है | मैं मध्य प्रदेश का रहने वाला हूँ | दोस्तों मैं दूर से ही दिखने में बहुत स्मार्ट हूँ और बक्चोद लगता हूँ | दोस्तों मेरी अच्छी-खासी हाइट है और मेरा रंग एकदम गोरा है | मेरी बॉडी का लुक देखकर अच्छे-अच्छों की गांड फट जाती है | दोस्तों मैं आप लोगो को रोज को एक न एक नयी सेक्सी कहानी लिखकर पढवाता हूँ |
तो चलिए दोस्तो मैं अपनी ज्यादा बकवास न करते हुए सीधा आप लोगो को कहानी की ओर ले चलता हूँ जिससे की आप लोगो की मुझपे झांटे न फायर हो और आप लोगो को यह न लगे की मैं आप लोगो के लौंडे लगा रहा हूँ |

तो मेरे जिगर के तुकडे , बक्चोद तथा मेरे चोदू भाई लोग यह बात उस समय की है जब मैं और मेरा दोस्त अमित अपनी गर्मी की छुट्टियों में कहीं घूमने का प्लान बना रहे थे | हम लोगो ने बी.टेक. 1st इयर के एग्जाम दिए थे | कॉलेज के सभी लड़के और लड़कियां कहीं न कहीं जा रहे थे तो हम लोगो ने भी कहीं बाहर घूमने का प्लान बनाया | हम लोगो ने बहुत सोंचा की कहाँ जाया जाये | फिर मेरे दोस्त अमित ने गोवा जाने का प्लान बनाया | मैंने अपने दोस्त से कहा की भाई हम लोग कभी गोवा तो गये हैं नही यार | तो उसने मूझे बताया की भाई तु चिंता क्यों करता है मेरा भाई है न | उसका भाई गोवा में होटल मैनेजमेंट का कौर्स कर रहा था और वहीँ रहता था | हम लोगों ने अगले दिन पूरी तैयारी कर ली और रात को एअरपोर्ट पर गये | हम लोगो की फ्लाइट थोड़ी लेट थी | हम लोग वहीँ एअरपोर्ट पर आराम किये और सुबह की पहली फ्लाइट से गोवा आ गये थे | हम लोग गोवा के एअरपोर्ट पर पहुंचे और वहां का माहोल देख कर हम लोग मस्त हो गये | हम लोगो को ऐसा लग रहा था की हम लोग कहीं विदेश में आ गये हों | हम लोगो ने थोड़ी देर तक एअरपोर्ट पर रुके और वहां आने-जाने वाली लडकियो को थोड़ी देर तक ताड़ने के बाद मैंने अपने दोस्त अमित को अपने भाई को फोन करने को बोला |
उसने अपने भाई को फोन किया तो उसका भाई कहीं बाहर गया था अपने अकादमी की तरफ से ट्रेनिंग के लिए और कम से कम 4-5 दिन के बाद आने को बोला | उसने अपने एक दोस्त को एअरपोर्ट पर भेज दिया | उसके भईया के दोस्त ने हम लोगो को एक अच्छे से होटल में कमरा दिला दिया था | हम लोग कमरे में गये फ्रेश हुए और फिर आराम करने लगे | हम लोगो ने पूरा दिन आराम किया और शाम को ऊठकर टहलने निकले | सच कहा था किसी ने गोवा जन्नत है | हम एक कॉफ़ी कैफ़े में गये और कॉफ़ी पी रहे थे | हम लोगो की टेबल के सामने दो लडकिया बैठकर कॉफ़ी पी रही थी | हम लोग उनको कॉफ़ी पीते-पीते ताड़ रहे थे | उनकी भी एक-दो बार हम लोगो पर नज़र पड़ी | मैं उठकर उनके पास में जाके एक खाली टेबल पर बैठ गया | मैं थोड़ी देर तक उनके पड़ोस वाली टेबल पर बैठा रहा फिर मैंने उनसे बात करनी चाहि और मैं उनके पास गया और उनसे कोई अच्छी से जगह घूमने को पूछी | तो उन दोनों लडकियो ने मुझे बहुत ही इज्ज़त से एक अच्छी सी जगह बताई |
हम लोग फिर वहां से चले आये | हम लोगो ने थोड़ी देर इधर-उधर माल-शाल घूमे और फिर जब शाम के 5 बजे तो हम लोग एक कसीनो में गये | वहां हम लोगो ने अपनी एंट्री करवाई और अन्दर जाके पहले तो वहां का माहोल देखा फिर हम लोगो ने एक-एक गेम खेला और बैठकर ड्रिंक कर रहे थे | थोड़ी देर के बाद हम लोगो की टेबल पर एक लड़की आके बैठ गयी | उसने बहुत ज्यादा ड्रिंक कर रखी थी और अपने आप से बडबडा रही थी | मैंने उसको देखा तो वो होश में नही थी उसे नशा बहुत हो रखा था | वो लड़की मुझे किसी बड़े घराने की लग रही थी | वो दिखने में बहुत ही सेक्सी गोरी चिट्टी थी | उसकी गुलाबी आँखों को देखकर मैं हैरान रह गया था | मैं उसकी गुलाबी आखों में लगभग डूब चूका था | मैंने उससे उसका पता पुछा की कहाँ रहती हो और अब घर कैसे जाओगी | वो कुछ बोल नही पा रही थी | तभी हम लोगो के पास एक वेटर आया और बोला सर इनका ये रोज का है | ये मैडम रोज नशे में हो जाती हैं या तो इनको कोई इनके घर से लेने आता है या तो इनका कोई दोस्त इनको इनकी गाडी से छोड़ देता है | मैंने वेटर से उसके घर का पता पुछा और उसको उठा कर उसकी गाडी में बैठाया जाके | मैंने अपने दोस्त के साथ उसको उसके घर पर ले गया | जब हम लोग उसके घर पर पहुंचे तब मैं उसका घर देखकर हैरान रह गया | मैंने उसको गाडी से निकाला और उसे अपनी गौद में उठाकर कर उसके घर के अन्दर ले गया | मैंने उसे लॉबी में पड़े सोफे पर लिटा दिया | उसके पापा आये , उन्होंने हम लोगो को थैंक्यू बोला और कहा की बेटा मैं इसको रोज मना करता हूँ की इतना मत पिया करे पर ये मानती ही नही है | उन्होंने हम लोगो से हमारा पता पुछा और कहा की तुम लोग यहाँ कहाँ रुके हो | मैंने उनको अपने होटल का पता दिया तो वो मुझसे कहने लगे की बेटा जिस होटल में आप लोग रुके हो वो हमरा ही होटल हैं |
हम लोगो ने थोड़ी देर तक उनसे बात की फिर उन्होंने हम लोगो को होटल तक अपनी कार से भेजा | अगले दिन वो मेरे कमरे में अपनी बेटी के साथ आये | वो लोग हम लोगो के लिए बहुत सी चीजे खाने-पीने के लिए लाये थे | ऊन्होने थोड़ी देर तक हमसे बाते की और रात का खाना अपने साथ करने को कहा और चले गये | उनकी लड़की हम लोगो के साथ हम लोगो के कमरे में ही रूक गई थी और हम लोगो से बाते कर रही थी | वो हम लोगो से हम लोगो का एड्रेस पूछ रही थी की कहा से आये हो और यहाँ क्या कर रहे हो | मैंने उसे बताया की हम लोग मध्यप्रदेश से हैं और यहाँ हम लोग टहलने आये हैं | तो उसने हम लोगो से पुछा की कहीं टहला भी की खाली बस ऐसे ही | मैंने उससे बताया की यार हम लोग यहाँ नए हैं और कोई अच्छी जगह भी हम लोगो को नही पता है | तो उसने हम लोगो से कहा की आओ आज मैं तुम लोगो को टहलाती हूँ | हम लोग तैयार हुए और वो हम लोगो को लेके नयी-नयी जगह पर लेके गयी | हम लोगो ने खूब एंन्जॉय किया | फिर वो हम लोगो को लेके बीच पर गयी | वो अपने कपडे उतार कर वो पानी में नहाने लगी | जब वो अपने कपडे उतार कर बिकनी-ब्रा में आयी थी तब मैं उसका ये सेक्सी फिगर देख कर मेरे होश उड़ गये थे | उसने मुझसे भी कहा की तुम भी लोग आ जाओ | मैंने झट से अपने कपडे उतारे और उसके पास चला गया | वो मुझपर अपने हांथो से पानी फैंक रही थी मैं भी उसके ऊपर पानी फैंके जा रहा था | मेरा लंड पानी के अंदर एकदम खड़ा हुआ था | मैं उसके पास गया और उसको पीछे से पकड़ कर उसके साथ खेल रहा था | दोस्तों मैं अपनी जिंदगी में पहली बार किसी लड़की के साथ पानी के अंदर एक साथ नहा रहा था | मैं उसकी पीछे से कमर पकड़ कर उसको घुमा रहा था | मेरा लंड एक दम बीचो-बीच उसकी गांड में लग रहा था | उसने मेरा लंड अचानक से अपने हाँथ में पकड़ लिया और वो सरमा गयी | अब वो भी सायद मूझसे चुदना चाहती थी ये मेरे को नही पता पर वो मुझे बीच के साइड में बने एक झोपडी में ले के गयी | उसने मेरे साथ बात करते-करते मेरे होंठो में अपना मुह डाल कर चूसने लगी | मेरा लंड उसकी गांड में लगने से वो सायद गरम हो गयी थी | उसने थोड़ी देर तक मेरी होंठो को चूसा फिर उसने मेरी अंडरवियर उतार कर मेरे लंड को अपने मुह में रख कर चूसने लगी | मुझे भी बहुत मजा आ रहा था और मैं अपने मुह से आह आह आह आह आह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह इह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह ओह्ह ओह्ह ओह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह इह्ह आह आह्ह अहह आह आह आह आह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह नह उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह आह आह की सिस्कारिया निकाल रहा था | फिर वो अपने कपडे उतार कर नीचे ही रेत पर लेट गयी | मैं भी अब गरम हो चूका था | मैं उसके पास गया और उसके एक पैर को उठा कर अपने कंधे पर रखा और अपना लंड उसकी चूत में डाल कर जोर-जोर से धक्के दिए जा रहा था और वो भी थोड़ी देर के बाद अपने मुह से उन्ह उन्ह उन्ह उन्ह आह आह आहा अह आह आहा अह आहा अह अह आह अह अह औंह उन्ह उन्ह उन्ह्ह्ह उन्ह्ह्ह उन्ह्ह्ह उन्ह्ह्ह ओह्ह्ह ओह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह आह्ह्ह की सिस्कारिया निकाल रही थी | मैंने उसकी चूत में अपने लंड से लगभग 10-15 मिनट तक धक्के मारे होंगे फिर हम दोनों एक ही साथ झड गये थे |

तो दोस्तों ये थी मेरी कहानी | आशा करता हूँ की आप लोगो को पसंद आएगी |

loading...

3,991 total views, 1 views today